Mexican Scammony: मैक्सिकन स्कैम्नी क्या है?

Medically reviewed by | By

Update Date मई 28, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

परिचय

मैक्सिकन स्कैम्नी क्या है?

मैक्सिकन स्कैम्नी एक पौधा है। इसकी जड़ों का उपयोग दवाई बनाने में किया जाता है। इसलिए मैक्सिकन स्कैम्नी को औषधियों की श्रेणी में रखा गया है। आंतों के इलाज के लिए लोग मैक्सिकन स्कैम्नी की जड़ का इस्तेमाल करते हैं। मैक्सिकन स्कैम्नी जड़ एक मजबूत रेचक की तरह काम करती है और आंतों के माध्यम से मल को निकाल देती है। मैक्सिकन स्कैम्नी को उत्तेजक जुलाब कहा जाता है। उत्तेजक जुलाब शरीर में पोटेशियम के स्तर को कम कर सकता है। कुछ रिपोर्ट्स में मैक्सिकन स्कैम्नी से जुड़ी जानकारी में यह भी लिखा हुआ है कि मैक्सिकन स्कैम्नी किसी भी खाद्य पदार्थों में उपलब्ध नहीं होती है। 

मैक्सिकन स्कैम्नी को निम्नलिखित नामों से भी जाना जाता है। :- 

  • आईपोमोई (Ipomoea)
  • जलप फुंसिफोर्म (Jalap Fusiforme)
  • ऑरिजाबा जलप (Orizaba Jalap)
  • रेसिन द सकम्मोनी (Racine de Scammonée du Mexique)
  • राइज दे एसकामोनी मेक्सिकाना (Raíz de Escamonea Mexicana)
  • स्कीमोनी दू मेक्सिके (Scammonée du Mexique)

मैक्सिकन स्कैम्नी का उपयोग किसलिए किया जाता है?

पेट की समस्या के लिए मैक्सिकन स्कैम्नी का उपयोग सबसे ज्यादा किया जाता है। यह आंतों से मल निकालने में सहायक होता है। कब्ज की परेशानी को भी दूर करने के लिए इसका सेवन किया जा सकता है। हालांकि स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि इसके ज्यादा इस्तेमाल से दस्त की भी परेशानी शुरू हो सकती है। इसलिए मैक्सिकन स्कैम्नी के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट की सलाह जरूर लें।

कैसे काम करता है मैक्सिकन स्कैम्नी?

यह निम्नलिखित तरह से काम करता है। जैसे:

  •  मैक्सिकन स्कैम्नी का इस्तेमाल वैसे तो सुरक्षित होता है, लेकिन फिर भी डॉक्टर की सलाह जरूरी है।
  •  पेट साफ ना होने पर इसका इस्तेमाल करते हैं। यह एक शक्तिशाली जुलाब की तरह काम करता है। पेट की आंतों से मल को बाहर की तरफ फेंक देता है।

 ध्यान रखने योग्य बातें:

  •  प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग के समय मैक्सिकन स्कैम्नी का उपयोग खतरनाक हो सकता है। इसलिए अगर आप मां बनने वाली हैं या ब्रेस्टफीडिंग करवाती हैं तो इसका सेवन न करें।
  •  पेट में दर्द, मतली और उल्टी जैसे एपेंडिसाइटिस के लक्षण दिखें तो मैक्सिकन स्कैम्नी का उपयोग ना करें। इस दौरान इसके सेवन से आपकी परेशानी और ज्यादा बढ़ सकती है। 

इसके सेवन से पहले हेल्थ एक्सपर्ट से सलाह लें। आप कौन-कौन सी दवाइयों का सेवन करते हैं इसकी जानकारी भी अवश्य दें।

यह भी पढ़ें: Acacia : बबूल क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है मैक्सिकन स्कैम्नी का उपयोग?

मैक्सिकन स्कैम्नी के सुरक्षित उपयोग की कोई पुख्ता जानकारी नहीं है। इसलिए इसका सेवन सावधानी पूर्वक करना सेहत के लिए लाभकारी होगा।

  •  गर्भवती महिलाओं को भी इसका सेवन गर्भावस्था के दौरान नहीं करना चाहिए। इससे मां और शिशु दोनों को नुकसान पहुंच सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो जिस तरह से गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए ठीक वैसे ही इसका सेवन स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को भी नहीं करना चाहिए। अगर इसका सेवन आप पहले से कर रहीं हैं, तो डॉक्टर को इसकी जानकारी अवश्य दें।
  • बच्चों को भी मैक्सिकन स्कैम्नी की खुराक नहीं देनी चाहिए। अगर आपको ऐसा लगता है कि बच्चों को मैक्सिकन स्कैम्नी का सेवन करवाना चाहिए तो सबसे पहले हेल्थ एक्सपर्ट से सलाह लें।
  •  वयस्क भी इसका इस्तेमाल उचित मात्रा और डॉक्टर की सलाह से करें तो अच्छा है।
  •  जी मिचलाने या उल्टियां आने पर मैक्सिकन स्कैम्नी को नहीं लेना चाहिए।
  •  पेट में अगर पथरी के लक्षण दिखाई दें तो भी इसका प्रयोग ना करें।

इन ऊपर बताई गई परिस्थितयों में मैक्सिकन स्कैम्नी का सेवन न करें और अगर इसका सेवन करने पर कोई परेशानी महसूस होती है तो इसका सेवन न करें और जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी पढ़ें: Aloe Vera : एलोवेरा क्या है?

साइड इफेक्ट्स

मैक्सिकन स्कैम्नी के साइड इफेक्ट्स क्या हैं? 

इसके निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। जैसे:

  •  मैक्सिकन स्कैम्नी उल्टी आने और आंतों की समस्या  का कारण बन सकता है।
  •  ये साइड इफेक्ट हर किसी के साथ नहीं होते। इस्तेमाल से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
  •  जैसा कि पहले भी बताया कि यह एक उत्तेजक जुलाब की तरह काम करता है। उत्तेजक जुलाब शरीर में पोटेशियम के स्तर को कम कर सकते हैं। कम पोटेशियम का स्तर डिगॉक्सिन (लैनॉक्सिन) के दुष्प्रभावों का खतरा बढ़ा सकता है।
  •  अगर आप कोई अन्य दवा ले रहे हैं तो इसके प्रयोग से बचें।
  •  मैक्सिकन स्कैम्नी के ज्यादा प्रयोग से डीहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है। जिससे शरीर में मिनरल की कमी हो जाएगी और कमजोरी महसूस होगी।
  • अगर किसी व्यक्ति को उल्टी हो रही है तो ऐसे में इसका सेवन न करें।

इन ऊपर बताए गए साइड इफेक्ट्स के साथ-साथ अन्य परेशानी भी हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें: Basil: तुलसी क्या है?

डोसेज

मैक्सिकन स्कैम्नी को लेने की सही खुराक क्या है?

मौखिक: वयस्क आमतौर पर 3 से 12 दाने लेते हैं, या 195-780 मिलीग्राम पिसी हुई जड़ का सेवन किया जा सकता है। वहीं इसके पाउडर फॉर्म का 3 से 8 ग्राम या 195 से 520 मिलीग्राम तक सेवन किया जा सकता है।

मैक्सिकन स्कैम्नी की डोज हर मरीज के लिए अलग-अलग होती है। आपकी उम्र और हेल्थ कंडिशन के हिसाब से इसकी खुराक दी जाती है। हर्बल हमेशा सुरक्षित नहीं होते हैं। इसलिए इस्तेमाल से पहले अपने हर्बलिस्ट से सलाह जरूर लें।

उपलब्ध

मैक्सिकन स्कैम्नी किन रूपों में उपलब्ध है?

मैक्सिकन स्कैम्नी जड़ के रूप में उपलब्ध है।

किसी भी जड़ी बूटी के सेवन से पहले उसके बारे में सही जानकारी हासिल करें। यह ध्यान रखें कि उसमें मौजूद तत्व से आपको एलर्जी तो नहीं है। जड़ी बूटियों के सेवन से कोई नुकसान नहीं होता है, लेकिन बिना आवश्यकता के किसी भी हर्बल प्रोडक्ट का भी सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आप कब्ज की परेशानी को दूर करने के लिए इसका सेवन करना चाहते हैं तो इसके सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। कब्ज की समस्या को ज्यादा वक्त तक अनदेखा न करें या लापरवाही न बरतें क्योंकि परेशानी होने पर बवासीर जैसी अन्य शारीरिक परेशानी दस्तक दे सकती हैं।

हमें उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल उपयोगी लगा होगा। यहां बताई गईं परेशानियों से बचने के लिए आप इस हर्ब का उपयोग कर सकते हैं, लेकिन डॉक्टर की सलाह लेने के बाद। अगर आप मैक्सिकन स्कैम्नी से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Methoxylated flavones: मिथोक्सिलेटेड फ्लेवोनस क्या है?

जानिए मिथोक्सिलेटेड फ्लेवोनस क्या है? मिथोक्सिलेटेड फ्लेवोनस के फायदे और नुकसान क्या हैं? Methoxylated flavones के सेवन से पहले डॉक्टर से क्यों सलाह लेना जरूरी है?

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Bhawana Sharma
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल मई 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

जानें बॉडी पर कैफीन के असर के बारे में, कब है फायदेमंद है और कितना है नुकसान दायक

कैफीन के असर से क्या क्या होती हैं बीमारिया, कितना में मात्रा में सेवन करना है फायदेमंद, पूर्व में किए शोध से क्या पता चला है, तमाम जानकारी इस आर्टिकल में जानिए।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मई 6, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

सनस्क्रीन लोशन क्यों है जरूरी?

जानिए सनस्क्रीन लोशन से जुड़ी जानकारी in hindi. सनस्क्रीन लोशन इस्तेमाल से पहले किन तीन बातों का रखें ख्याल?इसके फायदे क्या-क्या हैं?

Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar
Written by Bhawana Awasthi
ब्यूटी/ ग्रूमिंग, स्वस्थ जीवन अप्रैल 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने के फायदे

जानिए प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल खाने के फायदे, प्रेग्नेंसी में सूखा नारियल कब खाएं, गर्भावस्था में नारियल खाने के फायदे और नुकसान

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Ankita Mishra
प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी अप्रैल 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें