home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Varicocele: वैरिकोसील क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपचार

वैरिकोसील (Varicocele) क्या है?|वैरिकोसील (Varicocele) के लक्षण क्या हैं?|किन कारणों से होता है वैरिकोसील (Varicocele) ?|निदान और उपचार को समझें|घरेलू उपचार
Varicocele: वैरिकोसील क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपचार

वैरिकोसील (Varicocele) क्या है?

वैरिकोसील टेस्टिकल (अंडकोष) और स्क्रॉटम (अंडकोष की थैली) की सूजी हुई नसों को कहते हैं। सूजी हुई नसों में दर्द की समस्या हो सकती है और इसका बुरा प्रभाव पुरुषों के प्रजनन पर भी पड़ता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार 15 से 35 वर्ष के लोग इसका ज्यादा शिकार होते हैं। वैरिकोस नसों में वॉल्व मौजूद होते हैं, यह ब्लड को टेस्टिकल और स्क्रॉटम से हार्ट की ओर पहुंचाने में मदद करता है। लेकिन, वॉल्व के काम नहीं करने पर ब्लड एक ही जगह रह जाता है, जिस कारण स्क्रॉटम और आस-पास की थैली में सूजन शुरू हो जाती है। इस परेशानी या बीमारी को वैरिकोसील कहते हैं।

और पढ़ेंः Swelling (Edema) : सूजन (एडिमा) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

कितना सामान्य है वैरिकोसील (Varicocele) की समस्या?

वैरिकोसील किशोरावस्था और बचपन के दौरान भी विकसित हो सकती है। इस बीमारी की वजह से कोई परेशानी नहीं होती है लेकिन, वैरिकोसील की वजह से तकरीबन 40% पुरुषों में इनफर्टिलिटी (बांझपन) की समस्या देखी गई है।

वैसे वैरिकोसील की समस्या सामान्य मानी जाती है और 15 प्रतिशत वयस्क पुरुषों में देखी जाती है। वहीं किशोर पुरुषों में 20 प्रतिशत इसकी समस्या देखी जाती है और यह 15 से 25 साल के पुरुषों में इसकी परेशानी ज्यादा होती है।

रिसर्च के अनुसार वैरिकोसील की समस्या पुरुषों में प्रजनन क्षमता शुरू होने के साथ ही शुरू हो सकती है। स्क्रोटम के लेफ्ट या राइट साइड में यह परेशानी हो सकती है। हालांकि यह जरूर ध्यान रखें की वैरिकोसील हमेशा स्पर्म के प्रोडक्शन पर नकारात्मक प्रभाव नहीं डालता है।

और पढ़ें : Dengue : डेंगू क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

वैरिकोसील (Varicocele) के लक्षण क्या हैं?

लक्षणों से समझना काफी मुश्किल होता है। मरीजों को इसकी जानकारी तबतक नहीं हो पाती है, जबतक की डॉक्टर स्क्रोटम टेस्ट न करें। कभी-कभी स्क्रोटम का आकार सामान्य से बड़ा हो जाता है। लेकिन, इससे दर्द या भारीपन का अहसास नहीं होता है। हालांकि वैरिकोसील की वजह से टेस्टिकुलर एट्रोफी हो जाता है।

  • टेस्टिकल्स के एक साइड में लंप होना लेकिन, लंप की वजह से दर्द महसूस नहीं होता है। वैसे अगर आपको कोई परेशानी या दर्द महसूस नहीं हो रही है तो भी आपको डॉक्टर से मिलकर लंप की जानकारी देनी चाहिए।
  • स्क्रोटम में सूजन होना
  • स्क्रोटम का सामान्य से ज्यादा बड़ा होना या स्क्रोटम के वेन ट्विस्टेड होना जिसे आसानी से देखा जा सकता है।
  • स्क्रोटम में दर्द महसूस होना
  • गर्मी के मौसम में दर्द बढ़ जाना। दरअसल गर्म मौसम की वजह से नसें कमजोर हो सकती हैं या इनके आकार में बदलाव आ सकता है। जिससे प्रभावित नसें हृदय तक ब्लड को पहुंचाने में असमर्थ हो जाती हैं।
  • अगर आप लंबे वक्त तक या अत्यधिक एक्सरसाइज करते हैं, तो वेन में तनाव के कारण ब्लड ज्यादा इक्कठा हो जाता है। जिससे वैरिकोसील की समस्या शुरू हो सकती है। इसलिए फिट रहने के लिए जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज न करें।
  • अगर आपको वैरिकोसील की समस्या है तो यह ध्यान रखें की ज्यादा देर तक खड़े रहने की वजह से भी आपकी परेशानी जैसे दर्द ज्यादा होने की संभावना बढ़ सकती है। इसलिए ज्यादा देर तक खड़े न रहें और अगर आप खड़े हैं और आपको दर्द महसूस हो रहा है तो आप लेट जायें।

डॉक्टर से कब मिलना चाहिए?

स्क्रोटम के आकार में बदलाव, दर्द, सूजन जैसी कोई और परेशानी महसूस होने पर डॉक्टर से जल्द से जल्द संपर्क करना चाहिए। बच्चों में भी इसका ध्यान रखना चाहिए।

और पढ़ें : Down Syndrome : डाउन सिंड्रोम क्या है?जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

किन कारणों से होता है वैरिकोसील (Varicocele) ?

नसों में रक्त को एक दिशा में बड़ी नसों की ओर भेजने में मदद करने के लिए एक तरफा वॉल्व होता है। जब स्क्रोटम में नसों के अंदर के वॉल्व ठीक से काम नहीं करते हैं, तो ब्लड शरीर के ऊपरी हिस्से में नहीं पहुंच पाता है। जिसे वैरसिकोसील कहते हैं, स्क्रोटम के ठीक तरह से काम नहीं करने की स्थिति में वैरिकोसील की समस्या होती है।

वैरिकोसील के वाल्वस में मौजूद स्पर्मेटिक कॉर्ड्स ब्लड फ्लो को बनाये रखता है लेकिन, जब यह काम करना बंद कर देता है तो परेशानी शुरू हो जाती है।

और पढ़ें : पेनिस फंगल इंफेक्शन के कारण और उपचार

किन कारणों से बढ़ सकता है वैरिकोसील (Varicocele) का खतरा?

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार इससे परेशानी नहीं हो सकती है। लेकिन, रिसर्च के अनुसार हाइट और वजन की वजह से स्क्रोटम पर असर पड़ता है।

निदान और उपचार को समझें

दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा अपने चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए।

वैरिकोसील (Varicocele) का निदान कैसे किया जाता है?

इलाज तब तक नहीं किया जाता है जबतक टेस्टिकल के आकार में बदलाव या फर्टिलिटी से जुड़ी समस्या न हो और जरूरत पड़ने पर एक छोटी से सर्जरी की जा सकती है। लेकिन, अगर सर्जरी की आवश्यकता होती है, तो एक सप्ताह तक आराम करने की सलाह दी जाती है। हालांकि, सर्जरी के बाद लगभग 15% रोगियों में वैरिकोसील के फिर से होने की संभावना होती है। यदि ऐसा होता है, तो फिर से एक और सर्जरी की जा सकती है।

रिसर्च के अनुसार इस परेशानी को तीन अलग-अलग ग्रेड में रखा जाता है। जैसे-

ग्रेड 1- इस ग्रेड में वैरिकोसील अत्यधिक छोटा होता है लेकिन, यह आपको नजर नहीं आ सकता है। हालांकि डॉक्टर से संपर्क कर डॉक्टर आपको इस परेशानी के बारे में बता सकते हैं।

ग्रेड 2- इस ग्रेड में भी वैरिकोसील नजर नहीं आता है लेकिन, डॉक्टर आपको इस परेशानी को आसानी से समझा सकते हैं।

ग्रेड 3- ग्रेड 3 की स्थिति होने पर वैरिकोसील आसानी से नजर आ सकता है।

अगर आपको कोई बदलाव समझ आये तो देर न करें जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें।

वैरिकोसील (Varicocele) का इलाज कैसे किया जाता है?

स्क्रोटम की जांच कर डॉक्टर इलाज शुरू करते हैं। कुछ परिस्थितियों में डॉक्टर अल्ट्रासाउंड करवा कर सूजन और परेशानियों को समझते हुए इलाज करते हैं।

घरेलू उपचार

वैरिकोसील (Varicocele) होने पर जीवनशैली में क्या बदलाव करें और घरेलू नुस्खे क्या हैं जिससे इस परेशानी से बचा जा सकता है?

निम्नलिखित जीवनशैली और घरेलू उपचार आपको वैरिकोसील से निपटने में मदद कर सकते हैं:

  • वैरिकोसील की समस्या होने पर एथलीट अन्डर्वेर का प्रयोग करें।
  • दर्द से राहत पाने के लिए एसिटामिनोफेन लिया जा सकता है।
  • अगर आपको वैरिकोसील के लक्षण नजर आते हैं तो डॉक्टर से संपर्क करें।
  • अगर फर्टिलिटी की समस्या है तो डॉक्टर से अवश्य मिलें।

वैरिकोसील की समस्या बढ़े नहीं, इसलिए आपको क्या नहीं करना चाहिए:

कभी भी वैरिकोसील में सूजन या दर्द को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। इस बीमारी या परेशानी से जुड़े कोई सवाल हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Varicocele/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK448113/ Accessed on 12/08/2016

Varicocele/https://medlineplus.gov/ency/article/001284.htm/ Accessed on 12/08/2016

Male infertility and varicocele: myths and reality/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2658802/ Accessed on 12/08/2016

Varicocele/https://www.healthdirect.gov.au/varicocele/ Accessed on 12/08/2016

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nidhi Sinha द्वारा लिखित
अपडेटेड 24/09/2019
x