सर्दी-खांसी को दूर भगाएंगे ये 8 आसान घरेलू नुस्खे

Medically reviewed by | By

Update Date जून 26, 2020 . 2 mins read
Share now

भारत में वर्षों से सर्दी-खांसी का इलाज करने के लिए घरेलु उपाय किये जाते हैं। सर्दी खांसी का इलाज करने के साथ-साथ इन घरेलु नुस्खों का किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नहीं होता। इन घरेलु उपचारों का इस्तेमाल करके आप दवाई लिए बिना सर्दी खांसी से छुटकारा पा सकते हैं। 

यह भी पढ़ें : Mangosteen : मैंगोस्टीन क्या है?

क्या है घरेलू उपाय जो अपनाने चाहिए? 

1. अदरक वाली चाय

अदरक की चाय सिर्फ स्वाद में ही अच्छी नहीं होती बल्कि, सर्दी-ज़ुकाम के इलाज में प्रभावी तौर पर मदद करती है। अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। यह बहती नाक को अंदर से सुखाने में मदद करती है और सांस की नाली से बलग़म निकालने में भी मदद करती है। सर्दी-खांसी से राहत दिलाना अदरक के बेशुमार फायदों में से एक है।

2. नींबू, दालचीनी और शहद का सिरप

अगर आप को सर्दी और खांसी है तो नींबू, दालचीनी और शहद के मिश्रण से आप घर बैठे दवा तैयार कर सकते हैं। सिरप बनाने के लिए आधा चमच शहद लें उसमे कुछ बूंद नींबू का रस और एक चुटकी दालचीनी पाउडर मिला लें। दालचीनी के एंटी-बैक्टीरियल गुण रक्त प्रवाह को सुव्यवस्थित करते हैं। यह बीमारी से लड़ने के लिए रक्त में ऑक्सीजन के स्तर में सुधार करता है। सर्दी खांसी को जड़ से खत्म करने के लिए हर रोज दिन में 2 बार यह सिरप लें। नींबू विटामिन सी से भरा होता है, जिसे शरीर की प्राकृतिक सुरक्षा का समर्थन करने के लिए जाना जाता है।

3. गुनगुना पानी

गरम पानी के फायदे तो हर किसी को मालूम हैं । थोड़ी-थोड़ी देर पर गुनगुना पानी पिएं जिससे सर्दी, खांसी और गले कि सूजन में आराम मिलेगा।

4. हल्दी-दूध

हल्दी, हर घर में पाई जाने वाली खाघ पदार्थ है। हल्दी में कई गुण हैं। इस में भरी मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट्स मौजूद होते हैं, जो कई प्रकार की बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। हलके गर्म दूध में हल्दी मिला कर पीने से सर्दी खांसी में कमी आती है। हल्दी के एंटी वायरल और एंटी बैक्टेरियल गुणों के कारण रात में सोने से पहले एक गिलास हल्दी का दूध पीना सर्दी-खांसी से राहत दिलाएगा।

यह भी पढ़ें : Marijuana : मारिजुआना क्या है?

5. पुदीना

पुदीने की पत्तियों में कई इलाज छुपे हैं। पुदीने में पाया जाने वाला मेंथोल गले की खराश को दूर करता है और बलगम और म्यूकस को पिघालता है। आप पुदीने के तेल को पानी में डाल कर भाप ले सकते हैं।

6. लहसुन

सर्दी-जुकाम के इलाज में लहसुन काफी मददगार होता है। लहसुन में मौजूद एलिसिन नाम का रसायण होता है जिसमे एंडी बैक्टेरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल खूबियां होती हैं। लहसुन की कलियों को घी में भून कर खाएं। दूसरी बार से ही जुकाम में फर्क महसूस होने लगेगा। सर्दी जुकाम के इंफेक्शन को लहसुन तेजी से दूर करता है।

7. तुलसी

तुलसी सर्दी जुखाम के इलाज का बहुत असरदार घरेलु उपाय है। तुलसी में बहुत से उपचारी गुण शामिल होते हैं, जो जुकाम और फ्लू आदि से बचाव में मदद करते हैं। सर्दी खांसी के दौरान तुलसी की पत्तियां खानी चाहिए। तुलसी में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण है जो खांसी या जुकाम होने पर तुलसी की पत्तियां (5 ग्राम) पीसकर हलके गुनगुने पानी में मिलाएं और काढ़ा बना कर पिएं, आराम मिलेगा।

8. काली मिर्च

काली मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर , सौंठ पाउडर, लौंग का पाउडर 2 -2 चुटकी और बड़ी इलायची आधी चुटकी मिला कर एक गिलास दूध में डालकर उबाल लें। इस दूध में मिश्री की डली मिलाकर पिएं, जुकाम में राहत होगी। डायबिटीज के मरीज मिश्री की जगह तुलसी का पाउडर मिलाकर इस्तेमाल करें।

और पढ़ें : Marjoram: मरजोरम क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

Grilinctus BM: ग्रिलिंक्टस बीएम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

ग्रिलिंक्टस बीएम की जानकारी in hindi वहीं इसके डोज के साथ उपयोग, साइड इफेक्ट, सावधानी और चेतावनी को जानने के साथ जानें रिएक्शन और स्टोरेज की जानकारी।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 15, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

Viral Fever : वायरल फीवर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

जानिए वायरल फीवर के कारण, वायरल फीवर का उपचार, बुखार क्या हैं, बुखार के लक्षण क्या हैं, Viral Fever के घरेलू उपचार, Viral Fever के जोखिम फैक्टर।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Ankita Mishra
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z जून 11, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

Karvol Plus: कारवोल प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

कारवोल प्लस की जानकारी in hindi, उपयोग, डोज, सावधानी-चेतावनी को जानने के साथ साइड इफेक्ट्स की भी लें जानकारी, किन बीमारी में होता है इसका इस्तेमाल।

Written by Satish Singh
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 4, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

एनवायरमेंटल डिजीज क्या हैं और यह लोगों को कैसे प्रभावित करती हैं?

एनवायरमेंटल डिजीज के लक्षणों को जान ना करें इग्नोर, नहीं तो जान जाने का हो सकता है खतरा, लक्षण जान लें डॉक्टरी सलाह। मौसमी बीमारी व उसके लक्षण पर आर्टिकल।

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन अप्रैल 21, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

D Cold Total, डी कोल्ड टोटल

D Cold Total: डी कोल्ड टोटल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi
Published on जून 30, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
जिरकोल्ड

Zyrcold: जिरकोल्ड क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Satish Singh
Published on जून 19, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
खांसी -cough

Cough : खांसी क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Ankita Mishra
Published on जून 15, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें
सूखी खांसी -dry cough

Dry Cough : सूखी खांसी (ड्राई कफ) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Ankita Mishra
Published on जून 15, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें