backup og meta

Duolin: डुओलिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


shalu द्वारा लिखित · अपडेटेड 04/06/2020

Duolin: डुओलिन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

डुओलिन (Duolin) कैसे काम करती है?

डुओलिन दो दवाओं का समायोजन है। यह लेवोसालबूटामॉल+ इप्राट्रोपियम के समायोजन से तैयार किया जाता है। डुओलिन का उपयोग क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिसऑर्डर के उपचार के लिए किया जाता है। जो फेफड़ों के रोगों का एक समूह है, जो एयरफ्लो को रोकते हैं और सांस लेने में मुश्किल पैदा करते हैं। इस बीमारी के कारण होने वाली सांस की तकलीफ, सीने में जकड़न, सांस लेने में कठिनाई, खांसी आदि जैसे लक्षणों से राहत के लिए भी इस दवा का उपयोग किया जाता है। यह वायु मार्ग की मांसपेशियों को आराम देने और सांस लेने की क्रिया को आसान बनाती है। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें: Cinnarizine+Dimenhydrinate: सिनेरीजीन+डिमेनहाइड्रिनेट क्या है? जानिए इसके उपयोग, डोज और सावधानियां

डोसेज

डुओलिन (Duolin)  का सामान्य डोज क्या है?

इसकी खुराक आपको कितनी और कब तक लेना है? यह डॉक्टर आपकी स्थिति और उम्र के आधार पर निर्धारित करता है। यह दवा 12 वर्ष से कम उम्र के रोगियों में उपयोग करने के लिए मना है।

दवा का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

यदि आप खुराक लेना भूल गए हैं तो याद आते ही उसे तुरंत लें। यदि आपको इतनी देर से याद आया है, कि अब आपको दूसरी खुराक लेनी है तो अपनी छूटी हुई खुराक को न लें। दूसरी खुराक उसके सही समय पर लें। ध्यान रखें खुराक मिस होने पर कभी भी दवा का डोज न बढ़ाएं अर्थात दो खुराक एक साथ न लें। यह आपकी स्थिति को बिगाड़ सकता है।

ओवरडोज की स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

ओवरडोज की स्थिति में बिना देरी किए आपातकालीन चिकित्सा उपचार लें या चिकित्सक से संपर्क करें।

और पढ़ें:Dimethicone : डायमेथीकॉन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

मुझे डुओलिन (Duolin)  का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

  • यदि आप डुओलिन का उपयोग अपने डॉक्टर के परामर्श से कर रहे हैं। उनके दिए निर्देशों का पालन ठीक से कर रहे हैं, तो यह आपके लिए पूरी तरह से सुरक्षित हैं। आपका डॉक्टर आपको इस दवा से जुड़ी सभी जानकारी देने में सक्षम होता है। वे आपको बताएंगे  कि आपको दिन में डुओलिन कितनी बार उपयोग करना है। डॉक्टर द्वारा दिए गए रेस्प्यूल्स या इनहेलर को कैसे प्रयोग करना हैं। यह अपने डॉक्टर से अच्छी तरह समझ लें। इसका उपयोग करने की अवधि क्या निर्धारित की गई है। इस बारे में अपने डॉक्टर से चर्चा करें।
  • इस दवा का प्रभाव कुछ दिनों के बाद ध्यान देने योग्य हो सकता है, वहीं कुछ हफ्तों के बाद ही इसका असर आपको आसानी से दिखाई देने लगता है। इस दवा को प्रभावी होने के लिए नियमित रूप से उपयोग किया जाना चाहिए। यदि आप  इसका प्रयोग सही ढंग से कर रहें है तो बीमारी के लक्षणों में कमी आ सकती है। इससे आप ये न समझें कि आपको पूरी तरह से आराम मिल चुका है। यदि आप यह सोचकर इसका प्रयोग करना बंद कर देते हैं तो आपके लक्षण आपको अचानक से दिखाई दे सकते हैं। इसलिए डॉक्टर ने जब तक इसे लेने की अवधि आपको दी है। तब तक आपको इसका प्रयोग करना चाहिए। 

[mc4wp_form id=’183492″]

  • इस दवा से लाभ प्राप्त करने के लिए आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि आप अपने इनहेलर को सही तरीके से प्रयोग कर रहे हैं, अन्यथा, यह असर नहीं करता है । कुछ लोगों में इसके कई आम दुष्प्रभाव जैसे खांसी, कंपकंपी भी देखने को मिल सकते हैं। यदि आपको किसी प्रकार के दुष्प्रभाव दिखाई देते हैं तो इसे लेना बंद करें और डॉक्टर इस बात पर चर्चा करें। यदि आपको बहुत ही मामूली दुष्प्रभाव दिखाई देते हैं, तो आप इनहेलर का उपयोग करने के बाद अपने मुंह और गले को पानी से धोकर या अपने दांतों को ब्रश रके इन लक्षणों में से कुछ को रोक सकते हैं। 

और पढ़ें: Cremaffin : क्रेमाफीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

साइड इफेक्ट्स

डुओलिन (Duolin)  के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

दुष्प्रभाव लगभग सभी दवाओं के हो सकते हैं। कई मामलों में ये साधारण होते हैं। कई मामलों में ये अधिकांश गंभीर रूप ले लेते हैं। कई बार दुष्प्रभाव के लक्षण अपने आप ही ठीक हो जाते हैं। यदि आपके कुछ लक्षण स्वंय ही ठीक नहीं हो रहे हैं तो इस विषय पर आप अपने डॉक्टर से बात कर सकते हैं। कुछ स्थिति में डुओलिन के साइड इफेक्ट्स देखने को मिलते हैं। जो कई प्रकार के हो सकते हैं। अगर आपको नीचे दिए हुए लक्षणों में से कोई भी आपके अंदर दिखाई देता है तो यह दवा लेना बंद करें साथ ही अपने डॉक्टर को तुरंत बताएं:

  • सिर चकराना

  • पीठ दर्द होना

  • गले में घरघराहट

  • कब्ज

  •  कंपकंपी

  • मूत्राशय में दर्द

  • कम रक्त दबाव

  • खांसी

  • सिर दर्द होना

  • मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन

  • सांस लेने में कठिनाई

  • विषाणु संक्रमण

  •  मुंह में सूखापन

  • गले में खराश या आवाज बैठना

  • अवरुद्ध या बहती नाक

  • हाथ और पैर का कांपना

  • दिल की धड़कनढ़ जाना

  • कम भूख लगना

  • घबराहट होना

  • असामान्य थकान और कमजोरी

  • पलकों, चेहरे, होंठ, जीभ की सूजन होना

  • जी मिचलाना

  • त्वचा पर दाने और धब्बे पड़ना

  • सीने में दर्द और तकलीफ

  • निगलने में कठिनाई होना

  • नोट: यह जरूरी नहीं कि सभी व्यक्तियों पर इसके समान साइड इफेक्ट हो प्रत्येक व्यक्ति पर इसके प्रभाव अलग-अलग हो सकते हैं। इनमें से कई लक्षण बहुत दुर्लभ ही आपको देखने को मिल सकते हैं।

    और पढ़ें: Cremaffin : क्रेमाफीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

    सावधानियां और चेतावनी

    डुओलिन (Duolin) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

    आप चाहे कोई भी दवा ले रहे हो, प्रत्येक दवा का उपयोग करते समय आपको कई प्रकार की सावधानी रखने की आवश्यकता होती है। दवाओं के पीछे भी कुछ चेतावनी लिखी होती है। जिसका सभी को पालन करना चाहिए।

    • आप जिस दवा का उपयोग करने के बारे में सोच रहे हैं। उसके उपयोग से पहले उसकी एक्सपायरी डेट चेक करना बहुत जरूरी होता है। यदि दवा का एक्सपायर हो चुकी है तो इस दवा का प्रयोग न करें।
    • यदि आप किसी प्रकार की मेडिकल कंडिशन से गुजर रहे हैं, तो अपने चिकित्सक से छुपाए नहीं।
    • नवजात शिशु या 12 साल की कम उम्र के बच्चों को स्वंय से यह दवा देने के बारे में न सोंचे।
    • यदि आपको किसी दवा से एलर्जी हो जाती है तो हो सकता है इसमें भी वे तत्व मौजूद हो इसलिए यदि आपको डॉक्टर आपको डुओलिन का उपयोग करने की सलाह देते हैं तो आप अपने डॉक्टर को  एलर्जी की समस्या के बारे में जरूर बताएं।
    • यदि दवा की पैकेजिंग आपको किसी तरह से डैमेज दिखाई दे रही है तो उसे प्रयोग में न लाएं।
    • यदि आप नियमित रूप से किसी दवा का सेवन कर रहें हैं तो अपने डॉक्टर को इस बारे में जरूर बताएं।
    • इस दवा का उपयोग हृदय गति में वृद्धि और रक्तचाप में परिवर्तन के साथ जुड़ा हुआ है। इसका उपयोग हृदय रोगियों में सावधानी के साथ किया जाना चाहिए। उपचार शुरू करने से पहले हृदय रोग के जोखिम वाले कारकों के लिए मरीजों की जांच की जानी चाहिए।
    • इस दवा का उपयोग ज्यादातर रोगियों में ब्लड शुगर के लेवल में मामूली वृद्धि से जुड़ा हुआ है। इसलिए, मधुमेह के रोगियों में सावधानी बरती जानी चाहिए। इस दवा को लेने के लिए ब्लड शुगर के स्तर की नियमित निगरानी आवश्यक है।
    • यदि आप लिवर के रोगी हैं और आपका इलाज साथ ही साथ चल रहा है। इसके बारे में अपने डॉक्टर को सूचना जरूर दें। डॉक्टर आपकी जांच पड़ताल के बाद सभी प्रकार के लाभ और नुकसान के बारे में जानकर ही आपको यह लेने की सलाह देता है।
    • हाइपोकैलिमिया के रोगियों में इस दवा का उपयोग रक्त में पोटेशियम के स्तर में कमी के साथ जुड़ा हुआ है। इसलिए, इसका उपयोग हाइपोकैलिमिया से पीड़ित रोगियों में अत्यधिक सावधानी के साथ किया जाना चाहिए।
    • किडनी के रोगियों को दवा लेने से पहले सावधान रहना आवश्यक होता है। इसका प्रयोग बिना डॉक्टर्स के परामर्श पर नहीं करना चाहिए। आप अपने डॉक्टर से अपने लक्षण और समस्या के बारे में बात करें। इसके पश्चात आपकी स्थिति को देखते हुए डॉक्टर सभी लाभ और नुकसान को ध्यान में रखते हुए दवा लेने का सलाह देगा। अपनी इच्छा से इसका उपयोग करने से बचें।

    क्या प्रेग्नेंसी के दौरान डुओलिन (Duolin) को लेना सुरक्षित है?

    प्रेग्नेंसी में डुओलिन लेना कितना सुरक्षित है, इस संबंध में अभी तक पर्याप्त अध्ययन नहीं किए गए हैं। गर्भावस्था में दवाओं के उपयोग के बारे में कई तरह की सावधानियां रखने की आवश्यकता है। विशेष रूप से पहली तिमाही के दौरान अधिक ध्यान रखना चाहिए। यह दवा गर्भवती महिलाओं में उपयोग के लिए अनुशंसित नहीं है। जब तक कि आवश्यक न हो। इस दवा का उपयोग करने से पहले डॉक्टर के साथ सभी जोखिमों और लाभों पर चर्चा की जानी चाहिए। यदि आपको किसी प्रकार के साइड इफेक्ट्स के लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो इसको लेना बंद कर दें साथ ही इस बारे में अपने डॉक्टर को बताएं।

    क्या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान डुओलिन (Duolin) लेना सुरक्षित है?

    डुओलिन स्तनपान कराने वाली महिलाओं में उपयोग करने के लिए अनुशंसित नहीं है। जब तक कि आवश्यक न हो। इस दवा का उपयोग करने से पहले डॉक्टर के साथ सभी जोखिमों और लाभों पर चर्चा की जानी चाहिए। स्तनपान के दौरान दवाओं का प्रयोग डॉक्टर की सलाह के बाद ही करना चाहिए। स्तनपान में दवा का उपयोग करते समय खुराक लेने के कुछ घंटे तक अपने शिशु को स्तनपान न कराएं।

    क्या ग्लूकोमा के रोगियों के लिए डुओलिन (Duolin) सुरक्षित है?

    इस दवा का उपयोग ग्लूकोमा से पीड़ित रोगियों में सावधानी के साथ किया जाना चाहिए। ताकि रोगी की स्थिति बिगड़ने का खतरा न बढ़ जाए। इसमें नैदानिक ​​स्थिति के आधार पर उपयुक्त खुराक समायोजन या एक उपयुक्त विकल्प के साथ प्रतिस्थापन की आवश्यकता हो सकती है।

    क्या ड्राइविंग के दौरान डुओलिन (Duolin) लेना सुरक्षित है?

    इस दवा के उपयोग से कुछ रोगियों में धुंधली दृष्टि, चक्कर आना, उनींदापन, भ्रम आदि लक्षण हो सकते हैं। यह सलाह दी जाती है कि यदि आप इस दवा के साथ उपचार के दौरान इन लक्षणों में से किसी का भी अनुभव करते हैं तो आपको वाहन चलाने जैसी कोई भी गतिविधि नहीं करनी चाहिए।

    क्या शराब सेवन के दौरान डुओलिन (Duolin) लेना सुरक्षित है?

    डॉक्टर कभी भी एल्कोहॉल के साथ दवा लेने की सलाह नहीं देते हैं। शराब के साथ यह दवा उपयोग करने से आपको कभी भी चक्कर या झपकी आ सकती है। अवसाद के जोखिम के कारण इस दवा को लेने की सलाह नहीं दी जाती है। ऐसे हालत में आप किसी गंभीर कार्य को करने की स्थिति खो बैठते हैं।

    क्या यूरिनरी रिटेंशन के रोगियों को डुओलिन (Duolin) लेना सुरक्षित है?

    इससे यूरिनरी रिटेंशन के जोखिम बढ़ सकते हैं। इस कारण से प्रोस्टेटिक हाइपरप्लासिया से पीड़ित रोगियों में सावधानी के साथ इस दवा का उपयोग किया जाना चाहिए। क्लिनिकल स्थिति के आधार पर किडनी फंक्शन टेस्ट, उचित खुराक समायोजन के साथ प्रतिस्थापन की आवश्यकता हो सकती है।

    और पढ़ें:Ibugesic Plus : इबूगेसिक प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

    रिएक्शन

    डुओलिन (Duolin) के साथ दवाइयों का रिएक्शन

    सभी दवाएं प्रत्येक व्यक्ति की स्वास्थ्य स्थितियों के साथ अलग तरह से इंटरैक्ट करती हैं। किसी भी दवा को शुरू करने से पहले डॉक्टर के साथ सभी संभावित इंटरैक्शन की जांच करनी चाहिए।

    • जायलोमेटाजोलिन  (Xylometazoline)

    • एटेनोलोल (Atenolol)

    • फोर्मोटेरोल (Formoterol)

    • केटोकोनाज़ोल (ketoconazole)

    • प्रोप्रानोलोल (Propranolol)

    फ्यूरोसमाइड  (furosemide)

  • ऐमिट्रिप्टिलाइन (Amitriptyline)

  • हाइड्रोक्लोरोथियाजिड (Hydrochlorothiazide)

  • एट्रोपिन (atropine)

  • क्लोरफेनिरामिन (chlorpheniramine)

  • सूडोफेड्रीन (pseudoephedrine)

  • अर्पिजोल  (aripiprazole)

  • क्लोजापीन (clozapine)

  • टीयोट्रोपियम (Tiotropium)

  • और पढ़ें:Paracetamol : पैरासिटामोल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

    स्टोरेज

    मैं डुओलिन (Duolin) को कैसे स्टोर करूं?

    इनहेलर को स्टोर करने के लिए इसे कमरे के तापमान पर स्टोर करें। कमरे का तापमान 25 ° C (77 ° F) होना चाहिए। इसे सूर्य की तेज किरणों और नमी से दूर रखें। खराब होने से बचाने के लिए इसे बाथरूम नहीं रखना है। इनहेलर को स्टोर करने से पहले बेहतर होगा कि आप दवा के पैकेज पर छपे निर्देशों को पढ़ लें या फार्मासिस्ट से पूछें। सुरक्षा की दृष्टि से दवाइयों को बच्चों से दूर रखें। 

    डुओलिन (Duolin) किस रूप में उपलब्ध है?

    • रेस्प्यूल्स
    • इनहेलर

    अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें। हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान और उपचार प्रदान नहीं करता।

    डिस्क्लेमर

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    shalu द्वारा लिखित · अपडेटेड 04/06/2020

    ad iconadvertisement

    Was this article helpful?

    ad iconadvertisement
    ad iconadvertisement