Amlodipine : एम्लोडीपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

By Medically reviewed by Dr. Hemakshi J

सामान्य नाम: Amlodipine : एम्लोडीपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां ब्रांड का नाम : एम्लोडीपिन क्या है?, Amlodipine : एम्लोडीपिन क्या है? जानें इसके उपयोग, Amlodipine : एम्लोडीपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां, Amlodipine : एम्लोडीपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां and Amlodipine : एम्लोडीपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां.

जानिए मूल बातें

एम्लोडीपिन (Amlodipine) का उपयोग किसके लिए किया जाता है?

एम्लोडीपिन (Amlodipine) का इस्तेमाल दिल से जुड़ी समस्याओं के उपचार के लिए किया जाता है। एम्लोडीपीन एक कैल्शियम चैनल ब्लॉकर होता है, जो ब्लड प्रेशर, स्ट्रोक, दिल के दौरे और लीवर की समस्याओं को रोकने में मदद करती है। यह रक्त वाहिकाओं को आराम देने का काम करती है ताकि शऱीर में रक्त संचार आसानी से हो सके।

इसके अलावा एम्लोडीपिन का इस्तेमाल कुछ प्रकार के सीने में दर्द (एनजाइना) को रोकने के लिए भी किया जा सकता है। यह व्यायाम करने की क्षमता को बढ़ाने और एनजाइना के हमलों को कम करने में मददगार हो सकता है।

मैं एम्लोडीपिन (Amlodipine) का इस्तेमाल कैसे करूं?

एम्लोडीपिन दवा का इस्तेमाल खाना खाने के पहले या खाना खाने के साथ कर सकते हैं। जिसके लिए आप अपने चिकित्सक से बात कर सकते हैं। इसकी खुराक आपकी चिकित्सा स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया पर आधारित होती है। आपके स्वास्थ्य के अनुसार डॉक्टर इसकी खुराक कम और ज्यादा भी कर सकते हैं। इसलिए अपने डॉक्टर के दिए गए निर्देशों का सावधानीपूर्वक पालन करें।

दवा की खुराक स्वास्थ्य की स्थिती और रोगी के उम्र और वजन अनुसार ही तय की जाती है। आमतौर पर एक डॉक्टर दिन में एक बार इसकी एक खुराक की सलाह देते हैं। यह दवा फेफड़ों में कुछ रसायनों के कार्यों को रोकने का काम करती है। दवा का उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक या डॉक्टर द्वारा बताए गए निर्देशों का पूरा पालन करें। 

इन स्थितियों में एम्लोडीपिन का सेवन कर सकते हैः

  • अगर आपके पैरों में सूजन की समस्या है तो एम्लोडीपिन का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।
  • प्रेग्नेंसी की प्लानिंग कर रहे हैं या प्रेग्नेंट हैं।
  • इसमें मौजूद सामग्रियों से एलर्जी होने पर।
  • पहले से कोई विटामिन या हर्बल ड्रग का सेवन कर रहे हैं।
  • लो बीपी
  • लीवर से जुड़ी बीमारी
  •  किडनी की बीमारी

मैं एम्लोडीपिन (Amlodipine) को कैसे स्टोर करूं?

एम्लोडीपिन के रखरखाव के लिए कमरे का तापमान सबसे बेहतर होता है। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में आने से बचाना होता है। एम्लोडीपिन को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में एम्लोडीपिन के अलग-अलग ब्रांड है जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी एम्लोडीपिन खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए। 

बिना निर्देश के एम्लोडीपिन को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

सावधानियां और चेतावनियां

एम्लोडीपिन (Amlodipine) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

एम्लोडीपिन का उपयोग अपने चिकित्सक से परामर्श करने के बाद ही करें। साथ ही डॉक्टर के निर्देश के बगैर इस दवा की खुराक कम या ज्यादा न लें। एम्लोडीपिन का लाभ पाने के लिए नियमित समय पर इसकी खुराक लेते रहें। अगर एनजाइना के लिए इसकी खुराक ले रहे हैं तो जब तक एनजाइना का इलाज पूरा नहीं हो जाता इसकी खुराक लेते रहे हैं। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से परामर्श करें।

अगर नियमित इस्तेमाल के बाद भी आपके सेहत में सुधार नहीं होता है तो जल्द से जल्द अपने चिकित्सक को बताएं। उदाहरण के लिए, अगर हाई ब्लड प्रेशर और भी ज्यादा हाई होता है या सीने में दर्द लगातार बना रहता है तो बिना देरी किए डॉक्टर को इसकी जानकारी दें।

 इन बीमारियों में करें इसका सेवनः

  • हाई ब्लड प्रेशर (Hypertension)

एम्लोडीपिन (Amlodipine) हाई ब्लड प्रेशर के इलाज में प्रयोग किया जाता है।

  • एंजाइना पेक्टोरिस (Angina Pectoris)

एंजाइना पेक्टोरिस, जो छाती के दर्द से संबंधित एक प्रकार का हृदय रोग होता है।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एम्लोडीपिन (Amlodipine) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसके इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें। हालांकि, गर्भवती महिलाओं के लिए विशेषकर तीसरी तिमाही में आने के बाद महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आप प्रेग्नेंसी के दिनों में इसका सेवन करना चाहती हैं तो अपने डॉक्टर की देख रेख में ही करें।

जानिए इसके साइड इफेक्ट्स

एम्लोडीपिन (Amlodipine) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं? 

नीचे एम्लोडीपिन से होने वाली निम्नलिखित संभावित दुष्प्रभावों की एक सूची है। अगर आपको निम्नलिखित दुष्प्रभावों में से कोई भी लक्षण नजर आए तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें और इसके इस्तेमाल को तुरंत रोक देः 

  • चक्कर आना
  • आलस लगना
  • हाथ-पैरों में सूजन आना
  • सुस्ती
  • सिर दर्द
  • पेट दर्द
  • नींद आना
  • कब्ज़
  • चेहरे में सूजन
  • मांसपेशियों में दर्द
  • एसिड
  • खट्टी डकारें
  • बहुत ज्यादा पसीना आना

इसके इस्तेमाल के कारण होने वाले सभी दुष्प्रभाव यहां पर नहीं बताएं गए हैं। अगर आप किसी भी तरह का जोखिम महसूस करते हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें।

इन जरूरी बातों को जानें

कौन सी दवाएं एम्लोडीपिन (Amlodipine) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं? 

अगर आप किसी तरह की दवा का सेवन कर रहें है तो उसके साथ एम्लोडीपिन इस्तेमाल करने से पहले यह जरूर जानें कि उसके साथ इसका इस्तेमाल करने से आपको किस तरह के परेशानी हो सकती है। साथ ही यह आपके दवा के असर को भी प्रभावित कर सकता है। बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन न करें। 

इन दवाओं के साथ सेवन करने से बढ़ सकता है खतराः

  • इट्राकोनाजॉल (Itraconazole)
  • सिम्वास्टेटिन (Simvastatin)
  • टिजानिडीन (Tizanidine)
  • ऐल्कोहल (Alcohol)
  • कार्बामाजेपीन (Carbamazepine)
  • डेक्सामेथासोन (Dexamethasone)
  • रिफाम्पिन (Rifampin)

 क्या भोजन या अल्कोहल के साथ एम्लोडीपिन (Amlodipine) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर किसी भी भोजन या अल्कोहल के साथ एम्लोडीपिन का सेवन किया जाए तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

एम्लोडीपिन का इस्तेमाल आपके सेहत के लिए कुछ मामलों में खतरनाक हो सकता है। इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में बात करें। इसका अधिक सेवन किडनी और लीवर के लिए खतरनाक हो सकता है। अगर इसके इस्तेमाल से किसी भी तरह के लक्षण नजर आते हैं तो तुरंत इसका सेवन बंद कर दें और डॉक्टर की सलाह लें।

डॉक्टर की सलाह दें

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह पर नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिती में क्या करना चाहिए? 

इमरजेंसी या ओवरडोज़ होने की स्थिती में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड जाएं।

ओवरडोज होने के लक्षणः

  • बेहोश होना
  •   सांस फूलना
  •    चलने में तकलीफ होना
  •   चक्कर आना 

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं? 

अगर एम्लोडीपिन की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। 

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सक सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

रिव्यू की तारीख जुलाई 24, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया जुलाई 24, 2019

सर्वश्रेष्ठ जीवन जीना चाहते हैं?
स्वास्थ्य सुझाव, सेहत से जुड़ी नई जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य न्यूज लेटर प्राप्त करें