अमरबेल के फायदे एवं नुकसान : Health Benefits of Amarbel

Medically reviewed by | By

Update Date जून 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

परिचय

अमरबेल “हरिणपदी कुल” (Convolvulaceae) से संबंधित पौधा है जिसे डोडर प्लांट, कस्कूटा रिफ़्लेक्सा, आकाशबेल आदि के नाम से भी जाना जाता है। इस पौधे को जादू वाला पौधा भी माना जाता। यह पौधा केवल एक बेल के रूप में होता है और जड़रहित, बारहमासी व बिना पत्तों का होता है। इसके साथ ही यह एक परजीवी हर्ब है जो दूसरे पेड़ों पर निर्भर रहती है। इसकी बेल रस्सी की तरह अन्य पौधों पर फैल जाती है। इसमें से महीन धागे की तरह तंतु निकलते हैं। जिस पेड़ पर यह बेल लिपटी होती है, यह तंतु उसका रस चूसते हैं। अमरबेल का प्रयोग मूत्र पथ की समस्याओं, प्लीहा, मानसिक रोगों और यकृत संबंधी विकार दूर करने के लिए किया जाता है। इस बेल के फायदे यही खत्म नहीं होते, बल्कि यह जड़ी-बूटी कैंसर, तनाव और दर्द के लिए भी उपयोगी है।

और पढ़ें : नागकेसर के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Nagkesar

उपयोग

अमरबेल (Amarbel)  का उपयोग किस लिए किया जाता है?

अमरबेल को निम्नलिखित रोगों और विकारों को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है:

एक्जिमा

अध्ययन के अनुसार अमरबेल के बीज का उपयोग त्वचा में होने वाली बीमारी एक्जिमा, जिसमें त्वचा में खारिश होती है उसे दूर करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

अवसाद

शोध के अनुसार जो लोग एंटीडिप्रेसेंट दवाई ले रहे हैं अगर वो अमरबेल का प्रयोग करते हैं तो उनकी अवसाद की स्थिति सुधरती है और उन्हें इसमें होने वाली कई परेशानियों से छुटकारा मिलता है।

ब्लैडर की समस्या

ब्लैडर संबंधी और मूत्र पथ की समस्याओं को दूर करने में भी अमरबेल प्रभावी है।

लिवर संबंधी समस्याएं

गंभीर लिवर की समस्याओं को दूर करने के लिए अमरबेल के काढ़े का प्रयोग किया जाता है। 

आँखों के लिए फायदेमंद

यह औषधि क्रिस्टलीय लेंस की अपारदर्शिता की डिग्री को कम कर सकती है और गैलेक्टोज इंड्यूस्ड मोतियाबिंद के उपचार के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। सबसे बड़ी बात है कि इससे मोतियाबिंद बढ़ता नहीं है।

प्रजनन क्षमता बढ़ाये 

शोध के मुताबिक अमरबेल में मौजूद फ्लेवोनोइड्स में एस्ट्रोजेन जैसे प्रभाव होते हैं। यह पुरुषों के शुक्राणु को भी बढ़ाती है यानी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में यह हर्ब सहायक है।

कैंसर पर प्रभाव

अमरबेल में कैंसर सेल के विकास को रोकने की क्षमता होती है जिससे कैंसर जैसी समस्या से छुटकारा मिलने में मदद मिलती है।

अन्य लाभ 

कैसे काम करती है यह हर्ब

अमरबेल में एंटीऑक्सीडेंटस जैसे केमिकल होते हैं। यह केमिकल कैंसर सेल के विकास को रोकने, लिवर , किडनी, तंत्रिका तंत्र के स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करते हैं। अमरबेल में रेचक (laxative) प्रभाव भी हो सकता है।

और पढ़ें :भुई आंवला के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Bhumi Amla

साइड इफेक्ट्स

अमरबेल (Amarbel) से क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इस जड़ी-बूटी का सेवन करने से निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:
अमरबेल के फायदों के बारे में आप जान गए होंगे। अब जानते हैं इसके साइड इफ़ेक्ट के बारे में। अमरबेल के साइड इफेक्ट्स के बारे में अभी पूरी जानकारी उपलब्ध नहीं है। अधिक मात्रा में इसे लेने के क्या साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं या नहीं,  इस बारे में भी सही से जानकारी नहीं है। लेकिन, इसे लेने से कुछ लोग निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स को अनुभव कर सकते हैं:

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को कोई भी दवाई या हर्ब लेते हुए खास ध्यान रखना चाहिए और बिना डॉक्टर की सलाह के न लें। ऐसा करना आपके और गर्भ में पल रहे शिशु के लिए नुकसानदायक हो सकता है। बच्चों की पहुंच से भी इन्हे दूर रखें और भूल से भी इन्हे बच्चों को खाने को न दें। सुरक्षित रहें और आप इसका सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के न करें।

और पढ़ें: नागकेसर के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Nagkesar

सावधानियां और चेतावनी

अमरबेल (Amarbel) का उपयोग करने से पहले मुझे किन बातों का पता होना चाहिए?

अमरबेल का सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट या हर्बलिस्ट से अवश्य सलाह लें, खासतौर पर अगर :

  • आप गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हो।
  • आप कोई और दवाई ले रहे हों। इनमें आपके द्वारा ली जाने वाली वो दवाईयां भी शामिल हैं जिन्हे आप बिना डॉक्टर की सलाह के भी खरीद सकते हैं।
  • आपको अमरबेल में मौजूद किसी पदार्थ या अन्य दवाई या हर्ब से एलर्जी है।
  • आपको अन्य कोई बीमारी, विकार या कोई और मेडिकल स्थिति हो।
  • आपको किसी अन्य तरह की एलर्जी हो जैसे खाने से, डाई, प्रेज़रवेटिवस या जानवरों से।
  • हर्ब के नियम दवाई से कम सख्त होते हैं। लेकिन, इसकी सुरक्षा के बारे में अधिक अध्ययन करना आवश्यक है। हर्ब के सेवन के फायदे उनके जोखिमों से अधिक होने चाहिए। अधिक जानकारी के लिए अपने औषधि विशेषज्ञ या डॉक्टर की सलाह लें।

इस हर्ब का उपयोग करना कितना सुरक्षित है?

अमरबेल का मुंह के माध्यम से सेवन करना सुरक्षित हो सकता है, इस के बारे में जानकारी उपलब्ध नहीं है।

इस का इस्तेमाल करने से पहले बरतें ये सावधानियां

गर्भावस्था और स्तनपान : इस बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं है कि अमरबेल के सेवन से गर्भावस्था या स्तनपान कराने वाली महिला पर क्या इफ़ेक्ट पड़ता है। ऐसा आवश्यक नहीं है कि औषधि का सेवन करना हमेशा सुरक्षित हो। इसलिए, इस दौरान डॉक्टर की सलाह के बिना कोई भी दवाई नहीं लेनी चाहिए। ऐसा करना हानिकारक हो सकता है।

और पढ़ें :दूर्वा (दूब) घास के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Durva Grass (Bermuda grass)

डोसेज

अमरबेल (Amarbel) को लेने की सही खुराक क्या है?

अमरबेल लेने की सही डोज कई चीज़ों पर निर्भर करती है जैसे रोगी की उम्र, स्वस्थ या मेडिकल स्थिति आदि। लेकिन, इसे किस मात्रा में लेना चाहिए, इसकी कोई वैज्ञानिक जानकारी मौजूद नहीं है। हमें हमारे दिमाग में एक बात हमेशा रखनी चाहिए कि प्राकृतिक चीज़ों या औषधियों का सेवन करना हमेशा लाभदायक नहीं होता। इसलिए कभी भी न तो अपनी मर्जी से इनका सेवन करें और न ही इनकी खुराक की मात्रा को खुद निर्धारित करें। ऐसा करना आपके स्वास्थ्य को हानि पहुंचा सकता है। आप चाहे किसी भी दवाई, औषधि या सप्लीमेंट का सेवन कर रहे हों, इन्हे लेने से पहले अपने डॉक्टर या किसी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें।

और पढ़ें : खरबूज के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Muskmelon (Kharbuja)

उपलब्धता

किन रूपों में उपलब्ध है अमरबेल (Amarbel)?

अमरबेल निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध होता है

  • चूर्ण
  • रस
  • बीज

अगर आप अमरबेल से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"