home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Tonsillitis: टॉन्सिलाइटिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय |लक्षण |कारण|खतरा|निदान|जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार:
Tonsillitis: टॉन्सिलाइटिस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय

टॉन्सिलाइटिस क्या है? (What is Tonsillitis)

टॉन्सिलाइटिस (Tonsillitis) टॉन्सिल्स (लसीका प्रणाली) की सूजन है, जो आमतौर पर संक्रमण (Infaction) के कारण होता है।

क्या टॉन्सिलाइटिस एक आम बीमारी है? (How common is Tonsillitis?)

यह बीमारी बहुत सामान्य है, क्योंकि हर साल लाखों लोग इससे प्रभावित होते हैं। हालांकि असहज होने के कारण टॉन्सिलाइटिस (Tonsillitis) आपके लिए चिंता का विषय भी बन सकता है। टॉन्सिलाइटिस किसी भी उम्र में हो सकता है, लेकिन यह परेशानी बच्चों में ज्यादातर देखने को मिलती है। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें : मूत्र मार्ग संक्रमण से बचने के लिए अपनाएं यह घरेलू उपाय, जानें क्या करें और क्या नहीं

लक्षण

टॉन्सिलाइटिस के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Tonsillitis)

टॉन्सिलाइटिस (Tonsillitis) के सामान्य लक्षण हैं:

  • गले में खराश
  • निगलने में कठिनाई या दर्द होना
  • खांसी
  • सांस से बदबू आना
  • बुखार
  • भूख में कमी
  • सिरदर्द
  • गर्दन में अकड़न
  • लाल और सूजे हुए टॉन्सिल्स
  • टॉन्सिल्स पर सफेद या पीले रंग के धब्बे
  • मुंह खोलने में परेशानी
  • थकान

ऊपर बताए गए लक्षणों में से आपको कोई भी लक्षण दिखे या संकेतों को लेकर आपको कोई शंका है तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें : नवजात शिशु की खांसी का घरेलू इलाज

मुझे अपने डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

यदि आपको इनमें से कोई भी लक्षण दिख रहा है तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए:

  • बुखार अगर 39.5 डिग्री सेल्सियस से अधिक है।
  • मांसपेशी में कमजोरी।
  • गर्दन में अकड़न
  • तेज दर्द और निगलने में परेशानी।
  • मुंह खोलने में दिक्कत।
  • सांस लेने मे तकलीफ।

यदि आपको निम्न में से कोई भी लक्षण दिख रहा है तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। हर किसी का शरीर अलग तरीके से कार्य करता है। अपनी स्थिति के बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श करना सबसे अच्छा होता है।

कारण

टॉन्सिलाइटिस के कारण हैं? (Cause of Tonsillitis)

इसके निम्नलिखित कारण हो सकते हैं। जैसे:

  • बैक्टीरियल संक्रमण जैसे स्ट्रेप्टोकोकस। अमेरिकन एकेडमी ऑफ फैमिली फिजिशियन (AAFP) के अनुसार, यह अनुमान लगाया गया है कि 15 से 30 प्रतिशत टॉन्सिलाइटिस (Tonsillitis) के मामले बैक्टीरिया के कारण होते हैं।
  • वायरल संक्रमण जैसे एपस्टीन बर्र, इन्फ्लूएंजा, एंटरोवायरस टॉन्सिलाइटिस का सबसे आम कारण है।

और पढ़ें : जानें इन 10 एंटीवायरल हर्ब्स के बारे में, जो आपको वायरस से रखें दूर

खतरा

इन चीजों से बढ़ सकता है टॉन्सिलाइटिस (Tonsillitis) का खतरा

कम उम्र: 5 से 15 साल की उम्र के बच्चों में बैक्टीरिया के कारण होने वाला टॉन्सिलाइटिस (Tonsillitis) सबसे आम है।

कीटाणुओं के संपर्क में आना: स्कूल जाने वाले बच्चे अक्सर अपने साथियों के साथ संपर्क में रहते हैं, जिससे कई तरह के वायरस और बैक्टीरिया एक से दूसरे में फैलते हैं।

और पढ़ें : क्या एंटीबायोटिक्स कर सकती हैं गट बैक्टीरिया को प्रभावित?

निदान

टॉन्सिलाइटिस का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Tonsillitis)

टॉन्सिलाइटिस के कारण की पुष्टि के लिए डॉक्टर थ्रोट स्वेब कल्चर या रैपिड स्ट्रेप टेस्ट के साथ ब्लड टेस्ट (Blood Test) भी कर सकते हैं।

टॉन्सिलाइटिस का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment for Tonsillitis)

वैसे टॉन्सिलाइटिस के लिए किसी खास इलाज की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन अगर संक्रमण ने गंभीर रूप ले लिया है तो आपको इन उपचारों की आवश्यकता हो सकती है :

एंटीबायोटिक्स: यदि आपके टॉन्सिलाइटिस का कारण बैक्टीरियल संक्रमण है, तो एंटीबायोटिक्स के उपयोग से लक्षणों में सुधार किया जा सकता है। इंफेक्शन फिर से न हो जाए इसके लिए मेडिसिन का पूरा कोर्स करना जरूरी है।

सर्जरी: क्रोनिक टॉन्सिलाइटिस या बैक्टीरियल टॉन्सिलाइटिस के इलाज के लिएटॉन्सिल्स को निकालने के लिए टॉन्सिलेक्टोमी का प्रयोग किया जा सकता है।

और पढ़ें : जानें काटने वाली हनी बी कैसे है बड़े काम की चीज?

जीवनशैली में बदलाव और घरेलू उपचार:

  • तरल पदार्थ का खूब सेवन करें।
  • पर्याप्त आराम करें।
  • दिन में कई बार नमक के गर्म पानी से गरारे करें।
  • गले के लिए टेबलेट्स (Lozenges) का उपयोग करें।
  • धुएं से बचें।

अगर आपको गले में दर्द की समस्या होती है, तो आप कुछ घरेलू उपाय भी अपना सकते हैं, जिनके बारे में हम नीचे बताने जा रहे हैं:

नमकीन पानी से गरारे करें

गर्म पानी नमक मिलाने के बाद उससे गरारे करने पर गले में दर्द की समस्या से राहत पाई जा सकती है। अगर आपके गले में खुजली हो रही है या आपके गले में म्यूकस (बलगम) जम गया है, तो गर्म पानी में नमक मिलाकर गरारे करने से उपचार किया जा सकता है। बेहतर नतीजों के लिए कुछ दिनों तक कम से कम एक बार गरारे जरूर करें।

गले में दर्द के घरेलू इलाज के रूप में शहद

आप चाय में शहद (Honey) की कुछ बूंदें मिलाकर सेवन कर सकते हो। जिससे आपके गले की परेशानी में राहत मिलती है। चाय का सेवन करने से आपका शरीर हाइड्रेट भी रहता है। जो कि गले की समस्या को दूर करने के लिए एक और जरूरी तरीका है। इसके अलावा, अगर आपको गले में दर्द के साथ-साथ खांसी की समस्या भी है, तो शहद उसमें भी राहत प्रदान करता है

गले में दर्द के लिए दवाई (Throat Pain Medication)

गले में दर्द के अधिकतर मामले वायरल इंफेक्शन (Viral Infection) की वजह से होते हैं। जिसका इलाज एक निश्चित अवधि तक जारी रहता है। तब तक के लिए आप गले के दर्द से राहत पाने के लिए आईब्रूफिन जैसी ओवर द काउंटर दवाइयों का सेवन कर सकते हैं। इनका सेवन करने से गले के अंदर की सूजन और खुजली से राहत मिल जाती है।

हाइड्रेट रहने से मिलेगी गले के दर्द से राहत

गला खुश्क होने की वजह से गले में दर्द की समस्या हो सकती है। जिससे छुटकारा पाने के लिए आपको अपने शरीर को हाइड्रेट रखना चाहिए। हाइड्रेट रखने के लिए आप खूब पानी पिएं और इसके अलावा चाय भी पी सकते हैं। इसके अलावा, कैफीन या शराब का सेवन करने से गले की खुश्की बढ़ सकती है।

और पढ़ें: Crohns Disease : क्रोहन रोग क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

स्टीम शॉवर से मिलेगा गले में दर्द से छुटकारा

अगर आपके पास ह्यूमिडिफायर नहीं है, तो आप स्टीम शॉवर लेकर राहत पा सकते हैं। स्टीम शॉवर में गहरी-गहरी सांस लें, जिससे आपके गले के सूजन, खुजली और दर्द में राहत मिलती है।

अगर आपको अपनी समस्या को लेकर कोई सवाल है, तो कृपया अपने डॉक्टर से परामर्श लेना ना भूलें।

उम्मीद है आपको टॉन्सिलाइटिस (Tonsillitis) से जुड़ी जरूरी जानकारियां हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में मिल गई होंगी। इस आर्टिकल में हमने आपको टॉन्सिलाइटिस से जुड़ी सभी जरूरी जानकारी देने की कोशिश की है। अगर आपको इस बारे में और कोई सवाल है, तो हमसे जरूर पूछें। हम आपको इससे जुड़ी और भी जानकारी देने की कोशिश करेंगे, ताकि आपको इसकी जानकारी और भी विस्तार से मिल सके।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Pawan Upadhyaya द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 09/04/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड