home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

नींबू के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Lemon

नींबू के फायदे एवं नुकसान: Health Benefits of Lemon
परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|नींबू के साइड इफेक्ट|नीबूं की खुराक

परिचय

नींबू (Lemon) क्या है?

नींबू का स्वाद खट्टा होता है, जो कि फ्लेवर के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। नींबू का सेवन या उपयोग करना त्वचा, बालों और शरीर के लिए फायदेमंद साबित होता है। इसका बोटेनिकल नाम साइट्रस × लिमोन (Citrus × limon) है, जो कि रुटेसी (Rutaceae) फैमिली से आता है। यह एक छोटे सदाबहार पेड़ की प्रजाति होता है। मूल रूप से यह दक्षिण एशिया और उत्तर पूर्वी भारत में पाया जाता है।

इसका रंग कच्चा रहने पर हरा होता है और पकने के बाद इसका रंग पीला हो जाता है। इसका इस्तेमाल कई तरह के पकवानों में खुशबू और स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। साथ ही, इसके कई औषधीय गुण भी हैं, जिसकी वजह से इसका इस्तेमाल कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के उपचार में भी किया जाता है। खाद्य पदार्थों के अलावा इसका इस्तेमाल साफ-सफाई के लिए भी किया जाता है। नींबू के रस और छिलके समते इसके गूदे का भी पूरा इस्तेमाल किया जाता है। नींबू के रस में लगभग 5 फीसदी से 6 फीसदी तक साइट्रिक एसिड होता है, जिसमें लगभग 2.2 का पीएच होता है। इस वजह से इसका स्वाद भी खट्टा होता है।

उपयोग

नींबू (Lemon) का इस्तेमाल किसलिए किया जाता है?

शरीर में विटामिन सी की कमी से होने वाले रोग स्कर्वी के इलाज में नींबू का इस्तेमाल प्रमुखता से किया जाता है। इसके अलावा विटामिन सी से भरपूर नींबू का उपयोग सामान्य सर्दी और फ्लू, एच1एन1 (स्वाइन) फ्लू, टिनिटस (कान में घंटी की आवाज सुनाई देना), मेनियर रोग और गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए किया जाता है।

नींबू विटामिन सी का एक समृद्ध स्रोत होता है। नींबू में कई फाइटोकेमिकल्स होते हैं, जिनमें पॉलीफेनोल, टेरपेन, और टैनिन शामिल हैं। इसके अलावा नींबू के रस में चूने के रस की तुलना में थोड़ा अधिक साइट्रिक एसिड होता है, जो लगभग 47 ग्राम/लीटर होता है और अंगूर के रस के लगभग दोगुना बार साइट्रिक एसिड और संतरे के रस से लगभग पांच गुना ज्यादा साइट्रिक एसिड की मात्रा होती है।

इसका उपयोग पाचन में सहायता करने, दर्द और सूजन को कम करने, रक्त वाहिकाओं के कार्य में सुधार करने और शरीर में तरल पदार्थों की कमी होने के कारण पेशाब को बढ़ाने के लिए किया जाता है। खाने का स्वाद बढ़ाने वाला नींबू एक ऐसा फल है जिसका खट्टा स्वाद किसी भी शख्स के दिल और दिमाग को सूकुन दिलाता है।

और पढ़ें : Red sandalwood: लाल चंदन क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

नींबू (Lemon) के इस्तेमाल से जुड़ी सावधानियां और चेतावनी?

अक्सर ऐसा देखा जाता है कि जब महिलाएं गर्भवती यानि कि प्रेग्नेंट होती हैं, तो उन्हें खट्टा खाने की इच्छा होती है। ऐसे में लोग उन्हें यह खाने की सलाह देते हैं। क्योंकि गर्भावस्था के दौरान जी मचलाना और उल्टी होना एक आम समस्या हो जाती है, ऐसे में यह काफी सहायक होता है। अगर आप भी गर्भवती हैं या फिर घर में रहने वाले किसी छोटे बच्चे को स्तनपान करवा रही हैं, तो इसका सेवन रोजाना करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह ले लीजिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को डॉक्टर्स द्वारा कई सारी दवाएं दी जाती हैं। इसलिए एक बार चिकित्सक से सलाह लेने के बाद भी इसका इस्तेमाल करिए।

अगर आप किसी तरह की दवाई या कोई इलाज करवा रहे हैं, तो भी आपको इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेने की जरूरत है।

नए शोध में यह बात सामने आई है कि कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जिनको खट्टे पदार्थों से एलर्जी होती है। अगर आपके शरीर में इसी तरह की कोई एलर्जी है तो एक बार इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह ले लीजिए।

हर्बल सप्लीमेंट के उपयोग से जुड़े नियम, दवाओं के नियमों जितने सख्त नहीं होते हैं। इनकी उपयोगिता और सुरक्षा से जुड़े नियमों के लिए अभी और शोध की जरुरत है। इस हर्बल सप्लीमेंट के इस्तेमाल से पहले इसके फायदे और नुकसान की तुलना करना जरुरी है। इस बारे में और अधिक जानकारी के लिए किसी हर्बल विशेषज्ञ या आयुर्वेदिक डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें : Oak: बलूत क्या है?

नींबू (Lemon) का इस्तेमाल करना कितना सुरक्षित है?

रोजाना इसकी कितनी मात्रा का इस्तेमाल करना चाहिए, शोध में इस बात का तो पता नहीं चल पाया है। लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि अधिक मात्रा में इसका इस्तेमाल करने से यह शरीर को नुकसान पहुंचा सकती है। वैसे तो नींबू सेहत के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन ज्यादा मात्रा में इसके रस से बॉडी को नुकसान होता है।

नए शोध में यह बात सामने आई है कि इसका इस्तेमाल गर्मियों के मौसम में चेहरे पर किया जाए तो इससे सनबर्न की समस्या बढ़ सकती है। खासकर उन लोगों को गर्मियों के मौसम में नींबू का सेवन करने से बचना चाहिए जिनकी स्किन सेंसिटिव है।

गर्भावस्था और स्तनपान: शोध में यह बात सामने आई है कि यह गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित है। शोधकर्ताओं का कहना है कि नींबू का इस्तेमाल जब तक एक सीमित मात्रा में किया जाए तभी तक यह गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित है। ज्यादा मात्रा में इसका इस्तेमाल शरीर को नुकसान पहुंचा सकता हैं।

नींबू के साइड इफेक्ट

नींबू (Lemon) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

अगर नींबू का सेवन जरूरत से ज्यादा किया जाए, तो इससे निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। जैसे:

  • इसमें एसिड होता है, जिन लोगों को गैस यानि एसिडिटी की समस्या होती हैं, तो उन्हें इसका सेवन करने से बचना चाहिए।
  • रिसर्च के अनुसार नींबू का ज्यादा सेवन करने से दांत खट्टे हो सकते हैं और ज्यादा सेवन से दांतों की पहली लेयर को भी नुकसान पहुंचता है।
  • अगर आपकी स्किन सेंसेटिव है, तो स्किन पर नींबू के इस्तेमाल से आपको एलर्जी की समस्या शुरू हो सकती है। स्किन में सूजन या रैशेज नजर आ सकते हैं।
  • अगर आपको एलर्जी की समस्या है, तो आपको एलर्जी सिंड्रोम भी होने की संभावना बनी रहती है।
  • विटामिन-सी की कमी को दूर करने के लिए नींबू का सेवन बेस्ट माना जाता है, लेकिन जरूरत से ज्यादा नींबू के सेवन से डायरिया, मतली या पेट दर्द की भी समस्या हो सकती है।

अगर आप किसी बीमारी से जूझ रहे हैं या फिर दवाई का सेवन कर रहे हैं, तो इसका इस्तेमाल रोजाना करने से पहले एक बार डॉक्टर से बातचीत जरूर करें।

नीबूं की खुराक

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प ना मानें। किसी भी दवा या सप्लीमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरुर लें।

नीबूं (Lemon) को लेने की सही खुराक क्या है?

नींबू की खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों पर निर्भर करती है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि जड़ी बूटी हर उम्र , स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित नहीं होती है, इसलिए नींबू का इस्तेमाल करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।

नींबू (Lemon) किन-किन रूपों में उपलब्ध है?

  • कच्चा नींबू
  • अर्क कैप्सूल
  • तेल
  • नींबू का रस
  • नींबू का जूस

नींबू के रस को डिटॉक्स पेय पदार्थों की लिस्ट में सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। दरअसल, नींबू का रस बॉडी से विषाक्त पदार्थों को दूर करने के साथ-साथ बॉडी को डिहाइड्रेशन से भी बचाने में अत्यंत सहायक माना जाता है। अगर आप नींबू (Lemon) के सेवन से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं, तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Lemon. https://www.drugs.com/npp/lemon.html. Accessed on 15 January, 2020.

Effect on Blood Pressure of Daily Lemon Ingestion and Walking. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4003767/. Accessed On 30 September, 2020.

Lemon. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/ingredientsprofiles/Lemon#:~:text=Why%20lemons%20are%20good%20to%20eat&text=They%20also%20contain%20minerals%20such,important%20for%20a%20healthy%20bowel. Accessed On 30 September, 2020.

THE HEALTH BENEFITS OF LEMON. https://vitalrecord.tamhsc.edu/health-benefits-of-lemon/. Accessed On 30 September, 2020.

Lemons. https://snaped.fns.usda.gov/seasonal-produce-guide/lemons. Accessed On 30 September, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Anoop Singh द्वारा लिखित
अपडेटेड 09/07/2019
x