home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Female Sterilisation : महिला नसबंदी (फीमेल स्टरलाइजेशन) क्या है?

परिचय|जोखिम|प्रक्रिया|रिकवरी
Female Sterilisation : महिला नसबंदी (फीमेल स्टरलाइजेशन) क्या है?

परिचय

महिला नसबंदी (Female Sterilisation) क्या है?

महिला नसबंदी को अंग्रेजी में फीमेल स्टरलाइडेशन (Female Sterilisation) कहा जाता है। मेडिकली तौर पर इसे लैप्रोस्कोपिक कहा जाता है। महिला नसबंदी महिलाओं के गर्भनिरोधक का एक स्थायी तरीका होता है। इस प्रक्रिया में महिलाओं के दोनों फैलोपियन ट्यूब को बंद कर दिया जाता है, जिससे वे फिर कभी प्रेग्नेंट नहीं पाएंगी।

आपको यह ऑपरेशन तब तक नहीं करानी चाहिए, जब तक आपको और आपके साथी को कोई बच्चा नहीं चाहिए होगा। क्योंकि, एक बार महिला नसबंदी कराने के बाद आप फिर कभी दोबारा मां नहीं बन सकती हैं। साथ ही, यह सिर्फ महिलाओं को गर्भ धारण करने से रोकता है, किसी भी तरह के सेक्सुअल समस्या को दूर नहीं करता है और न ही इसकी वजह से सेक्सुअल लाइफ में कोई परेशानी आती है।

हालांकि, महिला नसबंदी के विकल्प को आखिरी विकल्प के तौर पर चुनना चाहिए। इससे पहले आप गर्भनिरोधक के अन्य तरीकों पर विचार कर सकती हैं। महिला गर्भनिरोधक के गैर-स्थायी तरीके हैं जैसे हार्मोन प्रत्यारोपण और गर्भनिरोधक गोलियों (Contraceptive pills) का सेवन।

इसके अलावा पुरुष नसबंदी भी महिलाओं के गर्भनिरोधक का स्थायी विकल्प होता है। पुरुष नसबंदी के बाद बिना कंडोम के इंटरकोर्स कर सकते हैं और प्रेग्नेंसी का डर भी नहीं रहता है।

महिला नसबंदी (Female Sterilisation) की जरूरत कब होती है?

लगभग हर महिला की नसबंदी की जा सकती है। हालांकि, नसबंदी का विकल्प सिर्फ उन्हीं महिलाओं को चुनना चाहिए, जिन्हें भविष्य में बच्चे नहीं चाहिए हो।

और पढ़ेंः नशे में सेक्स करना कितना सही है? जानिए स्मोक सेक्स और ड्रिंक सेक्स में अंतर

जोखिम

महिला नसबंदी (Female Sterilisation) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

जैसा की हर प्रक्रिया के साथ कुछ जोखिम की संभावना बनी रहती है, इसी तरह महिला नसबंदी के भी कुछ जोखिम हो सकते हैं। जिसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

इसमें होने वाले जोखिमों में एनेस्थेटिक का रिएक्शन, अत्यधिक रक्तस्राव या खून के थक्के जमना शामिल हो सकता है।

निम्न जोखिम भी शामिल हो सकते हैंः

  • आंत के अंदर के हिस्से, ब्लैडर या खून की नसों को नुकसान हो सकता है
  • हर्निया होना
  • सर्जिकल एम्फायसेमा (Surgical emphysema)
  • गर्भाशय में छेद होना
  • नसबंदी की प्रक्रिया असफल होना
  • स्त्री रोग, अंगों या मूत्राशय का संक्रमण
  • एक्टापिक प्रेग्नेंसी (नसबंदी के बाद भी गर्भवती होना)

महिला नसबंदी (Female Sterilisation) कराने से पहले, इससे जुड़े लाभ, संभावित जोखिमों और साइड इफेक्ट्स को समझने के लिए जरूरी है कि अपने डॉक्टर या सर्जन से इस बारे में बात करें।

प्रक्रिया

महिला नसबंदी (Female Sterilisation) करवाने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

फीमेल स्टरलाइजेशन (Female Sterilisation) करवाने से पहले आपका डॉक्टर निम्न जरूरी बातों के निर्देश दे सकते हैंः

  • ऑपरेशन करवाने से एक हफ्ते पहले काउंटर से मिलने वाली दवाओं का सेवन बंद करें।
  • अपनी सभी दवाओं की जानकारी अपने डॉक्टर को दें।
  • अगर आपको किसी दवा या किसी भोजन से एलर्जी है, तो उसके बारे में अपने डॉक्टर को बताएं।
  • ऑपरेशन से पहले आपको ब्लड टेस्ट करवाने की भी जरूरत हो सकती है।
  • ऑपरेशन कराने से 6 से 12 घंटें पहले उपवास रखें।
  • सर्जरी वाले दिन योनि को शेव करें। अगर शेव नहीं भी करते हैं ऑपरेशन के दौरान सर्जन जरूरत के अनुसार शेव कर सकते हैं।

और पढ़ेंः योनि से जुड़े तथ्य, जो हैरान कर देंगे

फीमेल स्टरलाइजेशन (Female Sterilisation) के दौरान क्या होता है?

आपके पेट में एक या एक से अधिक छोटे चीरे लगाया जा सकते हैं। इन चीरों के जरिए आपके पेट के अंदर सर्जिकल डिवाइस डाले जाएंगे। आपका पेट कार्बन डाइऑक्साइड गैस से भरा हो सकता है। इससे आपके सर्जन को आपके पेट के अंदर देखने में आसानी होती है। महिला नसबंदी के कई प्रकार होते हैं। आपका ऑपरेशन किस विधि से किया जाएगा, यह आपकी स्वास्थ्य स्थिति और सर्जन के अनुभव पर निर्धारित कर सकती है।

ट्यूबल लिगेशन महिला नसबंदी

सबसे पहले महिला को एनेस्थिसिया की खुराक दी जाती है। इसके बाद डॉक्टर महिला के पेट में गैस भरकर उसे फुलाते हैं और प्रजनन अंगों के बीच में लैप्रोस्कोप के जरिए एक चीरा (incision) लगाते हैं। जिसके बाद फेलोपियन ट्यूब को सील कर दिया जाता है। इसके अलावा ट्यूब को काटा या मोड़ा भी जा सकता है या ट्यूब के भाग को हटाया भी जा सकता है या बैंड और क्लिप लगाकर ट्यूब को ब्लॉक भी किया जा सकता है।

और पढ़ेंः Ankle Fracture Surgery : एंकल फ्रैक्चर सर्जरी क्या है?

नॉनसर्जिकल महिला नसबंदी

इस ऑपरेशन में चीरा नहीं लगाया जाता है। इस प्रकार की नसबंदी में फैलोपियन ट्यूब ऑक्लुजन (fallopian tube occlusion) का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें मेटल के दो पतले कॉयल (coils) लगे होते हैं। पहले कॉयल को योनि और सर्विक्स के जरिए फैलोपियन ट्यूब में डाला जाता है। कॉयल के चारों ओर स्कार टिश्यू (scar tissue) लगे होते हैं जो फैलोपियन ट्यूब को ब्लॉक करने में मददगार होते हैं। यह दूसरे प्रकार सर्जरी के मुकाबले जल्दी ठीक हो जाता है।

मिनीलैप्रोटॉमी

इस नसबंदी में बड़ी सर्जरी की जाती है। आमतौर पर यह प्रक्रिया बच्चे को जन्म देने के दो दिन बाद किया जा सकता है। ऑपरेशन से पहले मरीज को बेहोश किया जाता है। इसके बाद डॉक्टर महिला के पेट के ऊपर एक से तीन इंच लंबा चीरा (incision) लगा कर दोनों तरफ से फैलोपियन ट्यूब के सेक्शन को निकाल दिया जाता है।

अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ेंः टीनएजर्स टिप्सः कैसे हटाएं प्यूबिक और अंडरआर्म हेयर?

रिकवरी

महिला नसबंदी (Female Sterilisation) के बाद क्या होता है?

  • जब तक आप पूरी तरह से होश में नहीं आती, तब तक आपको आराम करना होगा।
  • इस दौरान डॉक्टर की टीम आपके स्वास्थ्य की देखरेख करेगी।
  • आपकी स्वास्थ्य स्थिति के अनुसार आप ऑपरेशन वाले दिन या एक-दो दिन बाद घर जा सकेंगे।
  • आपको किस तरह के भोजन या तरल पदार्थ लेने चाहिए इसके बारे में आपका डॉक्टर आपको उचित निर्देश दे सकते हैं।

उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको इस सर्जरी से जुड़े किसी अन्य सवाल का जवाब जानना है, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा दिलाने की कोशिश करेंगे। आपके हमारा ये आर्टिकल कैसा लगा, हमें जरूर बताएं। इसके साथ ही अगर आपको आर्टिकल पसंद आया है, तो ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर जरूर करें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। फीमेल स्टरलाइजेशन (Female Sterilisation) कराने के पहले या बाद में अपने डॉक्टर/सर्जन के निर्देशों का ही पालन करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Female sterilisation. http://www.nhs.uk/conditions/contraception-guide/pages/female-sterilisation.aspx#Who. Accessed October 24, 2019.

Sterilization for Women (Tubal Sterilization).https://www.plannedparenthood.org/learn/birth-control/sterilization-women. Accessed October 24, 2019.

Reproductive Health. https://opa.hhs.gov/reproductive-health?pregnancy-prevention/sterilization/female-sterilization/index.html. Accessed on 29 August, 2020.

Contraception – tubal ligation. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/contraception-female-sterilisation. Accessed on 29 August, 2020.

Why are women dying in India’s sterilisation camps?. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4259548/. Accessed on 29 August, 2020.

लेखक की तस्वीर
Ankita mishra द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 31/08/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड