कोविड-19 : प्रधानमंत्री ने देश से क्या की अपील, जानते हैं तो खेलें क्विज

By

  कोरोना वायरस का इंफेक्शन अब तक भारत में 200 से ज्यादा लोगों को संक्रमित कर चुका है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के सबसे अधिक मामलें हैं। महामारी से बचाव के लिए जहां हर कोई परेशान है वहीं नाजुक हालात से निपटने के लिए   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस महामारी से बचाव और जरूरी एहतियात के बारे में देश संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने नागरिकों से आने वाले कुछ सप्ताह तक घर से बेवजह बाहर न निकलने और संयम बरतने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने लोगों को न डरने की सलाह भी दी और कहा कि हम सब मिलकर इस वायरस से लड़ेंगे। 19 मार्च को रात आठ बजे देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘दुनिया के जिन देशों में कोरोना की बीमारी ज्यादा देखी जा रही है, वहां एक बात सामने आ रही है कि वहां बीमारी की शुरुआत होने के बाद कुछ दिनों में मरीजों की संख्या काफी तेजी से बढ़ी है। ऐसा भारत में भी हो सकता है। प्रधानमंत्री ने देशवासियों को स्वास्थ्य संबंधि अन्य जानकारी भी दी। जनता कर्फ्यू का ऐलान कर प्रधानमंत्री ने महामारी से बचाव की ओर सराहनीय कदम उठाया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि, “हमें संकल्प लेना होगा कि हम खुद संक्रमित होने से बचेंगे और दूसरों को भी संक्रमित होने से बचाएंगे। ऐसी महामारी की स्थिति में एक मंत्र काम करता है, हम स्वस्थ तो जग स्वस्थ।” अगर आपने प्रधानमंत्री के संबोधन को ध्यान से सुना है तो आपको उसके बारे में जानकारी होगी। प्रधानमंत्री के संबोधन से संबंधित यहां कुछ प्रश्न दिए जा रहे हैं। क्विज खेलें और अपना नॉलेज बढ़ाएं।

 

और पढ़ें :

इलाज के बाद भी कोरोना वायरस रिइंफेक्शन का खतरा!

कोरोना वायरस से बचाव संबंधित सवाल और उनपर डॉक्टर्स के जवाब

वर्क फ्रॉम होम : कोरोना वायरस की वजह से घर से कर रहे हैं काम, लेकिन आ रही होंगी ये मुश्किलें

क्या प्रेग्नेंसी में कोरोना वायरस से बढ़ जाता है जोखिम?

Share now :

रिव्यू की तारीख मार्च 20, 2020 | आखिरी बार संशोधित किया गया मार्च 20, 2020

शायद आपको यह भी अच्छा लगे