13 महीने के बच्चे की देखभाल के लिए आपको क्या जानने की आवश्यकता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जनवरी 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

विकास और व्यवहार

मेरे 13 महीने के बच्चे को अभी क्या-क्या गतिविधियां करनी चाहिए?

अब आपका बच्चा एक साल का हो गया है तो 13वें महीने में आपके बच्चे की खाने की आदतों में कुछ बदलाव आ सकते हैं। अचानक से वह खाने के मामले में ज्यादा चूजी हो सकते हैं। शायद, आपको यह अजीब लगे लेकिन, यह आम बात है। बच्चों को अलग-अलग तरह की खाने की नई या पुरानी चीजों से परिचय करवाने का यह सबसे सही समय है। ऐसा भी हो सकता है बच्चे को जो पहले खाने में नहीं अच्छा लगता हो अब वही चीज वो दिलचस्पी से खाता हो। इसका यह अर्थ है कि बच्चे में अब स्वाद की समझ विकसित हो रही है। अपने 13 महीने के बच्चे को अलग-अलग तरह के मसाले और डिश खाने के लिए दे सकते हैं। अगर बेबी का वजन घट रहा है या उसे बुखार या डायरिया जैसी समस्या हो रही हैं, तो इसका मतलब है कि किसी इंफेक्शन की वजह से उसकी भूख खत्म हो रही है। इस बारे में आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

13वें महीने में बच्चे की न सिर्फ खाने की आदत बल्कि उनके सोने की आदत में भी कुछ बदलाव नजर आ सकते हैं। हो सकता है पहले वह ज्यादा समय सोते हो या भरपूर नींद लेते हो और अब वह बीच रात में अचानक उठ जाता हो। 12 से 14 महीने के बीच बच्चे सक्रिय रूप से सपने देखने लगते हैं और इसकी वजह से वो जाग जागते हैं और रोने-चिल्लाने लगते हैं। जब तक वो गहरी नींद में न चलें जाएं तब तक उनके साथ रहें।

मेरे 13 महीने के बच्चे को क्या करने की तैयारी करनी चाहिए?

कई बार बच्चे जब चुनिंदा चीजें खाने लगते हैं, तो यह काफी तनावपूर्ण हो जाता है। इस स्थिति में अपने बच्चे पर अधिक खाने का दबाव न डालें बल्कि, बेहतर होगा कि भूख में जितना उन्हें जरूरत है उतना खाने दें। हालांकि, आप इस पर नियंत्रण नहीं रख सकते हैं कि वो कितना खाते हैं लेकिन आप यह सुनिश्चित करें कि वो क्या खा सकते हैं? हर समय भोजन के साथ कुछ न कुछ हेल्दी खाना दें। कोशिश करें वो मीठा या स्नैक्स आइटम्स जैसी नुकसान करने वाली चीजें ना खाएं। कई बार आपको चिंता भी हो सकती है कि बच्चा क्यों ठीक से नहीं खा रहा है लेकिन, चिंता करने की कोई बात नहीं है। ऐसा बच्चा कभी-कभी करता है।

खुश और हेल्दी रहने के लिए आपके 13 महीने के बच्चे को पर्याप्त नींद लेना जरूरी है। इस समय अपने बच्चे का बेड टाइम सेट करें और उनका निश्चित रूटीन बनाएं। बेड टाइम रूटीन में दूध पीना, ब्रश करना और बेड टाइम स्टोरी शामिल करें। शुरुआत में बच्चे इसमें आनाकानी कर सकते हैं लेकिन, धीरे-धीरे उन्हें न सिर्फ इसकी आदत हो जाएगी बल्कि, समय होते ही वो बेड-टाइम कहानी की भी डिमांड करेंगे।

यह भी पढ़ें : Child Tantrums: बच्चों के नखरे का कारण कैसे जानें और इसे कैसे हैंडल करें

डॉक्टर के पास कब जाएं?

 13 महीने के बच्चे से जुड़े किन विषयों पर डॉक्टर से बात करनी चाहिए?

संभवतः 12वें महीने में आपने अपने बच्चे का पूरा चेकअप कराया होगा। अगर आपने बच्चे की जांच नहीं कराई है तो इस महीने जरूर कराएं। अपने 13 महीने के बच्चे की डायट, नींद या व्यवहार के बारे में डॉक्टर को बताएं।

डॉक्टर को मुझे अपने 13 महीने के बच्चे के बारे मेंTop 10 Food Ideas For Your 13 Months Baby
क्या बताना चाहिए?

खाने की कुछ चीजों से बच्चों को एलर्जी भी हो सकती है। यही कारण हो सकता है कि डॉक्टर ने संभवतः आपको बच्चे के एक साल हो जाने तक की रूकने की सलाह दी होगी। अब जब आपका बच्चा 13 महीने का हो गया है तो धीरे-धीरे आप उन्हें चीजों से परिचित कराना शुरू कर सकते हैं। यह जानना जरूरी है कि बच्चे को कैसे इनसे परिचित कराया जाए? इसके लिए आप इस सलाह को फॉलो करें-

  • सबसे पहले लिस्ट बनाएं कि किन चीजों के खाने से बच्चे को एलर्जी हो सकती है। इसमें अंडे, नट्स, स्ट्रॉबेरी, शहद, गाय का दूध और टमाटर भी हो सकता है।
    एक समय में एक चीज ही खाने के लिए दें। इससे आपको रिएक्शन को समझने में मदद मिलेगी। आप हर चार-पांच दिनों के अंतराल पर खाने की नई चीजें इंट्रोड्यूस करा सकते हैं।
  • बच्चे के लिए एक डायरी बनाएं क्योंकि यह ट्रैक करना जरूरी है कि किस खास चीज से बच्चे को रिएक्शन होता है। हो सकता है कि बच्चे को फूड एलर्जी रिएक्शन न हो लेकिन डायरी से आपके डॉक्टर को मूल्यांकन करने में मदद मिल सकती है।

बच्चों के लिए सिंपल बेबी फूड रेसिपी, जिन्हें सरपट खाते हैं टॉडलर्स

क्या उम्मीद करें?

मुझे 13 महीने के बच्चे के स्वास्थ्य से जुड़ी क्या चिंताएं करनी चाहिए?

आप भी बच्चों के बार-बार सामान से टकराने या गिरने से चिंतित होते होंगे। अपने बच्चों को जरूरत से ज्यादा सुरक्षित रखने की कोशिश न करें। उसे चोट लगेगी और यह बिल्कुल स्वभाविक है, यह भी जिंदगी का हिस्सा है। इससे बच्चा अधिक सतर्क रहना सीखेगा। खेलने और गिरने से बच्चे को अपने शरीर और वातावरण के बारे में समझने में मदद मिलेगी। इससे वो सीखेंगे कि गिरकर कैसे उठना है और खुद को कैसे संभालना है?

13 महीने के बच्चे की खाने की आदतें

एक साल का होने के बाद बच्चे में कई बदलाव देखने को मिलते हैं। साथ ही यह भी देखने को मिलता है कि इस उम्र में बच्चों की भूख कम हो जाती है। यह भी देखने को मिलता है कि इस उम्र में बच्चे खाना बहुत कम देते हैं या फिर खाने को लेकर बहुत पीकी हो जाते हैं। आपको यह बदलाव अजीब लग सकते हैं। साथ ही इस उम्र में बच्चे की एक्टिविटीज में भी फर्क आता है। पेरेंट्स को भी समझने की जरूरत होती है एक साल के बाद बच्चे के विकास की गति में थोड़ी कमी आती है। लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आप बच्चों को ज्यादा खाने को देने लगे या फिर उनपर खाने को लेकर दबाव बनाने लगे। बच्चे को उसकी भूख के अनुसार खाने दें। ऐसे में आप इस बात पर तो कंट्रोल नहीं कर सकते कि वह कितना खाएंगा इस पर जरूर कर सकते हैं कि वह क्या खाएगा। 13 महीने के बच्चे जीवन का शुरुआती एक साल पूरा कर चुके होते हैं लेकिन अभी भी उनके पोषण और चीजों पर खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। ऐसे में आप सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा केवल हेल्दी ही खाएं। इसके अलावा यह याद रखें कि अगर बच्चा कम खा रहा है, तो उसे स्नैक्स या कुछ अनहेल्दी न खाने दें।

और पढ़ें:

बच्चों के लिए सिंपल बेबी फूड रेसिपी, जिन्हें सरपट खाते हैं टॉडलर्स

बच्चों को खड़े होना सीखाना है, तो कपड़ों का भी रखें ध्यान

बच्चों में फूड एलर्जी का कारण कहीं उनका पसंदीदा पीनट बटर तो नहीं

Child Tantrums: बच्चों के नखरे का कारण कैसे जानें और इसे कैसे हैंडल करें

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

संबंधित लेख:

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    जानें बच्चों में अंधापन क्यों होता है?

    जानिए बच्चों में अंधापन के क्या हैं कारण? Kids Blindness की समस्या को कैसे दूर करें? पेरेंट्स को ऐसे में क्या करना चाहिए?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
    के द्वारा लिखा गया Nidhi Sinha
    पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग अप्रैल 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    डाउन सिंड्रोम की समस्या से जूझ रहे लोगों के सामने जानिए क्या होते हैं चैलेंजेस

    डाउन सिंड्रोम की समस्या के कारण जहां बच्चों का शारिरिक और मानसिक विकास धीमा हो जाता है, वहीं उन्हें कई तरह के चैलेंजेस का सामना भी करना पड़ता है।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
    पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग मार्च 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    अचानक दूसरों से ज्यादा ठंड लगना अक्सर सामान्य नहीं होता, ये है हाइपोथर्मिया का लक्षण

    हाइपोथर्मिया क्या है, hypothermia in hindi, हाइपोथर्मिया का इलाज क्या है, ज्यादा ठंड लगने पर क्या करें, jyada thand lagne par kya karein, mujhe bahut thand lagti hai kya karun, ठंड कैसे भगाएं।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
    के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal

    बच्चों में फूड एलर्जी का कारण कहीं उनका पसंदीदा पीनट बटर तो नहीं

    बच्चों में फूड एलर्जी के कारण, बच्चों में फूड एलर्जी क्यों होता है, फूड एलर्जी के लिए क्या करें, कैसे पहचाने फूड एलर्जी kids Food Allergy, जानें और

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Lucky Singh
    बच्चों का पोषण, पेरेंटिंग दिसम्बर 13, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

    Recommended for you

    बच्चों के साथ संवाद

    नन्हे-मुन्ने के आधे-अधूरे शब्दों को ऐसे समझें और डेवलप करें उसकी लैंग्वेज स्किल्स

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ मई 5, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    स्ट्रॉबेरी लेग्स

    आपकी खूबसूरती को बिगाड़ सकते हैं स्ट्रॉबेरी लेग्स, जानें इसे दूर करने के घरेलू उपाय

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Surender aggarwal
    प्रकाशित हुआ अप्रैल 16, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    शिशु को घमौरी-Baby Heat rash

    जानें शिशु को घमौरी होने पर क्या करनी चाहिए?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
    प्रकाशित हुआ अप्रैल 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    Roseola- रास्योला

    Roseola: रोग रास्योला?

    के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
    प्रकाशित हुआ अप्रैल 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें