Ibuprofen : आइबूप्रोफेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

By Medically reviewed by Mayank Khandelwal

सामान्य नाम: Ibuprofen : आइबूप्रोफेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां ब्रांड का नाम : केवल साधारण। कोई ब्रांड उपलब्ध नहीं है।

आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) का उपयोग किसके लिए किया जाता है?

आइबूप्रोफेन (Ibuprofen) का इस्तेमाल दर्द (दांत दर्द, जोड़ों में दर्द आदि) और सूजन से आराम दिलाने के लिए किया जाता है। यह दवा एक नॉन स्टेरॉयडल एंटी-इन्फ्लमेट्रिक ड्रग (एनएसएआईडी) है। इस दवा का इस्तेमाल सिरदर्द, गठिया,पीठ में दर्द और अन्य प्रकार की छोटी चोटों और मासिक धर्म में ऐंठन जैसी समस्याओं में भी किया जाता है।

अगर आप गठिया जैसे पुराने रोगों का इलाज करवा रहे हैं तो इसमें ली जाने वाली दवा या दर्द को कम करने वाली दवा के बारे में पहले अपने डॉक्टर से जानकारी लें। साथ ही इस दवा के चेतावनी सेक्शन को ध्यान से पढ़ें।

अगर आप पहले भी आइबूप्रोफेन का इस्तेमाल कर चुके हैं तो भी दवा के लेबल पर दी गई घटकों से जुड़ी जानकारी को जरूर पढ़ें। कई बार दवा निर्माता अवयवों में बदलाव भी कर सकते हैं। इसके अलावा, समान नामों वाले प्रोडक्ट्स में विभिन्न उद्देश्यों के लिए अलग-अलग घटकों का इस्तेमाल किया जाता है। गलत दवा का इस्तेमाल करने से आपकी सेहत को नुकसान हो सकता है। इसलिए दवा का उपयोग करने से पहले लेवल पर नाम व अन्य चीजों को ध्यान से पढ़ें।

अन्य उपयोगः इस दवा का इस्तेमाल उपर लिखी गई बीमारी के अलावा कई और चीजों में भी किया जा सकता है। इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से संपर्क करें। अगर आप इसका सेवन बिना डॉक्टर की निगरानी में कर रहे हैं तो दवा के लेबल पर लिखे जरूर निर्देशों को अच्छे से पढ़ लें।

मैं आइबूप्रोफेन (ibuprofen) को कैसे इस्तेमाल करूं?

यदि आप ओवर-द-काउंटर उत्पाद ले रहे हैं, तो आइबूप्रोफेन लेने से पहले उत्पाद पैकेज पर सभी निर्देशों को ध्यान से पढ़ें। यदि आपके डॉक्टर ने आपको आइबूप्रोफेन लेने का सुझाव दिया है, तो अपने फार्मासिस्ट द्वारा प्रदान किए गए दवा गाइड को पढ़ें। अगर इसको लेकर आपके मन में किसी तरह का कोई शक है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करिए।

इस दवा का इस्तेमाल आप 4 से 6 घंटे के बीच एक ग्लास पानी (8 औंस / 240 मिलीलीटर) के साथ डॉक्टर के निर्देश के अनुसार किया जा सकता है।

अगर आप इस दवा को खा रहे हैं तो इसका सेवन करने के बाद कम से कम 10 मिनट तक बिस्तर पर सोए नहीं।

अगर आपको दवा का इस्तेमाल करने से पेट में किसी तरह की समस्या होती है तो इसे खाने या एंटासिड के साथ लें।

इस दवा की खुराक आपकी चिकित्सा स्थिति और उपचार की प्रतिक्रिया पर आधारित है। पेट से जुड़े और अन्य दुष्प्रभावों के अपने जोखिम को कम करने के लिए इस दवा का इस्तेमाल कम समय के लिए किया जाता है। अगर आपको इसके अलावा किसी और तरह की समस्या होती है तो इसके बारे में अपने डॉक्टर से संपर्क करें। अगर आपको गठिया जैसी कोई भी बीमारी है तो डॉक्टर के आदेश पर ही आइबूप्रोफेन का इस्तेमाल जारी रखें।

आइबूप्रोफेन का इस्तेमाल आपकी मेडिकल कंडिशन और इलाज के ट्रीटमेंट पर आधारित है।

अगर आप बच्चों के लिए आइबूप्रोफेन का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसकी मात्रा बच्चे के वजन पर आधारित होती है। बच्चे को दवा की कितनी खुराक देनी है इसके बारे में ध्यान से दवा के पैक पर दिए गए निर्देशों को पढ़ें। अगर आपको बच्चे को यह दवा देने में किसी भी तरह का कोई सवाल है तो इसके बारे में अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

यदि आप इस दवा को आवश्यकतानुसार (नियमित समय पर) ले रहे हैं, तो याद रखें कि दर्द की दवाएं सबसे अच्छी तरह से काम करती हैं यदि वे दर्द के पहले लक्षणों के रूप में उपयोग की जाती हैं। अगर आप भी इन चीजों का इंतजार कर रहे हैं तो हो सकता है कि दर्द बढ़ जाए, तो दवा वक्त पर काम नहीं करेगी।

यदि आपकी स्थिति बनी रहती है या बिगड़ जाती है, या यदि आपको लगता है कि आपको कोई गंभीर बीमारी दवा का सेवन से आपको हो गई है या होने वाली है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करिए। अगर आप बच्चे या खुद के लिए नॉनस्प्रिस्क्रिप्शन उत्पाद का सेवन कर रहे हैं और बुखार 3 दिन या उससे अधिक रहता है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करिए।

मैं आइबूप्रोफेन (ibuprofen) को कैसे स्टोर करूं?

आइबूप्रोफेन (ibuprofen) के रखरखाव के लिए कमरे का तापमान सबसे बेहतर होता है। इसे धूप के सीधे प्रभाव या नमी में आने से बचाना होता है। आइबूप्रोफेन को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में आइबूप्रोफेन के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी आइबूप्रोफेन खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के आइबूप्रोफेन को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसका इस्तेमाल न करें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें- दांत का दर्द मिनटों में होगा दूर, अपनाएं ये 8 घरेलू उपाय

आइबूप्रोफेन (ibuprofen) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

आइबूप्रोफेन का उपयोग करना सेहत के लिए जोखिम भरा हो सकता है। इसलिए इससे होने वाले फायदे के साथ-साथ इससे होने वाली हानियों को भी पूरी तरह से समझना चाहिए। इस्तेमाल से पहले एक बार जरूर डॉक्टर की सलाह लें।

अगर आपको आइबूप्रोफेन, एस्पिरिन या अन्य NSAIDs जैसे कि केटोप्रोफेन (ओरुडीस केटी, एक्ट्रॉन) और नेप्रोक्सेन (एलेव, नेप्रोसिन), किसी भी दवाइयों से किसी भी तरह की एलर्जी है तो इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं। अपने फार्मासिस्ट से पूछें या निष्क्रिय सामग्री की सूची के लिए पैकेज पर लेबल की जांच करें।

आप वर्तमान में किन दवाओं और हर्बल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं इसकी जानकारी अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट को जरूर बताएं। महत्वपूर्ण चेतावनी निम्न में से किसी में सूचीबद्ध दवाओं का उल्लेख करना सुनिश्चित करें: एंजियोटेंसिन-परिवर्तित एंजाइम (एसीई) अवरोधक जैसे कि बेनाजिपिल (लोटेंसिन), कैप्टोप्रिल (कैपेसन), एनालाप्रिल (वासोटेक), फोसिनोपिल (मोनोप्रिल), लिसिनोप्रिल प्रिवीविल, जेस्ट्रिल), मोएक्सिप्रिल (यूनीवैक), पेरिंडोप्रिल (ऐसोन), क्विनप्रिल (एक्यूप्रिल), रामिप्रिल (अल्टेस), और ट्रैंडोलैप्रिल (मविक); मूत्रवर्धक (‘पानी की गोलियां’); लिथियम (Eskalith, Lithobid); और मेथोट्रेक्सेट (रूमेट्रेक्स)। अगर आप इन दवाओं की खुराक को बदल रहे हैं या इन दवाओं के सााथ आइबूप्रोफेन का इस्तेमाल कर रहे हैं तो एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

दर्द के लिए किसी अन्य दवा के साथ नॉनप्रिस्क्रिप्शन आइबूप्रोफेन का इस्तेमाल बिना डॉक्टर के सलाह के नहीं करना चाहिए।

आइबूप्रोफेन का इस्तेमाल करने से अपने डॉक्टर को इस बात की जानकारी अवश्य दें कि आपको अस्थमा जैसी कोई अन्य बीमारी तो नहीं है। खासतौर पर अगर बहती नाक, नेजल पोलिप्स (नाक के अंदर की सूजन), हाथ, पैर, टखनों या निचले पैरों में सूजन, ल्यूपस (एक ऐसी स्थिति जिसमें शरीर अपने स्वयं के कई टिशूज और अंगों पर हमला करता है, अक्सर त्वचा, जोड़ों, रक्त और गुर्दे सहित); या लिवर या गुर्दे की बीमारी हो तो इस बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं।

अगर आपका बच्चा तरल पदार्थ नहीं पी रहा है और बार-बार उल्टी, दस्त जैसी बीमारियों का सामना उसको करना पड़ रहा है और आप उसे आइबूप्रोफेन दे रहे हैं तो इसके बारे में पहले डॉक्टर से बातचीत करें।

यदि आप डेंटल सर्जरी या कोई अन्य सर्जरी करवा रहे हैं तो डॉक्टर को इस बात की जानकारी अवश्य दें कि आप आइबूप्रोफेन का इस्तेमाल कर रहे हैं।

यदि आपके पास फेनिलकेटोनुरिया (पीकेयू, एक जन्मजात बीमारी जिसमें मानसिक मंदता विकसित होती है यदि एक विशिष्ट आहार का पालन नहीं किया जाता है), तो पैकेज लेबल को नॉनप्रिस्क्रिप्शन आइबूप्रोफेन को लेने से पहले इसके सभी पहलूओं की अच्छे से जांच करें।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान आइबूप्रोफेन (ibuprofen) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसके इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के अनुसार गर्भावस्था के शुरुआती 6 महीनों में इस दवा का इस्तेमाल खतरे की C कैटेगरी में रखा है। वहीं, गर्भावस्था के आखिरी 3 महीनों में इस दवा का इस्तेमाल खतरे की D कैटेगरी में आता है।

एफडीए गर्भावस्था जोखिम श्रेणी:

A = कोई जोखिम नहीं

B = कुछ अध्ययनों में कोई जोखिम नहीं

C = कुछ जोखिम हो सकते हैं

D = जोखिम के सकारात्मक प्रमाण हैं

X = निषेध

N = कोई जानकारी नहीं।

यह भी पढ़ें- जानिए कान बजने (Tinnitus) का कोई इलाज क्यों नहीं है?

आइबूप्रोफेन (ibuprofen) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

ऐसे किसी भी लक्षण आप महसूस करते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें। जैसे सांस लेने में तकलीफ, होंठ जीभ और गले में सूजन।

यदि आपको इनमें से कोई भी गंभीर दुष्प्रभाव हो, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करिए..

  • सीने में दर्द, कमजोरी, सांस की तकलीफ, दृष्टि या संतुलन के साथ समस्याएं
  • काला और खूनी स्टूल, खांसी या खून की उल्टी
  • सूजन या तेजी से वजन बढ़ना
  • सामान्य से कम यूरिन पास होना या बिलकुल भी नहीं होना
  • मतली, ऊपरी पेट में दर्द, खुजली, भूख में कमी, डार्क कलर की यूरिन, मिट्टी के रंग का मल, पीलिया (त्वचा या आंखों का पीला होना)
  • बुखार, गले में खराश, छाला और त्वचा पर लाल चकत्ते के साथ सिरदर्द
  • चोट, गंभीर झुनझुनी, सुन्नता, दर्द, मांसपेशियों की कमजोरी
  • गंभीर सिरदर्द, गर्दन की जकड़न, ठंड लगना, प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता में वृद्धि, दौरे पड़ना (ऐंठन)

कम गंभीर दुष्प्रभाव :

  • पेट खराब, दस्त, कब्ज
  • सूजन, गैस
  • चक्कर आना, सिरदर्द, घबराहट
  • त्वचा की खुजली या दाने
  • धुंधली दृष्टि
  • कानों का बजना (टिनीटस)

इनके अलावा कई ऐसे दुष्प्रभाव भी हैं, जिसकी जानकारी यहां नहीं दी गई है। दवा का इस्तेमाल करने के बाद आपको किसी तरह की परेशानी होती है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करिए।

यह भी पढ़ें- इन 8 तरह के दर्द को दूर कर सकते हैं ये नैचुरल पेनकिलर, आप भी करें ट्राई

कौन सी दवाएं आइबूप्रोफेन (ibuprofen) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

हालांकि कुछ दवाओं के साथ इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। अगर आप पहले से ही किसी अन्य दवा का सेवन कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें। साथ ही अगर किसी तरह के घरेलू नुस्खे या बिना डॉक्टर की देख-रेख में काउंटर पर मिलने वाली दवाइयों का सेवन कर रहें तो अपने डॉक्टर से इसकी जानकारी साझा करें। किसी दवा का सेवन करने या दवाओं का इस्तेमाल बीच में रोकने से आपके स्वास्थ्य पर किसी तरह का असर तो नहीं होगा इसके लिए अपने डॉक्टर से जानकारी प्राप्त करें।

अगर आप निम्मनिलिखत दवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आइबूप्रोफेन का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर को इसकी जानकारी अवश्य दें।

एस्पिरिन या अन्य NSAIDs जैसे कि नेप्रोक्सेन (एलेव, नेप्रोसिन, नेपरेलन, ट्रेमेसेट), सेलेकॉक्सिब (सेलेब्रेक्स), डाइक्लोफेनाक (आर्थ्रोटेक, कंबिया, कैटाफ्लम, वोल्टेरेन, फेल्टर पैच, टैगैड, सोलारेज़), इंडोमेथेसिन (इंडोकैस्टिन)

  • हार्ट या ब्लड प्रेशर की दवा जैसे बेनाजिप्रिल (लोटेन्सिन), एनालाप्रिल (वासोटेक), लिसिनोप्रिल (प्रिंसीली, ज़ेस्टिल), क्विनप्रिल (एक्यूप्रिल), रामिप्रिल (अल्तास, और अन्य)।
  • लिथियम (Eskalith, Lithobid)
  • मूत्रवर्धक (पानी की गोलियां) जैसे कि फ़्यूरोसेमाइड (लासिक्स)
  • मेथोट्रेक्सेट (रूमेट्रेक्स, ट्रेक्साल)
  • स्टेरॉयड (प्रेडनिसोन और अन्य)
  • वारफारिन (कौमडिन, जैंटोवन)

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ आइबूप्रोफेन (ibuprofen) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर किसी भी भोजन या एल्कोहॉल के साथ आइबूप्रोफेन का सेवन किया जाए तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

आइबूप्रोफेन (ibuprofen) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

आइबूप्रोफेन (ibuprofen) आपकी स्वास्थ्य की स्थिति के अनुसार काम करता है। कई मामलों में यह दवा घातक भी साबित हो सकती है। इसलिए जरूरी है कि इसके इस्तेमाल से पहले अपने स्वास्थ्य की मौजूदा स्थिति के बारे में डॉक्टर को बताएं। अगर इनमें से किसी भी तरह की कोई बीमारी आपको है तो:

  • एनीमिया
  • दमा
  • खून बहने की समस्या
  • खून के थक्के
  • एडिमा (शरीर की सूजन)
  • हार्ट अटैक (पहले कभी हुआ)
  • हृदय रोग
  • हाई बल्ड प्रेशर
  • गुर्दे की बीमारी
  •  हेपेटाइटिस
  • पेट या आंतों के अल्सर या रक्तस्राव
  • स्ट्रोक हिस्ट्री वाले इस दवा का इस्तेमाल ध्यान पूर्वक करें। कई बार इस दवा का इस्तेमाल आपकी स्थिति को पहले से भी खराब कर सकता है।
  • अगर आपको एस्पिरिन से किसी तरह की परेशानी हो तो इस दवा का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

इस दवा के सस्पेंशन में शुगर की मात्रा होती है इसलिए डायबिटीज के मरीजों को इसका सेवन सावधानी से करना चाहिए।

हार्ट सर्जरी (जैसे, कोरोनरी धमनी बाईपास ग्राफ्ट [CABG] सर्जरी) वालों को इस दवा का इस्तेमाल दर्द से राहत पाने के लिए नहीं करना चाहिए। सर्जरी के दौरान या बाद किसी तरह का दर्द आपको महसूस होता है तो इसकी जानकारी अपने डॉक्टर को दीजिए।

डॉक्टर की सलाह

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

आइबूप्रोफेन (ibuprofen) कैसे उपलब्ध है?

आइबूप्रोफेन निम्नलिखित खुराक और स्ट्रेंथ में उपलब्ध है:

सस्पेंशन, ओरल: 100 मिलीग्राम/ 5 एमएल

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिती में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिती में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

ओवरडोज के निम्नलिखित लक्षण देखें जा सकते हैः

  • सिर चकराना
  • तेजी से आंखें घूमना जिसे आप नियंत्रित नहीं कर सकते हैं
  • धीमी गति से सांस चलना
  • होंठ और मुंह के आस पास नीला पड़ना

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आइबूप्रोफेन की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सक सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

यह भी पढ़ें- इन फूड्स की वजह से बच्चों को हो सकता है कब्ज, ऐसे करें दूर

अभी शेयर करें

रिव्यू की तारीख सितम्बर 6, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया दिसम्बर 5, 2019

सूत्र