backup og meta
खोज
स्वास्थ्य उपकरण
बचाना
Table of Content

Whiplash: व्हिप्लैश (गले की मोच) क्या है ?

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड Dr Sharayu Maknikar


Suniti Tripathy द्वारा लिखित · अपडेटेड 16/07/2020

Whiplash: व्हिप्लैश (गले की मोच) क्या है ?

मूल बातों को जानें

व्हिप्लैश गले को झटके से आगे और पीछे ढकेलने की वजह से आने वाली मोच को कहते हैं। इस स्थिति में आपके गले, डिस्क, लिगामेंट्स, हड्डियों और मांसपेशियों में खिंचाव आ सकता है। मोच आने पर आप असहज महसूस करते हैं और आपकी शारीरिक गतिविधियों में कमी आ सकती है। व्हिप्लैश या गले की मोच की वजह से अन्य शारीरिक परेशानी हो सकती है।

गले की मोच आना कितना आम है ?

गले की मोच किसी को भी आ सकती है। इसके कारणों को नियंत्रित करने से आप इस स्थिति के प्रभाव को कम कर सकते हैं। ऐसा दरअसल झटके से उठने या किसी अन्य कारण की वजह से तेजी से उठने की वजह से हो सकता है। कभी-कभी इंजुरी खेलने के दौरान, फिजिकल वर्क के दौरान या किसी अन्य परेशानी के कारण हो सकते हैं। किसी भी और जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से जरूर मिलें।

और पढ़ें : Multiple Sclerosis: मल्टीपल स्क्लेरोसिस क्या है?

लक्षण

व्हिप्लैश के क्या लक्षण हो सकते हैं ?

व्हिप्लैश का सबसे महत्त्वपूर्ण और बड़ा संकेत है गले में दर्द होना। किसी दुर्घटना के बाद दर्द हो सकता है।

मोच के चलते आपको गले में दर्द के साथ ही खिंचाव और सिरदर्द भी रहेगा। कंधों में दर्द, हाथों का बेजान होना, हाथों को ऊपर नीचे करने में तकलीफ होना, कानों में अनचाही आवाज आना। अगर चोट बहुत गहरी है तो आपको खाना निगलने में भी दिक्कत आ सकती है।

  • गर्दन में दर्द होना या गले से कोई मूवमेंट न हो पाना
  • गर्दन के मूवमेंट पर अत्यधिक तेज दर्द होना
  • कंधें, बैक के ऊपरे हिस्से और बाहों में दर्द होना
  • अत्यधिक थकान महसूस होना
  • चक्कर आना 

इन लक्षणों के अलावा कई लोगों में निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं। जैसे-

अपने डॉक्टर से कब मिलें ?

अगर दुर्घटना के बाद आपके गले में दर्द है या फिर खिंचाव है। इसके साथ ही ऊपर बताई गई परेशानी या लक्षण समझ आने पर अपने डॉक्टर से जरूर मिलें।

और पढ़ें : Hernia : हर्निया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

कारणों को जाने

आपके व्हिप्लैश का क्या कारण हो सकता है ?

गले में मोच के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं। जैसे-

  • किसी वाहन से दुर्घटनाग्रस्त होने पर भी आपको व्हिप्लैश की समस्या हो सकती है।
  • किसी ऊंची जगह से गिरने के कारण या फिर शारीरिक शोषण के कारण भी मोच हो सकती है।
  • किसी गेम जैसे फूटबॉल आदि खेलने के दौरान ऐसा हो सकता है।

और पढ़ें : Glaucoma :ग्लूकोमा क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

खतरों को समझें

व्हिप्लैश के खतरे को क्या बढ़ावा देता है?

इन कारणों की वजह से व्हिप्लैश का खतरा बढ़ सकता है:

  • उम्र : 65 वर्ष से ज्यादा आयु वाले लोगों में इस समस्या का खतरा अधिक होता है।
  • 5 सीढ़ियों से या फिर 1 मीटर की ऊंचाई से गिरने पर भी व्हिप्लैश की समस्या हो सकती है।
  • किसी वाहन से दुर्घटना ग्रस्त होने पर भी व्हिप्लैश होना स्वभाविक है।
  • यदि लक्षणों के दिखने पर भी आप उन्हें अनदेखा कर रहे हैं तो भी आपकी समस्या ज्यादा गंभीर हो सकती है।
  •  सर्वाइकल वेर्टेब्रे ( Cervical Vertebrae) के बीच में डिस्क ना होने पर भी व्हिप्लैश की समस्या हो सकती है।

इन खतरों के न दिखने का मतलब ये नहीं है कि आपको व्हिप्लैश का खतरा नहीं है। कोई भी ऐसी दुर्घटना जो आपके शरीर की स्थिति पर प्रभाव डालती है आपके व्हिप्लैश का कारण बन सकती है।

जांच और इलाज

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकत्सा परामर्श का विकल्प नहीं है। विश्वसनीय जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से जरूर मिलें।

व्हिप्लैश की जांच कैसे की जा सकती है ?

आपकी मेडिकल हिस्ट्री और शारीरिक जांच से डॉक्टर व्हिप्लैश का पता लगा सकते हैं। कई मामलों में डॉक्टर आपसे ब्लड टेस्ट, एक्स -रे और MRI के लिए भी कह सकते हैं जिससे कि आपकी नसों में आई किसी चोट के बारे में पता लगाया जा सके। डॉक्टर आपसे न्यूरोलॉजिस्ट (Neurologist) या फिर ऑर्थोपेडिक सर्जन (Orthopedic Surgeon) से मिलने के लिए भी कह सकते हैं।

व्हिप्लैश का इलाज कैसे किया जा सकता है ?

इलाज का एक मुख्य कारण दर्द को कम करना और चोट को भरने के लिए समय देना हो सकता है। व्हिप्लैश का इलाज परंपरागत तरीकों से ही किया जा सकता है। सबसे पहले अपने स्तर पर आप बर्फ से सेकाई कर सकते हैं जिससे की दर्द कम हो। इसके अलावा मुलायम कॉलर वाले शर्ट पहनें जिससे आपको आराम मिलेगा। सोते समय अपनी गर्दन के नीचे दो इंच के डायमीटर वाला तौलिया रखें जिससे कि आपकी गर्दन को सहारा मिले। अल्ट्रासाउंड से भी आपके लक्षणों का पता लगाया जा सकता है।

डॉक्टर आपको दर्द कम करने की दवा जैसे कि एंटी – इन्फ्लमेट्री ( anti inflammatory) दवाएं या फिर एसिटामिनोफेन (Acetaminophen) भी दे सकते हैं।

मसल स्पाज्म (Muscle Spasm)  को कम करने के लिए मांसपेशियों को आराम देने वाली दवाएं भी दी जा सकती हैं।

व्हिप्लैश होने पर क्या-क्या परेशानी हो सकती है?

गले में मोच के निम्नलिखित परेशानी हो सकती है। जैसे-

  • गर्दन में अत्यधिक तेज दर्द होना
  • सिरदर्द होना
  • गर्दन में दर्द होने की वजह से हाथों (arms) में भी दर्द शुरू हो सकती है
  • जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपाय

    जीवनशैली में किन बदलावों और घरेलू नुस्खों से आप व्हिप्लैश को नियंत्रित कर सकते हैं ?

    इन उपायों और बदलावों की मदद से आप व्हिप्लैश पर नियंत्रण पा सकते हैं :

    • सोने से पहले मांसपेशियों को आराम देने वाली दवाएं खाएं । डॉक्टर की बताई हुई दवाएं ही खाएं।
    • ऐसी कुर्सी पर बैठे जिस पर आराम मिले।
    • कार चलाते समय सीट बेल्ट पहनें। कार की सीट का हेडरेस्ट (Headrest) इस्तमाल करें। इससे गर्दन में झटके नहीं लगेंगे।
    • अगर आप फुटबॉल खेलते हैं तो कोशिश करें कि आप सेफ्टी गियर (Safety Gear) जरूर पहनें।
    • अगर आपको बाहों में झटके लग रहे हो या फिर मांसपेशियों में कमजोरी आ रही हो या फिर लक्षण ठीक होने के बजाय और खराब हो रहे हो उस स्थिति में डॉक्टर से मिलें ।

    अगर आप गले की मोच से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    Dr Sharayu Maknikar


    Suniti Tripathy द्वारा लिखित · अपडेटेड 16/07/2020

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement