home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Ciprofloxacin : सिप्रोफ्लॉक्सासिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Ciprofloxacin : सिप्रोफ्लॉक्सासिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां
सिप्रोफ्लॉक्सासिन का उपयोग किसलिए किया जाता है?|सिप्रोफ्लॉक्सासिन इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?|सिप्रोफ्लोक्सासिन का इस्तेमाल करने से क्या साइड इफेक्ट्स होते हैं?|कौन सी दवाएं सिप्रोफ्लॉक्सासिन के साथ नहीं ली जा सकती हैं?|सिप्रोफ्लॉक्सासिन कैसे उपलब्ध है?

सिप्रोफ्लॉक्सासिन का उपयोग किसलिए किया जाता है?

सिप्रोफ्लॉक्सासिन बड़े स्तर पर बैक्टीरियल इंफेक्शन के इलाज में इस्तेमाल होती है। सिप्रोफ्लॉक्सासिन ड्रग के एक समूह से संबंधित दवा है जिसे क्विनोलोन एंटीबायोटिक कहते हैं। यह बैक्टीरिया के विकास को रोकने का काम करता है। सिप्रोफ्लॉक्सासिन केवल बैक्टीरियल इंफेक्शन में ही इस्तेमाल होता है। वायरस से होने वाले इंफेक्शन (जैसे सर्दी जुकाम, फ्लू) में यह दवा काम नहीं करती है। अनावश्यक रूप से या बार- बार इस दवा का इस्तेमाल करने से इसका प्रभाव कम हो जाता है।

मैं सिप्रोफ्लॉक्सासिन को कैसे इस्तेमाल करूं?

सिप्रोफ्लॉक्सासिन के उपयोग से पहले और हर बार इसे रिफिल कराते समय दवा के साथ दिए गए दिशा- निर्देशों को पढ़ें। अगर दवा के साथ में पीआईएल (Patient Information Leaflet) भी उपलब्ध है तो उसे भी ध्यानपूर्वक पढ़ें। अगर आपको इस बारे में कोई सवाल है तो डॉक्टर या फार्मासिस्ट से पूछें।

सिप्रोफ्लॉक्सासिन डॉक्टर के निर्देश के अनुसार आमतौर पर सुबह और शाम दो बार भोजन के साथ या बिना भोजन के भी ले सकते हैं।

प्रत्येक खुराक को लेने से पहले कंटेनर को 15 सेकंड अच्छी तरह से हिलाएं। इस दवा की खुराक को सावधानीपूर्वक एक खास किस्म के डिवाइस से ही मापें। घर मे इस्तेमाल होने वाले चम्मच का इस्तेमाल ना करें क्योंकि इससे सही खुराक नहीं मिलती है। इस दवा के सस्पेंशन को चबाना नहीं चाहिए।

फीडिंग ट्यूब के साथ सस्पेंशन का इस्तेमाल न करें क्योंकि यह सस्पेंशन ट्युब को गंदा कर सकता है।

इस दवा की खुराक और इसके ट्रीटमेंट का समय आपकी मेडिकल स्थिति और इलाज के प्रति आप कितने संवेदनशील हैं, इस बात पर आधारित होती है।

अन्य दूसरे प्रोडक्ट जैसे क्विनाप्रिल, सुक्राल्फेट, विटामिन/मिनरल्स (जिसमें आयरन और जिंक सप्लिमेंट शामिल होते हैं), ऐसे प्रोडक्ट जिसमें मैग्नीशियम, एल्युमिनियम या कैल्शियम (जैसे एंटासिड, डाईडेनोसिन सॉल्यूशन, कैल्शियम सप्लिमेंट) आदि लेने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट से पूछें।

कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ जिसमें डेयरी प्रोडक्ट (जैसे दूध, दही) शामिल होते हैं या कैल्शियम युक्त जूस, इस दवा के प्रभाव को कम कर सकते हैं। कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ खाने के कम से कम 2 घंटे पहले या 6 घंटे बाद इस दवा को लें, जब तक कि आप इन खाद्य पदार्थों को एक बड़े भोजन के हिस्से के रूप में नहीं खा रहे हैं जिसमें अन्य (गैर-कैल्शियम युक्त) खाद्य पदार्थ शामिल हैं। आपको बता दें कि ये अन्य खाद्य पदार्थ कैल्शियम बाइंडिंग इफेक्ट को कम करते हैं।

इस दवा के साथ न्यूट्रिशनल सप्लिमेंट्स/रिप्लेसमेंट सुरक्षित इस्तेमाल करने के बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से पूछें।

एंटीबायोटिक तभी ठीक से काम करता है जब शरीर मे दवा की मात्रा एक स्थिर लेवल पर होती है। इसलिए एक समान अंतराल पर ही इस दवा का इस्तेमाल करना चाहिए।

अगर आपके लक्षण समाप्त भी हो जाते हैं फिर भी इस दवा का इस्तेमाल करना जारी रखे जब तक कि इसकी पूरी खुराक खत्म नहीं हो जाती है। जल्द इस दवा को बंद करने से इंफेक्शन के दोबारा होने की संभावना बढ़ जाती है।

अगर आपकी स्थिति ऐसे ही बनी रहती है या फिर और अधिक खराब हो जाती है, तो अपने डॉक्टर को इस बारे में बताएं।

मैं सिप्रोफ्लॉक्सासिन को कैसे स्टोर करुं?

सिप्रोफ्लॉक्सासिन को प्रकाश और नमी से दूर कमरे के तापमान पर स्टोर करना बेहतर होता है। सिप्रोफ्लॉक्सासिन को कभी भी बाथरूम या ठंडी जगह में न रखें। मार्केट में सिप्रोफ्लॉक्सासिन के अलग-अलग ब्रांड हैं जिन्हें स्टोर करने के लिए दिशा निर्देश भी अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी इस दवा को खरीदें सबसे पहले उसके पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें। सुरक्षा के लिहाज से आपको इसे बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखना चाहिए।

बिना निर्देश के सिप्रोफ्लॉक्सासिन को टॉयलेट या किसी नाले में न फेकें। अगर यह एक्सपायर हो चुका है या इसका इस्तेमाल नहीं करना है तो इसे नष्ट कर दें। इसकी अधिक जानकारी के लिए आप अपने फार्मासिस्ट से संपर्क कर सकते हैं।

सिप्रोफ्लॉक्सासिन इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले इसके फायदों और इसके नुकसान के बारे में पता होना चाहिए। इस बात का निर्णय आप और आपका डॉक्टर लेगा। इस दवा के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए:

एलर्जी होने पर

अगर आपको इस दवा से या किसी दूसरी दवाइयों से एलर्जी है तो अपने डॉक्टर को बताएं। अगर आपको किसी दूसरे तरह की जैसे फूड्स, डाइज, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों आदि से एलर्जी है तो अपने हेल्थ केयर प्रोफेशनल को बताएं। नॉन प्रिस्क्रिप्शन ड्रग के लिए लेबल और पैकेज सामग्री को पढ़ें।

और पढ़ें : रेनिटिडाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

बच्चों के उपचार में

आज तक किए गए उचित अध्ययनों ने बच्चों से संबंधित समस्याओं के बारे में नहीं बताया है जो बच्चों में सिप्रोफ्लोक्सासिन की उपयोगिता को सीमित करेगा। दूसरी दवाइयों के बेअसर होने के बाद इस दवा की टॉक्सिसिटी के कारण इसका इस्तेमाल ध्यानपूर्वक करना चाहिए। बच्चों में एन्थ्रेक्स इंफेक्शन और गंभीर किडनी के इंफेक्शन को रोकने के लिए सिप्रोफ्लॉक्सासिन को ओरल लिक्विड या टैबलेट के रूप में किया जा सकता है।

बच्चों में सिप्रोफ्लॉक्सासिन एक्सटेंडेड रिलीज टैबलेट और उनकी उम्र को लेकर अभी कोई विशेष अध्ययन मौजूद नहीं हैं। बच्चों में इसके सुरक्षा और इसके प्रभाव के बारे में नहीं बताया गया है।

वृद्धों के उपचार में

आज तक किए गए उपयुक्त अध्ययनों ने वृद्धों से जुड़ी समस्याओं के बारे में नहीं बताया है जो बुजुर्गों में सिप्रोफ्लोक्सासिन की उपयोगिता को सीमित करेगा। हालांकि बुजुर्गों में उम्र की वजह से किडनी और हार्ट की समस्या ज्यादा होती है या गंभीर टेंडन (tendon) की समस्याएं (जिसमें टेंडन का टूटना भी शामिल है) होने की संभावना होती है, इसलिए ऐसे लोगों में सिप्रोफ्लोक्सासिन को सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करना चाहिए।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान सिप्रोफ्लोक्सासिन का इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

महिलाओं में प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान सिप्रोफ्लोक्सासिन के इस्तेमाल को लेकर अभी पर्याप्त जानकारी नहीं है। अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें। हालांकि, यूएस फ़ूड एंड एडमिनिस्ट्रेशन ने प्रेग्नेंसी के दौरान, इसके इस्तेमाल को लेकर इसे खतरे की ‘सी’ श्रेणी में रखा है। एफडीए प्रेग्नेंसी खतरे की सूची इस प्रकार है;

  • A= कोई नुकसान नहीं
  • B= कुछ शोध में कोई नुकसान नहीं
  • C= थोड़ा नुकसान हो सकता है
  • D= नुकसान का पॉजिटिव प्रमाण
  • X= इस बारे में मतभेद हैं
  • N= कुछ पता नहीं

और पढ़ेंः नाखूनों में ये बदलाव हो सकते हैं नेल इंफेक्शन के लक्षण, जानिए इसके उपचार

सिप्रोफ्लोक्सासिन का इस्तेमाल करने से क्या साइड इफेक्ट्स होते हैं?

अगर आपको एलर्जिक रिएक्शन जैसे हीव्स, सांस लेने में दिक्कत होना, चेहरे, होठ, जीभ या गले मे सूजन आदि महसूस होते हैं तो तुरंत आप इमरजेंसी मेडिकल सहायता लें।

और पढ़ें : ओमेप्राजोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

अगर आपको नीचे बताए गए गंभीर साइड इफेक्ट्स महसूस हों तो आप सिप्रोफ्लोक्सासिन का इस्तेमाल बंद कर दें या तुरंत अपने डॉक्टर को कॉल करें;

  • सिर चकराना, बेहोशी, दिन का अनियमित होना
  • ब्लड या पानी के साथ डायरिया
  • सिरदर्द, कान का बजना, मिचली, देखने मे समस्या, आंखों के पीछे दर्द होना
  • स्किन का पीला होना, डार्क यूरिन, कमजोरी
  • सामान्य सें कम यूरिन पास होना या बिलकुल ना होना
  • आसानी से चोट लगना या ब्लीडिंग
  • सुन्न पड़ना, झुनझुनी, शरीर मे असामान्य दर्द होना
  • पेट में दर्द

सभी को ये सारे साइड इफेक्ट्स महसूस नहीं होते हैं। आपको यहां पर कुछ साइड इफेक्ट्स नहीं बताए गए हैं। अगर आपको इन साइड इफेक्ट्स को लेकर कोई चिंता है तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

और पढ़ेंः इस तरह नवजात शिशु को बचा सकते हैं इंफेक्शन से, फॉलो करें ये टिप्स

कौन सी दवाएं सिप्रोफ्लॉक्सासिन के साथ नहीं ली जा सकती हैं?

अगर आप वर्तमान में कोई दवा ले रहें हैं तो सिप्रोफ्लॉक्सासिन उसके साथ इंटरैक्ट कर सकती है जिससे दवा का एक्शन प्रभावित होगा या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसको रोकने के लिए आप उन दवाओं (जिनमे प्रिस्क्रिप्शन ड्रग, नॉनप्रिस्क्रिप्शन ड्रग और हर्बल प्रोडक्ट शामिल हैं) की लिस्ट रखें और उन्हें डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ शेयर करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, ना ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

निम्नलिखित दवाओं के साथ इस दवा के इस्तेमाल नहीं बताया गया है। इस बारे में आपका डॉक्टर निर्णय लेगा कि इस दवा के साथ आपका इलाज करना है या नहीं, इसके अलावा आप जो दूसरी दवाइयां ले रहें हैं उस वह बदल सकता है।

  • ऐगोमेलाटिन, ऐमिफैम्प्रीडिन, सिसाप्राइड, ड्रोनेडारोन, लोमिटापाइड, मिजोरिडाजीन, पिमोजाइड, पिपराक्विन, स्पारफ्लोक्सासिन, थियोरिडाजीन, टिजानिडिन।

निम्नलिखित दवाइयों क साथ इस दवा के इस्तेमाल को लेकर नहीं बताया गया है लेकिन कुछ स्थितियों में यह जरूरी होती हैं। अगर आपको दोनों तरह की दवाइयां प्रिस्क्राइब की गईं हैं तो आपका डॉक्टर बताएगा कि इनका इस्तेमाल कैसे करना है?

  • ऐकार्बोस, ऐसीकेनाइड, ऐसीटोहेक्सामाइड, ऐल्फुजोसिन, एलोग्लिप्टिन, एलोसेट्रोन, एमियोडारोन, एमिट्रिप्टीलिन, ऐमॉक्सापीन, ऐनाग्रेलाइड, एपिक्साबेन, एपोमॉर्फिन, ऐरीपिपराजॉल, आर्सेनिक ट्राईऑक्साइड, आर्टीमेथर, ऐसिनापेन, एस्टेमीजॉल, ऐजिमिलाइड, एजिथ्रोमाइसीन, बेंडामास्टिन, बेनफ्लुओरेक्स, बोसुटिनिब, ब्रेटीलियम, बुसेरेलिन, कैनाग्लिफ़्लोजिन, क्लोरप्रोपाजिन, क्लोरप्रोपामाइड, सीटैलोप्राम, क्लैरिथ्रोमाइसीन, क्लोमिप्रामीन, क्लोजापीन, क्रिजोटिनिब, साइक्लोबेंजाप्रिन, डेब्राफेनिब, डेपाग्लिअफ्लोजिन, डेसाटिनिब, डेलामैनिड, डेसिप्रामीन, डेस्लोरेलिन, डिसोपिरामिड, डॉफेटीलाइड, डोलासेट्रोन, डॉमपेरिडॉन, डोक्सोरुबिसिन, हाइड्रोक्लोराइड लिपोसोम, ड्रोपेरीडॉल, इलिग्लूस्टेट, ऐल्ट्रॉम्बोपेग, इर्लोटिनिब, एरिथ्रोमाइसीन, ऐसीटैलोप्राम,

निम्नलिखित दवाइयों का इस्तेमाल करने से साइड इफेक्ट्स बढ़ सकते हैं। अगर आपको दोनों दवाइयां प्रिस्क्राइब की गईं हैं तो आपका डॉक्टर आपको बताएगा कि कैसे इनका इस्तेमाल करना है?

  • एल्युमिनियम कार्बोनेट, बेसिक, एल्युमिनियम हाईड्रॉक्साइड, एलुमिनियम फॉस्फेट, बीटामेथासोन, कैल्सियम, क्लोरक्विन, कॉर्टिकोट्रोपिन, कॉर्टिसोन, कोसिन्ट्रोपीन, साइक्लोस्पोरिन, डेफ्लाजाकोर्ट, डेक्सामेथासोन, डिक्लोफेनेक, डाईडेनोसिन, डाईहाइड्रॉक्सी एलुमिनियम एमिनोऐसीटेट, डाईहाइड्रॉक्सीऐलुमिनियम सोडियम कार्बोनेट, डूटास्टेराइड, फ्लुड्रोकॉर्टिसोन, फ़्लुओकोर्टोलोन, फॉसफेनिटोइन, हाइड्रोकॉर्टिसोन, इट्राकोनाजॉल, लैंथेनम कार्बोनेट, लिवोथाइरॉक्सिन, मेगलड्रेट, मैग्नीशियम कार्बोनेट, मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड, मैग्नीशियम ऑक्साइड, मैग्नीशियम ट्राईसिलिकेट, मेथिलप्रेड्निसोलोन, माइकोफिनोलेट मॉफेटिल, ओलैंजापीन, पैरामेथासोन, फेनिटोइन, प्रेड्निसोलोन, प्रेड्निसोन, प्रोबेनेसिड, रिफापेन्टिन, रोपिनिरोल, रोपिवाकेन, सेवेलामेर, सिडनाफिल, सुक्रालफेट, ट्रायमसिनोलोन, जोल्पिडेम।

मेट्रोनिडाजोल, मिफेप्रिस्टोन, मिगलिटोल, मॉरिसिजिन, मोक्सिफ़्लोक्सासिन, नेफरेलिन, नालोक्सेजोल, नगोटलिनाइड, नेलोफिनाइब, नॉरफ्लॉक्सासिन, नॉर्ट्रिप्टीलीन, ऑक्ट्रोसिटासिन, ओन्डेनसेट्रॉन, पैलिपरिडोन, पजेरोटिफेल, प्रोक्लोरपर्जिन, प्रोमेथाजीन, प्रोपैफेनोन, प्रोट्रिप्टीलिन, क्वेटियापाइन, क्विनिडाइन, क्वोलिन, रानागीलिन, रेपेग्लिन, रेप्लग्लिनाइड, रोजिग्लिटाजोन, सालमेटेरोल, साक्विनवीर, सक्सैग्लिप्टिन, सेमाटिलाईड, सेमोफ्लुरेन

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ सिप्रोफ्लॉक्सासिन लेना सुरक्षित है?

सिप्रोफ्लॉक्सासिन भोजन या एल्कोहॉल के साथ इंटरैक्ट कर सकती है जिससे ड्रग का एक्शन प्रभावित हो सकता है या फिर गंभीर साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसलिए भोजन या एल्कोहॉल के साथ इस ड्रग को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या फार्मासिस्ट से इस बारे में बात करें।

सिप्रोफ्लॉक्सासिन खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

सिप्रोफ्लॉक्सासिन आपके स्वास्थ्य स्थिति के साथ इंटरैक्ट कर सकती है। इससे आपकी स्वास्थ्य स्थिति और अधिक खराब हो सकती है या दवा का एक्शन प्रभावित हो सकता है। इसलिए बेहतर होता है कि अपने मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति के बारे में डॉक्टर या फार्मासिस्ट को बताएं, खासकर अगर निम्नलिखित समस्याएं हैं जैसे;

  • ब्रेडीकार्डिया (हार्टबीट का धीरे होना);
  • डायबिटीज
  • डायरिया
  • हार्ट अटैक या पहले कभी हुआ हो
  • हार्ट की बीमारी (जैसे हार्ट फेलियर)
  • हृदय गति की समस्या (जैसे प्रोलोंग्ड क्यूटी इंटरवल) या पहले से फैमिली में इसकी समस्या रही हो
  • हाइपोकैलेमिया (ब्लड में पोटैशियम कम होना)
  • हाइपोमैग्नेसिमिया (ब्लड में मैग्नीशियम होना)
  • लिवर डिजीज
  • दौरे पड़ना (एपिलेप्सी) या पहले से इनकी समस्या हो
  • स्ट्रोक या पहले से इसकी समस्या हो- ध्यानपूर्वक इस्तेमाल करें। इससे स्थिति और अधिक खराब हो सकती है।
  • ब्रेन डिजीज (आर्टरी का कड़ा होना)
  • गंभीर किडनी की समस्या
  • अंगों का ट्रांसप्लांट (जैसे हार्ट, किडनी या फेफड़ा) या पहले से इसकी समस्या हो
  • टेंडन डिसऑर्डर (रियूमेटॉइड आर्थराइटिस) या पहले से इसकी समस्या हो- ध्यानपूर्वक इसका इस्तेमाल करें। साइड इफेक्ट्स की स्थिति और अधिक खराब हो जाती है।
  • माइसथेनिया ग्रेविस (मांसपेशियों की कमजोरी)- ऐसी स्थिति वाले मरीजों में इस दवा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

और पढ़ेंः वजाइनल इंफेक्शन को दूर कर सकते हैं ये 7 घरेलू नुस्खे

सिप्रोफ्लॉक्सासिन कैसे उपलब्ध है?

सिप्रोफ्लॉक्सासिन निम्नलिखित खुराक और क्षमता में उपलब्ध है;

टैबलेटः 250 मिग्रा, 500 मिग्रा, 750 मिग्रा

इक्स्टेंडडः 500 मिग्रा, 1,000 मिग्रा

ओरल सस्पेंशन के लिए पाउडरः 250 मिग्रा/5 मिली, 500 मिग्रा/5 मिली

दूसरी मेडिकल समस्याओं की उपस्थिति से इस दवा का इस्तेमाल प्रभावित होता है। अगर आपको दूसरी मेडिकल समस्याएं हैं तो अपने डॉक्टर को बताएं।

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज की स्थिति में अपने लोकल इमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या नजदीकी इमरजेंसी वार्ड में जाएं।

क्या करना चाहिए अगर एक खुराक लेना भूल जाएं?

अगर आप सिप्रोफ्लॉक्सासिन की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक ना लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Ciprofloxacin Accessed on 16/07/2016

Ciprofloxacin Accessed on 16/07/2016

Ciprofloxacin Accessed on 16/07/2016

Ciprofloxacin Accessed on 06/12/2019

Ciprofloxacin Accessed on 06/12/2019

Cipro, Cipro XR Accessed on 06/12/2019

Cipro (ciprofloxacin) Accessed on 06/12/2019

Ciprofloxacin Accessed on 06/12/2019

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Anoop Singh द्वारा लिखित
अपडेटेड 07/10/2019
x