स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे नहीं जानते होंगे आप

    स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे नहीं जानते होंगे आप

    कपूर का तेल एरोमेटिक है और यह स्किन में एब्जॉर्ब हो जाता है। यह कई प्रकार के फायदे प्रदान कर सकता है जिसमें दर्द और खुजली से राहत प्रदान करना प्रमुख है। कपूर का तेल कपूर की लड़की से निकाला जाता है। जिसकी खुशबू बहुत तेज होती है। इसे तारपेटीन (Turpentine) से भी संश्लेषित किया जा सकता है। स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे (Benefits of camphor oil for skin) कई हैं। जिनके बारे में आपको शायद पता नहीं होगा। इस आर्टिकल में इनके बारे में बताया जा रहा है। साथ ही इसके रिस्क और कपूर के तेल के प्रकार के बारे में जानकारी दी जा रही है।

    कपूर का तेल (Camphor oil)

    कपूर के तेल के चार ग्रेड्स और कलर होते हैं:

    • सफेद: यह चिकित्सीय अनुप्रयोगों में उपयोग किया जाने वाला एकमात्र प्रकार है। नाम से अलग, यह तरल रूप में स्पष्ट या बहुत कम दूधिया होता है।
    • भूरा और पीला: दोनों टॉक्सिक हैं।
    • नीला: यह भी एक टॉक्सिक कलर ग्रेड है।

    व्यक्ति को केवल उस कपूर के तेल का उपयोग करना चाहिए जो स्पष्ट या बहुत पीला हो।

    और पढ़ें: Rare Skin Diseases: कौन सी हैं रेयर स्किन डिजीज, जानें

    कपूर का तेल किसके लिए प्रयोग किया जाता है?

    कपूर के तेल के कई प्रकार के उपयोग होते हैं। इसमें एंटी इंफ्लामेटरी गुण (Anti-inflammatory properties) होते हैं और यह बाम, वेपर रब्स, लिनिमेंट्स (Liniments) में उपयोग होता है। कई लोग इसे खुजली, दर्द से राहत प्राप्त करने के लिए उपयोग करते हैं। यह इंफ्लामेटरी कंडिशन जैसे कि चेस्ट कंजेशन आदि में राहत प्रदान करता है।

    स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे (Camphor Oil Benefits for Skin)

    कपूर में एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज के चलते यह स्किन से संबंधित परेशानियों से राहत प्रदान करने में मदद करता है। इसमें हीलिंग एजेंट भी पाए जाते हैं। घाव भरने में सहायता के लिए कपूर त्वचीय फाइब्रोब्लास्ट (Fibroblasts) में कोलेजन (Collagen) और इलास्टिन उत्पादन (Elastin production) को बढ़ा सकता है। यह कई सौंदर्य प्रसाधनों में एक प्रभावी एंटी रिंकल इंग्रीडिएंट भी है। हालांकि, मनुष्यों पर कपूर के इस लाभ को समझने के लिए और अधिक शोध की आवश्यकता है। स्किन के लिए कपूर के फायदे निम्न प्रकार हैं।

    स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे: बर्न से राहत प्रदान करें (May Soothe Burns)

    कपूर का उपयोग मामूली जलन के उपचार के रूप में किया जा सकता है। इसका उपयोग जले हुए निशान को हटाने के लिए भी किया जा सकता है। चूहों पर किए गए एक अध्ययन में, यह देखा गया कि कपूर, तिल का तेल और शहद युक्त हर्बल मरहम बर्न के हीलिंग टाइम को कम करता है पानी में थोड़ा सा कपूर घोलकर जले पर लगाएं। ऐसा रोज किया जाना चाहिए जब तक कि निशान गायब न हो जाए।

    और पढ़ें: मुंह के आसपास रूखी त्वचा को कैसे ठीक करें?

    स्किन के लिए कपूर के फायदे: मुंहासे का उपचार (Acne treatment)

    कपूर में मुंहासों का इलाज करने की क्षमता होती है। ऐसा कहा जाता है कि यह बालों के रोम और सीबम ग्लैंड्स की सूजन के कारण होने वाले दर्द और सूजन को कम करता है। कपूर में बायोएक्टिव कंपाउंड मुंहासे के उपचार में प्रभावी माने जाते हैं।

    स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे: एक्जिमा (Eczema) के उपचार में कर सकते हैं मदद

    कपूर का उपयोग एक्जिमा के राहत दिलाने में भी किया जाता है। साथ ही यह खुजली को कम करने में भी मदद करता है। एक्जिमा होने पर कपूर का तेल सूजन और खुजली को दूर सकता है।

    स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे: नेल फंगस (Nail fungus) को रोकने में मददगार

    पैर की उंगलियों में फंगस दर्दनाक और परेशान करने वाला हो सकता है, लेकिन कपूर के कपूर के पेस्ट का उपयोग करने से इसके विकास को रोकने में मदद मिल सकती है। कपूर अपने एंटीसेप्टिक और एंटीफंगल गुणों के कारण नेल फंगस के इलाज में प्रभावी पाया जाता है।

    और पढ़ें: हाथों और पैरों की फटी हुई त्वचा को ना समझें मामूली समस्या, गंभीर बीमारी का हो सकता है संकेत

    स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे: फटी एड़ियों (Cracked heels) के इलाज में फायदेमंद

    वास्तविक साक्ष्य बताते हैं कि कपूर आपकी फटी एड़ियों को नरम कर सकता है। हालांकि, इसे साबित करने के लिए कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। फटी एड़ियों से राहत पाने के लिए आपको अपने पैरों को कपूर और पानी के घोल में भिगोकर पैरों को स्क्रब करना होगा। इसके बाद आप उन पर मॉश्चराइजर या पेट्रोलियम जेली लगा सकते हैं। यह आपकी त्वचा को नम रखेगा और दरारों को होने से रोकेगा।

    स्किन रैशेज (Skin rashes) को ठीक करने में मदद करता है

    कपूर में कुछ एंटी इंफ्लामेटरी कंपाउंड होते हैं जो चकत्ते से राहत प्रदान करने में मदद कर सकते हैं। यह अत्यधिक गर्मी और पसीने के कारण होने वाले चकत्ते के लिए विशेष रूप से अच्छा माना जाता है। कपूर, जब पानी में घुल जाता है और जब चकत्ते पर लगाया जाता है, तो कुछ दिनों के बार-बार उपयोग के बाद उन्हें गायब करने का दावा किया जाता है।

    स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे: फंगल (Fungal) और बैक्टीरियल संक्रमण (Bacterial infection) के इलाज में फायदेमंद

    ठंडे और शांत प्रॉपर्टीज वाले कपूर का उपयोग कई त्वचा मलहमों में किया जाता है जिनका उपयोग फंगल और जीवाणु संक्रमण की एक पूरी श्रृंखला के इलाज के लिए किया जाता है। कपूर के एंटीफंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण ने इसे कॉस्मेटिक उद्योग में एक आवश्यक घटक बना दिया है।

    स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे (Benefits of camphor oil for skin) तो आपने जान लीजिए अब इसके अन्य फायदों के बारे में भी जान लेते हैं।

    सिरदर्द (Headaches) में उपयोगी

    सिरदर्द को कम करने के लिए कपूर के तेल के उपयोग पर शोध जारी है। कपूर का एसेंशियल ऑयल माइग्रेन सिरदर्द सहित अन्य सिरदर्द के इलाज में मदद कर सकता है। शांत वातावरण में योगदान देने वाले भी नींद को बढ़ावा दे सकते हैं। चूहों में 2019 के एक अध्ययन ने माइग्रेन पर दालचीनी कपूर के प्रभाव की जांच की। यह पाया गया कि एसेंशियल ऑयल दर्द को दबा सकता है और न्यूरोजेनिक सूजन को कमजोर कर सकता है।

    और पढ़ें: पॉकमार्क्स यानी त्वचा पर छेद या गढ्ढे होना: जानिए इसके कारण और उपाय

    कफ और कंजेशन (Cough and congestion) में राहत

    कूपर का तेल रेस्पिरेटरी कंजेशन से राहत प्रदान करने में मदद करता है। इसमें एंटीट्यूसिव प्रॉपर्टीज होती हैं जो बच्चों और व्यस्कों में खांसी को कम करने में मदद कर सकती हैं। इसलिए यह काउंटर पर बेचे जाने वाले चेस्ट रब्स का प्रमुख घटक है।

    बालों (Hairs) के लिए फायदेमंद

    जब कपूर के तेल को कुछ आवश्यक तेलों के साथ मिलाया जाता है, तो यह बालों के विकास को बढ़ावा दे सकता है। आप एक रेगुलर तेल जैसे नारियल या जैतून के साथ कपूर का तेल भी मिला सकते हैं और इसे अपने स्कैल्प पर लगा सकते हैं। यह रक्त परिसंचरण को प्रोत्साहित करने और बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए प्रभावी माना जाता है। हालांकि, इसे साबित करने के लिए कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है।

    ये ना भूलें

    कपूर का तेल हानिकारक हो सकता है, और सावधानी से उपयोग के लिए निर्देशों का पालन करना महत्वपूर्ण है। यदि कोई व्यक्ति इसे मौखिक रूप से लेता है, तो इससे मुंह और गले में जलन, उल्टी और मतली हो सकती है। साथ ही, कपूर का तेल कभी-कभी त्वचा में लालिमा और जलन पैदा कर सकता है। निम्न कंडिशन में कपूर युक्त उत्पादों को लगाने से बचना चाहिए

    • घावों पर
    • छिली या क्षतिग्रस्त त्वचा पर
    • आंखों या आसपास की त्वचा पर
    • सावधानी से उपयोग के लिए निर्देशों का पालन करना हमेशा महत्वपूर्ण होता है। इसके अलावा, शिशु पर कपूर युक्त किसी भी उत्पाद का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।

    उम्मीद करते हैं कि आपको स्किन के लिए कपूर के तेल के फायदे (Benefits of camphor oil for skin) और इससे संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 15/03/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड