आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Turmeric Face Mask: टरमरिक फेस मास्क के क्या होते हैं फायदे?

    Turmeric Face Mask: टरमरिक फेस मास्क के क्या होते हैं फायदे?

    हल्दी त्वचा के लिए और चेहरे के लिए उपयुक्त औषधि माना जाती है। हल्दी की महत्ता तो आप इसी बात से समझ सकते हैं कि शादी की रस्म में हल्दी की रस्म को बहुत महत्वपूर्ण माना जाती है। जहां एक और यह त्वचा को निखारने का काम करता है, वहीं दूसरी ओर मुहांसों की समस्या से भी राहत मिलती है। हल्दी फेस मास्क का इस्तेमाल आपकी एक नहीं बल्कि कई समस्याओं को दूर कर सकता है। हल्दी में एक नहीं बल्कि कई गुण होते हैं। आइए जानते हैं टरमरिक फेस मास्क (Turmeric Face Mask) के बारे में अहम जानकारी।

    और पढ़ें: Face Wash For Oily Skin: ऑयली स्किन के लिए कौन-से फेसवॉश का किया जा सकता है इस्तेमाल?

    टरमरिक फेस मास्क (Turmeric Face Mask) क्या है फायदेमंद?

    टर्मिक फेस मास्क (Turmeric Face Mask)
    टरमरिक फेस मास्क (Turmeric Face Mask)

    द जर्नल ऑफ क्लिनिकल एंड एस्थेटिक डर्मेटोलॉजी में 2015 में एक आर्टिकल के माध्यम से ये जानकारी दी थी कि भले ही लोग हल्दी का अधिक इस्तेमाल मसाले के रूप में करते हैं लेकिन इसके औषधीय गुण स्किन के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं। हल्दी में मुख्य कम्पोनेंट के रूप में करक्यूमिन (curcumin) होता है, जिसमें एंटी-इंफ्लामेटरी प्रॉपर्टी (anti-inflammatory properties) होती है।हल्दी का इस्तेमाल करने से मुंहासे की समस्या, घाव में, फोड़े में, चोट में, फफोले में, अल्सर की समस्या में, स्किन में होने वाली खुजली पर या फिर किसी कीड़े के काटने पर किया जा सकता है। ऐसे में हल्दी का इस्तेमाल करने से समस्या धीरे-धीरे कम हो जाती है।

    और पढ़ें: स्किन का रंग अगर पड़ गया है ब्लू, तो यह हो सकता है पेरीफेरल सायनोसिस का लक्षण!

    टरमरिक फेस मास्क किन समस्याओं में पहुंचाता है फायदा?

    टरमरिक फेस मास्क (Turmeric Face Mask) एक नहीं बल्कि कई समस्याओं में फायदा पहुंचाने में मदद करता है, जिसके कुछ फायदों के बारे में हम आपको जानकारी देने जा रहे हैं।

    • जिन लोगों को मुंहासे की समस्या होती है, उनके लिए भी हल्दी का इस्तेमाल करना फायदेमंद साबित होता है। कटिबैक्टीरियम एक्ने मुंहासे के स्थान में सूजन और दर्द पैदा करने का काम करता है। ऐसे में हल्दी का इस्तेमाल करने से संक्रमण कम होता है और साथ ही सूजन और दर्द की समस्या में भी राहत होती है।
    • इसके साथ ही जिन लोगों को ऐटोपिक डर्मेटाइटिस की समस्या होती है, उन में सूजन कम करने के लिए भी हल्दी का इस्तेमाल किया जाता है। ऐटोपिक डर्मेटाइटिस एग्जिमा का एक प्रकार है। यह प्रकार की इफ्लामेटरी कंडीशन है, जो वातावरणीय या इम्यून फैक्टर पर निर्भर करती है। हल्दी का इस्तेमाल सूजन, स्केलिंग, खुजली की समस्या आदि में राहत दिलाने का काम करता है।
    • उम्र बढ़ने के साथ ही स्किन में भी फर्क नजर आने लगता है। उम्र बढ़ने के साथ ही सूर्य की रोशनी का त्वचा पर बुरा प्रभाव अधिक पड़ने लगता है। जो महिलाएं त्वचा में हल्दी का इस्तेमाल करती हैं, उनकी त्वचा अन्य महिलाओं की त्वचा से बेहतर होती है। एनसीबीआई में प्रकाशित रिपोर्ट से यह पता चलता है कि लंबे समय तक हल्दी का इस्तेमाल करने से एजिंग के कारण स्किन में हो रहे बदलाव रुक जाते हैं। 28 महिलाओं में की गई 4 सप्ताह तक रोजाना हल्दी के इस्तेमाल के कारण परिवर्तन देखने को मिला।

    और पढ़ें: पैरों की ड्राय स्किन के लिए उपाय अपनाने हैं, तो पढ़ें यहां

    • फेशियल सोरायसिस (Facial psoriasis) की कंडीशन में भी हल्दी का इस्तेमाल फायदा पहुंचाता है। यह एक इन्फ्लामेटरी कंडीशन है, जिसके कारण चेहरे पर सफेद पैच बन जाते हैं और यह मोटे भी होते हैं। फेशियल सोरायसिस शरीर के विभिन्न हिस्सों को प्रभावित कर सकता है। सोरायसिस से पीड़ित लोगों में उन लोगों की तुलना में फॉस्फोराइलेज किनेज (PhK) का लेवल ज्यादा होता है, जिन लोगों में यह कंडीशन नहीं होती है। यह एक प्रकार का प्रोटीन है, जो स्किन सेल्स के अधिक उत्पादन में मदद करता है। हल्दी में पाई जाने वाली करक्यूमिन जेल एक्टिविटी को कम करने में मदद करती है। इस तरह से फेशियल सोरायसिस (Facial psoriasis) की समस्या में हल्दी फायदा पहुंचाती है।

    क्या टरमरिक फेस मास्क के दुष्प्रभाव भी होते हैं?

    वैसे तो हल्दी का इस्तेमाल खाने के लिए और त्वचा में लगाने के लिए सुरक्षित माना जाता है लेकिन कुछ लोगों को समस्या हो सकती है। अगर आप टरमरिक फेस मास्क का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो बेहतर होगा कि कुछ मात्रा में हल्दी को पहले अपनी स्किन में लगाएं और उसके बाद इंतजार करें। अगर आपकी त्वचा में किसी प्रकार की समस्या नहीं हो रही है, तो ऐसे में आप टरमरिक फेस मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। वहीं जिन लोगों को कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Contact dermatitis) की समस्या है, बेहतर होगा कि उन लोगों को हल्दी का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। अगर आपको स्किन संबंधी कोई भी समस्या है, तो सबसे पहले डॉक्टर को दिखाएं और जांच कराएं कि आपको कौन सी बीमारी है। आप चाहे तो डॉक्टर से भी हल्दी के इस्तेमाल के बारे में सलाह ले सकते हैं।

    और पढ़ें: Sunburn On Dark Skin: जानिए डार्क स्किन पर सनबर्न के बारे में यहां!

    कैसे करे हल्दी फेस मास्क का इस्तेमाल?

    अब आपके मन में यह सवाल होगा कि अगर हल्दी फेस मास्क का इस्तेमाल करना है, तो आखिर कैसे किया जाए। आप हल्दी का इस्तेमाल करने से पहले यह बात जरूर जान लें कि जिस हल्दी का आप इस्तेमाल कर रहे हैं, उसमें कोई अन्य मसाला मिला हुआ ना हो। बेहतर होगा कि आप हल्दी को खरीदने के बाद उसे घर में पीस लें और तब उसका इस्तेमाल करें। अगर आप ऐसा नहीं कर सकते हैं, तो आप बाजार में मिलने वाली हल्दी फेस मास्क को भी खरीद सकते हैं। आप हल्दी में कुछ मात्रा में शहद या बेसन मिलाकर भी लगा सकते हैं। कुछ लोग हल्दी में दही मिलाकर भी लगाते हैं। आपको स्किन में समस्या ना हो, ऐसे प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें। स्किन में फेस मास्क लगाने के 10 से 15 मिनट बाद चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें। आप हफ्ते में तीन से चार बार या रोजाना भी इस मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं।

    अगर आप किसी स्किन कंडीशन से परेशान है, तो बेहतर होगा कि चेहरे में कुछ भी इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें। किसी प्रकार की स्किन कंडीशन होने पर चेहरे पर रगड़ने से या फिर स्क्रब करने से बचें। आपको चेहरे की साफ सफाई पर ध्यान रखना होगा और साथ ही जिस स्थान पर खुजली हो रही है, वहां स्क्रब का इस्तेमाल न करें। आंखों के आसपास की स्किन बहुत नाजुक होती है और ऐसे में किसी भी प्रोडक्ट का इस्तेमाल उस स्किन को नुकसान पहुंचा सकता है। आपको आंखों के आसपास की स्किन में किसी भी प्रकार के केमिकल प्रोडक्ट को लगाने से बचना चाहिए। चेहरे को दिन में केवल एक बार फेस वॉश से साफ करें और करीब 2 बार गुनगुने पानी से धुले। ऐसा करने से आपकी स्किन हेल्दी रहेगी।

    और पढ़ें: महिलाओं के प्यूबिक एरिया में ड्राय स्किन होने के कारण और बचने के तरीके जानें

    इस आर्टिकल में हमने आपकोटरमरिक फेस मास्क (Turmeric Face Mask) के बारे में अहम जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हैलो हेल्थ की ओर से दी हुई जानकारियां पसंद आई होंगी। अगर आपको स्किन के संबंध में अधिक जानकारी चाहिए, तो हैलो हेल्थ की वेबसाइट में आपको अधिक जानकारी मिल जाएगी।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Curcumin: A contact allergen.
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4689497/

    Eczema types: Atopic dermatitis symptoms.
    https://www.aad.org/public/diseases/eczema/types/atopic-dermatitis/symptoms

    Face washing
    https://www.aad.org/public/everyday-care/skin-care-basics/care/face-washing-101

     Curcumin loaded chitosan nanoparticles impregnated into collagen-alginate scaffolds for diabetic wound healing [Abstract].
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27180291/

     Formulation and clinical evaluation of topical dosage forms of Indian penny wort, walnut and turmeric in eczema [Abstract].
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/26639477/

    Facial psoriasis.
    https://dermnetnz.org/topics/facial-psoriasis/

    लेखक की तस्वीर badge
    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/04/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: