Hepatobiliary Iminodiacetic Acid Scan: एचआईडीए स्कैन (Hida) क्या है?

By Medically reviewed by Dr. Radhika apte

परिभाषा

हिडा स्कैन (Hepatobiliary Iminodiacetic Acid Scan) क्या है?

हिडा स्कैन (Hepatobiliary Iminodiacetic Acid Scan), या हिपेटोबिलरी, स्कैन एक डाइग्नोस्टिक ​​टेस्ट है। ये टेस्ट यकृत, पित्ताशय की थैली, पित्त नलिकाओं और छोटी आंत की छवि / फ़ोटो लेकर उनसे जुड़ी मेडिकल कंडिसन्स और बीमारियों की रोकथाम में मदद करता । पित्त एक ऐसा पदार्थ है जो वसा को पचाने में मदद करता है।

इस प्रक्रिया को कोलेस्किंटिग्राफी और हेपेटोबिलरी स्किन्टिग्राफी के रूप में भी जाना जाता है। ये गॉलब्लेडर के उत्सर्जन खंड के रूप में भी प्रयोग किया जाता है।

इस टेस्ट का प्रयोग गॉलब्लेडर से निकलने वाले पित्त को नापने के लिए किया जाता है । इसका उपयोग एक्सरे और अल्ट्रासाउंड टेस्ट के साथ भी किया जाता है ।

हिडा स्कैन (Hepatobiliary Iminodiacetic Acid Scan) क्यों किया जाता है?

हिडा स्कैन का सबसे ज्यादा उपयोग गॉलब्लेडर की स्थिति का मूल्यांकन करने के लिए किया जाता है। ये लिवर में बनने वाले पित्त उत्सर्जन कार्य पे नजर रखता है साथ ही लिवर से छोटी आंत में पित्त के प्रवाह को भी ट्रैक करता है ।

हिडा स्कैन कई रोगों की स्थिति और उनके रोकथाम में मदद करता है, जैसे,

  • गॉलब्लेडर की सूजन (कोलेसिस्टिटिस)
  • पित्त नली रुकावट
  • पित्त नलिकाओं में जन्मजात असामान्यताएं, जैसे कि पित्त की गति
  • पोस्टऑपरेटि कॉम्प्लिकेशन, जैसे कि पित्त का लीक होना और फिस्टुलस
  • लिवर ट्रांसप्लांट का आकलन करना
  • लिवर से कौन सा पित्त निकल रहा है इस बात की जांच करने के लिए, डॉक्टर हिडा स्कैन की मदद ले सकता है 

यह भी पढ़ें : Kidney Function Test : किडनी फंक्शन टेस्ट क्या है?

एहतियात / चेतावनी

हिडा स्कैन (Hepatobiliary Iminodiacetic Acid Scan) कराने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

एचआईडीए स्कैन के दौरान कुछ ही जोखिम हो सकते है, जिनमे शामिल है :

  • स्कैन के दौरान रेडियोएक्टिव ट्रेसेस से एलर्जी हो सकती है ।
  • इंजेक्ट साइड की स्किन का नीला पड़ जाना
  • रेडिएशन का मामूली खतरा
  • अगर आप के मां बनने की संभावना है या आप फीडिंग करा रही है तो इसके बारे में डॉक्टर को बताए । ज्यादा तर केस में न्यूक्लियर चिकित्सा टेस्ट नहीं कराए जाते जिसमे भूर्ण को खतरा हो । ऐसे टेस्ट में हिडा स्कैन भी शामिल है ।

यह भी पढ़ें : Lung Cancer : फेफड़े का कैंसर क्या है?

प्रक्रिया

हिडा स्कैन (Hepatobiliary Iminodiacetic Acid Scan) की तैयारी कैसे करें?

एचआईडीए स्कैन के दौरान कुछ विशेष तैयारी की जरूरत होती है :

स्कैन होने से पहले 4 घंटे का उपवास या फास्टिंग। आपका डॉक्टर सिर्फ तरल पदार्थ पीने को बोल सकता है ।

अपने डॉक्टर को सभी दवाओं और सप्पलीमेंट के बारे में बताए जो आप ले रहे है ।

यदि आप प्रेगनेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही है तो अपने डॉक्टर को सूचित करें

एक बार जब आप हॉस्पिटल या मेडिकल इमेजेस सेंटर पहुच जाती है तो इमेजेस तकनीशियन या मेडिकल अटेंडेंट आपसे कुछ बोल सकता है :

  • हॉस्पिटल के कपड़े/ गाउन पहन लें
  • स्कैन से पहले अपने सभी जेवर और मेटल के गहने घर उतार के आए

हिडा स्कैन (Hepatobiliary Iminodiacetic Acid Scan) के दौरान क्या होता है?

  • आपकी हेल्थ टीम आपको पीठ के बल टेबल पे लेटा देगी और रेडियोएक्टिव ट्रेसर को आपकी बांह की नसों में इंजेक्ट करंगे । ट्रेसर को इंजैक्ट करने के दौरान आपको दबाव या ठंडी का अहसास हो सकता है।
  • परीक्षण के दौरान, आपको ड्रग सिनक्लाइड (Kinevac) का एक इंजेक्शन दिया जाएगा, जो आपके गॉलब्लेडर को सिकोड़ और खाली कर देगा। मॉर्फिन, एचआईडीए स्कैन के दौरान दी जाती है, जो गॉलब्लेडर को विसुअली समझना आसान बनाती है।
  • एक गामा कैमरा ट्रेसर की तस्वीरों को लेने के लिए आपके पेट पर सेट किया जाता है । इस प्रक्रिया में लगभग एक घंटा लगता है, जिसके दौरान आपको स्थिर रहना होगा।
  • यदि आप अनकम्फर्ट हो जाते हैं तो अपनी टीम को बताएं। गहरी साँसें लेते हुए आप असुविधा को कम कर सकते है ।

रेडियोलॉजिस्ट कंप्यूटर पे आपके शरीर के अंदर रेडियोएक्टिव ट्रेसर की मूवमेंट देखेगा। यदि पिक्चर संतोषजनक नहीं हैं, तो कुछ मामलों में, आपको 24 घंटे के भीतर अतिरिक्त इमेजिंग की जरूरत हो सकती है।

हिडा स्कैन (Hepatobiliary Iminodiacetic Acid Scan) के बाद क्या होता है?

ज्यादातर केस में, आप स्कैन के बाद उसी दिन जा सकते हैं। रेडियोएक्टिव ट्रेसर बहुत छोटी मात्रा में अपनी रैक्टिविटी खो देगा या एक या दो दिन में मल मूत्र के रास्ते निकल जाएगा । इसे शरीर से बाहर करने के लिए खूब पानी पीजिए ।

यदि आपके मन मे हिडा स्कैन के बारे में कोई प्रश्न हैं, तो कृपया निर्देशों को बेहतर ढंग से समझने के लिए अपने डॉक्टर से सलाह ले ।

यह भी पढ़ें : Lymph node biopsy: लिम्फ नोड बायोप्सी क्या है?

परिणामों की व्याख्या

मेरे रिजल्ट का क्या मतलब है ?

एक हिडा स्कैन के परिणामों में शामिल हैं:

रेडियोधर्मी ट्रेसर पित्त के आपके गॉलब्लेडर और छोटी आंत में आराम से चला गया।

रेडियो एक्टिव ट्रेसर की स्लो मूवमेंट लिवर में रुकावट या उसके फक्शन में खराबी की तरफ इशारा करता है ।

गॉलब्लेडर में यदि कोई रेडियोएक्टिव मूवमेंट नजर आ रही है या उसे देखने मे दिक्कत आ रही है तो ये स्थिति खतरनाक सूजन का संकेत हो सकता है ।

एब्नॉर्मल गॉलब्लेडर इंजेक्शन फ्रैक्शन. गॉलब्लेडर में ट्रैसर को छोड़ने के बाद उसे खाली करने के लिए आपको दवा दी जाती है तो ये पुरानी सूजन (क्रोनिक कोलेसिस्टिटिस) का संकेत दे सकता है।

यदि दूसरे एरिया में भी रेडियों एक्टिव ट्रेसर का पता चलता है तो पित्त सिस्टम के बाहर पाए जाने वाले ट्रेसर, पित्त रिसाव या लीकेज के संकेत दे सकते है ।

आपका डॉक्टर टेस्ट रिजल्ट के विषय मे आपसे चर्चा करेगा।

अलग अलग लैब्स और हॉस्पिटल के बेस पे, एचआईडीए स्कैन की नॉर्मल रेंज भी अलग अलग हो सकती है । टेस्ट रिजल्ट को लेकर आपके मन मे जो भी सवाल हो उनके बारे में अपने डॉक्टर से बात करे ।

हेलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।

और पढ़ें : MRI Test : एमआरआई टेस्ट क्या है?

सूत्र

रिव्यू की तारीख जुलाई 4, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया अक्टूबर 22, 2019