पेट दर्द और कब्ज: कैसे मिल सकती हैं इन दोनों कंडिशंस से निजात, जानिए

    पेट दर्द और कब्ज: कैसे मिल सकती हैं इन दोनों कंडिशंस से निजात, जानिए

    एब्डोमिनल पेन यानी पेट दर्द को कब्ज का सामान्य लक्षण माना जाता है। क्योंकि, यह दोनों समस्याएं एक साथ होती हैं। पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) के कई कारण हो सकते हैं। जिनमें कुछ लाइफस्टाइल फैक्टर्स और गंभीर मेडिकल कंडीशंस आदि शामिल हैं। कब्ज या कॉन्स्टिपेशन जैसा रोग किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। इस समस्या से पीड़ित लोग पेट दर्द की समस्या का अनुभव करते ही हैं। आज हम बात करने वाले हैं पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) के बारे में। लेकिन, सबसे पहले हम कॉन्स्टिपेशन के बारे में थोड़ा जान लेते हैं।

    कब्ज यानी कॉन्स्टिपेशन (Constipation) क्या है?

    कब्ज की परेशानी तब होती है जब हमारा बॉवेल मूवमेंट कम फ्रीक्वेंट हो जाता है और स्टूल का पास होना मुश्किल होता है। ऐसा अक्सर डायट, रूटीन में परिवर्तन या फाइबर को कम मात्रा में लेने से होता है। किंतु, अगर रोगी को इस दौरान पेट में गंभीर दर्द, स्टूल में ब्लड आना जैसी समस्याएं होती या कब्ज तीन हफ्तों से अधिक समय तक रहती है तो तुरंत मेडिकल हेल्प लेनी चाहिए। कब्ज की समस्या किसी को भी हो सकती है और जैसा कि पहले ही बताया गया है कि कब्ज में पेट दर्द की परेशानी होना भी नार्मल है। अब जानते हैं कि पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) के लक्षण क्या हैं?

    और पढ़ें: बच्चों में कॉन्स्टिपेशन: नजरंअदाज न करें बच्चों में होने वाली इस कॉमन प्रॉब्लम को!

    पेट दर्द और कब्ज के लक्षण (Symptoms of Abdominal Pain And Constipation)

    कब्ज और पेट दर्द दोनों परेशानियां एक साथ होती हैं। पेट दर्द वो लक्षण है जो कॉन्स्टिपेशन के समय प्रेजेंट होती हैं। कॉन्स्टिपेशन के सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं:

    • हफ्ते में तीन से कम बार बॉवेल मूवमेंट
    • पेट में दर्द, जो ब्लोटिंग के साथ या बिना हो सकती है
    • स्टूल जो हार्ड, लम्पी और ड्राय होता है
    • बॉवेल्स को पूरी तरह खाली करने में असमर्थता
    • ऐसा महसूस होना, जैसे कुछ आपके स्टूल को ब्लॉक कर रहा है
    • मल त्याग करने के लिए दबाव पड़ना

    कॉन्स्टिपेशन के जुड़े पेट दर्द के लक्षण इस प्रकार हैं:

    • ब्लोटिंग
    • भूख का कम या बिलकुल भी न लगना
    • क्रैम्प्स

    कॉन्स्टिपेशन के साथ पेट में दर्द होना कोई परेशानी वाली बात नहीं है। अधिकतर मामलों में यह पेट में गैस के बनने के कारण होती है। माइल्ड से मॉडरेट एब्डोमिनल पेन और कॉन्स्टिपेशन एक साथ चिंता का कारण नहीं हैं। लेकिन, अगर यह दर्द असहनीय हो, तो मेडिकल हेल्प लेना जरूरी है। अब जानते हैं पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) के संभावित कारणों के बारे में।

    और पढ़ें: डायबिटीज और कॉन्स्टिपेशन : जब एक के साथ चली आए दूसरी समस्या भी!

    पेट दर्द और कब्ज के कारण क्या हैं? (Causes of Abdominal Pain And Constipation)

    पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) के कई कारण हो सकते हैं जिनमें खराब जीवनशैली, दवाईयां आदि शामिल हैं। जानते हैं इन कारणों के बारे में विस्तार से:

    खानपान संबंधी कारण (Dietary reasons)

    लो फाइबर डायट के सेवन से कब्ज और पेट दर्द का जोखिम बढ़ता है। फाइबर हेल्दी बॉवेल मूवमेंट के लिए बेहद जरूरी है क्योंकि इससे स्टूल सॉफ्ट बनता है। जिससे यह इंटेस्टाइन के माध्यम से आसानी से पास हो जाता है। इसलिए, अपने आहार में फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें। जैसे फल, सब्जियां और साबुत अनाज आदि। अगर आप अपनी ईटिंग हैबिट्स में कोई बड़ा बद लाव करते हैं, तो इससे भी बॉवेल मूवमेंट्स में बदलाव आ सकता है। इसके अलावा कॉन्स्टिपेशन और पेट में दर्द से राहत पाने के लिए पर्याप्त मंत्र में पानी पीना और लिक्विड्स लेना भी बेहद जरूरी है

    और पढ़ें: ओपिओइड इंड्यूस्ड कॉन्स्टिपेशन : ओपिओइड के कारण होने वाली कब्ज से कैसे पाएं छुटकारा

    स्ट्रेस और एंग्जायटी (Stress and anxiety)

    हमारे नर्वस सिस्टम और डायजेस्टिव सिस्टम के बीच में गहरा लिंक है। यानी, स्ट्रेस और एंग्जायटी का प्रभाव गट में मौजूद बैक्टीरिया पर पड़ता है, जिससे बॉवेल प्रॉब्लम्स हो सकती हैं। डिप्रेशन और अन्य मूड डिसऑर्डर्स के साथ अन्य लाइफस्टाइल फैक्टर्स जो स्ट्रेस का कारण बनते हैं, वो कुछ लोगों में पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) का कारण बन सकते हैं।

    पेट दर्द और कब्ज, Abdominal Pain And Constipation

    दवाइयां और सप्लीमेंट्स Medications and supplements

    कुछ दवाइयां और डायट्री सप्लीमेंट्स कॉन्स्टिपेशन का न केवल कारण बन सकते हैं बल्कि उन्हें बदतर भी बना सकते हैं। ऐसा माना जाता है कि निम्नलिखित दवाईयां इस समस्या का कारण बन सकती हैं, जैसे:

    और पढ़ें: भूख की कमी, ऊपर से कॉन्स्टिपेशन? इस बड़ी दिक्कत को करें दूर इन इजी टिप्स के साथ!

    फिजिकल एक्टिविटी में कमी (Lack of physical activity)

    यह तो जानते ही हैं कि खराब जीवनशैली पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) का कारण बन सकती है। नियमित फिजिकल एक्टिविटीज करने से भोजन को गट से गुजरने में लगने वाला समय कम हो जाता है। एक्सरसाइज करने से हार्ट रेट बढ़ती है और इसके साथ ही पूरे शरीर में मसल्स में कॉन्ट्रैक्शन भी बढ़ता है जिसमें इंटेस्टाइन भी शामिल है। जब इंस्टेस्टाइनल मसल्स कॉन्ट्रैक्ट होते हैं, तो उससे स्टूल को पुश करने में मदद मिलती है। यानी, एक्टिव रहने से यह समस्या दूर होती है।

    हेल्थ कंडिशंस (Health conditions)

    कुछ हेल्थ कंडिशंस पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) का कारण बन सकती हैं। यह हेल्थ कंडिशंस इस प्रकार हैं:

    यह तो थी पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) के कारणों के बारे में इंफॉर्मेशन। अब जानते हैं इस समस्या के ट्रीटमेंट के बारे में।

    और पढ़ें: कॉन्स्टिपेशन से हैं परेशान तो ‘स्लीप लाइक अ बेबी’ पॉलिसी को अपनाना हो सकता है आपके लिए पॉजिटिव

    पेट दर्द और कब्ज का ट्रीटमेंट (Treatment of Abdominal Pain And Constipation)

    कॉन्स्टिपेशन और पेट दर्द के अधिकतर मामले होम रेमेडीज या लाइफस्टाइल में बदलाव से सही हो जाते हैं। अगर इससे फायदा नहीं होता है, तो डॉक्टर दवाइयों की सलाह दे सकते हैं। गंभीर मामलों में सर्जरी की जरूरत भी हो सकती है। आइए जानें इन विभिन्न उपचारों के बारे में:

    लाइफस्टाइल में बदलाव (Lifestyle changes)

    जीवनशैली में कुछ बदलाव करने और होम रेमेडीज से पेट में दर्द, कॉन्स्टिपेशन और अन्य बॉवेल प्रॉब्लम्स राहत मिल सकती है। यह तरीके इस प्रकार हैं:

    • अधिक से अधिक फाइबर-रिच फूड्स को अपने आहार में शामिल करें जैसे फल, सब्जियां, साबुत अनाज आदि।
    • अधिक पानी और लिक्विड का सेवन करें और हाइड्रेटेड रहें।
    • नियमित रूप से व्यायाम करें।
    • प्रोबायोटिक सप्लीमेंट्स का सेवन करें ताकि गट में बैक्टीरिया का हेल्दी बैलेंस बना रहे
    • बॉवेल मूवमेंट के लिए जल्दबाजी न करें और पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज करें।

    और पढ़ें: पीडियाट्रिक कॉन्स्टिपेशन की कंडिशन में इन OTC फाइबर सप्लीमेंट्स की दी जा सकती है सलाह!

    दवाईयां (Medication)

    कई ओवर-द-काउंटर और प्रिसक्राइब्ड मेडिसिन कब्ज के उपचार में मददगार हैं। डॉक्टर रोगी को इन दवाईयों की सलाह दे सकते हैं। कुछ ओवर-द-काउंटर लैक्सेटिव ऑप्शंस इस प्रकार हैं:

    कब्ज के लिए प्रिस्क्राइब मेडिकेशन्स में ल्यूबीप्रोस्टोन (Lubiprostone), लिनाक्लोटाइड (Linaclotide) आदि शामिल है।

    पेट दर्द और कब्ज और सर्जरी (Surgery)

    अगर किसी स्ट्रक्चरल इशूज जैसे ब्लॉकेज या मसल्स प्रॉब्लम्स आदि के कारण कब्ज है, तो डॉक्टर उसके लिए सर्जरी की सलाह दे सकते हैं। इस सर्जरी की सलाह तब दी जाती है, जब अन्य ट्रीटमेंट से कोई फायदा नहीं होता।

    और पढ़ें: स्ट्रेस और कॉन्स्टिपेशन – बॉडी और माइंड की क्लास लगा दे!

    यह तो थी जानकारी पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) के बारे में। यह भी आप समझ गए होंगे कि यह दोनों समस्याएं एक साथ होना सामान्य है। यह समस्याएं आमतौर पर लाइफस्टाइल और डायट्री फैक्टर्स या किसी दवा के साइड इफेक्ट्स के कारण हो सकती हैं। हालांकि, कब्ज कई बार किसी अंडरलायिंग मेडिकल कंडीशन का लक्षण भी हो सकता है। ऐसे में अगर आपको पेट दर्द और कब्ज (Abdominal Pain And Constipation) की समस्या है, तो आपको अपने खानपान और स्वस्थ जीवनशैली का पालन करना चाहिए। इसके साथ ही अगर यह समस्या जल्दी ठीक न हो और दर्द बदतर हो जाए तो तुरंत मेडिकल हेल्प लें। इसके बारे में अगर आपके मन में कोई भी सवाल है तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र
    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 09/03/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड