वर्ल्ड सेक्शुअल हेल्थ डे : पुरुषों को हमेशा रखना चाहिए इन 5 बातों का ध्यान

By

Update Date सितम्बर 4, 2019
Share now

सेक्स जितना जरूरी है उतनी ही जरूरी सेक्शुअल हाइजीन है लेकिन, लोगों का इस ओर ध्यान नहीं जाता।  जिसके परिणामस्वरूप कई इंफेक्शन बिना बुलाए ही आ जाते हैं। अगर सेक्स के पहले कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखा जाए तो इन इंफेक्शन से बचा जा सकता है। वर्ल्ड सेक्शुअल हेल्थ डे के मौके पर हम आपको सेक्शुअल हाइजीन से संबंधित पांच टिप्स बता रहे हैं, जिनको सेक्स करने से पहले यूज करके आप इस मूमेंट और भी बेहतर बना सकते हैं।  

1.हाथ धोना ना भूलें 

इससे पहले कि आप सेक्स करना शुरू करें ये सुनिश्चित कर लें कि आपने हाथ अच्छी तरह से धोए हैं या नहीं। सेक्स के दौरान आपका साथी कभी नहीं चाहेगा कि आप उसे गंदे हाथों से छुएं। एक्सपर्ट, हाथों को ‘बैक्टीरिया मैगनेट’ बताते हैं। हाथ सेक्स से पहले और बाद में बैक्टीरिया को आकर्षित करते हैं। अगर आपने हाथ अच्छे से नहीं धोए हैं तो ये बैक्टीरिया प्राइवेट पार्ट्स तक पहुंच सकते हैं। 

ये भी पढ़ें— जानिए गर्भावस्था के दौरान सेक्स के 7 फायदे

2.माउथवॉश जरूर करें  

सेक्स के दौरान आपकी अंतरंगता साथी के साथ बहुत ज्यादा होती है। ऐसी स्थिति में आप कभी नहीं चाहेंगे कि मुंह की बदबू की वजह से शर्मिंदगी उठानी पड़े। इसलिए यह बहुत जरूरी है कि आप सेक्स से पहले अच्छी तरह माउथवॉश जरूर करें। इसके अलावा कुछ अध्ययनों के अनुसार ओरल सेक्स के बाद माउथवॉश का उपयोग करने से क्लैमाइडिया जैसे बैक्टीरियल संक्रमण को फैलने से रोकने में भी मदद मिल सकती है। 

 ये भी पढ़ें— पुरुष इन 6 तरीकों से महिला साथी को पहुंचा सकते हैं महिला ऑर्गेज्म तक

3.चादर बदलना ना भूलें  

विशेषज्ञों के अनुसार सेक्स के बाद आपको अपने बिस्तर पर बिछी चादर को बदल देना चाहिए। ये तब और भी आवश्यक हो जाता है जब कोई शारीरिक तरल पदार्थ उस पर गिरा हो। अगर आप पेड सेक्स करते हैं तो ऐसी स्थिति में चादर बदलना बहुत ही जरूरी हो जाता है। चादर बदलने से आपको हर प्रकार के बैक्टीरिया से छुटकारा मिल जाता है। अगर आप एनल सेक्स करते हैं तो चादर याद से बदल दें क्योंकि इस क्रिया में बैक्टीरियल इंफेक्शन होने की संभावना ज्यादा रहती है। 

ये भी पढ़ें— एक्‍सिडेंटल ऑर्गैज्म: कितना जानते हैं आप इसके बारे में ?

4.जेनिटल हाइजीन  

पुरुषों को यह चाहिए कि वे अपने गुप्तांगों को हमेशा साफ रखें। अक्सर पुरुषों के गुप्तांग के अंदर की स्किन में स्मेग्मा (Smegma) नामक सफेद पदार्थ मौजूद रहता है। स्मेग्मा में डेड स्किन सेल, तेल, शरीर के तरल पदार्थ और बैक्टीरिया होते हैं। इस पदार्थ की उपस्थिति संक्रमण और एक बुरी गंध पैदा कर सकती है। इसलिए सेक्स से पहले और बाद में गुप्तांगों की सफाई जरूरी है। 

ये भी पढ़ें—जानिए मॉर्निंग सेक्स करने के ये 7 फायदे

5.प्यूबिक हेयर को साफ रखें 

 प्राइवेट पार्ट्स कभी भी हवा के संपर्क में नहीं आते हैं इसलिए, इस जगह पर पहले से ही संक्रमण होने के चांसेज ज्यादा रहते हैं। गर्मी और पसीने से यह जगह विभिन्न बैक्टीरिया के लिए अनुकूल बन जाती है। अगर आप प्यूबिक हेयर को ट्रिम रखते हैं तो यह न केवल इस जगह को साफ रखता है बल्कि खुजली और खराब गंध को भी कम करता है। 

सेक्स से पहले और बाद में सफाई रखना उतना ही जरूरी है जितना सर्दियों में स्वेटर पहनना। हो सकता है एक-दो बार में आपको किसी भी तरह का इंफेक्शन न हो लेकिन, लंबे समय तक सेक्सुअल हाइजीन का ध्यान न रखना आपके और आपकी महिला पार्टनर के लिए हानिकारक हो सकता है।

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    महिलाओं में सेक्स एंजायटी, जानें इसके कारण और उपचार

    महिलाओं में सेक्स एंजायटी का कारण, महिलाओं में सेक्स एंजायटी का निदान, female sex anxiety in hindi, sex anxiety treatment in hindi

    Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
    Written by Smrit Singh

    Gravel Root: ग्रेवेल रुट क्या है?

    ग्रेवेल रुट नार्थ अमेरिका, साउथर्न कनाडा आदि में पाया जाता है। अंदरूनी प्रयोग के लिए यह बिलकुल भी सुरक्षित नहीं है। इसका प्रयोग सावधानी से करना चाहिए।

    Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
    Written by Anu Sharma

    Lymphogranuloma Venereum: लिम्फोग्रैनुलोमा वेनेरम क्या है?

    जानिए लिम्फोग्रैनुलोमा वेनेरम क्या है in hindi, लिम्फोग्रैनुलोमा वेनेरम के कारण और लक्षण क्या है, Lymphogranuloma venereum के क्या उपचार है।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Kanchan Singh

    यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन की जांच निगेटिव आए तो हो सकती हैं ये बीमारियां

    जानिए यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन की जांच कैसे होती है in Hindi, यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन क्या है, इसके लक्षण, यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन की जांच का क्या मतलब होता है, urinary tract infection test के दौरान सावधानियां।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Shayali Rekha