home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Foreign object in nose : नाक में कुछ फंस जाना क्या है?

परिभाषा|प्राथमिक उपचार|लक्षण|डॉक्टर को कब दिखाएं|मेडिकल ट्रीटमेंट
Foreign object in nose : नाक में कुछ फंस जाना क्या है?

परिभाषा

नाक में कुछ फंस जाने की समस्या आमतौर पर छोटे बच्चों के साथ ही होती है, क्योंकि वही खेल-खेल में या जिज्ञासावश नाक में कोई भी छोटी सी चीज डाल लेते हैं और वह नाक के अंदर जाकर फंस जाती है, इससे नाक में चोट लग सकती है या इंफेक्शन हो सकता है। यदि कोई चीज नाक के बहुत अंदर जाकर फंस चुकी है, तो खुद उसे निकालने की कोशिश न करें और तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। नाक में कुछ फंस जाने पर क्या किया जाना चाहिए, जानिए इस आर्टिकल में।

नाक में कुछ फंस जाने (foreign object in nose) का क्या मतलब है?

आमतौर पर 5 साल तक की उम्र के बच्चे नाक, कान और मुंह में कुछ भी चीज डाल लेते हैं। नाक में कोई बड़ी चीज तो जा नहीं सकती, लेकिन पेपर का टुकड़ा, प्लास्टिक का कोई छोटा खिलौना या कोई भी छोटी चीज डाल लेते हैं। कई बार तो वह नाक में ज्यादा अंदर नहीं जा पाता जिससे छींकने पर निकल जाता है, लेकिन कभी-कभी वस्तु नाक के अंदर नली में जाकर फंस जाती है। नाक में कुछ फंस जाने पर बच्चे को सांस लेने में भी दिक्कत हो सकती है और इससे गंभीर समस्या हो सकती है, इसलिए तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

बच्चे नाक में आमतौर पर ये चीजें डाल सकते हैः

  • छोटा खिलौना
  • रबड़ का टुकड़ा
  • टिशू पेपर
  • क्ले (आर्ट और क्राफ्ट में इस्तेमाल होने वाला)
  • खाना
  • कंकड़
  • गंदगी
  • बटन बैटरी (घड़ी में लगने वाली छोटी गोल बैटरी)

और पढ़ें: क्रेस्ट सिंड्रोम क्या है?

प्राथमिक उपचार

नाक में कुछ फंस जाने पर प्राथमिक उपचार

  • नाक के अंदर फंसी वस्तु को कॉटन स्वैब या किसी उपकरण से निकालने की कोशिश न करें।
  • बच्चे से कहें की वह जबरन सांस न खींचे वरना वस्तु अंदर जा सकती है, नाक में कुछ फंस जाने पर मुंह से सांस लेने को कहें जब तक कि नाक में फंसी चीज निकल न जाए।
  • यदि वस्तु बहुत अंदर नहीं गई है तो बच्चे को नाक छिड़कने के लिए कहें इससे नाक में फंसी चीज बाहर आ जाएगी। यदि एक बार में न हो, तो कई बार नाक छिड़कने के लिए कहें और दूसरी साइड की नाक को उंगली से बंद करके रखें।
  • नांक में कुछ फंस जाने पर यदि वह चीज आपको दिख रही है तो उसे आप पिकर से निकाल सकते हैं, लेकिन यदि वस्तु दिख नहीं रही है और आसानी से पकड़ में नहीं आती तो उसे खुद निकालने की कोशिश न करें।
  • यदि आप नाक में फंसी वस्तु को नहीं निकाल पाते हैं, तो तुंरत इमरजेंसी सर्विस को फोन करें।

और पढ़ें: एपिलेप्सी क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

लक्षण

बच्चे की नाक में कुछ फंस जाने के लक्षण

  • नाक में कुछ फंस जाने के पता कुछ लक्षणों के आधार पर किया जा सकता है। जैसे जिस साइड की नाक में कुछ फंसा है उसमें दर्द होगा और सांस लेने में दिक्कत होगी।
  • नाक से खून भी आ सकता है, क्योंकि नाक के अंदर जाने वाली चीज से नाक के टिशू पर खरोंच आ सकती है। खून का अधिकांश हिस्सा गले के पीछे से नीचे गिरता है और इसे निगला जा सकता है। जिसकी वजह से पीड़ित को उल्टी हो सकती है।
  • नाक का स्थान मुंह के पीछे से जुड़ा होता है, इसलिए संभव है कि नाक में कुछ फंस जाने पर वह वस्तु धक्के से गले में चली जाए। कोई उसे निकल सकता है या चोकिंग हो सकती है। चोकिंग (घुटन), घरघराहट, सांस लेने में दिक्कत या बात करने में समस्या हो तो पूरी नाक और गले का मूल्यांकन किया जाता है। इस बात का पता लगाया जाता ह कि नामक में किस तरह की वस्तु फंसी है। इसके लिए एक्स-रे की मदद ली जा सकती है।
  • नाक में कुछ फंस जाने पर इंफेक्शन भी हो सकता है। आमतौर पर टिशू पेपर नाक में डालने पर संक्रमण हो जाता है।
  • नाक में कुछ फंस जाने पर कुछ समय तक नाक से बदबू आ सकती है।
  • बार-बार नाक से डिस्चार्ज होता रहता है और उसे पोंछते रहने से नाक के नीचे की त्वचा पर असर पड़ता है। इस तरह की समस्या से एक संक्रमण जुड़ा है जिसे इम्पीटिगो कहते हैं। इम्पीटिगो आमतौर पर पीले रंग के साथ लाल चकत्ते के रूप में दिखाई देता है।

और पढ़ें: हे फीवर क्या है?

डॉक्टर को कब दिखाएं

कब जाएं डॉक्टर के पास?

नाक में कुछ फंस जाने पर निम्न परिस्थितियों में डॉक्टर के पास जाने की जरूरत पड़ सकती है-

  • आपकी कोशिश के बाद भी वस्तु नहीं निकलती है या उसका बस छोटा सा हिस्सा ही निकल पाता है।
  • उस चीज से बच्चे को खतरा हो।
  • नाक में कोई धारदार चीज फंस गई हो जैसे नोज रिंग या कांच के टुकड़े।
  • नाक से लगातार खून आ रहा हो।
  • नाक से कोई तरल पदार्थ बह रहा हो जिसमें से दुर्गंध आ रही हो।

मेडिकल ट्रीटमेंट

नाक में कुछ फंस जाने पर मेडिकल ट्रीटमेंट

नाक में कुछ फंस जाने मेडिकल उपचार इस बात पर निर्भर करता है कि वह चीज कितनी बड़ी और नाक के किस हिस्से में फंसी है। इसके लिए कई तरह के उपचार उपलब्ध हैं, जिनमें से कुछ इस प्रकार हैः

  • सबसे आम तकनीक जो नाक में कुछ फंस जाने पर अपनाई जाती है वह है जेंटल सक्शन यानी सौम्य तरीके से वस्तु को निकालना जिसके लिए लंबे ट्विजर या ऐसे उपकरण की मदद ली जाती है जिसके सिरे पर हुक या लूप लगा हो।
  • यदि नाम में को मैटेलिक वस्तु फंसी है तो लंबे मैग्नेटिक वाले उपकरण से नाक में फंसी वस्तु को बाहर निकाला जाता है।
  • नाक में कुछ फंस जाने पर उसे निकालने के लिए एक अन्य तकनीक का उपयोग किया जाता है जिसमें एक मुलायम रबड़ कैथेटर का इस्तेमाल किया जाता है। इसके सिरे पर इंफ्लेटेबल बलून होती है जो अंदर डालने पर फुलाई जाती है और फिर बाहर खींची जाती है जिससे इसके साथ नाक में फंसी वस्तु भी बाहर आ जाती है।

बच्चों पर 24 घंटे निगरानी करना संभव नहीं है ऐसे में आप यह तो सुनिश्चित नहीं कर सकते कि वह अपने नाक, कान और मुंह में कुछ न डाले, लेकिन थोड़ा बड़ा यानी दो साल के बाद उन्हें यह समझा जरूर सकते हैं कि नाक में कुछ डालने पर उनके साथ क्या होगा या उन्हें कितनी तकलीफ होगी। इस तरह से समझाने पर बच्चे धीरे-धीरे समझने लगेंग और कोई भी चीज उठाकर नाक में नहीं डालेंगे।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Kanchan Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 10/09/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड