home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

अगर चाहिए पिगमेंटेशन (झाइयां) से मुक्त त्वचा, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

अगर चाहिए पिगमेंटेशन (झाइयां) से मुक्त त्वचा, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

पिगमेंटेशन (झाइयां) त्वचा का ऐसा विकार है जिससे त्वचा का रंग प्रभावित होता है। कई बार पिगमेंटेशन केवल त्वचा के कुछ हिस्से को ही प्रभावित करती है लेकिन कई बार यह पूरे शरीर पर हो सकती है। जानें, क्या है पिगमेंटेशन और पिगमेंटेशन (झाइयां) के घरेलू उपाय, जिनके प्रयोग से मिल सकती है इस परेशानी से राहत।

क्या है पिगमेंटेशन?

हमारी त्वचा में एक पिग्मेंट होता है जिसे मेलानिन कहा जाता है, इससे हमारी त्वचा को रंग मिलता है। त्वचा में खास सेल्स मेलानिन का निर्माण करते हैं। जब इन सेल्स को नुकसान होता है या यह अस्वस्थ हो जाते हैं, तो इससे मेलानिन के निर्माण पर भी असर होता है। अगर शरीर बहुत अधिक मात्रा में मेलानिन बनाता है तो त्वचा का रंग गहरा हो सकता है। अगर शरीर कम मात्रा में मेलानिन बनाता है तो त्वचा का रंग हल्का होता हैगर्भावस्था, एडिसन’स रोग और ज्यादा सूर्य की किरणों के सम्पर्क में रहने के कारण भी त्वचा का रंग गहरा हो सकता है। अगर आपको पिगमेंटेशन (झाइयां) की समस्या है तो जानिए पिगमेंटेशन (झाइयां) के घरेलू उपाय कौन-कौन से हैं।

और पढ़ें: Skin Disorders : चर्म रोग (त्वचा विकार) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

पिगमेंटेशन (झाइयां) होने के कारण?

पिग्मेंटेशन के कई प्रकार हैं जिनमें फ्रेकल्स और सनस्पॉट, मेलाज्मा , सेबोरिक केरेटोसिस और बर्थमार्क शामिल हैं। झाइयां त्वचा पर कुछ अनुचित उत्पादों के प्रयोग के कारण बदतर हो सकती हैं जैसे त्वचा पर अल्कोहल युक्त खुशबु का प्रयोग करना या लगातार सूरज की किरणों के सम्पर्क में रहना। इसके साथ ही पिगमेंटेशन (झाइयां) होने के कई अन्य कारण भी हो सकते हैं जैसे:

  • आनुवांशिक
  • खास टाइप
  • त्वचा पर चोट (जलन और उपचार के बाद की सूजन))
  • हार्मोन का असंतुलन
  • गर्भावस्था
  • कुछ बीमारियां और दवाईयां
  • मुहांसे

पिगमेंटेशन (झाइयां) के घरेलू उपाय

पिगमेंटेशन दो प्रकार की होती है। हाइपरपिग्मेंटेशन जिसमें प्रभावित त्वचा का रंग शरीर के बाकी हिस्सों की तुलना में गहरा होता है, जबकि हाइपोपिगमेंटेशन में प्रभावित त्वचा का रंग अन्य त्वचा की तुलना में फीका होता है। जानिए पिगमेंटेशन (झाइयां) के घरेलू उपाय कौन-कौन से हैं।

एलोवेरा

एलोवेरा में एक तत्व होता है जिसे एलोइसिन(Aloesin) कहा जाता है। यह तत्व शरीर में मेलेनिन के उत्पादन को बाधित करता है। इसके अलावा, यह त्वचा की मरम्मत करता है और नए सेल को फिर से बनाने में भी मदद करता है। जिससे त्वचा के काले धब्बे साफ होते हैं और पिगमेंटेशन(झाइयां) दूर करने में भी यह प्रभावी होता है।

कैसे करें प्रयोग

  • दो चम्मच ताजा एलोवेरा लें और उसमें आधा चम्मच शहद मिला लें
  • इस मिश्रण को अच्छे से मिला लें और जिन जगहों पर पिगमेंटेशन(झाइयां) हों, वहां इसे लगाएं।
  • लगभग बीस से पच्चीस मिनटों तक इस मिश्रण को त्वचा पर लगा कर रखें।
  • उसके बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो दें।
  • अगर आप एलोवेरा जेल यानी ताजे एलोवेरा के गूदे को सोने से पहले भी अपने चेहरे पर लगाएंगे और अगली सुबह मुंह धोयेंगे, तो उससे भी आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे।

और पढ़ें: त्वचा की चमक बढ़ाने में असरदार हैं यह आसान घरेलू नुस्खे

एप्पल साइडर विनेगर

पिगमेंटेशन(झाइयां) के घरेलू उपाय में अगला है एप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल। एप्पल साइडर विनेगर में एसिटिक एसिड होता है। जो मेलानिन की मात्रा को कम करता है और पिगमेंटेशन को हल्का करने में प्रभावी होता है। इसके एस्ट्रिंजेंट गुण त्वचा को एक्सफोलिएट करने में मदद करते हैं। जिससे दाग-धब्बे भी दूर होते हैं।

कैसे करें प्रयोग

  • पानी और एप्पल साइडर विनेगर दोनों को बराबर मात्रा में लें।
  • एक कॉटन ले कर इस मिश्रण में कॉटन को डुबोएं और फिर प्रभावित स्थान पर लगाएं।
  • तीन से चार मिनटों तक इसे लगा कर रखें। उसके बाद हल्के गर्म पानी से धो दें।
  • दिन में दो बार इस उपाय को करने से आपको जल्दी ही असर दिखने लगेगा।

लाल प्याज का रस

लाल प्याज में एसिडिक गुण होते हैं, जो पिगमेंटेशन (झाइयां) को हल्का करने में प्रभावी हैं। प्याज के रस में कुछ बायोएक्टिव तत्व होते हैं जो पिगमेंटेशन के इलाज में मदद करते हैं।

कैसे करें इसका प्रयोग

  • लाल प्याज लें और उन्हें अच्छे से धो लें।।
  • इसके बाद प्याज का रस निकाल लें
  • अब रुई की मदद से इस मिश्रण को त्वचा के प्रभावित स्थान पर लगाएं।
  • पांच से दस मिनटों तक इसे लगा कर रखें और उसके बाद सामान्य पानी में धो दें।

और पढ़ें: स्किन केयर की चिंता इन्हें भी होती है, पढ़ें पुरुष त्वचा की देखभाल से जुड़े फैक्ट्स

नींबू का रस

नींबू का रस और शहद त्वचा के लिए एक बेहतरीन मिश्रण है। नींबू में विटामिन C होता है जो बेहतरीन ब्लीचिंग एजेंट है। इसके साथ, ही विटामिन C के त्वचा के लिए और भी कई फायदे हैं।

जानिए कैसे करें प्रयोग

  • एक चम्मच ताजा नींबू लें और इसे आधे चम्मच शहद में मिला लें।
  • अच्छे से घोल कर एक लेप बना लें।
  • इसके बाद रुई लें और उसे इस मिश्रण में भिगो कर इसे प्रभावित स्थान पर लगाएं ।
  • पंद्रह मिनटों तक इसे लगे रहने के बाद ठंडे पानी से धो दें।

ओलिव आयल

ओलिव आयल सूरज की किरणों से सुरक्षा करता है। इसके साथ ही यह त्वचा में होने वाले स्पॉटस और रेडनेस को भी दूर करता है। ओलिव आयल में विटामिन (A, D, E, K) आदि भी पाए जाते हैं यानी यह एक त्वचा के लिए बेहतरीन है।

कैसे करें प्रयोग

  • एक चम्मच ओलिव आयल में एक विटामिन E कैप्सूल को तोड़ कर डालें।
  • इसे अच्छे से मिला लें।
  • अब प्रभावित स्थान पर इस मिश्रण को रुई की मदद से लगाएं ।
  • रात भर रखने के बाद सामान्य पानी से प्रभावित स्थान को धो दें।

चंदन तेल के फायदे जो आपकी त्वचा पर कर सकते है अद्भुत काम, जानने के लिए देखिए यह वीडियो

आलू

पिगमेंटेशन (झाइयां) के घरेलू उपाय में आलू सबसे बेहतरीन है। आलू को भी त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। इसमें कैटेकोलेज नामक एक एंजाइम होता है जो अधिक मेलानिन के उत्पादन में बाधा उत्पन्न करता है। ऐसे में आलू पिगमेंटशन को कम करने में मददगार है।

कैसे करें प्रयोग

  • एक आलू को अच्छे से धो लें और छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • अब इन टुकड़ों को कम से कम पांच मिनटों तक सर्कुलर मोशन में प्रभावित स्थान पर रगड़ें।
  • इसे लगाने के बाद पांच मिनटों तक इसे लगे रहने दें और उसके बाद गुनगुने पानी से धो दें।
  • आपको अच्छा असर देखने को मिलेगा।

चंदन

चंदन का प्रयोग सदियों से त्वचा पर किया जाता रहा है। क्योंकि, इसमें स्किन लाइटनिंग गुण होते हैं। यह त्वचा को शांत करते हैं और पिगमेंटेशन (झाइयां) और अन्य दाग-धब्बों को दूर करने में प्रभावी है।

कैसे करें प्रयोग

  • चंदन के पाउडर को गुलाब जल के साथ मिक्स करें और एक पेस्ट बनाएं।
  • इस पेस्ट को प्रभावित स्थान पर लगाएं और लगभग 20-25 मिनटों तक लगा कर रखें।
  • इसके बाद सामान्य पानी से इसे धो दें।

टमाटर

टमाटर खट्टे फल की श्रेणी में आता है और पिगमेंटेशन (झाइयां) दूर करने में असरदार है। टमाटर एंटीऑक्सिडेंट लाइकोपीन, विटामिन ए, और अन्य आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होता है। जो आपकी स्किन टोन में सुधार करने के लिए अच्छी तरह से काम करते हैं।

कैसे करें प्रयोग

  • टमाटर लें और उसे पीस कर जूस बना लें।
  • रुई को उस जूस में डुबो कर अपने चेहरे पर लगाएं।
  • इसे लगभग 10-15 मिनटों तक लगा के रखें।
  • इसके बाद इसे सामान्य पानी धो दें। अगर आप चाहें तो टमाटर के कटे हुए टुकड़े को भी अपनी त्वचा पर रगड़ सकते हैं।

अन्य तरीके

इस समस्या से बचने के लिए पिगमेंटेशन (झाइयां) के घरेलू उपाय के अलावा भी कुछ अन्य तरीके अपना सकते हैं, जो इस प्रकार हैं

त्वचा को सूर्य की किरणों से बचाएं

जितना अधिक हो सूर्य की हानिकारक किरणों से बचें। इसके लिए बाहर जाते हुए अपनी त्वचा और चेहरे को ढक कर रखें और अच्छी सनस्क्रीन क्रीम का प्रयोग करें।

और पढ़ें: कोरोना लॉकडाउन और क्वारंटीन के दौरान पुरुष इन तरीकों से रखें अपनी त्वचा का ख्याल

लाइफस्टाइल में परिवर्तन

अनहेल्थी आहार कई त्वचा संबंधी समस्याओं जैसे कि पिगमेंटेशन, त्वचा का रूखापन, समय से पहले त्वचा की उम्र के अधिक लगने का कारण हो सकता है। यही कारण है, कि हमारे लिए एंटीऑक्सिडेंट, हरी पत्तेदार सब्जियां, विटामिन सी, और फाइटोन्यूट्रिएंट्स से समृद्ध आहार लेना जरूरी है।

प्राकृतिक चीजों का प्रयोग

त्वचा को साफ करने को अपनी रूटीन का मुख्य हिस्सा बना लें। इसके लिए प्राकृतिक स्किन क्लींजर का प्रयोग करें। इससे डैमेज स्किन सेल दूर होते हैं।

रोजाना व्यायाम करें

रोजाना व्यायाम या अन्य शारीरिक एक्टिविटीज करने से शरीर को कई लाभ होते हैं। इससे न केवल शरीर से हानिकारक तत्व बाहर निकल जाते हैं। व्यायाम करने से शरीर को अच्छी मात्रा में ऑक्सीजन भी मिलती है। इसलिए रोजान कम से कम तीस मिनट व्यायाम के लिए निकालें।

अधिक पानी पीएं

स्वस्थ त्वचा के लिए पर्याप्त पानी पीएं। अगर शरीर या त्वचा को पर्याप्त पानी नहीं मिलता है, तो इससे पिगमेंटेशन (झाइयां) की संभावना बढ़ जाती है। इसके लिए रोजाना 8-10 गिलास पानी पीएं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

SkinPigmentationDisorders.https://medlineplus.gov/skinpigmentationdisorders.html#:~:text=Pigmentation%20means%20coloring.,unhealthy%2C%20it%20affects%20melanin%20production.Accessed on 04.08.20

Skin pigmentation problems.https://dermnetnz.org/topics/skin-pigmentation-problems/.Accessed on 04.08.20

Are Natural Ingredients Effective in the Management of Hyperpigmentation? A Systematic Review.https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5843359/..Accessed on 04.08.20

Natural Ways To Fight Pigmentation.https://uniquetimes.org/natural-ways-to-fight-pigmentation/.Accessed on 04.08.20

Get the Upper Hand On Age Spots.https://www.aarp.org/entertainment/style-trends/info-2018/natural-remedies-age-spots-fd.html.Accessed on 04.08.20

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Anu sharma द्वारा लिखित
अपडेटेड 05/08/2020
x