ये दिल मांगे मोर : लेकिन क्या आप इस प्रकार के फिजिकल रिलेशनशिप के लिए तैयार हैं?

Medically reviewed by | By

Update Date मई 28, 2020
Share now

फिजिकल रिलेशनशिप हम सभी के जीवन का एक बहुत बड़ा और महत्वपूर्ण हिस्सा होते हैं। फिर चाहे वह फ्रेंड्स, स्ट्रेंजर या पार्टनर के साथ ही क्यों न हो। सभी फिजिकल रिलेशनशिप के बीच कोई न कोई खास बात जरूर होती है। साथ ही इन रिश्तो को समझने और संभालने में हमें कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लेकिन जरा सोचिए अगर हमे रिलेशनशिप के बारे में पहले से ही पता हो तो उसे समझ पाना कितना आसान हो जाएगा।

आज हम आपके लिए एक ऐसी लिस्ट लेकर आए हैं जिसकी मदद से आप अपने फिजिकल रिलेशनशिप को बेहतर ढंग से समझने के साथ-साथ उनके महत्व को भी जान पाएंगे।

जरूरी नहीं कि हर प्रकार का रिश्ता अच्छा हो, कई बार रिश्ते शुरुआत से सी टॉक्सिक हो सकते हैं तो बहुत से रिलेशन अंत तक चलते हैं। तो चलिए जानते हैं कि आप किस प्रकार के रिलेशन में हैं या आगे चलके किस में आना पसंद करेंगे।

यह भी पढ़ें – जान लीजिए क्या होते हैं ओपन रिलेशनशिप के फायदे और नुकसान

ओपन फिजिकल रिलेशनशिप

यह एक ऐसी टर्म है जो रिलेशनशिप के फिजिकल, रोमांटिक, भावनात्मक और सेक्शुअल इंटरेक्शन के बार में दर्शाती है। इस प्रकार के कपल एक दूसरे से अपने सेक्स करने की इच्छा को बेझिझक दर्शाते हैं। कुछ ओपन रिलेशनशिप में कमिटमेंट को प्राथमिकता दी जाती है तो कई रिश्तो में लोग फिजिकल, रोमांटिक, भावनात्मक या सेक्शुअल चीजों के बारे में नहीं सोचते हैं।

ओपन रिलेशनशिप का मतलब होता है दो पार्टनर का एक दूसरे को सब कुछ बताना। इसके साथ ही दुनिया से भी उनका यह रिश्ता छिपा नहीं होता है। वह किसी को भी अपने रिलेशनशिप के बारे में बताने से घबराते या शरमाते नहीं हैं। स्टडी की माने तो इस प्रकार के रिलेशनशिप ज्यादा समय के लिए चलते हैं लेकिन कई बार टॉक्सिक भी हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें – जानिए शारीरिक इंटिमेसी रिलेशनशिप के लिए कैसे है फायदेमंद 

एक दूसरे पर निर्भर रहना या कोडिपेंडेंट रिलेशनशिप

इस रिलेशनशिप में दोनों व्यक्ति एक दूसरे के बिना एक पल भी नहीं रह पाते हैं। उन्हें रोजाना एक दूसरे से मिलने की चाह होती है और वह एक दूसरे से लंबे समय तक दूर नहीं रह पाते हैं।

इस प्रकार के फिजिकल रिलेशनशिप में दोनों पार्टनर एक दूसरे के बिना कुछ भी करने से कतराते हैं। यह वो चरण होता है जब एक फिजिकल रिलेशनशिप अनहेल्दी हो सकता है।

किसी भी हेल्दी फिजिकल रिलेशनशिप में दोनों पार्टनर के पास पर्सनल स्पेस का समय होना चाहिए। आप दोनों को ही किसी के भी ऊपर निर्भर नहीं होना चाहिए।

कभी-कभी हो सकता है कि एक पार्टनर का नाईट आउट पर दोस्तों के साथ जाने का मन हो या स्कूल और ऑफिस के काम के कारण आपको एक दूसरे के बिना रहना पड़े, ऐसे में अपने इंटीमेट रिलेशनशिप को हेल्दी बनाए रखने के लिए आत्मनिर्भर बनने की जरूरत होगी।

यह भी पढ़ें – लिव इन रिलेशनशिप के फायदे और नुकसान 

मोनोगेमस इंटीमेट रिलेशनशिप

इस प्रकार के फिजिकल रिलेशनशिप में पार्टनर इस बात से एग्री करते हैं कि वह केवल एक ही व्यक्ति के साथ रिश्ता, प्यार, सेक्स और आकर्षण शेयर करेंगे। इस प्रकार के रिश्ते को लॉयल रिलेशनशिप भी कहा जा सकता है।

इस प्रकार का इंटीमेट रिलेशनशिप अक्सर दोस्तों या स्ट्रेंजर के बजाए गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड भी देखा जाता है। इस प्रकार के रिलेशनशिप में दो से अधिक पार्टनर भी हो सकते हैं जो केवल एक दूसरे के साथ ही फिजिकल, रोमांटिक या सेक्शुअल रिलेशन रखना चाहते हों।

यह भी पढ़ें – रिलेशनशिप टिप्स : हर रिलेशनशिप में इंटिमेसी होनी क्यों जरूरी है?

फ्रेंड्स विद बेनिफिट्स

यह एक यूनिक प्रकार का फिजिकल रिलेशनशिप होता है जिसमें दोनों व्यक्ति दोस्त होते हैं लेकिन साथ ही एक बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड वाला रिश्ता शेयर करते हैं।

इस रिश्ते को “नो स्ट्रिंग अटैच” भी कहा जाता है। फ्रेंड्स विद बेनिफिट्स एक ऐसा इंटीमेट रिलेशनशिप है जिसके कुछ नियम होते हैं। यह नियम दोनों ही पार्टनर को एक समान मानने पड़ते हैं।

वह चाहें तो इस रिलेशनशिप में एक दूसरे की सहमति के साथ नए नियम भी बना सकते हैं। हालांकि, हर मामलें फ्रेंड्स विद बेनिफिट्स का मतलब केवल फिजिकल रिलेशनशिप नहीं होता है। कुछ लोग इस प्रकार के रिश्तो में केवल एक दूसरे से मिलना व बात करना पसंद करते हैं।

यह भी पढ़ें – किस के प्रकार: इन तरीकों से जता सकते हैं अपना प्यार

टॉक्सिक फिजिकल रिलेशनशिप

टॉक्सिक फिजिकल रिलेशनशिप आपको भावनात्मक और मानसिक रूप से कमजोर बना सकते हैं। इस प्रकार के रिश्तो में एक व्यक्ति अधिक एग्रेसिव होता है और कई बार सामने वाले को इमोशनली या फिजिकली चोट भी पहुंचा सकता है।

इस रिलेशनशिप में टॉक्सिक पर्सन आपको लगातार फिजिकल रिलेशनशिप में रहने के लिए फोर्स करता रहता है और आपको हर समय यह बताता है कि वह आप से कितना प्यार करता है, लेकिन दर्शा नहीं पाता है। आपको इस प्रकार के रिलेशनशिप से तुरंत बाहर निकलने की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें – डर, प्यार और खुशी की गंध भी पहचान सकती है हमारी नाक, जानें नाक के बारे में अमेजिंग फैक्ट्स

कैजुअल सेक्स रिलेशनशिप

कैजुअल सेक्स रिलेशनशिप में दोनों पार्टनर नियमित रूप से एक दूसरे के साथ फिजिकल रिलेशन यानि सेक्स करने की डील करते हैं। इस रिश्ते में सेक्स के अलावा और कुछ नहीं होता है। यह एक तरह से फ्रेंड्स विद बेनिफिट्स का अधिक इंटीमेट रिलेशनशिप वर्जन होता है।

कैजुअल सेक्स रिलेशनशिप के दौरान दोनों पार्टनर अन्य लोगों के साथ भी सेक्शुअल और इमोशनल इंटीमेंट रिलेशनशिप बना सकते हैं। इसके अलावा पार्टनर्स एक दूसरे की सहमति के साथ किसी अन्य व्यक्ति के साथ रिश्ता न बनाने का नियम भी तय कर सकते हैं। यानी की दोनों में से कोई भी मोनोगेमस रिलेशनशिप की तरह किसी अन्य व्यक्ति के साथ फिजिकल रिलेशनशिप नहीं बना सकता है।

ये भी पढ़े ये दिल मांगे मोर : लेकिन क्या आप इस प्रकार के फिजिकल रिलेशनशिप के लिए तैयार हैं?

जैसे की आप देख सकते हैं कि लोगों के बीच कई प्रकार के फिजिकल रिलेशनशिप होते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि आपको इससे अपने रिश्ते को समझने या आगे चल के आपको किस प्रकार का इंटीमेट रिलेशनशिप चाहिए के बारे में जानने में मदद मिली होगी। अगर आपको किसी यूनिक प्रकार का रिलेशनशिप चाहिए तो अपने पार्टनर या उस व्यक्ति से इसे शेयर करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

कामुक स्तनपान (Lactophilia) से क्या सेक्स की इच्छा प्रबल होती है? जानें इसके कारण

कामुक स्तनपान क्या है, इरोटिक लैक्टेशन इन हिंदी, एडल्ट ब्रेस्टफीडिंग, लैक्टोफीलिया, lactophilia erotic lactation, adult lactation in Hindi.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha

शावर सेक्स टिप्स : ऐसे करें तैयारी, ताकि भारी न पड़े रोमांस

आपको जानकर हैरानी होगी कि शावर सेक्स टिप्स महिलाओं के मुकाबले पुरुषों को अधिक पसंद आता है। आप भी अपने बोरिंग हो रहे सेक्स लाइफ में शावर सेक्स टिप्स की मदद से रोमांच ला सकते हैं। Shower Sex Tips in HIndi.

Medically reviewed by Dr. Hemakshi J
Written by Hema Dhoulakhandi

युवाओं के लिए कामसूत्र की जानकारी क्यों अहम है?

युवाओं के लिए कामसूत्र की जानकारी क्यों जरूरी है? सिर्फ शारीरिक संबंध ही नहीं बल्कि कई अन्य महत्वपूर्ण जानकारी मिलती है कामसूत्र से।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Hema Dhoulakhandi

लॉकडाउन में इन हेल्थ टिप्स की मदद से रखें अपनी सेहत का ख्याल

लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स इन हिंदी, लॉकडाउन में हेल्थ टिप्स क्या हैं, लॉक डाउन में कैसे रखें खुद को बिजी, Lockdown health tips in Hindi.

Written by Shayali Rekha