क्या आप भी है स्टेशनरी एडिक्टिव….?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट जुलाई 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

अगर आप ये आर्टिकल इस वक्त पढ़ रहे हैं तो जरूर आपके पास हजारों पेन, पेंसिल, नोटबुक्स और कलर्स होंगें। भले ही आप क्रेयॉन, वाटर कलर और लिफाफों का इस्तेमाल न करते हो, लेकिन इन्हें सहेज कर आपने जरूर रखा होगा। आखिर ऐसा क्या है इन चीजों में जो आपको इन्हें खरीदने पर मजबूर कर देता है।

दरअसल बढ़ते हुए स्टेशनरी के क्रेज को देखते हुए कई स्टेशनरी बनाने वाले हर स्टेशनरी आइटम को इच्छानुसार बनाकर भी देते हैं। अगर आप किसी स्टेशनरी की दुकान  में घुसते हैं तो आप रंग -बिरंगे कलर, पेन, अलग -अलग तरह के पेपर, ग्रीटिंग्स और डायरीज का अनोखा कलेक्शन देख पाएंगें। पहले के जमाने में स्टेशनरी का उपयोग केवल ऑफिस और  छात्रों के बीच प्रचलित था, लेकिन आजकल दुकानों में हर उम्र के लोगों के लिए स्टेशनरी की दुकान पर कुछ न कुछ तो जरूर मिल जाएगा। बढ़ते हुए कमर्शियलाइजेशन के दौर में स्टेशनरी के बाजार में बहुत से रूप देखने को मिलते हैं। यदि कोई स्टेशनरी एडिक्टिव होता है तो यह उसके लिए आम बात जैसी होगी, लेकिन कभी-कभी स्टेशनरी एडिक्टिव नेचर आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकता है।

स्टेशनरी एडिक्टिविटी

  • रंग बिरंगे कलर पेपर, स्टाइलिश पेन और पेंसिल, डायरीज और नोट पैड्स हर किसी को लुभाने के लिए काफी हैं, लेकिन आखिर क्यों आप ऐसी चीजें खरीद रहें हैं जिन्हें शायद आप कभी इस्तमाल भी न करें। अक्सर जब आप शॉपिंग के लिए जाते हैं तो हम शौक के हिसाब से कई बार अनचाही चीजें  भी खरीद लेते हैं।
  • अगर आप स्टेशनरी के दीवाने लोगों को इंस्टाग्राम पर ढूंढेंगे तो संभव है आपको झटका लगेगा। इंस्टाग्राम पर #stationary addict को सर्च करने पर आपको 1,318,521 स्टेशनरी के दीवाने मिल जाएंगें। दुनिया में पाए जाने वाले कई अजीब शौक में से पेन इक्कठा करना और उसका कलेक्शन बनाना भी है।

स्टेशनरी एडिक्टिव के लक्षण

  • कई साल से आप लगातार स्टेशनरी खरीद रहे हैं। तो अभी आपको उन्हें उपयोग करने कि जरूरत है। अभी आपको कुछ खरीदने कि जरूरत अभी नहीं है।
  • इंस्टाग्राम के माध्यम से रैंडमली स्क्रॉल करना, कुछ खूबसूरत स्टेशनरी देखना, फिर उसी के लिए घंटों खोज करना है ताकि आप इसे खरीद सकें।
  • यदि आप एक नया सुंदर पेन लाएं हैं और आप इसका उपयोग नहीं कर सकते क्योंकि यह लिखने में बहुत अच्छा नहीं है, लेकिन आप इसे फेंक भी नहीं सकते हैं क्योंकि आपको यह बेहद पसंद हैं।
  • जब आप एक नई परियोजना शुरू कर रहे हैं तो बाहर जाने और नई स्टेशनरी खरीदने की आवश्यकता है। ऐसा नहीं है कि आप पहले से ही पर्याप्त सामान अपने पास रखें हुए हैं।
  • जब आपको दूसरों के लिए स्टेशनरी उपहार खरीदने की बात आती है, तो आप इसे पसंद करते हैं, आपको 2 सेट खरीदने की आवश्यकता है क्योंकि आपको इसे भी खुद करना होगा।

और पढ़ें: Drug addiction : ड्रग एडिक्शन क्या है?

क्या स्टेशनरी एडिक्टिव होना दर्शाता है कोई बड़ी बीमारी है… 

सबसे पहले तो आप घबराइए मत ये कोई बीमारी नहीं है। ये स्टेशनरी दिखती ही इतनी खूबसूरत है कि कोई भी इन्हें बिना किसी कारण के खरीद लेगा, लेकिन यह कहना गलत नहीं होगा की ये एक आदत होती है, लेकिन कभी-कभी ये आदत एक गंभीर रूप ले लेती है। जिसके कुछ जोखिम आपके सामने बाद में आ सकते हैं। उदाहरण के लिए आपको समझाएं तो,मान लीजिए आप स्टेशनरी एडिक्टिव हैं। आप एक सुंदर सी स्टेशनरी देखते ही कुछ न कुछ खरीदने की लालसा में बढ़ जाते हैं, लेकिन कभी आपको किसी आर्थिक स्थिति की समस्या हो गई, लेकिन आप अपने स्टेशनरी एडिक्टिव व्यक्तिव के चलते अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर पा रहें है तो ऐसे में आप या तो कोई गलत कदम उठाएंगे या अपने पास जो कुछ बचा हुआ है उसको भी अपने स्टेशनरी एडिक्टिव नेचर के चलते गंवा देगें।

नोट: आपको यह समझाने का केवल इतना तर्क है कि कोई भी आदत यदि गंभीर हो जाती है तो वो आपके लिए मुश्किल पैदा कर सकती है। इसलिए ध्यान रखें अपने स्टेशनरी एडिक्टिव की आदत को कम करने की कोशिश करें, केवल जरूरत पड़ने पर अधिक सामान खरीदें। 

और पढ़ें: कहीं आपके शरीर के साथ सेहत को भी न बिगाड़ दे खाने की लत

क्या करें अगर आप अच्छी स्टेशनरी खरीदने के बाद सोच रहें हैं कि उसका क्या करें?

यदि आपने बहुत सारी मंहगी स्टेशनरी खरीद ली है लेकिन अब ये समझ नहीं पा रहें हैं की उसका क्या करें, तो आपके पास कुछ ऑप्शन हैं जिससे आप आसानी से यह तय कर सकते हैं कि इन स्टाइलिश और मंहगी स्टेशनरी का आप क्या करें? सबसे पहले तो आप इस स्टाइलिश स्टेशनरी को किसी गिफ्टिंग आइटम के तौर पर उपयोग कर सकते हैं। अपने किसी खास व्यक्ति को आप इसे तोहफे के रूप में दे सकते हैं। सुंदर स्टेशनरी काफी इलीट (elite) और आकर्षक तोहफे का काम कर सकती है, लेकिन यदि आप इसे किसी को देना नहीं चाहते और अपने पास रखना नहीं चाहते तो आप इसे थोड़े कम दाम पर बेच सकते हैं।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

क्या आईपैड और किंडल के जमाने में नोटबुक्स और डायरीज का महत्व है?

यह कहना गलत नहीं होगा कि जमाना कितना भी बदल जाए पन्नों की महक अलग ही होती है। उनकी जगह कोई भी नया उपकरण नहीं ले सकता है। किताब पढ़नी हो या फिर कही पर कुछ लिखना हो पेन और कागज की जगह कुछ भी नहीं ले सकता। अगर प्रक्टिकली सोचा जाए तो एक सत्य ये भी है कि आई पैड और नोटपैड में से इन्फॉर्मेशन डिलीट हो सकती है, लेकिन कागज पर लिखा हुआ डाटा कभी डिलीट नहीं होगा। इसलिए अगर आप स्टेशनरी में इंवेस्ट कर रहे हैं तो आपको निराश होने की जरूरत नहीं है। ये एक समझदार और क्रिएटिव इंवेस्टमेंट है।

क्या स्टेशनरी एडिक्शन एक क्रोनिक विकार है?

नहीं, यह एडिक्शन क्रोनिक विकार जैसा नहीं है। आपको बता दें कि क्रोनिक विकार एक पुरानी बीमारी, लंबे समय तक चलने वाली स्थिति है जिसे नियंत्रित किया जा सकता है, लेकिन पूरी तरह से ठीक नहीं किया जाता है। कुछ लोगों के लिए लत एक बीमारी है जिसे गहन उपचार की आवश्यकता होती है और इसके लिए लगातार देखभाल, निगरानी और परिवार या सहकर्मी की आवश्यकता पड़ती है। आपके लिए अच्छी बात ये है कि विकार का सबसे गंभीर, पुराना रूप भी मैनेज किया जा  सकता है, आमतौर पर विकार के दीर्घकालिक उपचार में अधिक देखभाल की जरूरत पड़ती है।

और पढ़ें: क्या है मानसिक बीमारी और व्यक्तित्व विकार? जानें इसके कारण

क्या स्टेशनरी एडिक्शन ड्रग, एल्कोहॉल जैसा एडिक्शन है?

यदि आपको किसी ने यह बात कही होगी तो संभवता वह आपको डराने की कोशिश में होगा। दरअसल स्टेशनरी एडिक्शन आपकी एक आदत या लगातार अपनाई जाने वाली आदत का हिस्सा होता है। जो आपको शारीरिक रूप से कोई नुकसान नहीं पहुंचाता है, लेकिन अगर बात करें ड्रग, एल्कोहॉल, धुम्रपान इसका एडिक्शन आपके जीवन के लिए जोखिम पैदा करता है। इसलिए दोनों में बहुत अधिक अंतर स्पष्ट किए गए हैं। यदि आप ड्रग, एल्कोहॉल, धुम्रपान जैसे किसी नशे के लत का शिकार हैं तो एक बार इससे छुटकारा पाने की कोशिश जरूर करें। यदि आप नशे की लत से आजाद होना चाहते हैं, लेकिन ये आपके लिए मुश्किल हो रहा है तो आप नशा मुक्ति केंद्र में जाकर अपनी मदद कर सकते हैं।

अब तो आप समझ गए होंगे कि स्टेशनरी एडिक्टिव होना क्या है? अगर खुद में ऐसी आदतें विकसित होता देख रहे हैं तो सर्तक हो जाइए और इस पर नियंत्रण करने की कोशिश कीजिए। हमें उम्मीद है कि स्टेशनरी एडिक्टिव विषय पर लिखा यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी प्रकार की चिकित्सा, उपचार और निदान प्रदान नहीं करता।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

क्या आप दांतों की समस्याएं डेंटिस्ट को दिखाने से डरते हैं? जानें डेंटल एंग्जायटी के बारे में 

डेंटल एंग्जायटी की बीमारी को जितना इग्नोर करेंगे हमारे दांतों के साथ सेहत को उतना ही नुकसान होगा। जरूरी है कि बीमारी का सही समय पर इलाज करवाएं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
ओरल हेल्थ, स्वस्थ जीवन मई 20, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Malocclusion: मैलोक्लूजन क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

जानिए मैलोक्लूजन क्या है in hindi, मैलोक्लूजन के कारण, लक्षण और बचाव क्या है, malocclusion को ठीक करने के लिए क्या उपचार है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

बच्चे हो या बुजुर्ग करें मुंह की देखभाल, नहीं हो सकती हैं कई गंभीर बीमारियां

मुंह की देखभाल यदि नहीं की गई तो कई प्रकार की बीमारियां हो सकती है, इसलिए मुंह को अच्छे से साफ रखें। यदि इस आर्टिकल में बताए गए लक्षण दिखें तो डॉक्टरी सलाह लें। मुंह की देखभाल करना बहुत जरूरी है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
ओरल हेल्थ, स्वस्थ जीवन अप्रैल 21, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

आपके भी दांत नुकीले हैं तो हो जाएं सावधान, हो सकता है कैंसर!

नुकीले दांत के कारण मुंह में गाल और जीभ का कैंसर का है सबसे ज्यादा खतरा होता है। इससे बचाव के लिए एक्सपर्ट के हवाले से जानकारी, लक्षण-बचाव पर आधारित आर्टिकल

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
ओरल हेल्थ, स्वस्थ जीवन अप्रैल 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

food addiction/ फूड एडिक्शन

Quiz: फूड एडिक्शन या खाने की लत के शिकार कहीं आप तो नहीं? इस बीमारी को समझने के लिए खेले क्विज

के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
प्रकाशित हुआ अगस्त 31, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
Change your bad habits- गलत आदतों से छुटकारा

क्यों न इस स्वतंत्रता दिवस अपनी इन गलत आदतों से छुटकारा पाया जाए

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Kanchan Singh
प्रकाशित हुआ अगस्त 14, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
मेंहदी और मानसिक स्वास्थ्य

मेंहदी और मानसिक स्वास्थ्य का है सीधा संबंध, जानें इस पर एक्सपर्ट की राय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अगस्त 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
सिजोडोन

Sizodon: सिजोडोन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh
प्रकाशित हुआ जून 14, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें