home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

सब्जा (तुलसी) के बीज से कम करें वजन और इससे जुड़े 8 अमेजिंग बेनिफिट्स

सब्जा (तुलसी) के बीज से कम करें वजन और इससे जुड़े 8 अमेजिंग बेनिफिट्स

अगर आप वजन कम करने के लिए कई उपायों को आजमाकर थक चुके हैं, तो इस बीज को आजमाएं और जादू देखें। सब्जा बीज तुलसी के बीजों को कहा जाता है। यह एक ऐसा बीज है जो न्युट्रिशन का पावरहाउस है और इम्युनिटी बूस्टिंग के गुणों से भरा हुआ है। चिया बीज की तरह दिखने वाले इस बीज को अंग्रेजी में तकमरिया सीड्स (tukmaria seeds) के नाम से भी जानते हैं। विशेष रूप से पेय पदार्थों और डेसर्ट में शामिल किए जाने वाले इन सब्जा के बीजों को आप अपने वेट लॉस डायट प्लान में भी शामिल कर सकते हैं।

सब्जा बीज को लेकर क्या कहते हैं एक्स्पर्ट?

भोपाल के आयुर्वेदिक डॉक्टर और लेखक (इंक्रेडिबल आयुर्वेदा क्लीनिक, भोपाल) अबरार मुल्तानी ने ‘हैलो स्वास्थ्य’ से बात करते हुए बताया कि, “प्रोटीन, फाइबर, विटामिन-ए, विटामिन-के, कार्बोहायड्रेट, ओमेगा-3 फैटी एसिड, पाचक एंजाइम और कई मिनरल्स मौजूद होने की वजह से सब्जा बीज के फायदे अनगिनत हैं। इसकी तासीर ठंडी होती है इसलिए वात दोष से होने वाले रोगों के उपचार में ये बीज उपयोगी होते हैं। तुलसी के बीजों से अधिकतम लाभ पाने के लिए इन्हें हमेशा पानी में भिगोकर ही उपयोग करें। इससे पाचक एंजाइम (digestive enzymes) रिलीज होते हैं जो शरीर को फायदा पहुंचाते हैं।”

और पढ़ें: जानें गर्भावस्था में तुलसी खाने के 7 फायदे

सब्जा बीज में मौजूद पोषक तत्व

तुलसी के बीजों में कैलोरी की मात्रा बहुत ही कम होती है। एक टेबलस्पून (10 ग्राम) बेसिल सीड्स में लगभग दो ग्राम कार्बोहायड्रेट्स, पांच ग्राम फैट्स और पांच ग्राम फाइबर पाया जाता है। इसके अलावा इसमें भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स, मिनरल्स, मैग्नीशियम, आयरन, फैटी एसिड्स, पोटैशियम, फॉलिक एसिड आदि पोषक तत्व भी पाए जाते हैं।

और पढ़ें: वजन कम करने में सहायक डीटॉक्स ड्रिंक

मोटापा कम करने के लिए सब्जा बीज का उपयोग कैसे करें?

वेट लॉस के लिए वर्कआउट के साथ-साथ अगर तुलसी के बीजों का सेवन किया जाए तो इससे वजन जल्दी घटाने में मदद मिल सकती है। इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर, डॉक्टर शरयु माकणीकर जो काउंसलिंग भी करती हैं, उनका मानना है कि “पानी में भिगोकर सब्जा बीज का सेवन करने पर यह वजन घटाने के लिए ज्यादा प्रभावी होते हैं। इसके लिए दो चम्मच सब्जा बीज (बेसिल सीड्स) को रात भर एक कप पानी में भिगोकर रख दें और सुबह खाली पेट इसका पानी पिएं। आप चाहे तो इसमें शहद भी मिला सकते हैं।”

वजन घटाने के लिए सब्जा बीज किस तरह काम करता है?

तुलसी के बीज में अल्फा-लिनोलेनिक एसिड (Alpha-linolenic acid – ALA) उच्च मात्रा में पाया जाता है जो बीजों में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड से प्राप्त होता है। यह मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है और शरीर से अतिरिक्त वसा (फैट) को जलाता है। बेसिल सीड्स में पाई जाने वाली फाइबर की उच्च मात्रा की वजह से पेट काफी देर तक भरा रहता है। इससे लंबे समय तक भूख नहीं लगती है। वेट लॉस के लिए सब्जा बीजों को दही के साथ मिलाकर खाया जा सकता है या फ्रूट सैलेड में भी इसे शामिल किया जा सकता है।

और पढ़ें: वजन कम करने में फायदेमंद हैं ये योगासन, जरूर करें ट्राई

बेसिल सीड्स का उपयोग किन चीजों में किया जा सकता है?

कई तरह की डिशिस में सब्जा के बीजों का इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इसका स्वाद किसी भी व्यंजन में आसानी से मिल जाता है। बेसिल सीड्स को इन रेसिपीज में मिलाया जा सकता है। जैसे-

  • स्मूथीज (smoothies)
  • मिल्कशेक्स (milkshakes)
  • सूप्स (soups)
  • पुडिंग (pudding)
  • फालूदा (falooda)
  • ब्रेड और मफिन्स (bread and muffins)

सब्जा बीज के फायदे क्या हैं? (Benefits Of Sabja Seeds)

  • सब्जा बीज के फायदे सिर्फ वजन घटाने तक ही सीमित नहीं हैं। इसका इस्तेमाल पेट के लिए भी फायदेमंद होता है। ये बीज एसिडिटी को कम करने और पाचन को सुधारने में मदद करते हैं।
  • बेसिल सीड्स के इस्तेमाल से शुगर में आराम मिलता है। तुलसी के बीज ब्लड में शुगर को कम करके डायबिटीज टाइप 2 के इलाज में फायदा पहुंचाते हैं।
  • तुलसी के बीजों की तासीर ठंडी होती है। गर्मियों में सब्जा बीज का उपयोग पेय पदार्थों में किया जा सकता है। विभिन्न प्रकार के ड्रिंक्स जैसे फालूदा, नींबू पानी और शर्बत में सब्जा सीड्स का उपयोग किया जा सकता है।
  • सब्जा के बीज एलडीएल या बैड कोलेस्ट्रॉल (bad cholesterol) के स्तर को कम करने में मदद करते हैं। बेसिल सीड्स में पाये जाने वाले औषधीय गुण एथेरोस्‍क्‍लेरोसिस (atherosclerosis), धमनियों और रक्त वाहिकाओं में प्लाक को हटाने का काम करते हैं। इससे हार्ट पर तनाव कम होता है जिससे हार्ट अटैक और स्‍ट्रोक की संभावना कम हो जाती है।
  • खराब पाचन तंत्र या कब्ज के उपचार के लिए सब्जा यानी बेसिल के बीजों को काफी अच्छा माना गया है। इन बीजों के इस्तेमाल से शरीर को डिटॉक्सिफिकेशन में मदद मिलती है। इससे पेट और पाचन तंत्र (digestive system) दुरुस्त रहता है।
  • कई रिसर्चस में पाया गया है कि सब्जा बीज के उपयोग से मानसिक तनाव (stress) भी कम होता है। दरअसल, इसके इस्तेमाल से शरीर में स्ट्रेस हॉर्मोन्स (stress hormones) के स्‍तर को कम करने में मदद मिलती है। इसी वजह से नियमित रूप से बेसिल सीड्स का सेवन डिप्रेशन को कम करने में मददगार होता है।
  • रूखे और बेजान बालों के घरेलू उपचार के रूप में सब्जा के बीजों का प्रयोग किया जाता है। इसके बीजों में पर्याप्त मात्रा में विटामिन, आयरन और प्रोटीन होते हैं जो बालों के अच्छे स्वास्थ के लिए जिम्मेदार होते हैं।
  • आवश्यक विटामिन्स, ओमेगा -3 फैटी एसिड, प्रोटीन और मिनरल्स से भरपूर होने की वजह से सब्जा के बीज पीसीओएस (PCOS) के ट्रीटमेंट में खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों का एक मुख्य हिस्सा है। ये बीज अनियमित पीरियड्स और हॉर्मोनल समस्यायों को नियंत्रित करते हैं।
  • सब्जा बीच पेट में ठंडक पहुंचाने का काम करता है, जिन लोगों को पेट में जलन की समस्या होती है, उनके लिए सब्जा का बीज लेना फायदेमंद होता है। पेट में ठंडक के लिए इसे ठंडे पेय पदार्थ के साथ लिया जा सकता है। पानी में भिगोकर इसे लेने भी शरीर को फायदा पहुंचता है।

प्लांट कम्पाउंड रिच हैं तुलसी के बीज

तुलसी के बीज यानी सब्जा प्लांट कम्पाउंड रिच होता है। इसमे फ्लेवोनॉयड्स और अदर पॉलीफिनॉल्स भी होता है। स्टडी के दौरान ये बात सामने आई है कि फ्लेवोनॉयड्स का सेवन करने से हार्ट डिसीज रिस्क भी कम हो जाता है। बेसिल सीड्स एक्सट्रेक्ट हार्मफुल बैक्टिरिया को मारने का काम करते हैं। साथ ही कैंसर सेल्स को भी ट्रिगर करते हैं। टेस्ट ट्यूब में इस संबंध में स्टडी की गई है लेकिन मनुष्यों में इस तरह की स्टडी नहीं की गई है।

और पढ़ें: स्तनपान के दौरान वजन कम करने के हेल्दी तरीके

सब्जा बीज के नुकसान क्या हैं?

सब्जा के बीज के फायदे बहुत अधिक हैं लेकिन, इसके इस्तेमाल से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। तुलसी के बीज शरीर में हॉर्मोन्स के उतार-चढ़ाव के लिए जिम्‍मेदार होते हैं। इसलिए, प्रेग्नेंट महिलाओं को बेसिल सीड्स के इस्तेमाल से बचना चाहिए। इसी तरह कुछ हेल्थ कंडीशंस में भी सब्जा सीड्स के उपयोग की मनाही होती है। वहीं, अगर आप कुछ दवाएं ले रहे हैं, तो बेसिल सीड्स के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। बिना सलाह के इसके उपयोग से सब्जा बीज के फायदे की जगह शरीर को नुकसान हो सकते हैं।

सब्जा बीज हजारों सालों से आयुर्वेदिक उपचार का एक अभिन्न अंग रहा है। वात और पित्त से संबंधित रोगों के उपचार में सब्जा बीज काफी समय से उपयोग किया जा रहा है। हालांकि, सब्जा बीज के फायदे बेशुमार हैं, लेकिन जरूरी नहीं है कि यह सबके शरीर के लिए फायदेमंद हो। ऐसे में बेसिल सीड्स के प्रयोग से पहले डॉक्टर से परामर्श करना बेहतर रहता है। आप स्वास्थ्य संबंधि अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Shruthi Shridhar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Shikha Patel द्वारा लिखित
अपडेटेड 14/10/2019
x