home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी में हर्बल टी से शिशु को हो सकता है नुकसान

प्रेग्नेंसी में हर्बल टी से शिशु को हो सकता है नुकसान

प्रेग्नेंसी में महिलाओं के लिए सबसे चुनौतीपूर्ण यह समझना होता है कि उन्हें क्या खाना-पीना चाहिए और क्या नहीं। इस कश्मकश और लोगों से मिलने वाली तरह-तरह की सलाह से अक्सर प्रेग्नेंट महिलाएं कंफ्यूज्ड हो जाती हैं। ऐसे में वे जाने-अनजाने कुछ चीजों का सेवन कर लेती हैं जो उनके और उनके गर्भस्थ शिशु के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकती हैं। इन्हीं में से एक है हर्बल टी। जी हां, प्रेग्नेंसी में हर्बल टी महिला के लिए हानिकारक और लाभदायक दोनों साबित हो सकती है। बस जरूरत है तो प्रेग्नेंसी में हर्बल टी के उपयोग से जुड़ीं कुछ बातें जानने की, जो हम आपको “हैलो स्वास्थ्य” के इस लेख में बताएंगे।

गर्भावस्था के दौरान कौन-सी चाय सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी में हर्बल टी पीना सुरक्षित माना जाता है। हालांकि, इनमें भी कुछ मात्रा में कैफीन मौजूद होता है, लेकिन यह इतना कम होता है कि शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं डालता है।

और पढ़ें : गर्भावस्था के दौरान बेटनेसोल इंजेक्शन क्यों दी जाती है? जानिए इसके फायदे और साइड इफेक्ट्स

प्रेग्नेंसी में हर्बल टी से नुकसान: कौन-कौन सी हर्बल टी से हो सकता है नुकसान?

कुछ चाय ऐसी भी आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं, लेकिन इन हर्बल टी में कैफीन की मात्रा अत्यधिक होती है। निम्नलिखित चाय जिसका सेवन सोच-समझकर करना चाहिए।

1. ग्रीन टी

ग्रीन टी में कैफीन ज्यादा होता है, जिस कारण फोलेट (फोलिक एसिड) की मात्रा बॉडी में कम होने लगती है। इसका बुरा असर गर्भ में पल रहे शिशु पर पड़ता है। साथ ही इसके सेवन से शिशु के विकास पर असर पड़ता है

[mc4wp_form id=”183492″]

2. लीची टी

प्रेग्नेंसी के दौरान और बाद में भी खास कर ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान लीची टी का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे एलर्जी की संभावना ज्यादा होती है। जिन महिलाओं को सनफ्लावर या बिर्च (birch) या लेटेक्स (latex) से एलर्जी होती हैं उनमें लीची टी से भी एलर्जी हो सकती है।

और पढ़ें: ढूंढ रहे हैं डिलिवरी रूम के लिए एलर्जी फ्री फूल? ये हैं बढ़िया विकल्प

3. ऐनिस टी (सौंफ की चाय)

एक्सपर्ट के अनुसार ऐनिस टी (Anise tea) के फायदे तो होते हैं, लेकिन गर्भावस्था के दौरान इसका ज्यादा सेवन नुकसानदायक होता है। स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसके सेवन से एलर्जी का खतरा बढ़ जाता है।

4. एलोवेरा टी

एलोवेरा के तो कई फायदे होते हैं, लेकिन इसके नुकसान भी हैं। दरअसल, इसमें मौजूद लैक्सेटिव स्किन से जुड़ी समस्या शुरू हो सकता है। यही नहीं डिलिवरी के दौरान भी इससे परेशानी हो सकती है।

और पढ़ें : प्रेगनेंसी में अजवाइन खानी चाहिए या नहीं?

5. बरबेरी टी

बरबेरी टी (Barberry tea) के सेवन से डायरिया, उल्टी, कमजोरी, ब्लड प्रेशर कम होना, हार्ट रेट बढ़ना या सांस संबंधी परेशानी हो सकती है। गर्भावस्था के दौरान वैसे भी गर्भवती महिला उल्टी जैसी अन्य परेशानियों से पीड़ित होती हैं। इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

6. कैममाइल टी

कैममाइल (Chamomile tea) हर्बल टी के नुकसान को समझना बेहद जरूरी है क्योंकि इसका सेवन डायरिया और नींद न आने की स्थिति में किया जाता है। दरअसल कैममाइल के एक्सट्रेक्ट से यूट्रस पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसलिए इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में पीनट बटर खाना चाहिए या नहीं? जाने इसके फायदे व नुकसान

7. जिनसेग टी

प्रेग्नेंसी में हर्बल टी से नुकसान होता है। जिसमें जिनसेंग रिसर्च के अनुसार इसके सेवन से नींद न आना, सिरदर्द होना, स्तन में दर्द होना और यहां तक कि इसके सेवन से वजायनल ब्लीडिंग भी हो सकती है।

8. हिबिस्कस टी

हिबिस्कस टी (Hibiscus tea) के सेवन से प्रेग्नेंसी में नुकसान पहुंच सकता है। इसके सेवन से हॉर्मोन के स्तर में बहुत ज्यादा गड़बड़ी होती है, जो गर्भावस्था के लिए ठीक नहीं है।

9. कावा टी

गर्भावस्था में कावा टी (Kava tea) के सेवन से यूट्रस को नुकसान पहुंचता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार कावा टी ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान में भी नहीं पीना चाहिए।

10. लेमनग्रास टी

लेमनग्रास टी (Lemongrass tea) गर्भावस्था के दौरान पीने की सख्त मनाही होती है। इससे मिसकैरिज का खतरा बढ़ सकता है।

और पढ़ें : प्रेगनेंसी में मीठा खाने से क्या होता है? जानिए इसके नुकसान

प्रेग्नेंसी में हर्बल टी जिनका सेवन किया जा सकता है

  • नेटल टी पोषक तत्वों से भरपूर हर्बल टी है। इसमें विटामिन, कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन और मैग्नीशियम पाया जाता है। इसके सेवन से ब्रेस्ट मिल्क अच्छे से बनता है और प्रसव के बाद भी शरीर में ऊर्जा बनाए रखने में मदद मिलती है। प्रेग्नेंसी में हर्बल चाय का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • जिंजर टी के सेवन से गर्भावस्था में होने वाली मॉर्निंग सिकनेस से निपटा जा सकता है। इसके लिए अदरक के कुछ टुकड़ों को गर्म पानी में बॉइल करके इसमें शहद डालकर उपयोग कर सकती हैं।
  • रास्पबेरी की पत्ती वाली चाय आयरन, कैल्शियम और मैग्नीशियम से भरपूर होती है। इसमें मौजूद मिनरल गर्भाशय की मांसपेशियों को टोन करते हैं, जिसे प्रसव के लिए अच्छा माना जाता है। प्रेग्नेंसी में हर्बल टी (रास्पबेरी टी) का सेवन किया जा सकता है।
  • डंडेलियन के पत्तों यानी सिंहपर्णी से बनी हर्बल टी में कैल्शियम, आयरन और पोटैशियम की हाई क्वांटिटी होती है। यह गर्भावस्था के आखिरी समय में बॉडी में वॉटर रिटेंशन को रोकने में मददगार साबित हो सकती है।
  • मिंट की चाय गर्भवतियों को होने वाली बेचैनी, वॉमिट और जी-मिचलाने जैसी समस्या को कम कर सकती है। इसकी सीमित मात्रा के उपयोग से डाइजेशन से जुड़ी समस्याओं से भी निजात मिलती है।
  • लेमन बाम टी को पीने की सलाह प्रेग्नेंसी में दी जाती हैं। इसके सेवन से गर्भावस्था में होने वाली मूड संबंधी समस्याएं जैसे चिड़चिड़ापन और घबराहट में आराम मिलती है। इसके साथ ही लेमन बाम टी अनिद्रा की समस्या को भी दूर करने में हेल्पफुल मानी जाती है ।

गर्भावस्था के दौरान आपको कितनी चाय पीनी चाहिए?

प्रेग्नेंसी के दौरान सीमित मात्रा में चाय पीना ठीक है। एक गर्भवती महिला हर दिन 200 मिलीग्राम से कम ही कैफीन ले सकती हैं। गर्भावस्था में चाय का सेवन करते समय ध्यान रखें कि ज्यादा मात्रा में कैफीन का सेवन मिसकैरिज का खतरा बढ़ा सकता है।

ऊपर दी गई सभी टी औषधीय गुण से भरपूर है, लेकिन इन औषधीय और आयुर्वेदिक हर्बल टी से नुकसान भी गर्भवस्था के दौरान हो सकता है। इसलिए इसका सेवन न ही करें तो बेहतर होगा।

बेशक, गर्म-गर्म चाय की प्याली आपको बेहद पसंद होगी, लेकिन गर्भधारण करने के बाद आपको चाय को लेकर सावधानियां बरतने की जरूरत है। प्रेग्नेंसी में हर्बल टी कौन सी सुरक्षित और कौन सी असुरक्षित हैं। हम इस लेख में आपको बता चुके हैं। इसके अलावा, अगर प्रेग्नेंसी में हर्बल टी से संबंधित कोई भी सवाल आपके मन में है, तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमसे जुड़ सकते हैं। साथ ही किसी भी चीज को उपयोग में लाने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Caffeine Content Of Popular Drinks. https://www.math.utah.edu/~yplee/fun/caffeine.html. Accessed on 22 /10/2019

Maternal Tea Consumption during Early Pregnancy and the Risk of Spina Bifida. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4557736/. Accessed on 22 /10/2019

Caffeine Intake During Pregnancy and Neonatal Anthropometric Parameters. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6520888/. Accessed on 22 /10/2019

Herbs to Avoid During Pregnancy. https://www.utep.edu/herbal-safety/populations/herbs-to-avoid-during-pregnancy.html. Accessed on 22 /10/2019

Caffeine Intake and the Risk of First-Trimester Spontaneous Abortion. https://www.nejm.org/doi/full/10.1056/NEJM200012213432503. Accessed on 22 /10/2019

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 31/07/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड