महिलाओं के लिए सेक्स वियाग्रा के उपयोग और साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

Medically reviewed by | By

Update Date जून 29, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

मर्दों की सेक्स ड्राइव बढ़ाने के लिए जिस तरह से बाजार में वियाग्रा उपलब्ध है, वैसे ही महिलाओं के लिए सेक्स वियाग्रा बाजार में मौजूद है। इस वियाग्रा का नाम है फ्लिबनसेरिना पिल। इस दवा को FDA ( फूड एंड ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन) से अप्रूवल मिला हुआ है। हालांकि फ्लिबनसेरिना पुरुषों की वियाग्रा से अलग है। लो सेक्स ड्राइव वाली महिलाओं के लिए यह सेक्स वियाग्रा गोली बहुत काम की हैं, लेकिन उसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं।

आमतौर पर महिलाओं की कामेच्छा कम-ज्यादा होती रहती है और इसके कई कारण हो सकते हैं, जैसे रिश्तों में आया तनाव, शारीरिक बदलाव, प्रेग्नेंसी और मेनोपॉज आदि। लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि करीब 10 फीसदी महिलाओं में सेक्स ड्राइव में कमी का कारण हाइपोएक्टिव सेक्सुअल डिजायर डिसऑर्डर (HSDD) है और ऐसी महिलाओं के लिए सेक्स वियाग्रा पिल मददगार हो सकती हैं।

महिलाओं के लिए सेक्स वियाग्रा गोली कैसे काम करती है?

महिलाओं को सेक्स ड्राइव में कमी समस्या दूर करने के लिए वियाग्रा (एडी) हर दिन रात के समय लेनी होती है। विशेषज्ञों का मानना है कि यह दवा मस्तिष्क में केमिकल मैसेंजर की एक्टिविटी को बढ़ता है जैसे न्यूरोट्रांस्मीटर कहते हैं और यही कामोत्तेजना बढ़ाने का काम करता है। फ्लिबनसेरिना पिल के अलावा इंजेक्शन के रूप में ब्रेमेलैनोटाइड (bremelanotide) वियाग्रा दिया जाता है। लेकिन इनका उपयोग करने से पहले आपको एक बात याद रखनी चाहिए कि यह बेड आपकी परफॉर्मेंस को बेहतर नहीं करता है, बल्कि बस सेक्स के लिए मूड बनाने का काम करती है। यदि आपकी सेक्सुअल लाइफ में गंभीर समस्या है तब डॉक्टर से सलाह लें, यदि उसे लगेगा तो वह आपको वियाग्रा लेने की सलाह दे सकता है।

और पढ़ें- सेक्स के बाद दर्द होना हर बार नहीं होता है नॉर्मल, जानिए इसकी वजह

महिलाओं के लिए सेक्स वियाग्रा गोली के फायदे

महिलाओं की कामेच्छा में कमी को मेडिकल भाषा में हाइपोएक्टिव सेक्सुअल डिजायर डिसऑर्डर (HSDD) कहते हैं और इसके इलाज में ही सेक्स वियाग्रा गोली का इस्तेमाल किया जाता है। इसका उपयोग मेनोपॉज से पहले कामेच्छा में कमी की समस्या दूर करने के लिए किया जाता है। इसका इस्तेमाल उन महिलाओं के लिए किया जाता है जिन्हें लगता है कि उसकी सेक्स ड्राइव कम हो गई है, सेक्सुअल एक्ट में पार्टनर का साथ नहीं दे पाती, सेक्स में दिलचस्पी खत्म हो गई है।

अल्कोहल और फ्लिबनसेरिना का कॉम्बिनेशन हो सकता है घातक

यदि आप महिलाओं के लिए सेक्स वियाग्रा गोली फ्लिबनसेरिना का सेवन करने जा रही हैं, तो आपको ध्यान रखना होगा कि अल्कोहल के सेवन के बाद कम से कम 2 घंटे तक फ्लिबनसेरिना का सेवन न करें। आप यदि कई दवा पहले से खा रही हैं, तो सबके बारे में डॉक्टर को जानकारी दें और पूछ लें कि क्या वियाग्रा के साथ इन सभी दवाओं का सेवन सुरक्षित है, क्योंकि कई दवाएं वियाग्रा के साथ प्रतिक्रिया करती हैं और उन्हें एक साथ नहीं लिया जा सकता।

और पढ़ें- सेक्स ड्राइव हो गई है कमजोर, इन तरीकों से करें बूस्ट

महिलाओं के लिए सेक्स वियाग्रा गोली लेने से पहले आपको इन बातों की जानकारी होनी चाहिए

इन लोगों को वियाग्रा पिल नहीं लेनी चाहिएः

  • यदि फ्लिबनसेरिना से एलर्जी है।
  • लिवर से जुड़ी कोई बीमारी है।
  • आपने अभी शराब का सेवन किया है।
  • कुछ अन्य दवाओं के साथ फ्लिबनसेरिना का सेवन खतरनाक हो सकता है इसलिए डॉक्टर को उन सभी दवाओं की जानकारी दें जो आप ले रहे हैं, उसके हिसाब ने डॉक्टर आपको सही सलाह देगा।

फ्लिबनसेरिना के सेवन को सुरक्षित बनाने के लिए डॉक्टर को निम्न जानकारी अवश्य देः

  • शराब की लत (या आपने तुरंत शराब पी हो)
  • ड्रग एडिक्शन
  • डिप्रेशन और मानसिक बीमारी
  • लो ब्लड प्रेशर
  • प्रेग्नेंसी या प्रेग्नेंसी प्लान कर रही हैं तो उस बारे में भी बताएं
  • स्तनपान करा रही हैं तो जरूर बताएं, क्योंकि स्तपान कराने वाली महिलाएं वियाग्रा का इस्तेमाल नहीं कर सकती।
  • 18 साल से कम उम्र के लोगों को फ्लिबनसेरिना के इस्तेमाल की इजाजत नहीं है, इसलिए डॉक्टर को अपनी सही उम्र बताएं।

महिलाओं के लिए सेक्स वियाग्रा गोली के साइड इफेक्ट

भले ही महिलाओं में हाइपोएक्टिव सेक्सुअल डिजायर डिसऑर्डर (HSDD) के उपचार के लिए सेक्स वियाग्रा पिल के इस्तेमाल की सलाह डॉक्टर देते हों, लेकिन इसके साइड इफेक्ट से इनकार नहीं किया जा सकता। महिलाओं को इसके सेवन से एलर्जिक रिएक्शन के साथ ही कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैः

  • हाइव्स
  • सांस लेने में दिक्कत
  • चेहरे, होठ, जीभ या गले में सूजन
  • चक्कर आना
  • थकान
  • मितली
  • मुंह सूखना
  • नींद न आना
  • सिरदर्द
  • हार्ट रेट कम होना

इसके अलावा भी अन्य समस्याएं हो सकती है। यदि आपको सेक्स वियाग्रा के सेवन के बाद किसी तरह के साइड इफेक्ट का शक हो तो तुरंत अपने डॉक्टर को फोन करें।

और पढ़ें- सेक्स को एंजॉय करने के लिए ट्राई करें सेक्स लुब्रिकेंट्स (sex lubricants)

महिलाओं के लिए सेक्स वियाग्रा की खुराक

हाइपोएक्टिव सेक्सुअल डिजायर डिसऑर्डर (HSDD) के उपचार के लिए आमतौर पर डॉक्टर एक व्यस्क को रोजाना सोने से पहले 100mg का डोज लेने के लिए कहता है। ध्यान रहे इसका उपयोग प्री मेनोपॉजल महिलाओं की कामेच्छा में आई कमी के उपचार के लिए किया जाता है, इसका सेक्स परफॉर्मेंस में सुधार से कोई लेना-देना नहीं है।

सेक्स वियाग्रा गोली का विकल्प

महिलाओं की सेक्स में दिलचस्पी खत्म होने का कारण हमेशा ही हार्मोनल या हाइपोएक्टिव सेक्सुअल डिजायर डिसऑर्डर (HSDD) नहीं होता है। दरअसल, महिलाओं बहुत इमोशनल होती हैं और उनके लिए सेक्सुअल एक्ट भी सिर्फ शारीरिक क्रिया नहीं है, यदि वह पार्टनर से भावनात्मक रूप से नहीं जुड़ पाती हैं तो बिस्तर पर साथ होते हुए भ उन्हें सेक्सुअल सैटिस्फैक्शन नहीं मिलता है। ऐसे में किसी दवा से नहीं, बल्कि अन्य तरीके से समस्या का सामधान किए जाने की जरूरत है-

  • महिलाओं को सबसे पहले अपनी किसी भी तरह की समस्या के बारे में पार्टनर से खुलकर बात करनी चाहिए।
  • यदि उनकी सेक्स में दिलचस्पी खत्म हो रही है, तो पहले इसकी वजह जानने की कोशिश करें।
  • पार्टनर से खुलकर बात करने पर हो सकता है उन्हें इस बात का एहसास हो जाए कि आपकी लाइफ से रोमांस खत्म हो चुका है और शायद इसलिए आपकी सेक्स में उतनी दिलचस्पी नहीं रह गई।
  • सेक्स के दौरन किसी तरह की परेशानी होने पर भी महिलाएं इससे कतराने लगती हैं, लेकिन ऐसे में चुप रहने की बजाय पार्टनर को इस बारे में बताएं और ज्यादा समस्या होने पर डॉक्टर से सलाह लें।

सेक्स से जुड़े किसी भी मुद्दे पर अगर आपका कोई सवाल है, तो कृपया इस बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

क्या आप हर वक्त सेक्स के बारे में सोचते हैं? ये हाई सेक्स ड्राइव का हो सकता है लक्षण

हाई सेक्स ड्राइव क्या है, हाई सेक्स ड्राइव के लक्षण क्या है, हाइपरसेक्सुअलिटी का इलाज क्या है, तीव्र कामेच्छा को कम कैसे करें, high sex drive hypersexuality in HIndi.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha

बाइसेक्शुअल और बाइसेक्शुअलिटी क्या है? जानें इससे जुड़े मिथ भी

बाइसेक्शुल होना क्या है, बाइसेक्शुल कौन होते हैं, बाइसेक्शुअलिटी क्या है, गे, स्ट्रेट, लेसबियन, धारा 377 क्या है, bisexual bisexuality in Hindi.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha

Testosterone Deficiency: टेस्टोस्टेरोन क्या है?

जानिए स्टोस्टेरोन की कमी क्या है in hindi, स्टोस्टेरोन की कमी के कारण और लक्षण क्या है, Testosterone deficiency के लिए क्या उपचार है।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Kanchan Singh
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z मार्च 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

प्लास्टिक कुकवेयर के नुकसान से बचने के लिए क्या करें? जानें यहां

प्लास्टिक कुकवेयर के नुकसान क्या हो सकते हैं in hindi. प्लास्टिक कुकवेयर के नुकसान से कैसे बचा जा सकता है? इसके के अलावा कैसे बर्तन खतरनाक होते हैं?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Nidhi Sinha
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मार्च 3, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें