आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप (Pregnancy and Healthy relationships): जानिए प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप को हेल्दी बनाने के लिए 5 बातें!

    प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप (Pregnancy and Healthy relationships): जानिए प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप को हेल्दी बनाने के लिए 5 बातें!

    कहते हैं किसी भी कपल के लिए प्रेग्नेंसी लाइफ की बेस्ट मोमेंट होती है जब बेबी के आने से पहले वो एकदूसरे के साथ शेयर करते हैं। कुछ लोगों का तो ये भी मानना है कि प्रेग्नेंसी और बेबी डिलिवरी कपल के बीच बॉन्डिंग को स्ट्रॉन्ग बनाने का काम करती है। इसलिए इस आर्टिकल में कपल के लाइफ की बेस्ट मोमेंट के लिए प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप (Pregnancy and Healthy relationships) के बारे में समझेंगे। प्रेग्नेंसी और रिलेशनशिप (Pregnancy and Relationship) दोनों को समझना जरूरी है।

    और पढ़ें : एमनियॉटिक फ्लूइड क्या है? गर्भ में पल रहे शिशु के लिए के लिए ये कितना जरूरी है?

    ऑस्ट्रेलिया के दि नेट (एचओएन) फाउंडेशन (The Net (HON) foundation) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार प्रेग्नेंसी की वजह से रिलेशनशिप में बहुत बड़ा बदलाव आता है वो भी खासकर अगर पहली प्रेग्नेंसी हो। कुछ कपल इस पीरियड को बड़े ही आसानी से और इस बदलाव में ढ़ल जाते हैं, तो कुछ कपल में ऐसा नहीं हो पाता है। प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप (Pregnancy and Healthy relationships) के लिए मेल पार्टनर को थोड़ा ज्यादा ध्यान रखना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि गर्भवती महिलाओं में प्रेग्नेंसी के दौरान कई सारे शारीरिक बदलाव से गुजरती हैं, जिसकी वजह से उनका चिड़चिड़ा होना सामान्य है। इसलिए अगर कपल की आपसी अंडरस्टैंडिंग अच्छी हो तो प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप (Relationship during Pregnancy) को और ज्यादा बेहतर और स्ट्रॉन्ग बनाया जा सकता है।

    और पढ़ें : Postpartum Fitness: नई मां के लिए पोस्टपार्टम फिटनेस टिप्स फोलो करना है जरूरी!

    • प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप के लिए क्या करें?
    • प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप में परेशानी क्यों आ सकती है?
    • क्यों कुछ महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान चिड़चिड़ी हो जाती हैं?

    चलिए अब प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप (Relationship during Pregnancy) से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

    और पढ़ें : गर्भावस्था के दौरान बेटनेसोल इंजेक्शन क्यों दी जाती है? जानिए इसके फायदे और साइड इफेक्ट्स

    प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप के लिए क्या करें? (Tips for Pregnancy and Healthy relationships)

    प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप (Pregnancy and Healthy relationships)

    प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप के लिए निम्नलिखित टिप्स फॉलो किये जा सकते हैं। जैसे:

    1. स्पॉन्टेनियस रहें (Be spontaneous)- प्रेग्नेंसी के दौरान इंटीमेसी को बरकरार रखने के लिए एक-दूसरे को सरप्राइज करना ना भूलें। इसके लिए कपल को कुछ ज्यादा करने की जरूरत नहीं होती है सिर्फ एक दूसरे के स्पर्श (Touch), फ्लर्ट (Flurt) और किस (Kiss) करने से भी प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप (Relationship during Pregnancy) को हेल्दी बनाये रखा जा सकता है।
    2. बात करें (Chat up)- हर रिलेशन की तरह प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप के लिए भी एक दूसरे से बात करना जरूरी है। यहां बात करने का अर्थ ये है की हस्बैंड को अपनी वाईफ से डेली एक्टिविटी या घर के काम काज या अगर वाईफ वर्किंग हैं, तो इनसभी विषयों पर बात करें कि वो कैसे मैनेज कर रहीं हैं उन्हें किसी तरह की प्रॉब्लेम हो रही है या आप उनकी मदद कैसे कर सकते हैं। वहीं प्रेग्नेंट लेडी को भी अपनी पर्स्नल एवं प्रोफेशनल बातों को शेयर करना चाहिए। अगर एक दूसरे से बात करेंगे तो किसी भी परेशानी को सॉल्व किया जा सकता है।
    3. घूमने जाएं (Plan trip)- प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप (Pregnancy and Healthy relationships) के लिए एक दूसरे के साथ वक्त बिताना जरूरी है। इसलिए टाइम निकालकर कहीं घूमने जरूर जाएं और एक दूसरे के साथ क्वॉलिटी टाइम जरूर बिताएं। वैसे प्रेग्नेंसी के दौरान अगर आप ट्रेवल पर जाने की प्लानिंग कर रहें हैं, तो सबसे पहले अपने गायनोकोलॉजिस्ट से सलाह लें, क्योंकि कुछ केसेस में गर्भवती महिला को ज्यादा रेस्ट की जरूरत होती है या ट्रेन, रोड या फ्लाइट से सफर करने के पहले डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए।
    4. डेट पर जायें (Plan for Date)- प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप (Pregnancy and Healthy relationships) के लिए रोमांटिक डेट पर जाना ना भूलें। ऐसे में लंच, डिनर या मूवी की वजह से आप दोनों एक दूसरे के साथ वक्त बिता सकेंगे।
    5. पसंद का रखें ख्याल (Take care of choice)- प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप के लिए एक दूसरे के पसंद का ख्याल जरूर रखें। पसंद में बड़ी सारी चीजें आती हैं जैसे आपकी वाईफ को क्या खाना पसंद है, किन लोगों से मिलना पसंद है या फिर आप खुद भी अपने आपको स्मार्ट बनायें रखें, जिससे उन्हें खुशी होगी कि आप कितने अच्छे से इनसभी चीजों को बैलेंस कर रहें हैं।

    प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप (Relationship during Pregnancy) को हेल्दी बनाये रखने के लिए इन पांच टिप्स को फॉलो किया जा सकता है।

    नोट: बनने वाली मां के लिए इमोशनल सपोर्ट मिलना उतना ही जरूरी है जितना प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती महिला की डायट और देखभाल। इसलिए इसकी जिम्मेदारी हस्बैंड पर होती है कि वो कैसे अपनी लाइफपार्टनर को इमोशनली स्ट्रॉन्ग बनाते हैं।

    और पढ़ें : Low Amniotic Fluid During Pregnancy: प्रेग्नेंसी में एमनियॉटिक फ्लूइड कम होना क्या दर्शाता है?

    प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप: प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप (Relationship during Pregnancy) में परेशानी क्यों आ सकती है?

    प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप (Pregnancy and Healthy relationships)

    प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप में परेशानी की कई वजह हो सकती हैं जैसे गर्भवती महिला का डिप्रेशन (Depression) या एंजाइटी (Anxiety) जैसी समस्या होना, कपल का फाइनेंशियली स्ट्रॉन्ग नहीं होना, आने वाले बच्चे के लिए तैयार ना होना या फिर कपल में आपसी अंडरस्टैंडिंग ना होना। ऐसी स्थिति प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप (Relationship during Pregnancy) पर नेगेटिव इम्पैक्ट डाल सकती है। इसलिए अगर अगर फेमली को आगे बढ़ाने के लिए कपल कुछ वक्त लेना चाहते हैं तो इसमें कोई बुराई नहीं है और यही कारण है कि कुछ कपल या आजकल की बदलती लाइफस्टाइल में कपल प्रग्नेंसी प्लानिंग (Pregnancy planning)पर ज्यादा ध्यान भी दे रहें हैं।

    और पढ़ें : hCG Levels and Twins: जानिए hCG लेवल और ट्विंस प्रेग्नेंसी से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी!

    प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप: क्यों कुछ महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान चिड़चिड़ी हो जाती हैं?

    प्रेग्नेंसी के दौरान बॉडी में कई तरह के हॉर्मोनल चेंजेस (Hormonal changes) होते हैं और इन हॉर्मोनल चेंजेस की वजह से मूड स्विंग होना या चिड़चिड़ा स्वभाव होना सामान्य है। हालांकि कुछ कपल्स के लिए यह इतना आसान नहीं होता है और हस्बैंड इस सिचुएशन को हैंडल नहीं कर पाते हैं। वैसे ये कॉमन अंडरस्टैंडिंग है और इसका रिलेशनशिप पर बुरा प्रभाव नहीं पड़ना चाहिए।

    नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप (Pregnancy and Healthy relationships) या प्रेग्नेंसी के दौरान बर्थ पार्टनर परफेक्ट होने से डिलिवरी के दौरान परेशानी कम महसूस हो सकती है। इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान हेल्दी रिलेशनशिप (Relationship during Pregnancy) बेहद जरूरी है। वहीं अगर हस्बैंड के लिए यह डिफिकल्ट हो रहा है कि गर्भावस्था के दौरान आपको वाइफ का सपोर्ट कैसे करना चाहिए, तो इस बारे में एक्सपर्ट से एडवाइस भी ले सकते हैं।

    और पढ़ें: प्रीनेटल स्क्रीनिंग टेस्ट से गर्भ में ही मिल जाती है शिशु के बीमारी की जानकारी

    इस आर्टिकल में हमनें आपके साथ प्रेग्नेंसी और रिलेशनशिप (Pregnancy and Relationship) की जानकारी शेयर की है। इसलिए अगर आप प्रेग्नेंसी और रिलेशनशिप (Pregnancy and Relationship) से जुड़े किसी तरह के सवालों का जवाब जानना चाहते हैं, तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हैलो स्वास्थ्य के हेल्थ एक्सपर्ट आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द देनी की पूरी कोशिश करेंगे। वहीं प्रेग्नेंसी के दौरान अगर कोई परेशानी महसूस होती है, तो बिना देर किये जल्द से जल्द डॉक्टर से कंसल्ट करें।

    प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती महिला अपना ख्याल तो रखती हैं, लेकिन प्रेग्नेंसी के बाद भी गर्भवती महिला को अपने विशेष ख्याल रखना चाहिए। इसलिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें और एक्पर्ट से जानें न्यू मदर के लिए खास टिप्स यहां।

    health-tool-icon

    ड्यू डेट कैलक्युलेटर

    अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

    सायकल लेंथ

    28 दिन

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Feelings, relationships and pregnancy/https://www.pregnancybirthbaby.org.au/feelings-relationships-and-pregnancy/Accessed on 24/05/2022

    Parenthood and your relationship/https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/parenthood-and-your-relationship/Accessed on 24/05/2022

    The Quality of Family Relationships and Maternal Health Care Use in India/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4845731/Accessed on 24/05/2022

    Preconception health/https://www.womenshealth.gov/pregnancy/you-get-pregnant/preconception-health/Accessed on 24/05/2022

    Pregnancy and Nutrition/https://medlineplus.gov/pregnancyandnutrition.html/Accessed on 24/05/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: