ग्रीन टी आपकी बॉडी को हेल्दी रखने में ग्रीन सिग्नल की तरह करती है काम

By

ग्रीन टी कैमेलिया साइनेन्सिस पौधे से बनाया जाता है। साइनेन्सिस पौधे की पत्तियों का इस्तेमाल ग्रीन टी बनाने के साथ-साथ अन्य दूसरे किस्म की चाय बनाने में भी उपयोग किया जाता है। इसमें पॉलीफेनोल्स की मात्रा ज्यादा होती है। पॉलीफेनोल्स एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो शरीर के लिए कई तरह से लाभकारी होते हैं। रिसर्च के अनुसार इसे ग्रीन टी को सबसे हेल्दी पेय पदार्थों की श्रेणी में रखा गया है। इसके लाभ भी मिल सकते हैं अगर इसका सेवन संतुलित मात्रा में किया जाए तो। ग्रीन टी में भी कॉफी की तरह कैफीन की मात्रा होती है लेकिन, इसमें कैफीन की मात्रा बेहद कम होती है। शोध के अनुसार ग्रीन-टी के सेवन से मुंह में होने वाले संक्रमण से बचा जा सकता है। डेंटल एक्सपर्टस के अनुसार पेरियोडोंटल (एक प्रकार की मसूड़ों की बीमारी) से बचा जा सकता है अगर इसका सेवन संतुलित मात्रा में किया जाए तो। ग्रीन-टी, बैक्टीरियल प्लाक (दांतों की मैल) को कंट्रोल कर दांतों को खराब होने से भी बचाने में मददगार माना जाता है। इसमें पाया जाने वाला पॉलीफेनोल्स, ग्लोक्सीलट्रांसफरेस चीनी खाने से मुंह में होने वाले बैक्टीरिया को नष्ट कर प्लाक से लड़ता है। इसके अलावा फ्लोराइड दांतों को खराब होने से भी बचाता है। ऐसे ही कई अन्य फायदे हैं ग्रीन टी के सेवन से।

powered by Typeform

और पढ़ें:

Brain Infection: मस्तिष्क संक्रमण क्या है?

जानिए क्या है पाचन संबंधी विकार (Digestive Disorder) और लक्षण?

फूल गोभी और ब्रोकली क्या है ज्यादा हेल्दी?

बढ़ती उम्र में अल्जाइमर कितना आम है, जानें इसके बारे में

Share now :

रिव्यू की तारीख फ़रवरी 23, 2020 | आखिरी बार संशोधित किया गया फ़रवरी 23, 2020

सूत्र
शायद आपको यह भी अच्छा लगे