Ambroxol : एम्ब्रोक्सॉल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 1, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

एम्ब्रोक्सॉल का उपयोग किसलिए किया जाता है?

एम्ब्रोक्सॉल एक म्यूकोलिटिक एजेंट है, जो अलग-अलग श्वसन रोगों के लिए निर्धारित की जाती है जैसे कि ब्रोंकाइटिस न्यूमोकोनियोसिस के साथ ब्रोंकाइटिस निमोकोनिओसिस, पुरानी इंफ्लामेटरी पलमोनरी स्थिति, ट्रकियोब्रोंकाइटिस (रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इन्फ्लेमेशन), ब्रोंकिइक्टेसिस, ब्रोंकाइटिस के साथ ब्रोन्कोस्पासम अस्थमा।

मैं एम्ब्रोक्सॉल को कैसे इस्तेमाल करूं?

एम्ब्रोक्सॉल को खाने के साथ खाना चाहिए और जैसा लेबल पर जानकारी बताई गयी है ठीक उसी तरह खाएं। अगर आपको जानकारी समझ नहीं आती है तो डॉक्टर से बात करें।

अगर आपकी स्थिति अभी भी ठीक नहीं हुई है या और नए लक्षणों के साथ और खराब होती है जा रही है तो अपने डॉक्टर को जरूर बताएं। अगर आपको लगता है कि आपको गंभीर चिकित्सीय समस्या है तो मेडिकल जांच जरूर करवाएं।

और पढ़े : ये हैं 12 खतरनाक दुर्लभ बीमारियां, जिनके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए

मैं एम्ब्रोक्सॉल टैबलेट को कैसे स्टोर करूं?

अच्छा होगा अगर आप इसे घर के तापमान में ही रखें और सीधी रोशनी व नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए, आपको एम्ब्रोक्सॉल को बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना चाहिए। एम्ब्रोक्सॉल टैबलेट के अलग-अलग ब्रांड हो सकते हैं जिनको स्टोर करने की तरीके अलग हो सकते हैं। इसलिए आवश्यक है कि आप उसे खरीदने से पहले उत्पाद पर लिखी संग्रह करने की जानकारियों को ध्यानपूर्वक पढ़ लें या फिर फार्मासिस्ट से इसकी जानकारी ले लें। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाइयां बच्चों और जानवरों से अलग रखनी चाहिए।

आपको एम्ब्रोक्सॉल टॉयलेट या किसी सीवर में नहीं डालनी चाहिए तब तक जब तक डॉक्टर आपको सलाह न दें। आवश्यक है कि आप पूरी तरह से दवाई को खत्म कर दें अगर वो एक्सपायर हो गयी है या किसी काम के लायक नहीं रही है। इसे सुरक्षित व सही तरह से खत्म करने के लिए एक बार अपने फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

और पढ़ें : रेनिटिडाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

एम्ब्रोक्सॉल का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

एम्ब्रोक्सॉल दवा को किसी भी रूप में इस्तेमाल करने से पहले ये बाते जरूर ध्यान दें:

  • अगर आपको इस दवाई से या अन्य दवाई से एलर्जी होती है तो अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट को जरूर बताएं।
  • आप सलाह से या बिना सलाह के जो भी दवाइयां ले रहे हैं उसके बारे में अपने डॉक्टर को जरूर बताएं जैसे विटामिन।
  • अगर आप प्रेग्नेंट हैं या प्रेग्नेंट होने का प्लानिंग कर रही हैं या स्तनपान यानी ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं, तो डॉक्टर को जरूर बताएं। अगर आप इसका इस्तेमाल करने के दौरान प्रेग्नेंट हो गयी हैं तो इस बारे में भी डॉक्टर को बताएं।

और पढ़ें : ये 10 बातें पति कभी अपनी प्रेग्नेंट पत्नी से न कहें

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एम्ब्रोक्सॉल टैबलेट लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या स्तनपान के दौरान एम्ब्रोक्सॉल टैबलेट का इस्तेमाल करने से होने वाले जोखिम के ऊपर ऐसी कोई स्टडी अभी मौजूद नहीं है। कृपया आप एम्ब्रोक्सॉल दवा के इस्तेमाल से होने वाले लाभ और होने वाले नुकसान के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें। यू एस फूड और ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के अनुसार एम्ब्रोक्सॉल प्रेग्नेंसी जोखिम वर्गीकरण सी में आती है। एफडीए (FDA) प्रेग्नेंसी जोखिम वर्गीकरण निम्नलिखित है:

  • ए = कोई जोखिम नहीं
  • बी = कुछ स्टडी में कोई जोखिम नहीं
  • सी = कुछ जोखिम हो सकता है
  • डी = जोखिम के सकारात्मक सबूत
  • एक्स = विरोधाभाषी 
  • एन = कोई जानकारी नहीं

और पढ़ेंः क्या आप राइट टाइम सोते हैं ? अगर नहीं, तो सोने का सही समय आ गया है

एम्ब्रोक्सॉल के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इस दवा के कुछ साइड इफेक्ट (side effects) हो सकते हैं। जैसे :

हर कोई इन साइड इफेक्ट्स को अनुभव नहीं करता हैं । कुछ ऐसे साइड इफेक्ट्स भी हैं जो ऊपर नहीं दिए गए हैं। अगर आपको किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नजर आता है तो डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

और पढ़ें : सीफोटेक्सीम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

कौन सी दवाएं एम्ब्रोक्सॉल के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

एम्ब्रोक्सॉल टैबलेट का इस्तेमाल साथ में ली जाने वाली दवाओं के साथ नहीं करना चाहिए, इससे दवाओं के कार्य करने में बदलाव आ सकता है या गंभीर साइड इफेक्ट्स का जोखिम बढ़ सकता है। किसी भी दवा के गलत प्रभाव को रोकने के लिए, आपको इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं की एक सूची बनाकर रख लेनी चाहिए (जिनमें डॉक्टर के पर्चे की दवाएं, बिना सलाह वाली दवाएं और हर्बल उत्पाद शामिल हैं) और फिर उसे डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। आपकी सुरक्षा के लिए, बिना डॉक्टर की सलाह लिए कोई भी दवा अपने आप शुरू, बंद या खुराक में बदलाव न करें।

और पढ़ें: Chlorpheniramine: क्लोरफेनीरामिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ एम्ब्रोक्सॉल टैबलेट का इस्तेमाल किया जा सकता है?

एम्ब्रोक्सॉल टैबलेट भोजन या एल्कोहॉल के साथ गलत प्रभाव डाल सकती है। इस दवा को लेने से पहले भोजन या एल्कोहॉल के साथ किसी भी तरह के सही परिणाम नहीं दिखाई देते हैं तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

और पढ़ें: शराब ना पीने से भी हो सकता नॉन एल्कोहॉलिक फैटी लिवर डिजीज

एम्ब्रोक्सॉल खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

एम्ब्रोक्सॉल टैबलेट की खुराक आपकी स्वास्थ्य स्थिति पर गलत प्रभाव डाल सकती है। यह प्रभाव आपकी स्वास्थ्य स्थिति को बिगाड़ सकता है या फिर दवाई के कार्य करने के तरीके को कम कर सकता है। जरूरी है कि आप अपनी स्वास्थ्य स्थिति को डॉक्टर और फार्मासिस्ट को जरूर बताएं, खासकर :

एम्ब्रोक्सॉल कैसे उपलब्ध है?

एम्ब्रोक्सॉल खुराक के रूप में और उसके प्रभाव के रूप में उपलब्ध है :

  • टेबलेट, ओरल (oral): 30 मिलीग्राम
  • सलूशन, ओरल (oral) : 30 मिलीग्राम / 5 एमएल
  • इंजेक्शन (injection) : 15 मिलीग्राम / 2 एमएल
  • सांस के ज़रिए : 15 मिलीग्राम / 2 एमएल

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

अगर एक खुराक लेना भूल जाएं तो क्या करना चाहिए?

अगर एम्ब्रोक्सॉल की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

विभिन्न प्रसव प्रक्रिया का स्तनपान और रिश्ते पर प्रभाव कैसा होता है

डिलिवरी का तरीका आपके स्तनपान की प्रक्रिया के साथ-साथ शिशु और मां के बीच के रिश्ते पर भी असर डालता है। इस बारे में विस्तार से चर्चा कर रही हैं हमारी चाइल्डबर्थ एजुकेटर Divya Deswal… How do Different Birthing Practices Impact Breastfeeding and Bonding

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
वीडियो अगस्त 2, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

ब्रेस्टफीडिंग बनाम फॉर्मूला फीडिंग: क्या है बेहतर?

शिशु के विकास के लिए स्तनपान और फॉर्मूला मिल्क में से क्या बेहतर है, जिससे उसे पर्याप्त पोषण मिल सके। जिंदगी के शुरुआती चरण में शिशु को अगर पर्याप्त पोषण मिलता है, तो वह जिंदगीभर कई बीमारियों व संक्रमणों से दूर रहता है। Breastfeeding vs Formula Feeding

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
वीडियो अगस्त 2, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

स्तनपान से जुड़ी समस्याएं और रीलैक्टेशन इंड्यूस्ड लैक्टेशन

जानिए कि ब्रेस्टफीडिंग करवा रही महिला को किन-किन समस्याओं का सामना करना पड़ता है और रीलैक्टेशन इंड्यूस्ड लैक्टेशन क्या है? इसके अलावा, बच्चे के जन्म के बाद स्किन टू स्किन कॉन्टेक्ट क्यों जरूरी है? Common Breastfeeding Problems and Relactation Induced Lactation

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
वीडियो अगस्त 1, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

नर्सिंग मदर्स का परिवार कैसे दे उनका साथ

स्तनपान कराने वाली मां को उसके परिवार से किस तरह सपोर्ट और देखभाल मिलनी चाहिए, इस बारे में बहुत कम बात की जाती है और लोगों को जानकारी भी नहीं होती। आइए, इस वीडियो में इस विषय पर विस्तार से जानें। Family Support for Nursing Mothers

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
वीडियो अगस्त 1, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

मैटरनिटी लीव क्विज - maternity leave quiz

मैटरनिटी लीव एक्ट के बारे में अगर जानते हैं आप तो खेलें क्विज

के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ अगस्त 24, 2020 . 2 मिनट में पढ़ें
नाईट्रोकॉन्टिन 2.6 एमजी टैबलेट Nitrocontin 2.6 mg

Nitrocontin 2.6 mg : नाईट्रोकॉन्टिन 2.6 एमजी टैबलेट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अगस्त 17, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
ब्रेस्टफीडिंग के 1000 दिन

जानें ब्रेस्टफीडिंग के 1000 दिन क्यों है बच्चे के जीवन के लिए जरूरी?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ अगस्त 2, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
स्तनपान है बिल्कुल आसान, मानसिक रूप से ऐसे रहें तैयार

स्तनपान है बिल्कुल आसान, मानसिक रूप से ऐसे रहें तैयार

के द्वारा लिखा गया Sanket Pevekar
प्रकाशित हुआ अगस्त 2, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें