7 साल के बच्चे के मुंह से निकले 526 दांत, हैरान कर देगी पूरी खबर

By

एक व्यक्ति के मुंह में आमतौर पर कितने दांत होते हैं? ज्यादातर जवाब होगा 32 दांत। लेकिन, क्या आपने कभी सोचा है कि किसी के मुंह में 526 दांत होंगे? यह सुनकर शायद आपको मजाक लगे, लेकिन यह सच है। एक बच्चे के मुंह में 526 दांत पाए गए हैं, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल भी हो रहा है।

ये मामला है चेन्नई के सविता डेंटल कॉलेज का, जहां एक सात साल के बच्चे के मुंह से 526 दांत निकले। डॉक्टर्स बताते हैं कि बच्चे को दांत दर्द और मसूड़ों में सूजन की शिकायत थी। ऐसे में मामले की गंभीरता को देखते हुए उन्होंने ऑपरेशन करने का फैसला लिया, तब जाकर सूजन और दर्द का कारण पता चल पाया। ऑपरेशन के दौरान, बच्चे के मुंह में पाउच जैसी चीज दिखाई दी, जिसमें 526 दांत थे।

ऑपरेशन के बाद जब दांतों को कैमरा के सामने लगाया तो, यह किसी गैलेक्सी से निकाले छोटे पत्थरों जैसे लग रहे थे। इस केस ने डॉक्टरों को भी हैरानी में डाल दिया। लेकिन, सवाल ये उठता है कि आखिर इस स्थिति को कहते क्या हैं। दरअसल, मेडिकल भाषा में इस स्थिति को ‘कंपाउंड ओडोनटोम’ (Compound odontoma) कहते हैं।

यह भी पढ़ें : Reticulocyte Test : रेटिकुलोसाइट टेस्ट क्या है?

‘कंपाउंड ओडोनटोम क्या है? (What is Compound Odontoma?)

सर्जन मानते हैं कि कंपाउंड ओडोनटोम की स्थिति जेनेटिक या फिर प्राकृतिक कारणों से पैदा हो सकती है। अस्पताल द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर निकाले गए सभी दांतों का आकार किसी आम दांत के जैसा नहीं था। इनकी लंबाई 1 mm से 15 mm तक की थी और ये इनेमल (enamel) क्राउन से ढके हुए थे। इन दांतो को एक-एक कर निकालने में लगभग पांच घंटे का समय लगा।

बच्चे को पहले भी लेकर गए थे डॉक्टर के पास

बच्चे के मां-बाप ने बताया है कि तीन साल की उम्र में वे बच्चे को लेकर दांत की समस्या को दिखाने डेंटिस्ट के पास गए थे। तब बच्चे के डॉक्टर के साथ सही व्यवहार न करने पर में इलाज टल गया था। जब ज्यादा समस्या बढ़ने पर वे बच्चे को दोबारा सविता डेंटल अस्तपाल आए, तब उन्हें दर्द और सूजन का सही कारण पता चला।

न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के आधार पर ये बताया जा रहा है कि उसके बाकी दांतों की स्थिति पर इस सर्जरी खास असर नहीं हुआ है। हलांकि, मोलर (Molar) की स्थिति प्रभावित हुई है और 16 साल की उम्र के बाद बच्चे को मोलर इंप्लांट (Molar Implant) लगवाने पड़ सकते हैं।

वाकई में ये डेंटिस्ट्री (Dentistry) में पढ़े जाने वाले दुर्लभ केसेस में से एक है। इस घटना ने सभी मेडिकल क्षेत्र से जुड़े लोगों को नए तथ्यों की खोज करने पर मजबूर कर दिया है।

और पढ़ें:-

Dicyclomine : डाईसाइक्लोमीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मुंह की समस्याओं का कारण कहीं डायबिटीज तो नहीं?

मुंह से जुड़ी 10 अजीबोगरीब बातें, जो शायद ही जानते होंगे आप 

Nipah Virus Infection: निपाह वायरस का संक्रमण

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख अगस्त 3, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया नवम्बर 30, 2019

शायद आपको यह भी अच्छा लगे