त्वचा संबंधित समस्याएं, फंगल, बैक्टीरियल और वायरल इंफेक्शन
शिंगल्‍स वैक्सीन के इस्तेमाल के दौरान इन बातों का रखें ध्यान, जानें क्या
शिंगल्स एक तरह की त्वचा संबंधी बीमारी है, कुछ-कुछ यह दाद जैसा दिखता है। कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोग और बुजुर्गों में इसका खतरा अधिक होता है। इससे बचाव के लिए टीकाकरण ही एकमात्र उपाय है।
और पढ़ें
डायट और वेट मैनेजमेंट/डायट और वजन नियंत्रण, आहार और पोषण
जरूरी नहीं है कि हर बार चीज़ का सेवन नुकसानदेह हो, इसके कई हेल्थ बेनेफिट्स भी हो सकते हैं
चीज़ के हेल्थ बेनेफिट्स ( Cheeze ke health benefits) के बारे में आपको पता है क्या। इसमें इसमें प्रोटीन, विटमिन, कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, जिंक जैसे कई पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। इसके इस्तेमाल से कई बीमारियों का खतरा भी कम होता है।
और पढ़ें
वृद्धावस्था में आहार और पोषण, सीनियर हेल्थ
एजिंग को मात देने के लिए क्या आप इन न्यूट्रिएंट्स से कर चुके हैं दोस्ती?
उम्र बढ़ने के साथ शरीर में पोषण तत्वों की कमी होने लगती है। पोषण तत्वों की सही मात्रा का सेवन कर कई बीमारियों को मात दी जा सकती है। जानिए एजिंग के दौरान किन न्यूट्रिशन की जरूरत पड़ती है। Nutrition for Ageing
और पढ़ें
एजिंग बॉडी, Ageing Body
हेल्थ सेंटर्स, सीनियर हेल्थ
एजिंग बॉडी: बढ़ती उम्र के लक्षणों को यूं कहें बाय-बाय
एजिंग बॉडी के कारण शरीर में बहुत से परिवर्तन होते हैं। डायजेस्टिव सिस्टम, स्किन संबंधित समस्याएं, यूरीनरी ट्रेक्ट से संबंधित समस्याएं, हार्ट डिजीज आदि तकलीफों का सामना करना पड़ता है। Ageing body
और पढ़ें
सेकंडरी बोन कैंसर (Secondary Bone Cancer)
कैंसर, हड्डी का कैंसर
Secondary Bone Cancer: सेकंडरी बोन कैंसर क्या है?
सेकंडरी बोन कैंसर क्या है? सेकंडरी बोन कैंसर के लक्षण, कारण और इलाज क्या है? What is secondary bone cancer and treatment in Hindi.
और पढ़ें
एक्सपर्ट्स पूरा देखें
क्या है इनविजिबल डिसएबिलिटी, इन्हें किन-किन चुनौतियों का करना पड़ता है सामना
डा. ज्ञान चंद्रा इंडोक्राइन सर्जन
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन
क्या है इनविजिबल डिसएबिलिटी, इन्हें किन-किन चुनौतियों का करना पड़ता है सामना
क्या आपको पता है कि हमारे शरीर (Body) को कुछ ऐसी खतरनाक बीमारियां भी घेर लेती हैं जो अंदर ही अंदर पनपती रहती है और हमें उनका पता ही नहीं चल पाता है। ऐसी बीमारियों को 'नजर न आने वाली बीमारी' (इनविजिबल डिसएबिलिटी) कहते हैं।
डा. ज्ञान चंद्रा इंडोक्राइन सर्जन