क्या टमाटर के भर्ते से बढ़ सकती है पुरुष की फर्टिलिटी?

By Medically reviewed by Dr. Shruthi Shridhar

दिन में दो बार सप्लिमेंट के तौर पर जो पुरुष टमाटर का भर्ता इस्तेमाल करते हैं, उनके स्पर्म की गुणवत्ता अच्छी होती है। गर्भधारण ना कर पाने वाले जोड़ों में आधे से ज्यादा पुरुषों में इनफर्टिलिटी की समस्या होती है, वहीं, फर्टिलिटी एक्सपर्ट्स का कहना है कि फर्टिलिटी की समस्या वाले पुरुषों के संबंध में और अध्ययन की आवश्यकता है।

नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) का फर्टिलिटी की समस्या से जूझ रहे पुरुषों के लिए सुझाव है कि वो एक हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं और ढीले अंडरवियर पहने। एनएचएस का यह भी सुझाव है कि जितना संभव हो सके तनाव को कम करें और ओव्युलेशन की अवधि के दौरान नियमित सेक्स करें, जिससे गर्भधारण की संभावनाओं को अधिकतम किया जा सके। लेकिन, कुछ न्यूट्रिएंट्स पुरुषों की फर्टिलिटी को बढ़ा सकते हैं, जो कुछ समय से चलन में आ रहे हैं।

लाइकोपीन से स्पर्म गुणवत्ता बढ़ेगी

लाइकोपीन , विटामिन ई और जिंक, जिन्हें पिछले शोध में केंद्र बनाकर अध्ययन किया गया है, वो एक एंटी-ऑक्सीडेंट हैं। इसका मतलब यह हुआ कि ये कोशिकाओं में ऑक्सीडेशन को रोकते हैं। इनका संबंध स्वास्थ्य के दूसरे फायदों से भी है, जिसमें दिल की बीमारियों का खतरा और कुछ प्रकार के कैंसर शामिल हैं।

इस पर शेफफील्ड यूनिवर्सिटी की एक टीम का कहना है कि उन्होंने इसका सप्लीमेंट के तौर पर इस्तेमाल किया। क्योंकि इसमें लाइकोपीन है इसलिए, बॉडी का इसको डाइजेस्ट कर पाना थोड़ा मुश्किल है। उन्हें विश्वास है कि प्रतिदिन हर पुरुष को इसकी समान मात्रा मिल सकती है। लाइकोपीन का समान डोज लेने के लिए पुरुषों को प्रति दिन 2 किलो पके हुए टमाटर खाने होंगे।

यह भी पढ़ें: फर्स्ट टाइम सेक्स से पहले जान लें ये 10 बातें, हर मुश्किल होगी आसान

नतीजे उत्साहित करने वाले

पुरुष की फर्टिलिटी

12 हफ्तों तक चले इस ट्रायल में सप्लिमेंट बनाने वाली एक कंपनी ने आंशिक रूप से इसमें पैसा लगाया था। इस ट्रायल के लिए रेंडम तरीके से 60 पुरुषों का चयन किया, जिन्हें प्रतिदिन 14 ग्राम लाइकोपीन या इसकी गोलियां लेनी थीं। शुरुआत के छह हफ्ते और शोध के अंत पर पुरुषों के स्पर्म की जांच की गई। जांच में पता चला कि स्पर्म कॉनसेंट्रेशन में कोई अंतर नहीं था। जांच में पाया गया कि जो पुरुष लाइकोपीन का सेवन कर रहे थे उनके स्पर्म का आकार और मोटिलिटी (स्पर्म की तेजी) ज्यादा थी।

शेफफील्ड यूनिवर्सिटी के ह्यूमन न्यूट्रिशन की एक्सपर्ट डॉक्टर लिज विलियम्स की अगुवाई में यह शोध किया गया। इस शोध को यूरोपीय जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित किया गया। डॉक्टर लिज ने कहा, ‘इस समय हम पुरुषों को एक छोटी सलाह दे सकते हैं।’

यह भी पढ़ें: गर्भधारण के लिए सेक्स ही काफी नहीं, ये फैक्टर भी हैं जरूरी

बड़े ट्रायल की जरूरत

हम उन्हें एलकोहॉल को कम करने और हेल्दी डायट लेने की सलाह देते हैं लेकिन, यह बेहद ही समान्य सलाह है। वो कहती हैं, ‘यह एक छोटा शोध था और इसे हमें बड़े ट्रायल में दोहराने की आवश्यकता है। लेकिन, इसके नतीजे काफी प्रोत्साहित करने वाले हैं।’ उन्होंने कहा, ‘अगला कदम इस शोध को उन पुरुषों में दोहराने का है, जिन्हें फर्टिलिटी की समस्या है। यह देखना होगा कि क्या लाइकोपीन उन पुरुषों के स्पर्म गुणवत्ता में सुधार कर सकता है और यह उन्हें फर्टिलिटी के बड़े ट्रीटमेंट से बचा सकता है।’

यह भी पढ़ें: पुरुषों में इनफर्टिलिटी के ये 5 लक्षण, न करें इग्नोर

भविष्य में होगा फायदा

ग्वेंडा बर्न्स नामक एक चेरिटी नेटवर्क ने इस शोध पर कहा, ‘यह एक शुरुआती चरण है। यह शोध स्पर्म की गुणवत्ता में सुधार को लेकर एक उम्मीद जगाता है। साथ ही यह भविष्य में पुरुष की फर्टिलिटी के संबंध में एक विस्तृत समझ को पेश करता है।’

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख अक्टूबर 9, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 10, 2019

सूत्र