home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Amlodipine: एम्लोडीपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|इंटरैक्शन
Amlodipine: एम्लोडीपिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

एम्लोडीपिन ड्रग (Amlodipine) का इस्तेमाल किसलिए होता है?

एम्लोडीपिन ड्रग का इस्तेमाल हाई ब्लड प्रेशर का इलाज करने के लिए होता है। यह हाई ब्लड प्रेशर को कम करके स्ट्रोक, हार्ट अटैक और गुर्दे की समस्याओं को रोकती है। एम्लोडीपिन कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स दवाइयों के परिवार से संबंध रखती है। यह रक्त वाहिकाओं को आराम पहुंचाती है, जिससे रक्त प्रवाह में आसानी होती है। इसके अतिरिक्त, एम्लोडीपिन का इस्तेमाल सीने के दर्द (एंजाइना) को रोकने के लिए भी होता है। यह एक्सरसाइज करने की क्षमता को बढ़ा देती है और एजिना अटैक की फ्रीक्वेंसी को कम कर देती है। हालांकि, सीने में दर्द उठने पर इसका इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। साथ ही इसका इसका इस्तेमाल अन्य कोरनरी आर्ट्रीज डिजीज के इलाज में होता है।

एम्लोडीपिन ड्रग (Amlodipine) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

डॉक्टर की सलाह या दवा के पैकेज पर छपे दिशा निर्देशों के अनुसार एम्लोडीपिन का सेवन करें। जरूरत पड़ने पर डॉक्टर समय-समय पर आपके डोज में बदलाव कर सकता है, जिससे आपको इस दवा का अधिकतम फायदा मिल सके। डॉक्टर द्वारा सुझाई गई खुराक से कम मात्रा में इसका डोज न लें या लंबी अवधि तक इसका सेवन न करें। आप एम्लोडीपिन ड्रग का सेवन भोजन या खाली पेट कर सकते हैं। रोजाना समान समय पर इस दवा का सेवन करें। इसके सेवन के दौरान बीच-बीच में आपके ब्लड प्रेशर की जांच करने की जरूरत पड़ सकती है। एंजाइना होने पर तुरंत इस दवा का इस्तेमाल न करें, बल्कि इसकी जगह पर अन्य दवाइयों का उपयोग करें। यदि तय समय में आपको इससे फायदा नहीं मिलता है या आपकी हालत और गंभीर हो जाती है, तो इसकी सूचना अपने डॉक्टर को तुरंत दें।

एम्लोडीपिन ड्रग (Amlodipine) को कैसे स्टोर करना चाहिए?

एम्लोडीपिन ड्रग को स्टोर करने का सबसे बेहतर तरीका है इसे कमरे के तापमान पर रखना। इसे सूर्य की सीधी किरणों और नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए आपको एम्लोडीपिन को बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना है। एम्लोडीपिन के अलग-अलग ब्रांड्स को अलग तरीकों से स्टोर किया जाता है। इसे रखने से पहले सबसे बेहतर होगा कि आप दवा के पैकेज पर छपे निर्देशों को पढ़ लें या फार्मासिस्ट से पूछें। सुरक्षा की दृष्टि से सभी दवाइयों को अपने बच्चों और पेट्स से दूर रखें। जब तक कहा न जाए, तब तक सुरक्षा की दृष्टि से आपको एम्लोडीपिन को टॉयलेट या नाली में नहीं बहाना है। आवश्यकता न रहने या एक्सपायरी की स्थिति में दवा का समुचित तरीके से निस्तारण जरूरी है। सुरक्षित तरीके से इसका निस्तारण करने के लिए अपने फार्मासिस्ट से सलाह लें।

सावधानियां और चेतावनी

एम्लोडीपिन ड्रग (Amlodipine) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

निम्नलिखित स्थितियों में एम्लोडीपिन ड्रग का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह लें:

  • यदि आपको कंजेस्टिव हार्ट फेलियर या लिवर की समस्या है।
  • यदि आपके हाई ब्लड प्रेशर का इलाज किया गया हो या आप ठीक होने के बाद भी इस दवा का इस्तेमाल कर रहे हों। कई बार हाई ब्लड प्रेशर के कोई लक्षण नजर नहीं आते हैं।
  • उन सभी दवाइयों के बारे में अपने डॉक्टर को बताएं, जिनका सेवन आप ब्लड प्रेशर या हार्ट की अन्य समस्याओं के इलाज में कर रहे हैं।

एम्लोडीपिन ड्रग (Amlodipine) को प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी के दौरान एम्लोडीपिन ड्रग का सेवन सुरक्षित है या नहीं, इस संबंध में विश्वसनीय और पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। यदि आप प्रेग्नेंट हैं या गर्भधारण की योजना बना रही हैं तो इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर को इसकी सूचना अवश्य दें।

ब्रेस्टफीडिंग के दौरान एम्लोडीपिन मां के दूध से शिशु की बॉडी में प्रवेश कर सकती है, लेकिन इस स्थिति में बच्चे पर इसका क्या असर पड़ेगा, इसकी विस्तृत जानकारी उपलब्ध नहीं है। यदि आप शिशु को स्तनपान करा रही हैं, तो इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। दूसरी तरफ, छह साल से कम उम्र के बच्चों में इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

और पढ़ें : Calcimax Forte: कैल्सिमैक्स फोर्ट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

साइड इफेक्ट्स

एम्लोडीपिन ड्रग (Amlodipine) के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

एम्लोडीपीन ड्रग से आपको निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:

सामान्य साइड इफेक्ट्स

  • पैरों और टखनों में सूजन

कम सामान्य साइड इफेक्ट्स

  • सांस लेने में परेशानी
  • चक्कर आना
  • तेज, असामान्य, या हार्टबीट का तेजी से धड़ना या पल्स में गर्माहट का अहसास
  • चेहरे, नाक, बाजुओं और अक्सर अपर चेस्ट पर लालिमा पड़ना
  • सांस में कमी
  • सीने का सख्त होना
  • घरघराहट

दुर्लभ साइड इफेक्ट्स

हालांकि, हर व्यक्ति उपरोक्त साइड इफेक्ट्स का अनुभव नहीं होता है। इन साइड इफेक्ट्स के अलावा भी एम्लोडीपिन के कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं, जिन्हें ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है। यदि आप इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह लें।

और पढ़ें : D Cold Total: डी कोल्ड टोटल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

इंटरैक्शन

एम्लोडीपिन ड्रग (Amlodipine) के साथ कौन सी दवाइयां रिएक्शन कर सकती हैं?

एम्लोडीपिन ड्रग के साथ किसी अन्य दवा का रिएक्शन होने से दवा के कार्य करने का तरीका बदल सकता है या गंभीर साइड इफेक्ट्स की संभावना बढ़ सकती है। अन्य दवाइयों से इसके रिएक्शन के खतरे को कम करने के लिए उन सभी दवाइयों की एक लिस्ट बनाएं, जिनका आप इस्तेमाल कर रहे हैं। इस लिस्ट में डॉक्टर की लिखी गई और बिना प्रिस्क्रिप्शन के मार्केट में उपलब्ध हर्बल प्रोडक्ट और दवाइयां भी शामिल हैं। बिना डॉक्टर की मंजूरी के डोज में बदलाव या दवा का इस्तेमाल बंद न करें।

कुछ प्रोडक्ट्स में ऐसे पदार्थ होते हैं, जो आपके ब्लड प्रेशर को बढ़ा देते हैं। ऐसे में एम्लोडीपिन के साथ इन दवाइयों का सेवन खतरनाक हो सकता है। विशेषकर ओवर-दि-काउंटर प्रोडक्ट्स, डायट एड्स या नॉन-स्टेरॉयडल एंटी-इंफ्लमेटरी दवाइयां जैसे नेप्रोक्सेन इसके साथ रिएक्शन कर सकती हैं। इसके अलावा, एस्पिरिन, मेटोप्रोलोल (metoprolol), सिमवेस्टेटिन (simvastatin), व्याग्रा (सिल्डेनाफिल) (Viagra (sildenafil)), एंटीफंगल मेडिकेशन (ketoconazole), cyclosporine, हार्ट की दवाई (diltiazem) के साथ एम्लोडीपिन का इस्तेमाल करने से आपको रिएक्शन हो सकता है।

क्या एल्कोहॉल के साथ एम्लोडीपिन (Amlodipine) का इस्तेमाल सुरक्षित है?

जैसा कि पहले ही बता दिया गया है कि एम्लोडीपिन हाई ब्लड प्रेशर को कम करती है। ऐसे में एल्कोहॉल के साथ इसका सेवन करने से आपका ब्लड प्रेशर और कम हो सकता है। इससे एम्लोडीपिन के गंभीर साइड इफेक्ट्स होने की संभावना बढ़ सकती है।

एम्लोडीपिन (Amlodipine) का हेल्थ पर क्या असर पड़ सकता है?

एम्लोडीपिन आपकी मौजूदा हेल्थ पर असर डाल सकती है या दवा के कार्य करने का तरीका परिवर्तित हो सकता है। शुरुआत में एम्लोडीपिन का सेवन करने या डोज में इजाफा करने से आपके सीने के दर्द और गंभीर रूप धारण कर सकता है। यदि आपको दर्द में राहत नहीं मिलती है या यह और गंभीर हो जाता है, तो तुरंत अपने डॉक्टर को सूचित करें। यदि आपको कोरोनरी आर्ट्रीज, हाइपोटेंशन और लिवर की बीमारी है तो इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें।

और पढ़ें : Carbidopa+Levodopa: कार्बिडोपा+लेवोडोपा क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

एम्लोडीपिन ड्रग (Amlodipine) का अडल्ट्स के लिए सामान्य डोज क्या है?

हाइपरटेंशन में अडल्ट्स के लिए डोज

  • शुरुआती डोज: 5 mg मौखिक रूप से दिन में एक बार
  • मेंटेनेंस डोज: 5-10 mg मौकिक रूप से दिन में एक बार
  • मैक्सिमम डोज: 10 mg प्रतिदिन

एंजाइना पेक्टोरिस (Angina Pectoris)

  • मेंटेनेंस डोज: 5-10 mg मौखिक रूप से दिन में एक बार
  • मैक्सिमम डोज: 10 mg प्रतिदिन

कोरोनरी आर्ट्रीज डीजेज

  • मेंटेनेंस डोज: 5-10 mg मौखिक रूप से दिन में एक बार
  • मैक्सिमम डोज: 10 mg प्रतिदिन

बुजुर्गों के लिए हाइपरटेंशन में सामान्य डोज

  • शुरुआती डोज: 2.5 mg प्रतिदिन मौखिक रूप से
  • मेंटेनेंस डोज: 2.5 से 10 mg मौखिक रूप से प्रतिदिन
  • मैक्सिमम डोज: 10 mg प्रतिदिन

एंजिना (Angina) में बुजुर्गों के लिए डोज

  • शुरुआती डोज: 5 mg मौखिक रूप से प्रतिदिन
  • मेंटेनेंस डोज: 5-10 mg मौखिक रूप से प्रतिदिन
  • मैक्सिमम: 10 mg प्रतिदिन

6-17 वर्ष के बच्चों में हाइपरटेंशन का सामान्य डोज

  • मेंटेनेंस डोज: 2.5-5 mg मौखिक रूप से
  • मैक्सिमम डोज: 5 mg प्रतिदिन

हालांकि, हर व्यक्ति के मामले में एम्लोडीपिन का डोज अलग-अलग हो सकता है। जो डोज आप ले रहे हैं वो आपकी उम्र, मेडिकल कंडिशन और अन्य कारणों पर निर्भर करता है। जरूरी नहीं की हर व्यक्ति को समान डोज लेने की सलाह दी जाए।

और पढ़ें :Chlorzoxazone : क्लोरजोक्सॉन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स सावधानियां

ओवरडोज या आपात स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

आपात या ओवरडोज की स्थिति में तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर या आपातकालीन सेवा से संपर्क करें।

एम्लोडीपिन (Amlodipine) का डोज मिस हो जाए तो क्या करूं?

एम्लोडीपिन का डोज मिस हो जाता है तो जल्द से जल्द इसे लें। हालांकि, यदि आपका अगली खुराक का समय नजदीक आ गया है, तो भूले हुए डोज को न खाएं। पहले से तय नियमित डोज को लें। एक बार में दो खुराक न खाएं।

उपरोक्त दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। अगर आपको किसी प्रकार की समस्या है तो डॉक्टर से जांच कराने के बाद ही दवा का सेवन करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Sunil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 13/07/2020 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x