सेहत के लिए शुगर या शहद के फायदे?

Medically reviewed by | By

Update Date दिसम्बर 16, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

सवाल

मैं शुगर (चीनी) और शहद (हनी) दोनों का इस्तेमाल करती हूं लेकिन, मेरी मम्मी मुझे शहद खाने की सलाह देती हैं। मैं जानना चाहती हूं इन दोनों में से (शुगर या शहद) किसका सेवन करना चाहिए?

जवाब

दरअसल आपकी मम्मी आपको चीनी की जगह शहद खाने की सलाह देती होंगी क्योंकि सेहत के लिए शहद के फायदे अनेक हैं। वैसे आपको सुनके आश्चर्य लगेगा कि चीनी और शहद दोनों में केमिकल कंपोजिशन (chemical composition) मौजूद होते हैं और दोनों ही फ्रुक्टोज (Fructose) और ग्लूकोज (Glucose) से बने होते हैं। शहद (honey) वैसे लोगों की सेहत के लिए बेहतर विकल्प है जिन्हें डायबिटीज की समस्या है उनके लिए खासतौर पर हनी सही रहता है। शहद का ग्लाइसेमिक इंडेक्स (GI) कम होता है। इसलिए शहद शुगर लेवल को नहीं बढ़ाता है। आप चाहे शुगर या चीनी जो भी लें। दोनों के अपने अलग-अलग फायदे और नुकसान हैं।

ये भी पढ़ें: जेस्टेशनल डायबिटीज क्या है? जानें इसके लक्षण और उपचार विधि

शहद के फायदे

  • शहद में फ्रुक्टोज की मात्रा ज्यादा होती है जिस कारण यह चीनी से भी ज्यादा मीठा होता है। इसलिए चीनी की तुलना में शहद कम मात्रा में भी खाने पर मीठा लगता है।
  • शहद बनाने की प्रक्रिया ज्यादा जटिल नहीं है।
  • कफ और गले से जुड़ी परेशानी में इसके सेवन से लाभ मिलता है।
  • घाव या जली हुई त्वचा पर इसे जेल की तरह लगाने से फायदा मिलता है।

ये भी पढ़ें: चमकदार त्वचा चाहते हैं तो जरूर करें ये योग

स्वास्थ्य के लिए शहद के फायदे

शहद खाद्य पदार्थ होने के साथ-साथ एक असरदार आयुर्वेदिक दवा भी है। इसका उपयोग कई बीमारियों को दूर करने के लिए भी किया जाता है। यहां जानते हैं शहद के फायदे के बारे में-

मोटापा घटेगा

बढ़ता मोटापा एक गंभीर समस्या है। इसके लिए लोग तरह-तरह के डायट चार्ट और वर्कआउट (workouts) फॉलो करते हैं। उल्टा-सीधा खान-पान इसकी सबसे बड़ी वजह है। शहद के फायदे से आप बढ़ते वजन को भी कम कर सकते हैं। शहद में विटामिन-ए और विटामिन-बी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसमें फैट नहीं होता है। इसलिए यह वेट लॉस (weight loss) में मदद करता है। इसके इस्तेमाल से शरीर में मौजूद अतिरिक्त चर्बी कम होती है। शहद के फायदे आपको भरपूर मिले इसके लिए एक गिलास गरम पानी में आधा नींबू का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर रोजाना सुबह उठने के बाद और सोने से पहले लें।

ये भी पढ़ें : क्या मधुमेह रोगी चीनी की जगह खा सकते हैं शहद?

सर्दी-जुकाम में शहद के फायदे

सर्दी-खांसी से राहत पाने के लिए शहद का उपयोग तो नानी-दादी के जमाने से चला आ रहा है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाईजेशन (WHO) के अनुसार शहद को सर्दी-खांसी से लड़ने के लिए एक प्राकृतिक नुस्खा माना गया है। हालांकि, एक साल से कम उम्र के बच्चों को शहद नहीं देना चाहिए। शहद के एंटीबायोटिक (antibiotic) गुण रात में होने वाली कफ और खांसी को कम करने में मदद करते हैं। इसके लिए बस सर्दी-जुकाम होने पर सुबह उठने के बाद और रात सोने से पहले शहद ले सकते हैं।

ये भी पढ़ें : ऐसे पहचाने छोटे बच्चों में खांसी के प्रकार और करें देखभाल

स्किन के लिए शहद के फायदे

  • शहद के फायदे शारीरिक बीमारियों के उपचार तक ही सीमित नहीं हैं। इसका इस्तेमाल त्वचा की खूबसूरती को निखारने के लिए भी किया जाता है। यह प्राकृतिक एंटीसेप्टिक (antiseptic) की तरह काम करता है। शहद पोर्स से गंदगी को बाहर निकालता है। हनी का उपयोग फेसपैक के रूप में भी किया जा सकता हैं।
  • शहद में एंटीसेप्टिक और नमी प्रदान करने के गुण होते हैं। इसे चेहरे से कील-मुंहासे और दाग-धब्बे दूर होते हैं। इससे चेहरे का ग्लो भी बढ़ता है।
  • उम्र बढ़ने के साथ-साथ चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं। ऐसे में शहद में मौजूद एंटी एजिंग गुण झुर्रियों को रोकने में मदद करते हैं। शहद के फायदे स्किन को मिल सके इसके लिए आप इसे मास्क के रूप में प्रयोग कर सकते हैं।
  • शहद फटे होंठों के उपचार के लिए भी एक कारगर नुस्खा है। रात को सोने से पहले शहद की कुछ मात्रा फटे होंठों पर लगाकर छोड़ दें। इससे होंठ मुलायम होते हैं।
  • त्वचा के लिए शहद के फायदे यहीं खत्म नहीं होते हैं। इसका इस्तेमाल फेसवॉश की तरह भी किया जा सकता है। हनी के एंटीबैक्टीरियल गुण चेहरे को क्लीन करने के लिए फायदेमंद हैं।

ये भी पढ़ें : अनानास से वापस पाएं खोया निखार

बालों के लिए शहद के फायदे

शहद औषधि गुणों से भरपूर एक प्राकृतिक खाद्य पदार्थ है। हेयर फॉल (hair fall), डैंड्रफ (dandruff), दो मुहें बाल (split ends) और स्कैल्प का रूखापन जैसी तमाम समस्याएं हैं जो आज देखने को मिलती हैं। बालों की इन समस्याओं से निजात पाने के लिए शहद का इस्तेमाल किया जा सकता है। शहद के फायदे स्किन के साथ बालों को भी मिलते हैं। इसके एंटीसेप्टिक (antiseptic) गुण स्कैल्प में होने वाले इंफेक्शन को रोकता है। वहीं, बालों के रूखेपन को भी दूर करके रूसी आदि की समस्या से बचाता है।

ये भी पढ़ें : कर्ली बालों का रखना है ख्याल तो जरूर याद रखें ये टिप्स

शहद के नुकसान

  • शहद उन शिशुओं में बोटुलिज्म पैदा कर सकता है जो 12 महीने से कम उम्र के हैं 
  • शहद में कैलोरी की मात्रा अत्यधिक होती है
  • शहद के फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी हैं। इसके अत्यधिक सेवन से पेट दर्द की समस्या हो सकती है।
  • शहद में सुक्रोज के साथ-साथ ग्लूकोज की भी मात्रा होती है, इसलिए इसका ज्यादा सेवन ब्लड शुगर के लेवल को बढ़ा सकता है। इसलिए, अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं, तो शहद के फायदे सुनकर ही सिर्फ इसका इस्तेमाल करना न शुरू कर दें। शहद के उपयोग से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान बढ़ सकता है शुगर लेवल, ऐसे करें कंट्रोल

चीनी के फायदे

  • चीनी शरीर को तुरंत ऊर्जा (energy) प्रदान करने में मददगार है
  • इसमें कैलोरी की मात्रा कम होती है
  • आसानी से मिल जाती है
  • ज्यादा समय तक स्टोर किया जा सकता है

ये भी पढ़ें: क्या वेट्स के साथ सैर करने से अधिक कैलोरी खर्च होती है?

चीनी के नुकसान

  • चीनी के सेवन से डायबिटीज और हार्ट डिजीज का खतरा बढ़ जाता है
  • शरीर में शहद की तुलना में चीनी डायजेस्ट होने में ज्यादा वक्त लगता है
  • चीनी के सेवन से वजन बढ़ सकता है

चीनी और शहद के फायदे अलग-अलग हैं लेकिन, दोनों के ही ज्यादा सेवन से शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। अगर आप किसी गंभीर समस्या से ग्रसित हैं, तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर ले लें। इस लेख में बताए गए शहद के फायदे आपको कैसे लगे? इस बारे में कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

और पढ़ें:-

जानें बच्चे के सर्दी जुकाम का इलाज कैसे करें

ज्यादा नमक खाना दे सकता है आपको हार्ट अटैक

क्या मधुमेह रोगी चीनी की जगह खा सकते हैं शहद?

मुंहासों के लिए कैसे बनाएं दालचीनी और शहद का मास्क?

ब्रो डायट (Bro diet) क्या है, क्यों लोग कर रहे हैं इसे इतना फॉलो?

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    पेरेंट्स आपके काम की बात, जानें शिशु में अत्यधिक चीनी के सेवन को कैसे करें कंट्रोल

    जानिए शिशु में अत्यधिक चीनी के सेवन का प्रभाव in Hindi, शिशु में अत्यधिक चीनी के सेवन की आदत कैसे छुड़ाएं, बच्चों में शुगर की आदत।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Ankita Mishra
    बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग मार्च 19, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    प्रेग्नेंसी में वैरीकोज वेन्स की समस्या कर सकती हैं काफी परेशान, जानें इससे बचाव के तरीके

    प्रेग्नेंसी में वैरीकोज वेन्स क्या है, Varicose Veins in pregnancy in hindi, प्रेग्नेंसी में वैरीकोज वेन्स क्यों होती है, का इलाज कैसे करें।

    Written by Surender Aggarwal
    हेल्थ सेंटर्स, त्वचा की बीमारियां मार्च 11, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    चेहरे और बालों से होली का रंग हटाने के आसान टिप्स

    होली का रंग कैसे हटाएं, holi colour in hindi, बालों से होली का रंग कैसे हटाएं, face aur hair se holi ka rang kaise hataein, हर्बल रंग कैसे बनाएं।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Surender Aggarwal
    स्वास्थ्य बुलेटिन, लोकल खबरें मार्च 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

    बच्चों में कफ की समस्या बन गई है सिरदर्द? इसे दूर करने के लिए अपनाएं ये उपाय

    बच्चों में कफ की समस्या को दूर करने के लिए घरेलू उपाय के रूप में गर्म पानी, शहद, अदरक और तरल पदार्थो का सेवन आदि उपाय अपनाएं जा सकते हैं। बेहतर रहेगा कि अधिक परेशानी में डॉक्टर से संपर्क करें।

    Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
    Written by Bhawana Awasthi