घर पर मौजूद ये 7 चीजें बचाएंगी स्वाइन फ्लू के खतरे से

By Medically reviewed by Dr. Radhika apte

कपूर, हल्दी, तुलसी समेत सात चीजों में हैं औषधीय गुण

स्वाइन फ्लू घरेलू उपाय के जरिए भी ठीक की जा सकती है। स्वाइन फ्लू (Swine Flu) एक तेजी से फैलने वाला संक्रामक रोग है, जो एक इंफ्लूयेंजा वायरस (H1N1) की वजह से होता है। इस वायरस से प्रभावित व्यक्ति में सामान्य मौसमी सर्दी-जुकाम जैसे ही लक्षण होते हैं, जैसे – नाक से पानी बहना या नाक बंद हो जाना, गले में खराश, सर्दी-खांसी, बुखार, सिरदर्द, शरीर दर्द, थकान, ठंड लगना, पेटदर्द, कभी-कभी दस्त उल्टी आना। ये सबसे पहले शूकर (सुअर) में पाया गया था। अब ये इंसानों में भी पाया जाने लगा और संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक पहुंच सकता है।

2009 में चर्चा में आई ये बीमारी

सबसे पहले स्वाइन फ्लू 2009 में चर्चा में आया था जब पहली बार ये इंसानों में पाया गया था। इसने एक तरह से महामारी का रूप ले लिया था। महामारी ऐसी बीमारियों को कहते हैं, जो एक साथ हजारों लोगों को अपना शिकार बना लेती हैं।

बचाव है सबसे अच्छा उपाय

डॉक्टर्स का मानना है कि कोई शख्स स्वाइन फ्लू की चपेट में आ गया हो तो, घर के बाकी लोगों को भी इससे बचने के लिए डॉक्टरी सलाह लेकर दवा खा लेनी चाहिए। डॉक्टर के अनुसार स्वाइन फ्लू से बचाव ही इसे रोकना का सबसे बड़ा उपाय है। आराम करना, खूब पानी पीना, शरीर में पानी की कमी न होने देना इसका सबसे बेहतर उपाय है।

इस वजह से होता है स्वाइन फ्लू

स्वाइन फ्लू एच1एन1 (H1N1) वायरस की वजह से होता है जो खासतौर पर शूकरों को प्रभावित करता है। हालांकि, ये जानवरों से सीधे इंसानों तक नहीं पहुंचता बल्कि इंसानों से इंसानों में पहुंचता है। एचवन एनवन (H1N1) बेहद तेजी से फैलने वाला वायरस है जो सलाइवा और शरीर के अन्य द्रव्यों से भी फैल सकता है। इसी वजह से ये खांसी, छीँक और संक्रमित जगह को छूने के बाद आंख या नांक छूने से भी हो सकता है।

जब इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति खांसता या छींकता है तो उस दौरान निकली सूक्ष्म बंदों में घुलकर ये वायरस हवा में पहुंच जाता है और जैसे ही आप इसके संपर्क में आते हैं, या संक्रमित जगह को चाहे फिर वो गेट का हैंडल ही क्यों ना हो, उसे छूते हैं तो आप इसका शिकार बन जाते हैं।

इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति खुद में लक्षण दिखाई देने के एक दिन पहले भी किसी दूसरे को संक्रमित कर सकता है। भले इस वायरस का नाम स्वाइन (सुअर) के नाम पर हो पर ये पोर्क से बने उत्पादों को खाने से नहीं होता।

नोट- यह जानकारी किसी भी स्वास्थ्य परामर्श का विकल्प नहीं हैं। हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

आपके घर में ही मौजूद कुछ चीजें स्वाइन फ्लू का घरेलू उपचार भी बन सकती हैं।

1.तुलसी

हमारे घरों में तुलसी आसानी से उपलब्ध हो जाती है। तुलसी में मौजूद एंटी- बैक्टीरियल और एंटी-वायरस प्रॉपर्टी इसे सबसे लाभकारी बनाते हैं। यह किसी की भी रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढ़ा सकती है। इसलिए ऐसा तो नहीं कहा जा सकता कि यह स्वाइन फ्लू को बिल्कुल ठीक कर देगी, लेकिन एच1एन1 वायरस से लडऩे में निश्चित रूप से सहायक हो सकती है। तुलसी से लाभ पाने का सबसे आसान तरीका है कि हर रोज इसकी पांच अच्छी तरह से धुली हुई पत्तियों का खाया जाए।

2.कपूर

स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए कपूर का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। वयस्क चाहें तो कपूर की गोली को पानी के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं। वहीं बच्चों को इसका पाउडर आलू अथवा केले के साथ मिलाकर देना चाहिए। लेकिन कपूर के सेवन के बारे में इस बात का ध्यान रखें कि, कपूर का रोज नहीं लेना चाहिए। महीने में एक या दो बार ही इसका इस्तेमाल पर्याप्त है।

3.शहदhome remedies for swine flu

शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टी इसे एक प्रभावी इम्यूनिटी बूस्टर (रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला) बना देती हैं। इसकी वजह से बीमारी से तेजी से रिकवरी भी होती है। इसलिए स्वाइन फ्लू में इसे लेना बेहद लाभाकरी है। शहद को अदरक के साथ चाय के रूप में लिया जा सकता है। ये बेहद प्रभावशाली घरेलु नुस्खा है।

4.लहसुन

लहसुन भी मौजूद एंटी-वॉयरल गुण रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा करने में मदद करते है। इसके लिए आप लहसुन की दो कलियां रोज सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लेना चाहिए। इससे रोग प्रतिरोधक शक्ति में इजाफा होता है।

5.एलोवेरा

एलोवेारा एक और ऐसी लोकप्रिय जड़ी-बूटी है जो आपके भीतर फ्लू से लडऩे की क्षमता बढ़ाती है। इसका इस्तेमाल दवाइयों तथा सौंदर्य प्रसाधनों में किया जाता है। इसके अलावा एलोवेरा व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी मदद करता है। एलोवेरा जैल की एक चम्मच पानी के साथ इस्तेमाल करने से न सिर्फ त्वचा को खूबसूरत बनाया जा सकता है, बल्कि यह स्वाइन फ्लू के असर को कम करने में भी कारगर साबित होता है।

6.विटामिन सी वाले फल

आमतौर पर माना जाता है कि सर्दी से बचने का सबसे बेहतर तरीका विटामिन सी का इस्तेमाल है, जो कि स्वाइन फ्लू के लिए भी कारगर साबित होता है। इसलिए अपने आहार में विटामिन सी को शामिल करें। विटामिन सी सभी प्रकार के खट्टे फलों जैसे नींबू, आंवला, अंगूर, संतरा आदि में भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

7.हल्दी

सालों से हल्दी का उपयोग सौन्दर्य प्रसाधन के अलावा सर्दी-खांसी को दूर करने के लिए भी किया जाता रहा है। इसमें अनिवार्य तेल और इसको रंग देने वाला पदार्थ करक्युमिन होता है। जिसमें कई औषधीय गुण होते हैं। इसके अलावा इसका सबसे बड़ा गुण यह है कि ऊंचे तापमान पर गर्म करने के बावजूद भी इसके औषधीय गुण नष्ट नहीं होते है।

जानकारों के अनुसार गुनगुने दूध में हल्दी मिलाकर पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होता है और रोजाना एक गिलास दूध में थोड़ी सी पिसी हल्दी मिलाकर पीने से स्वाइन फ्लू का असर कम होने लगता है।

निष्कर्ष- स्वाइन फ्लू जैसे बीमारी से बचने के लिए आप आसानी से इन घरेलू चीजों का इस्तेमाल कर अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा ये चीजें आपकी रोगों से लड़ने क्षमता बढ़ाकर आपको अन्य बीमारियों से भी बचाएंगी।

अगर आपको अपनी समस्या को लेकर कोई सवाल है, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लेना ना भूलें।

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख जुलाई 4, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया सितम्बर 5, 2019

शायद आपको यह भी अच्छा लगे