ब्रा फीटिंग गाइड : जो हर लड़की को जानना है जरूरी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अक्टूबर 9, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

ब्रा महिलाओं के कपड़ों का एक महत्वपूर्ण अंग है। हर कपड़े के लिए एक अलग ही ब्रा होती है। टी-शर्ट के लिए अलग ब्रा, ब्लाउज के लिए अलग ब्रा और बैकलेस या ऑफ शोल्डर ड्रेस के लिए अलग ब्रा। कपड़ों की स्टाइल के साथ-साथ ब्रा की स्टाइल भी बदलती है। वहीं, कई बार लड़कियां अपने ब्रेस्ट साइज के हिसाब से सही ब्रा फीटिंग ना मिलने से भी परेशान होती है। कुछ लड़कियों की ब्रेस्ट साइज सामान्य से बड़ी होती है, ऐसे में उन्हें अपने साइज की ब्रा को ढूंढना बहुत मुश्किल हो जाता है। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे ब्रा फीटिंग गाइड के बारे में जिसमें आप जानेंगे कि सही साइज की ब्रा को कैसे चुन सकते हैं? इसके साथ ही ब्रा की फीटिंग के टिप्स भी जानेंगे।

यह भी पढ़ें : क्या आप जानते हैं? दुनिया की सबसे महंगी ब्रा के बारे में?

ब्रा की फीटिंग की सही माप कैसे लें?

ब्रा न पहनना

क्या आपको पता है कि 80 फीसदी भारतीय महिलाएं आज भी गलत साइज और फीटिंग की ब्रा पहनती हैं। लेकिन ये भी कोई नियम नहीं है कि सभी स्टाइल की ब्रा भी एक ही साइज की आए। इसलिए आपको हर ब्रा की साइज को उसकी स्टाइल से समझना होगा। इसके लिए आपको ब्रा फीटिंग की सही माप करने आनी चाहिए। लेकिन इससे पहले आपको जानना होगा कि ब्रा में कौन सी चीजों का क्या काम है और क्या वे सही तरीके से आपके ब्रेस्ट के लिए काम कर रही हैं :

स्ट्रैप्स (Straps)

स्ट्रैप्स ब्रा में कंधे पर पाई जाने वाली पट्टी को कहते हैं। यह स्ट्रैप्स ब्रेस्ट को लिफ्ट करने में मदद करता है। जब आप अपने हाथों को चारों ओर गोलाई में घुमाते हैं तो आपके ब्रेस्ट ऊपर आ जा रहे हैं या वह लटके से महसूस हो रहे हैं तो आपके ब्रा की साइज गलत हो सकती है। इसके लिए आपको स्ट्रैप्स को पहले एडजस्ट करें या फिर छोटे कप साइज की ब्रा खरीदें। अगर ब्रा की स्ट्रैप्स कंधे के अंदर धंसी हुई लग रही है या कंधे पर काफी टाइट लग रही है या ब्रेस्ट के ऊपरी हिस्से अलग हो जा रहे हैं तो आपको बड़े कप साइज के ब्रा की जरूरत है। 

कप्स (Cups)

ब्रा में ब्रेस्ट पर जो भाग होता है, उसे कप्स कहते हैं। ये स्तनों को पूरी तरह से ढक कर सही आकार देता है। जब आप ब्रा की सही फीटिंग के बारे में जानें तो कप साइज पर विशेष ध्यान दें। खड़ी हो जाएं और आगे की और कमर के सीध में झुकें। इसके बाद ब्रा पहनें, ताकि स्तन पूरी तरह से ब्रा कप्स में चला जाए। आप कपड़ों और बैंड के बाहर बिल्कुल भी ना रहे। इसके अलावा आपको ये भी ध्यान देना चाहिए कि कप टाइट हो और उसमें स्पेस ना बचा हो।

बैंड (Band)

स्तनों के नीचे जो पट्टी ब्रा में पाई जाती है उसे ही बैंड कहते हैं। उसमें पीछे लगे हुक के मदद से ही आप ब्रा को बंद करती हैं। हमेशा ब्रा को बंद करने के बाद आप उसमें दो उंगलियों को चौड़ाई से डालें अगर आसानी से उंगिलयां  घूम जा रही हैं तो ब्रा की साइज सही है। हमेशा याद रखें कि वक्त बीतने के साथ आपकी ब्रा ढीली होती जाती है। ऐसे में ब्रा को हमेशा पहले हुक पर पहन कर ही नापें। वहीं, अगर आपके ब्रा का बैंड पीछे की तरफ से ऊपर उठ जा रहा है तो आपको छोटे साइज के ब्रा की जरूरत है। 

सेंटर (Center)

ये ब्रा के बीच का यानी कि क्लिवेज के जस्ट नीचे का हिस्सा होता है। सभी ब्रा में ये ब्रेस्ट को नीचे से शेप देने और क्लिवेज को स्टिक होने से रोकने के लिए होता है। ब्रा की साइज मापते समय हमेशा ध्यान दें कि सेंटर आपके स्तनों को आपस में चिपकने ना दें और ना ही आपके स्तन की त्वचा में चुभे। 

यह भी पढ़ें : जिम जाते वक्त पहनने चाहिए कैसे कपड़े, क्या जानते हैं आप?

ब्रा में मौजूद सभी जरूरी चीजों के बारे में जानने के बाद अब आप निम्न स्टेप्स को अपना कर एक राइट ब्रा फीटिंग खुद के लिए चुन सकती हैं :

सबसे पहले आप बिना पैड वाली ब्रा पहनें या बिना ब्रा के भी मेजरमेंट कर सकते हैं। इसके बाद मिरर के सामने खड़ी हो जाएं और मेजरिंग टेप ले लें।

#1 बैंड की साइज मापें

ब्रा फीटिंग गाइड

  • मेजरिंग टेप को सीने के चारों तरफ बैंड वाले स्थान पर लपेटें। कोशिश करें कि ये ज्यादा टाइट ना हो।
  • फिर देखें कि आपके बैंड की साइज इंच या सेंटीमीटर में कितनी है। अगर वह किसी विषम संख्या में आती है परेशान ना हो। उदाहरण के तौर पर अगर आपके बैंड की साइड 33 या 33.5 इंच आती है तो ये 34 मानी जाएगी।
  • फिर इस नंबर को नोट कर लें।

#2 कप साइज को मापें

ब्रा फीटिंग गाइड

  • ब्रा फीटिंग के लिए कप साइज बहुत मायने रखती है। इसके लिए मेजरिंग टेप को ब्रेस्ट के सबसे उभरे हुए स्थान पर रखें।
  • कोशिश करें कि हमेशा निप्पल वाले स्थान से ही माप लें। इससे सही माप मिलने में मदद मिलेगी। 
  • मेजरिंग टेप से ब्रेस्ट को मापें और जो भी नंबर आए उसे नोट कर लें। 

#3 कैल्क्यूलेट करें

बैंड और कप की साइज नापने के बाद आप प्राप्त नंबरों को कैल्क्यूलेट करें। उसके कैल्क्यूलेट करने का तरीका है कि पहले बैंड की साइज लें। अगर नाप सम (Even) है तो उसमें चार इंच जोड़ें और अगर विसम (Odd) है तो उसमें पांच इंच जोड़ें। उदाहरण के तौर पर अगर आपके बैंड की नाप 30 है तो 30+4=34 या अगर 31 है तो 31+5=36 होगा। अब कप की नाप को लें। अगर आपके कप की नाप 37 है तो उसमें से बैंड की नाप को घटा दें। जैसे- 37-34=3 इंच इसका मतलब है कि आपके ब्रा की साइज 34C होगी। अगर कप में से बैंड घटाने पर निम्न गिनती आती हैं तो आपकी कप साइज ये हो सकती है :

  • 1 A
  • 2 B
  • 3 C
  • 4 D
  • 5 E या DD
  • 6 F या EE

इस तरह से आप अपने लिए परफेक्ट ब्रा फीटिंग को खुद ही कैल्क्यूलेट कर सकती हैं। 

यह भी पढ़ें : स्तनपान के दौरान ब्रा कैसी पहननी चाहिए?

ब्रा फीटिंग टिप्स अपनाएं और लगें परफेक्ट

ब्रा फीटिंग टिप्स के मदद से आप अपने लिए परफेक्ट ब्रा चुन सकती हैं। ब्रा फीटिंग टिप्स निम्न हैं :

  • अगर आप अपने बैंड का साइज बढ़ाती है तो कप की साइज कम होगी। उदाहरण के लिए अगर आप 32D की ब्रा पहनती हैं, अगर आपको 34 बैंड साइज की ब्रा पहननी हो तो आपकी साइज 34C हो जाएगी। इसे सिस्टर साइज कहते हैं। 
  • अगर आप स्ट्रैपलेस ब्रा ले रही हैं तो आप अपनी साइज के हिसाब से ही कप का चुनाव करें। ज्यादातर लोग सोचते हैं कि थोड़ा टाइट कप साइज लेने से ब्रा को बार-बार एडजस्ट नहीं करना होगा। इससे ब्रा फीटिंग गड़बड़ हो सकती है। अगर आप ऐसा करेंगी तो ब्रेस्ट की मसल्स बाहर की तरफ निकल सकती हैं। ऐसे में आप सिलिकॉन टेप से ब्रा को ब्रेस्ट पर टक कर सकती हैं या फिर ट्रांसपेरेंट स्ट्रैप की ब्रा पहन सकती हैं। 
  • ब्रा को धुलने के बाद निचोड़े नहीं, इससे आपके ब्रा फीटिंग गड़बड़ हो सकती है।
  • ब्रा को ज्यादा खींच या तान कर ना पहनें, इससे ब्रा फीटिंग जल्दी लूज हो सकती हैं। 
  • हमेशा ब्रा को पहले हुक से बंद कर के पहनना शुरू करें। फिर जब धीरे-धीरे ब्रा ढीली होने लगे तो आप पहले से दूसरे हुक पर शिफ्ट हो सकती हैं। 

ब्रा फीटिंग टिप्स को अपना कर आप सही तरीके से अपने ब्रेस्ट और ब्रा दोनों का ध्यान रख सकती हैं। साथ ही ब्रा फीटिंग के लिए जो मेजरमेंट का तरीका बताया है, उससे आपको अपनी ब्रा फीटिंग ढूंढने में आसानी होगी। उम्मीद है कि आपको ब्रा फीटिंग गाइड बहुत पसंद आई होगी। ये आर्टिकल आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकता है। अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर और ड्रेस एक्सपर्ट की मदद ले सकते हैं। 

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई मेडिकल जानकारी नहीं दे रहा है। 

और पढ़ें :-

जानें नींद से जुड़े कुछ रोचक तथ्य (Interesting Facts About Sleep)

जानें मेडिटेशन से जुड़े रोचक तथ्य : एक ऐसा मेडिटेशन जो बेहतर बना सकता है सेक्स लाइफ

रक्त से जुड़े रोचक तथ्य

हैरान करने वाले हेल्थ से जुड़े Fun Facts

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

स्तनपान कराने वाली मां की कैसी हो डायट

ब्रेस्टमिल्क के उत्पादन को बढ़ाने के लिए स्तनपान कराने वाली मां के आहार में दूध, गुण, तिल, जीरा, अजवाइन जैसे खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए। जानें स्तनपान कराने वाली मां के आहार और उससे जुड़ी आवश्यक जानकारियां। Foods to increase breast milk, Diet for new mother

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
वीडियो जुलाई 30, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

फूड सेंसिटिव बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कैसे कराएं? जानें इस बारे में सबकुछ

फूड सेंसिटिव बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कैसे कराएं, फूड सेंसिटिव बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग टिप्स इन हिंदी, नवजात को फूड एलर्जी, food sensitivity child breastfeeding tips

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
स्तनपान, पेरेंटिंग जुलाई 22, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

9 मंथ प्रेग्नेंसी डायट चार्ट: इन पौष्टिक आहार से जच्चे-बच्चे को रखें सुरक्षित

9 मंथ प्रेग्नेंसी डायट चार्ट पौष्टिक खाद्य पदार्थ का क्या मतलब है, किन-किन चीजों को डायट में शामिल करना चाहिए और किसे नहीं यह जानने के लिए पढ़ें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रेग्नेंसी स्टेजेस, प्रेग्नेंसी जुलाई 20, 2020 . 8 मिनट में पढ़ें

ब्रेस्टफीडिंग के कारण क्रैक निप्पल की समस्या दूर करने के आसान उपाय

ब्रेस्टफीडिंग के कारण क्रैक निप्पल की समस्या क्या सामान्य है? ब्रेस्टफीडिंग के कारण क्रैक निप्पल को आसानी से ठीक किया जा सकता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
स्तनपान, पेरेंटिंग मई 18, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

Breastfeeding quiz

Quiz: स्तनपान के दौरान कैसा हो महिला का खानपान, जानने के लिए खेलें ये क्विज

के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ अगस्त 28, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
स्तनपान है बिल्कुल आसान, मानसिक रूप से ऐसे रहें तैयार

स्तनपान है बिल्कुल आसान, मानसिक रूप से ऐसे रहें तैयार

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
प्रकाशित हुआ अगस्त 2, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
विभिन्न प्रसव प्रक्रिया का स्तनपान और रिश्ते पर प्रभाव - How do Different Birthing Practices Impact Breastfeeding and Bonding

विभिन्न प्रसव प्रक्रिया का स्तनपान और रिश्ते पर प्रभाव कैसा होता है

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
प्रकाशित हुआ अगस्त 2, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
नर्सिंग मदर्स का परिवार कैसे दे साथ - Family Support for Nursing Mothers

नर्सिंग मदर्स का परिवार कैसे दे उनका साथ

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
प्रकाशित हुआ अगस्त 1, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें