Thiamine: थायमिन क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Shruthi Shridhar

परिचय

थायमिन क्या है?

थायमिन (thiamine) एक प्रकार का विटामिन है, जो विटामिन बी-1 के नाम से भी जाना जाता है। विटामिन बी-1 कई खाद्य पदार्थो में पाया जाता है, जैसे की यीस्ट, ​कई अनाज, अखरोट और मांस आदि में। जिन खाद्यपदार्थों में विटामिन बी होता है, उसके साथ—साथ ये मिलावट में होता है। विटामिन बी के मिश्रण में आमतौर पर विटामिन बी-1 (थायमिन), विटामिन बी-2 (राइबोफ्लेविन), विटामिन बी-3 (नियासिन), विटामिन बी-5 (पैण्टोथेनिक एसिड),विटामिन बी-6 (पायरीडॉक्सीन ) और फोलिक एसिड पाए जाते हैं। मगर हर उत्पाद में ये सभी विटामिन एक साथ हो, बहुत सारे उत्पाद में बायोटिन, पारा -आमिनोबेंजोइक एसिड  (PABA) कॉलिन बायटारट्रेट, आइनोसिटोल जैसे और भी कई विटामिन हो सकते हैं।

शरीर में थायमिन की कमी होने पर ज्यादातर लोग थायमिन सप्लिमेंट का उपयोग करते हैं। गर्भावस्था के दौरान, बेरीबेरी के रोग में और नसों के सूजन पर भी थायमिन का इस्तेमाल होता है।

थायमिन का इस्तेमाल पाचन संबंधित कई समस्याओं में भी होता है। पेट में बेचैनी होना,भूख न लगना, कोलाइटिस में छाले,दस्त जैसी परेशानी में राहत के लिए भी किया जाता है।

 थायमिन का उपयोग किस लिए किया जाता है?

एड्स और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए भी थायमिन का उपयोग होता है। इसके साथ-साथ ये मधुमेह के कारण होने वाला दर्द, ह्रदय रोग, शराब की आदत, बढ़ती उम्र, अनुमस्तिष्क, ग्लूकोमा, मोशन से डर लगना, एथेलेटिक बर्ताव में सुधार इन सब के लिए इस्तेमाल होता है। इसके अलावा, गर्दन का कैंसर, किडनी का रोग, टाइप २ डायबिटीजके के उपचार के लिए थायमिन  का उपयोग किया जाता है।

कई किस्सों में चिकित्सक थायमिन के शॉट्स की सलाह देते हैं। वेर्निक’स  एन्सेफलोपथी सिंड्रोंम नामक मेमोरी डिसऑर्डर, दूसरे थायमिन डिसऑर्डर और कई रोग के उपचार के लिए भी उपयोगी है।

ये भी पढ़ें- Jasmine : चमेली क्या है?

थायमिन कैसे काम करता है?

ये एक हर्बल सप्लिमेंट है और कैसे काम करता है, इसके संबंध में अभी कोई ज्यादा शोध उपलब्ध नहीं हैं। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए आप किसी हर्बल विशेषज्ञ या फिर किसी डॉक्टर से संपर्क करें। हालांकि कुछ शोध ये बताते हैं कि थायमिन हमारे शरीर में कार्बोहाइड्रेट के निर्माण के लिए आवश्यक है।

सावधानियां और चेतावनियां

थायमिन के बारे में मुझे क्या जानकारी होनी चाहिए?

थायमिन का इस्तेमाल करने से पहले आपको डॉक्टर,फार्मासिस्ट या फिर हर्बल विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए, यदि-

•आप गर्भवती हैं या स्तनपान कराती हैं, तो थायमिन का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह पर करें। ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप बच्चे को फीडिंग कराती हैं,  तो अपने डॉक्टर की सलाह के मुताबिक ही आपको दवाइयों का सेवन करना चाहिए।

• आप कोई दूसरी दवा लेते हैं जो बिना डॉक्टर की पर्ची के आसानी से मिल जाती है, जैसे कि हर्बल सप्लिमेंट।

• आपको थायमिन और उसके दूसरे पदार्थों से या फिर किसी दूसरे हर्ब्स से एलर्जी हो।

• आप पहले से किसी तरह की बीमारी से पीड़ित हों।

• आपको पहले से ही खाने-पीने वाली चीजों से, हेयर डाई से या किसी जानवर आदि से किसी तरह की एलर्जी हैं ।

हर्बल सप्लिमेंट के उपयोग से जुड़े नियम अंग्रेजी दवाओं के नियमों जितने सख्त नहीं होते हैं। इनकी उपयोगिता और सुरक्षा से जुड़े नियमों के लिए अभी और शोध की जरुरत है। इस हर्बल सप्लिमेंट के इस्तेमाल से पहले इसके फायदे और नुकसान की तुलना करना जरूरी है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बल विशेषज्ञ या आयुर्वेदिक डॉक्टर से संपर्क करें।

थायमिन का सेवन कितना सुरक्षित है?

आमतौर पर, भोजन में पाए जाने वाली थायमिन की मात्रा ज्यादातर लोगों के लिए सुरक्षित है। कुछ ऐसे शोध हैं जिनमें पाया गया है कि थायमिन को दवाई के रूप में लेना सुरक्षित है। बहुत ही कम किस्सों में पाया गया है कि इस से एलर्जी व त्वचा रोग हो सकता है।

जब किसी चिकत्सक की निगरानी में यह नसों के द्वारा शरीर में इंजेक्ट किया जाता है, तब भी सुरक्षित है। थाइमिन के इस्तेमाल के पहले उसके फायदे जान लेना जरूरी है। अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बल विशेषज्ञ या आयुर्वेदिक डॉक्टर से संपर्क करें।

थायमिन का सेवन कितना सुरक्षित है?

प्रेगनेंसी और ब्रेस्टफीडिंग :

अगर आप प्रेग्नेंट हैं, तो खाने के तौर पर थायमिन गायनेक की सलाह पर उचित मात्रा लेने पर यह सुरक्षित है। प्रेग्नेंसी और ब्रेस्ट फीडिंग करवाने वाली औरतों के लिए इसकी उचित मात्रा है 1.4 mg प्रतिदिन है। इससे ज्यादा मात्रा में ये लेना सेफ है या नहीं इसके बारे में ज्यादा जानकारी पर्याप्त नहीं है।

ये भी पढ़ें- हेजलनट क्या है?

साइड इफेक्ट्स

थायमिन के सेवन से मुझे क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

इससे एलर्जी व त्वचा के रोग की समस्या हो सकती है। हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरुरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

ये भी पढ़ें- Green Coffee : ग्रीन कॉफी क्या है?

खुराक

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

आमतौर पर कितनी मात्रा में थायमिन खाना चाहिए?

वैज्ञानिक शोध के अनुसार थाइमिन इस मात्रा में लेना चाहिए:

खाने के तौर पर:

वयस्क इंसान जिसके शरीर में थाइमिन की कमी है: सामान्य तौर पर ऐसे वयस्कों को 5 से 30 mg थाइमिन रोजाना एक साथ या हिस्सों में बांट कर एक महीने के लिए लेनी चाहिए। तीव्र थाइमिन कमी के किस्सों में यह मात्रा 300 mg तक की हो सकती है।

मोतियाबिंद का असर घटाने के लिए:  खाने में रोजाना 1० mg थाइमिन का शरीर में जाना जरूरी है।

एक वयस्क को अपने शरीर में खाने की कमी को पूरा करने के तौर पर सप्लिमेंट दवाई के रूप में इसे एक से दो मिलीग्राम की मात्रा में ले सकता है। जबकि निर्धारित रूप से यह प्रमाण सही है:

  • बच्चे ( 0 से 6 महीने):0.2  mg
  • बच्चे (7  से 12 महीने): 0.3  mg
  • बच्चे (1 से 3 साल): 0.5  mg
  • बच्चे (4  से 8 साल): 0.6  mg
  • लड़के (9 से 13 साल): 0.9  mg
  • पुरुष (14 साल से ऊपर): 1.2  mg
  • लड़किया (9 से 13 साल): 0.9 mg
  • महिला (14 साल से 18 साल ): 1 mg
  • महिला (18 साल से ऊपर): 1.1   mg
  • गर्भवती: 1.4 mg
  • स्तनपान करवाने वाली महिलाएं:1.5 mg

इंजेक्शन से:

शराब की आदत को छुड़वाने के लिए और यह आदत वापस न लगे इसलिए चिकित्सक थायमिन सुई के द्वारा कई रोगियों को देते हैं। इस हर्बल स​प्लिमेंट की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई चीजों पर निर्भर करती है। हर्बल ​सप्लिमेंट हमेशा सुरक्षित हो जरूरी नहीं है।। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए हर्बलिस्ट या डॉक्टर से चर्चा करें।

थायमिन किन रूपों में उपलब्ध है?

  • कैप्सूल

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की मेडिकल सलाह, निदान या उपचार की सलह नहीं देता है।

ये भी पढ़ें- Gooseberry : आंवला क्या है?

रिव्यू की तारीख सितम्बर 19, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया सितम्बर 21, 2019