सच छुपाना जॉनसन एंड जॉनसन को पड़ा भारी, 8 बिलियन का जुर्माना

By Medically reviewed by Dr Sharayu Maknikar

अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन एक बार फिर से चर्चा में है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ‘कंपनी को अपने प्रोडक्ट के लिए भारी जुर्माना चुकाना पड़ा है’। आप सोच रहे होंगे कि आखिर अब क्या हो गया इस कंपनी को ? हम आपको बताते चले कि कंपनी अपने प्रोडेक्ट को लेकर कई बार विवादों में घिर चुकी है। इस बार विवाद का कारण प्रोडेक्ट की जानकारी न देना है।

क्या है मामला ?

एक शख्स ने आरोप लगाया कि उसने जॉनसन एंड जॉनसन की एक मेडिसिन ली थी, जिससे उसकेब्रेस्ट में उभार आ गया। उसने ये भी कहा कि कंपनी ने कभी भी उसे इस बारे में नहीं बताया था। केस दर्ज होने के बाद कंपनी पर 8 बिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया गया है। निकोलस मरे ने आरोप लगाया कि उन्होंने 2003 में बीमारी के संबंध में डॉक्टर्स से संपर्क किया था। ऑटिज्म स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर (autism spectrum disorder) के कारण डॉक्टर ने रिस्पेरडल( Risperdal)सजेस्ट किया था। दवा खाने के कुछ समय बाद ब्रेस्ट में उभार महसूस हुआ।

यह भी पढ़ें: बिल गेट्स ने कहा, 20 सालों में कुपोषण को हराना होगा

आरोपों को नहीं साबित कर पाई झूठा

फिलाडेल्फिया की एक कोर्ट ने याचिका दायर करने वाले शख्स निकोलस मरे के पक्ष में फैसला सुनाया गया।कंपनी को अपना पक्ष रखने के लिए कहा गया था लेकिन वो आरोपों को झूठा साबित नहीं कर पाई और उस पर जुर्माना लगाया गया।आरोप लगाने वाले शख्स और उसके वकील का कहना है कि कंपनी सुरक्षा मानकों को ताक में रख कर मुनाफा कमा रही है। इस प्रोडेक्ट का इस्तेमाल करोड़ो बच्चे कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: डब्लूएचओ : एक बिलियन लोग हैं आंखों की समस्या से पीड़ित

अभी भी कंपनी को है भरोसा

जॉनसन एंड जॉनसन का कहना है कि ये फैसला हमारे लिए असम्मानजनक है। कंपनी को पूरा भरोसा है कि हमारी जीत होगी। जूरी का फैसला बदल जाएगा। अब कंपनी इस मामले को लेकर उच्च अदालत में अर्जी दाखिल कर सकती है। आपको बताते चले कि कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन बच्चों से जुड़े प्रोडेक्ट्स के लिए विश्वभर में पहचानी जाती है। बच्चों के प्रोडेक्ट के साथ ही इस कंपनी की दवा भी मार्केट में उपलब्ध है। ये पहला मामला नहीं है जब कंपनी के प्रोडक्ट में शिकायत मिली है। इससे पहले भी कंपनी के बेबी शैम्पू को लेकर भी शिकायतें आई थीं।

यह भी पढ़ें: स्मार्टफोन ऐप से पता चलेंगे बच्चों की आंख में कैंसर के लक्षण

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख अक्टूबर 9, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 9, 2019