Serum Glutamic Pyruvic Transaminase (SGPT): सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस (एसजीपीटी) टेस्ट क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

परिचय

सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस (एसजीपीटी) टेस्ट (Serum Glutamic Pyruvic Transaminase) (SGPT) क्या है?

सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस (SGPT) टेस्ट एक बल्ड परीक्षण है ये टेस्ट लिवर डैमेज की जांच करने के लिए किया जाता है। इसको कई लोग अलैनिन एमिनोट्रांस्फरेज़ (ALT) के नाम से भी जानते हैं। बता दें की इस टेस्ट का उपयोग डॉक्टर यह पता लगाने के लिए करता है कि क्या कोई बीमारी, दवा, या चोट आपके लीवर को नुकसान पहुंचा रहा है, जैसे की हेपेटाइटिस और सिरोसिस जैसे रोग आपके लीवर को नुकसान पहुंचा सकते हैं और कई कार्य करने से रोक सकते हैं। इस बात से सभी अवगत होंगे की लीवर हमारे शरीर का एक बहुत महत्वपूर्ण भाग माना जाता है यह हमारे शरीर के लिए बहुत सारे कार्य करता है। जो इस प्रकार होते हैं।

-यह हमारे शरीर में एक पित्त नाम का एक फ्लूइड बनाता है जो आपके शरीर के भोजन को पचाने में मदद करता है।

-यह आपके बल्ड से वेस्ट प्रोडक्ट्स और अन्य टॉक्सिन्स को हमारे शरीर से बाहर निकालता है।

-यह प्रोटीन और कोलेस्ट्रॉल पैदा करता है।

और पढ़ेः Echocardiogram Test : इकोकार्डियोग्राम टेस्ट क्या है?

SGPT क्यों महत्वपूर्ण है ?

सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस (SGPT) क्यों महत्वपूर्ण है ?

यह एंजाइम मुख्य रूप से आपके लिवर में पाया जाता है। एसजीपीटी (SGPT) की छोटी मात्रा आपके गुर्दे और अन्य अंगों में भी होती है।

सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस (SGPT) आपके शरीर में मौजूद भोजन को आपके शरीर की एनर्जी में बदलता है। साधारण तौर पर, रक्त में सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस का लेवल कम ही होता है। यदि आपका लिवर डैमेज है, तो यह आपके बल्ड में अधिक सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस रिलीज करेगा और इससे लेवल बढ़ जाएगा। डॉक्टर अक्सर अन्य जिगर परीक्षणों के साथ एएलटी परीक्षण देते हैं।

और पढ़े: AB Phylline: ए बी फाइलिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

लक्षण

ये लक्षण दिखने पर कराएं एसजीपीटी टेस्ट(SGPT Test on seeing these symptoms)

यदि आपके लीवर में किसी तरह की समस्या उत्पन्न हो रही जिसे आप महसूस कर पा रहे हैं तो बिना किसी झिझक के आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें यदि आपके लक्षण नीचे दिए हुए लक्षणों से मेल खाते हैं तो आपका डॉक्टर आपको सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस जांच की सलाह दे सकता है। नीचे दिए हुए लक्षणों को ध्यानपूर्वक देखें।

-इन लक्षणों के अलावा भी कुछ ऐसे कारण होते हैं जिनके कारण आपके लिए यह टेस्ट कराना बेहद आवश्यक होता है। इसलिए यदि आप इन बातों से से ताल्लुक रखते हैं तो आपको भी ये टेस्ट कराने के बारें में जरुर सोचना चाहिए।

-सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस टेस्ट एक नियमित टेस्ट के दौरान बल्ड पैनल के हिस्से के रूप में किया जा सकता है। यदि आपको पहले से ही लीवर की बीमारी हो चुकी है, तो आपका डॉक्टर यह देखने के लिए कि आपके उपचार में कितना अच्छा काम हो रहा है, एसजीपीटी(SGPT) टेस्ट कर सकता है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

ऐसे करें तैयारी

एसजीपीटी टेस्ट के लिए मैं कैसे तैयारी करूं?

सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस टेस्ट के लिए किसी विशेष तैयारी की आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि, आपको अपने डॉक्टर को किसी भी नुस्खे या दवाओं के बारे में बताना चाहिए जो आप ले रहे हैं। कुछ दवाएं आपके बल्ड में SGPT के लेवल को प्रभावित कर सकती हैं। आपका डॉक्टर आपको यह बता देगा की आपको कितने समय पहले वो दवा लेना बंद करना है जिससे इस परीक्षण का रिजल्ट ठीक प्रकार से मिल सके।

प्रक्रिया

सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस (SGPT) कैसे किया जाता है? (How SGPT is done)

-बल्ड सैंपल लेने के लिए आपके जिस एरिया में सुई डालेंगे उस त्वचा को साफ करने के लिए डॉक्टर वहां पर एंटीसेप्टिक का उपयोग किया जाता है।

-वे आपके ऊपरी बांह के चारों ओर एक टाइट बैंड बांधते हैं, जो आपके बल्ड फ्लो को रोकता है जिससे आपकी बांह में नसें दिखाई देने लगती हैं।

-जब आपके हाथ की नस दिखाई देती है तो डॉक्टर उसमें सूई के जरिए बल्ड निकालता है और एक ट्यूब में रख देता है। 

-बल्ड निकालने के बाद डॉक्टर आपके हाथ से बैंड और सुई को हटा देता है। इसके तुरंत बाद वो आपके हाथ पर एक कॉटन लगा देता है जिससे थोड़ा बहुत बल्ड निकले वो कॉटन से साफ किया जा सकता है।

-बल्ड सैंपल को परीक्षण के लिए लैब में भेजा जाता है।

-लैब द्वारा आपकी रिपोर्ट डॉक्टर के पास भेजी जाती है रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टर आपको अपने पास बुलाता है। 

और पढ़े: Electrocardiogram Test : इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम टेस्ट क्या है?

जोखिम

एसजीपीटी से जुड़े जोखिम क्या हैं?

सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस एक परीक्षण है जिसमें कुछ जोखिम शामिल होते हैं। जिस जगह से आपका बल्ड निकाला गया था उस जगह पर आपको चोट लग सकती है। सुई निकालने के बाद कई मिनट तक इंजेक्शन लगने वाली जगह पर दबाव डालने से चोट के खतरे को कम किया जा सकता है।

बहुत ही कम मामलों में SGPT के दौरान आपको कोई दिक्कत महसूस हो सकती है लेकिन कुछ सामान्य दिक्कतें हो सकती हैं जो इस प्रकार से हैं।

-आपकी त्वचा के नीचे रक्त का संचय होना, जिसे हेमेटोमा कहा जाता है।

-जहां सुई डाली गई थी वहां अत्यधिक रक्तस्राव होना।

-सुई लगने वाली जगह पर संक्रमण होना।

-बल्ड निकलने के बाद चक्कर आना

और पढ़े: Complete Blood Count Test : कंप्लीट ब्लड काउंट क्या है?

रिजल्ट

सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस टेस्ट का रिजल्ट

सामान्य परिणाम(Normal result)

SGPT के लिए ब्लड में सामान्य मान पुरुषों के लिए 29 से 33 यूनिट प्रति लीटर (IU / L) और महिलाओं के लिए 19 से 25 IU / L है, लेकिन यह मान अस्पताल के आधार पर अलग-अलग भी हो सकता है। यह कुछ कारकों से प्रभावित हो सकती है, जिसमें लिंग और आयु शामिल हैं। 

असामान्य परिणाम(Abnormal results)

सीरम ग्लूटामिक पाइरुविक ट्रांसएमिनेस के उच्च-से-सामान्य लेवल लीवर को डैमेज का संकेत देते हैं। SGPT के बढ़े हुए लेवल का परिणाम इस प्रकार हो सकते हैं।

  • मोनोन्यूक्लिओसिस, जो आमतौर पर एपस्टीन-बार वायरस के कारण होने वाला एक संक्रमण है।
  • सिरोसिस, जो लीवर की गंभीर चोट है।
  • मधुमेह
  • लीवर टीश्यू का खत्म होना
  • हेपेटाइटिस, जो लीवर की स्थिति को बिगाड़ सकता है।
  • अग्न्याशय में सूजन होना।
  • लीवर में बल्ड फ्लो की कमी
  • लीवर में एक ट्यूमर या कैंसर
  • हेमोक्रोमैटोसिस, जो एक विकार है जो शरीर में आयरन का निर्माण करता है

-ज्यादातर डाउन लेवल के एसजीपीटी  परिणाम एक स्वस्थ लीवर का संकेत देते हैं। हालांकि, अध्ययन किए गए स्रोत ने दिखाया है कि कम-से-सामान्य परिणाम लंबी अवधि की मृत्यु दर में वृद्धि से जुड़ा हुआ हैं। 

-यदि आपके परीक्षण के परिणाम लीवर डैमेज या बीमारी का संकेत देते हैं, तो आपको समस्या के अंतर्निहित कारण और इसके इलाज के सर्वोत्तम तरीके जानने के लिए अधिक परीक्षण की आवश्यकता हो सकती है।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Achilles Tendon Rupture: अकिलिस टेंडन सर्जरी क्या है?

The Achilles tendon injures the lower back behind your feet. This is mostly the problem for people who play Recreational Games.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
सर्जरी अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Laser Resurfacing Surgery : लेजर रिसर्फेसिंग सर्जरी क्या है?

लेजर रिसर्फेसिंग का उपयोग ज्यादातर महिलाएं करवाती हैं,यदि आप भी लेजर रिसर्फेसिंग कराने की सोच रहे हैं तो डॉक्टर से सलाह लें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
सर्जरी, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Dental Bonding: डेंटल बॉडिंग क्या है?

डेंटल बॉडिंग कैसे होती है? Dental bonding in hindi डेंटल बॉडिंग के ज्यादा खतरे नहीं होते हैं, लेकिन यह बहुत लंबे समय तक के लिए टिकाउ नहीं होता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
सर्जरी, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Trapeziectomy: ट्रेपेजेक्टोमी क्या है?

ट्रेपेजेक्टोमी सर्जरी कैसे की जाती है और ऑपरेशन क्यों जरूरी होता है। सर्जरी की चुनौतियां क्या होती हैं, जानें इसके बारे में।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया shalu
सर्जरी, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 23, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

किडनी के रोगी का डायट प्लान/diet plan for kidney diseas

जानिए किडनी के रोगी का डायट प्लान,क्या खाएं क्या नहीं

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ जुलाई 8, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
लीकोरिस रुट

Licorice Root: लीकोरिस रुट क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ मई 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
पेट कम करने के उपाय/Pet kam karne ka upay

पेट कम करने के इन उपायों को करें ट्राई और पाएं स्लिम लुक

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ मई 8, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Cerebrospinal Fluid Test- सीएसएफ क्या है

Cerebrospinal Fluid Test : सीएसएफ टेस्ट (CSF Test) क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ मई 7, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें