home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

थिएफ्लेविन के फायदे और नुकसान - Health Benefits of Theaflavin

थिएफ्लेविन के फायदे और नुकसान - Health Benefits of Theaflavin
परिचय|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|डोसेज|उपलब्ध

परिचय

थिएफ्लेविन (Theaflavin) क्या है?

थिएफ्लेविन काली चाय में पाए जाने वाला एक कैमिकल है जो कैमेलिया सिनेनसिस (Camellia sinensis) नामक चाय के पौधे की सूखी पत्तियों से पाया जाता है। यह चाय की पत्तियों के फर्मेंटेशन से बनता है और यह एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज के लिए जाना जाता है। इसका प्रयोग कई दवाइयों में किया जाता है। एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर इस केमिकल का इस्तेमाल हाई कोलेस्ट्रॉल, दिल संबंधित बीमारियां और कैंसर के इलाज के लिए किया जाता है।

कई एपिडेमिओलॉजिकल और इंटरवेंशन स्टडी में ये बात सामने आई है कि काली चाय पीने से शरीर को कई तरह के फायदे पहुंचते हैं। पॉलीफेनोलिक कंपाउंड (polyphenolic compound) थायफ्लेविन और थिएफ्लेविन ब्लैक टी के प्राइमरी रेड पिगमेंट होते हैं जो स्वास्थ्य के लिए कई तरह से लाभकारी होते हैं। ये फैट रिड्यूसिंग के साथ ही ग्लूकोज को कम करने की क्षमता रखते हैं। इसके साथ ही इसमें मोटापा को कम करने की क्षमता, एंटी इंफ्लामेट्री गुण, एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। साथ ही यह एंटी कैंसर भी होता है। काली चाय में उपस्थित एंजाइम इसे गुणकारी बनाते हैं।

थिएफ्लेविन (Theaflavin) का उपयोग किसलिए किया जाता है?

एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर:

थिएफ्लेविन एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर है जो एंजाइम्स की गतिविधि को रोकते हैं। ये एंजाइम्स ऑक्सीडेटिव तनाव का कारण बनते हैं। माना जाता है कि पूरी दुनिया में पी जाने वाली काली चाय एक लोकप्रिय पेय के साथ-साथ रोजमर्रा की जिंदगी में उपलब्ध एक एंटी-ऑक्सिडेंट्स भी है। एंटी-ऑक्सीडेंट शरीर को कई रोगों से बचाते हैं। इसके साथ ही ये हमारे शरीर में ऑक्सीकरण संबंधी नुकसान की गति को कमजोर करने या उसे पूरी तरह बेअसर करने में सक्षम होते हैं।

दिल को स्वस्थ रखने में मददगार:

इसमें पॉलीफेनॉल्स और फ्लेवोनॉइड्स नामक एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो दिल के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। थिएफ्लेविन शरीर में डिटॉक्सिफाइंग एंजाइम की गतिविधि को बढ़ाते हैं। इसमें मौजूद फ्लेवोनॉइड्स कोरोनरी हर्ट डिसीज के खतरे को कम करता है। इसके अलावा यह मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक है। यह याददाश्त को तेज करता है और व्यक्ति को तनाव की समस्या और अवसाद जैसी परेशानियों से कोसों दूर रखता है। वहीं पॉलीफेनॉल्स इनफ्लेमेशन को कम करने और कैंसर से लड़ने में मदद करते हैं।

कैंसर से बचाव:

पेट में होने वाले कैंसर सेल्स जब ब्लैक टी के थिएफ्लेविन एक्सट्रेक्ट से मिलते हैं तो ये सेल्स नष्ट हो जाते हैं। कई शोध में ये भी पाया गया है कि ब्लैक टी पीने से ब्रेस्ट कैंसर की संभावना कम होती है। इसके अलावा इसमें पाए जाने वाले पॉलीफेनॉल्स नामक एंटीऑक्सीडेंट कई तरह के कैंसर के होने की संभावना को कम करता है।

एंटी-एचआईवी प्रभाव:

थिएफ्लेविन में शक्तिशाली एंटी-एचआईवी प्रॉपर्टीज होती हैं। शोधकर्ताओं ने एचआईवी संचरण को रोकने के लिए इसे सुरक्षित पाया है। कई शोध में इस बात की पुष्टी हो चुकी है। यह बाजार में कई रूपों में उपलब्ध है। आप अपने डॉक्टर से कंसल्ट करके इसका सेवन कर सकते हैं।

इन परेशानियों में भी मददगार:

कैसे काम करता है थिएफ्लेविन (Theaflavin)?

जानवरों पर किए गए कुछ अध्ययन के अनुसार थिएफ्लेविन में एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-वायरल और एंटी-कैंसर गुण होते हैं। इंसानों पर इसके असर को लेकर अभी और शोध होने की जरूरत है। बिना जानकारी के अधिक मात्रा में थिएफ्लेविन का अधिक सेवन आपको नुकसान पहुंचा सकता है।इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें।

और पढ़ें: लैवेंडर क्या है?

उपयोग

कितना सुरक्षित है थिएफ्लेविन (Theaflavin) का उपयोग ?

उचित मात्रा में थिएफ्लेविन का प्रयोग संभवतः सुरक्षित है। थिएफ्लेविन को चाय के रूप में लेना सुरक्षित है। हालांकि, इसके कैप्सूल को लेने से पहले अपने डॉक्टर, फार्मासिस्ट या हर्बलिस्ट से परामर्श करें, यदि:

  • आप प्रेग्नेंट हैं या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इस दौरान गर्भवती मां की इम्यूनिटी काफी कमजोर होती है, ऐसे में किसी भी तरह की दवाई लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लेनी चाहिए।
  • आप पहले से ही दूसरी दवाइयां ले रहे हैं या बिना डॉक्टर के प्रिसक्रीप्शन वाली दवाइयां ले रहे हो।
  • आपको थिएफ्लेविन या दूसरी दवाओं या फिर हर्ब्स से एलर्जी है।
  • आपको कोई दूसरी तरह की बीमारी, डिसऑर्डर, या मेडिकल कंडिशन है।
  • आपको किसी तरह की एलर्जी की समस्या है, जैसे किसी खास तरह के खाने से, डाय से, प्रिजर्वेटिव या फिर जानवर से।
  • थिएफ्लेविन का सेवन करने से पहले या बाद में आपको क्या नहीं लेना चाहिए, आप इस बारे में एक्सपर्ट से जरूर जानकारी लें।

दवाइयों की तुलना में हर्ब्स लेने के लिए नियम ज्यादा सख्त नहीं हैं। बहरहाल यह कितना सुरक्षित है इस बात की जानकारी के लिए अभी और भी रिसर्च की जरूरत है। इस हर्ब को इस्तेमाल करने से पहले इसके रिस्क और फायदे को अच्छी तरह से समझ लें। हो सके तो अपने हर्बल स्पेशलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसे यूज करें।

यहां दी गई जानकारी का इस्तेमाल डॉक्टरी सलाह के विकल्प के रूप में नहीं करें ।

और पढ़ें: कावा क्या है?

साइड इफेक्ट्स

थिएफ्लेविन (Theaflavin) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

औषधि के तौर पर थिएफ्लेविन सुरक्षित है या नहीं इस बात की पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसके इस्तेमाल को लेकर यदि आप संदेह में है तो बेहतर होगा अपने हर्बल स्पेशलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसे इसका प्रयोग करें। कई बार औषधिया रिएक्शन भी कर सकती हैं, इसलिए हर्ब की अधिक मात्रा का सेवन सुरक्षित तभी माना जाता है तब इसे हर्बल स्पेशलिस्ट से पूछकर लिया जाए।

डोसेज

थिएफ्लेविन (Theaflavin) को लेने की सही खुराक क्या है् ?

इस बारे में कोई वैज्ञानिक जानकारी नहीं है कि थिएफ्लेविन को कितनी मात्रा में लिया जाए, हालांकि एक स्टडी के अनुसार 700 मिली ग्राम थिएफ्लेविन दिन में एक बार ले सकते हैं। इसको लेने का सही समय क्या है इसकी भी फिलहाल अभी कोई जानकारी नहीं है। इसका उपयोग फैट और कार्बोहाइड्रेट को शरीर में जमा होने से रोकने के लिए लिया जाता है। इसलिए जिन चीजों में ये पोषक तत्व हो उन्हीं के साथ इसे लेना बेहतर होगा।

यहां दी गई जानकारी का इस्तेमाल डॉक्टरी सलाह के विकल्प के रूप में नहीं करें । इस का प्रयोग अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लेकर करना ही बेहतर होगा।

और पढ़ें: नींबू क्या है?

उपलब्ध

किन रूपों में उपलब्ध है थिएफ्लेविन (Theaflavin)?

थिएफ्लेविन निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है:

  • कैप्सूल (Capsule)

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में इस हर्बल से जुड़ी ज्यादातर जानकारियां देने की कोशिश की है, जो आपके काफी काम आ सकती हैं। अगर आपको ऊपर बताई गई कोई सी भी शारीरिक समस्या है तो इस हर्ब का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। बस इस बात का ध्यान रखें कि हर हर्ब सुरक्षित नहीं होती। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से कंसल्ट करें तभी इसका इस्तेमाल करें। थिएफ्लेविन से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट कर पूछ सकते हैं।

आप स्वास्थ्य से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकती हैं। आप हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज को लाइक करके हेल्थ रिलेटेड न्यूज से अपडेट रह सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

9 Potential Benefits of Theaflavins/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6017393//Accessed on 12/12/2019

THEAFLAVIN/  https://pubchem.ncbi.nlm.nih.gov/compound/TheaflavinAccessed on 12/12/2019

Theaflavin/https://www.cancer.gov/publications/dictionaries/cancer-terms/def/theaflavin/Accessed on 12/12/2019

Theaflavins/https://www.science.gov/topicpages/t/theaflavin-enriched+black+tea.html/Accessed on 12/12/2019

THEAFLAVIN/http://teaboard.gov.in/pdf/A_boon_for_healthy_living.pdf/Accessed on 12/12/2019

 

लेखक की तस्वीर
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Mona narang द्वारा लिखित
अपडेटेड 06/10/2019
x