home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल कैसी होनी चाहिए? किन बातों का रखें ध्यान और कौन से एक्टिविटी से रहें दूर?

सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल कैसी होनी चाहिए? किन बातों का रखें ध्यान और कौन से एक्टिविटी से रहें दूर?

शरीर में मौजूद कुछ ऑर्गेन पेयर यानी जोड़े में होते हैं, जैसे हाथ-पैर (Leg & Hand), आंख (Eye) और किडनी (Kidney)। लेकिन दुनिया में ऐसे कई व्यक्ति हैं, जो सिर्फ सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल मेंटेन कर रहें हैं। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल (Living with one functioning kidney) अगर हेल्दी हो, तो कोई शारीरिक परेशानी नहीं आती है। लेकिन अगर अनहेल्दी लाइफस्टाइल है, तो एक नहीं, बल्कि कई समस्या दस्तक देने के लिए तैयार रहती है। आज इस आर्टिकल में समझेंगे कैसे सिंगल किडनी (Single Kidney) होने के बावजूद आप कैसे स्वस्थ्य रह सकते हैं। सिंगल किडनी के कारणों को भी समझेंगे और किडनी शरीर के लिए क्यों है महत्वपूर्ण अंग यह भी जानेंगे।

  • क्यों है किडनी महत्वपूर्ण अंग?
  • सिंगल किडनी के क्या हैं कारण?
  • सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल कैसी होनी चाहिए?
  • सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल मैनेज करने वालों को डॉक्टर से कब कंसल्ट करना चाहिए?
  • सिंगल किडनी की वजह से कौन-कौन सी एक्टिविटी से दूर रहें?

इन ऊपर बताये सवालों को एक-एक कर समझते हैं और सिंगल किडनी के बाद हेल्दी लाइफस्टाइल कैसे बैलेंस रखा जाए ये जानेंगे।

और पढ़ें : जानिए किडनी के रोगी का डायट प्लान,क्या खाएं क्या नहीं

क्यों है किडनी महत्वपूर्ण अंग? (Why Kidney is important?)

सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल (Living with one functioning kidney)

किडनी (Kidney) शरीर का महत्वपूर्ण अंग है, जो शरीर में मौजूद ब्लड (Blood) को फिल्टर करने और ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को नियंत्रित रखने में मदद करती है। इन दो महत्वपूर्ण कार्यों के अलावा किडनी रेड ब्लड सेल्स (Red Blood Cells [RBC]) के प्रोडक्शन में भी सहायक होता है और मजबूत हड्डियों (Strong bone) के लिए एवं विटामिन डी (Vitamin D) के मेटाबॉलिज्म को भी स्ट्रॉन्ग बनाये रखने में सहायक होता है। मनुष्य के शरीर में दो किडनी होती हैं, जो कि कमर के ठीक ऊपर स्पाइन के दोनों तरफ स्थित होती हैं। किडनी की बीमारी (Kidney Disease) के कारण आपको कई स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, जो कि गंभीर होने पर जानलेवा भी साबित हो सकती है। कई बार व्यक्ति सिर्फ एक ही किडनी (Single Kidney) पर निर्भर हो जाता है। क्या है सिंगल किडनी के कारण उसे आगे समझेंगे, लेकिन सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल (Living with one functioning kidney) को हेल्दी रखा जाए तो परेशानियों से बचा जा सकता है।

और पढ़ें : सावधान! यूरिन संबंधी परेशानी कहीं किडनी पर न पड़ जाए भारी

सिंगल किडनी के क्या हैं कारण? (Cause of Single Kidney)

सिंगल किडनी के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं। जैसे :

1. रीनल एजेंसिस (Renal Agencies)- दुनिया में कई लोग ऐसे हैं, जो सिर्फ एक ही किडनी (Single Kidney) के साथ जन्म लेते हैं, जिसे रेनल एजेंसिस कहते हैं। एक रिसर्च रिपोर्ट की मानें, तो 750 में से एक व्यक्ति रेनल एजेंसिस का पेशेंट होता है। हालांकि इसकी जानकारी जबतक एक्स-रे ना (X-Ray) हो तब तक नहीं मिल पाती है।

2. रीनल डिस्प्लेसिया (Renal Dysplasia)- यह एक ऐसी स्थिति है, जब व्यक्ति का जन्म दो किडनी के साथ होता तो है, लेकिन सिर्फ एक ही किडनी ठीक तरह से काम करती है। दूसरी किडनी ठीक तरह से काम नहीं करती है।

3.नेफ्रेक्टोमी (Nephrectomy)- किसी शारीरिक परेशानियों की वजह से या इंफेक्शन (Infection) होने पर एक किडनी अगर इन्फेक्टेड हो चुकी है, तो उसे सर्जरी की मदद से हटा दिया जाता है। डॉक्टर का मानना है कि इससे कैंसर (Cancer) जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है।

4. किडनी दान (Kidney Donor)- किडनी डोनेट कई लोग करते हैं। ऐसा प्रायः अपने परिवार या जरूरतमंद को लोग अपनी एक किडनी दान करते हैं।

सिंगल किडनी के ये चार मुख्य कारण हैं। लेकिन सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल (Living with one functioning kidney) जीना आसान है।

और पढ़ें : यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTIs) होने पर क्या करें, क्या न करें?

सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल कैसी होनी चाहिए? (Life style tips for Single Kidney patients)

सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल कैसी होनी चाहिए? (Life style tips for Single Kidney patients)

यह ध्यान रखें कि जिन लोगों को सिर्फ एक ही किडनी होती है, उन्हें सिर्फ हेल्दी लाइफ स्टाइल फॉलो करने से ही सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल आसानी से बिताई जा सकती है। इसलिए निम्नलिखित हेल्दी टिप्स फॉलो करें। इन टिप्स में शामिल है:

  • दो से ढ़ाई लीटर पानी पीने की आदत डालें।
  • किसी भी गेम में पार्टिसिपेट करने से पहले यह सुनिश्चित करें कि आपको किडनी वाले हिस्से में चोट ना लगे।
  • यूरिन इंफेक्शन (Urine Infection) से बचें और अगर यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTI) हुआ है, तो जल्द से जल्द इसका इलाज करवाएं।
  • सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल को हेल्दी रखना चाहते हैं, तो अपनी मर्जी से किसी भी दवा का सेवन ना करें।
  • अगर आपको हाय ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) की समस्या है, तो उसे बैलेंस रखें।
  • नमक (Salt) का सेवन ज्यादा ना करें
  • जरूरत से ज्यादा प्रोटीन रिच फूड (Protein rich food) का सेवन ना करें।
  • शरीर का वजन संतुलित बनाये रखें
  • स्मोकिंग (Smoking) ना करें।
  • एल्कोहॉल (Alcohol) से दूरी बनायें।
  • समय-समय पर ब्लड प्रेशर चेक (Blood Pressure check) करते रहें।
  • ब्लड शुगर लेवल (Blood sugar level) कंट्रोल में रखें।
  • सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल को हेल्दी रखने के लिए नियमित योग (Yoga), एक्सरसाइज (Workout) या वॉक (Walk) करें।

और पढ़ें : प्रोटीन पाउडर के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Protein Powder

सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल मैनेज करने वालों को डॉक्टर से कब कंसल्ट करना चाहिए? (When to consult doctor?)

सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल मैनेज कर रहें लोगों को निम्नलिखित स्थितियों में डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए। जैसे:

  • बार-बार बुखार होना
  • पेशाब में जलन महसूस होना।
  • पेशाब कम लगना या ठीक से नहीं होना।
  • किडनी में किसी कारण चोट लगना।
  • किडनी में दर्द होना।

इन ऊपर बताई स्थितियों के साथ-साथ कोई तकलीफ महसूस होने पर इसे इग्नोर ना करें और जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसलट करें।

और पढ़ें : Frequent Urination: बार बार पेशाब आना क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

सिंगल किडनी की वजह से कौन-कौन सी एक्टिविटी से दूर रहें? (Protecting your single kidney from injury)

सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल हेल्दी रखना चाहते हैं, तो निम्नलिखित एक्टिविटी में हिस्सा ना लें। जैसे:

  • रॉक क्लिंबिंग ना करें।
  • जेट स्कीइंग या वॉटर स्कीइंग जैसे वाटर स्पोर्ट्स से दूर रहें।
  • मोटरसाइकिल की सवारी से बचें।
  • मोटरस्पोर्ट्स जैसे रेसिंग ना करें।
  • घुड़सवारी बिल्कुल भी ना करें।
  • रस्सी बांधकर कूदने वाले एक्टिविटी से दूर रहें।
  • स्काइडाइविंग ना करें।

ये एक्टिविटी भले ही आपको अपने ओर कितना भी आकर्षित करें, लेकिन इनसे दूरी बनायें रखें और स्वस्थ्य रहें। अगर आप सिंगल किडनी के साथ लाइफस्टाइल (Living with one functioning kidney) से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Living With One Kidney/https://www.kidney.org/atoz/content/onekidney/Accessed on 02/03/2021

Living with one functioning kidney/https://kidneyresearchuk.org/kidney-health-information/questions-about-kidney-disease/living-with-one-kidney/Accessed on 02/03/2021

Solitary or Single-functioning Kidney/https://www.niddk.nih.gov/health-information/kidney-disease/solitary-kidney/Accessed on 02/03/2021

Living With One Kidney/https://kidneyhi.org/living-with-one-kidney/Accessed on 02/03/2021

Living with One Kidney/https://www.news-medical.net/health/Living-with-One-Kidney.aspx/Accessed on 02/03/2021

Kidneys/https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/kidneys/Accessed on 02/03/2021

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 15/03/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x