डूडल में दिख रहे इस शख्स ने साइंस को दिया था नया नजरिया

By Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar

हम जब भी कुछ सर्च करना चाहते है, गूगल की शरण में पहुंच जाते हैं। दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन गूगल किसी खास दिन को याद दिलाना नहीं भूलता है। गूगल ने आज 13 सितंबर का दिन डेनिश माइक्रोबायोलॉजिस्ट ‘हंस क्रिश्चियन ग्राम’ को समर्पित किया है। 166वीं जयंती के मौके पर इसे डूडल के माध्यम से दिखाया गया है। ग्राम का जन्म 1853 को हुआ था। उन्हें स्टेनिंग टेक्नीक (Staining technique) डेवलप करने के लिए जाना जाता है। इस तकनीकी का प्रयोग बैक्टीरिया के बीच अंतर करने के लिए किया जाता है। Google के अक्षरों में बना ये डूडल ‘मिकेल सोमर’ ने बनाया है। इसमें ग्राम गोल चश्मे, माइक्रोस्कोप और बैक्टीरिया का परीक्षण करते हुए देखे जा सकते हैं।

भारत के वो शहर जहां सबसे ज्यादा है डेंगू का खतरा

क्रिश्चियन ग्राम के बारे में

ग्राम ने 1884 में बर्लिन के सिटी हॉस्पिटल के मुर्दाघर में जर्मन माइक्रोबायोलॉजिस्ट कार्ल फ्रेडलेंडर के साथ अपना काम शुरू किया था। उन्होंने फेफड़े के टिशू में में पाए जाने वाले बैक्टीरिया को देखने की तकनीकी विकसित की। 1878 में कोपेनहेगन विश्वविद्यालय से एमडी की उपाधि प्राप्त की और यूरोप में जीवाणु विज्ञान और औषध विज्ञान का अध्ययन किया। साथ ही ‘ग्राम-पॉजिटिव’ और ‘ग्राम-नेगेटिव’ शब्द भी उन्हीं की देन है।

स्मोकिंग छोड़ने के लिए वेपिंग का सहारा लेने वाले हो जाएं सावधान!

कैसे की जाती है स्टेनिंग

ग्राम स्टेनिंग में बैक्टीरिया के धब्बे पर वॉयलेट डाई लगाई जाती है। इसके बाद इसे ऑर्गेनिक सॉल्वेन्ट आयोडीन सॉल्यूशन से साफ किया जाता है। इनमें सो जो मोटे सेल वाले बैक्टीरिया होते हैं वह पर्पल कलर के ही रहते हैं और उन्हें ही ‘ग्राम पॉजिटिव’ कहा जाता है। जो बैक्टीरिया कमजोर होते हैं, वो खत्म हो जाते है।

इस विषय में भी दी जानकारी

ग्राम एक साधारण इंसान थे। उन्होंने कहा था कि हो सकता है कि जो तकनीक मैंने विकसित की है, वो दोषपूर्ण हो लेकिन मुझे यकीन है कि कुछ वैज्ञानिकों के लिए ये उपयोगी साबित होगी। ग्राम के प्रारंभिक कार्य में ह्युमन में लाल रक्त कोशिकाओं (RBC) का अध्ययन शामिल था। उन्होंने लोगों को बताया कि मैक्रोकाइट्स (Macrocytes) के कारण खतरनाक एनीमिया हो सकता है।

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख सितम्बर 13, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया सितम्बर 13, 2019

सर्वश्रेष्ठ जीवन जीना चाहते हैं?
स्वास्थ्य सुझाव, सेहत से जुड़ी नई जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य न्यूज लेटर प्राप्त करें