रोजहिप ऑयल (Rosehip oil) स्किन हेल्थ के लिए क्यों माना जाता है फायदेमंद

    रोजहिप ऑयल (Rosehip oil) स्किन हेल्थ के लिए क्यों माना जाता है फायदेमंद

    रोजहिप ऑयल (Rosehip oil) रोजहिप फ्रूट के बीज से निकलता है। यह एंटीऑक्सिडेंट का अच्छा सोर्स है जिसका उपयोग कई प्रकार की स्किन कंडिशन के इलाज में किया जाता है। इसका उपयोग क्लींजर और मेकअप रिमूवर के रूप में भी किया जाता है। कई स्किनकेयर कंपनियां रोजहिप ऑयल को प्योर फॉर्म में या प्रोडक्ट्स के इंग्रीडिएंट के रूप में यूज करती हैं। इस आर्टिकल में स्किन हेल्थ के लिए रोजहिप ऑयल के फायदे (Rosehip oil benefits) बताए जा रहे हैं।

    स्किन हेल्थ के लिए रोजहिप ऑयल (Rosehip oil for skin health)

    रोजहिप ऑयल (Rosehip oil) में एंटीऑक्सिडेंट खाकसर विटामिन सी अधिक मात्रा में पाया जाता है। ये फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद करता है। फ्री रेडिकल्स स्किन एजिंग और बीमारियों के पैदा होने में बड़ी भूमिका निभाते हैं। रोजहिप ऑयल स्किन को सन डैमेज से बचाने, सन इंड्यूस्ड एजिंग के संकेतों को रिवर्स करने और स्किन इंफ्लामेशन जो एक्जिमा और मुंहासों का कारण बनती है को कम करने में मदद करता है।जब कोई व्यक्ति रोजहिप ऑयल को स्किन पर लगाता है तो इसके कई फायदे देखने को मिलते हैं। जिनमें निम्न शामिल हो सकते हैं।

    और पढ़ें: Hyperkeratosis: जानिए स्किन से जुड़ी समस्या ‘हाइपरकेराटोसिस’ क्या है?

    स्किन को मॉश्चराइज करता है (Moisturizes the skin)

    हार्श कैमिकल्स और एनवायरमेंटल पॉल्यूटेंट्स स्किन की बाहरी परत को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसकी वजह से स्किन ड्राय और खुजली वाली हो जाती है और उसमें नमी नहीं रहती। रोजहिप ऑयल (Rosehip oil) दूसरे कुछ ऑयल स्किन को रिपेयर करने में मदद करते हैं। जिन लोगों के फेस स्किन ड्राय और खुजली वाली होती है उन्हें नहाने के तुरंत बाद रोजहिप ऑयल लगाना चाहिए। ऐसा करने से स्किन के ऊपर फिजिकल बेरियर को क्रिएट करने में मदद मिलती है जिससे चेहरे पर नमी रहती है।

    दाग (Scars) को दूर करने में प्रभावी

    रोजहिप ऑयल दाग-धब्बों को दूर करने और स्कार से संबंधित स्किन डिसकलरेशन में सुधार करने में मददगार है। साइंटिफिक रिसर्च पब्लिशिंग में छपी एक स्टडी में 108 प्रतिभागियों को शामिल किया गया था जो त्वचा के ट्यूमर को हटाने के लिए सर्जरी करा रहे थे। सर्जरी के बाद, कुछ ने अपने निशानों पर रोजहिप ऑयल (Rosehip oil) लगाया, जबकि एक समूह के लोगों ने ऐसा नहीं किया।

    6 सप्ताह के बाद, ट्रीटमेंट ग्रुप के प्रतिभागियों ने त्वचा की लालिमा में महत्वपूर्ण कमी देखी। 12 सप्ताह तक, उन्हीं व्यक्तियों ने स्किन डिसकलरेशन में महत्वपूर्ण कमी देखी। अमेरिकन एकेडेमी ऑफ डर्मेटोलॉजी का कहना है कि घाव नमी के रहने से निशान या दाग को रोकने में मदद मिलती है। घाव पर रोजहिप ऑयल लगाने से घाव सूखना नहीं है और दाग या निशान में कमी आती है।

    और पढ़ें: White spots on skin: स्किन में सफेद दाग का क्या है मतलब?

    रोजहिप ऑयल कर सकता है एक्जिमा के इलाज में मदद (Rosehip oil can help treat eczema)

    एक्जिमा (Eczema) एक सूजन वाली त्वचा की स्थिति (Inflammatory skin condition) है जो क्रोनिक ड्रायनेस, खुजली वाले लाल धब्बे और त्वचा में जलन का कारण बनती है। रोजहिप ऑयल एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होता है जो सूजन से लड़ने में मदद कर सकता है। इसलिए, यह एक्जिमा की गंभीरता को कम करने में मदद कर सकता है, खासकर यदि कोई व्यक्ति पारंपरिक एक्जिमा उपचार के साथ इसका उपयोग करता है।

    चूंकि रोजहिप ऑयल (Rosehip oil) त्वचा से पानी के नुकसान को भी रोक सकता है, यह क्रोनिक स्किन ड्रायनेस से निपटने में मदद कर सकता है।

    रोजहिप ऑयल के फायदे

    मेकअप रिमूवर (Makeup remover) का भी करता है काम

    पारंपरिक क्लींजर और फेस वाश में हार्श कैमिकल हो सकते हैं जो शुष्क और संवेदनशील त्वचा का कारण बन सकते हैं। रोहजिप ऑयल एक अच्छा विकल्प है जो त्वचा की नमी को नहीं छीनेगा। यह विशेष रूप से ड्राय या एलर्जी प्रोन स्किन (Allergy prone skin) वाले लोगों के लिए उपयुक्त हो सकता है। तेल आधारित क्लींजर मस्कारा और लंबे समय तक चलने वाले फाउंडेशन सहित वाटरप्रूफ मेकअप को भी निकालने में मदद कर सकते हैं।

    और पढ़ें: Skin Blemishes: स्किन ब्लेमिशेस क्या है? जानिए इसके कारण, लक्षण और बचाव!

    एज स्पोट्स (Age spots) को कम करने में मददगार

    कुछ लोगों का दावा है कि रोजहिप ऑयल एज रिलेटेड स्किन डिसकलरेशन जैसे कि एज स्पोट्स को कम करने या रोकने में मददगार है। हालांकि इस दावे को लेकर कोई रिसर्च नहीं की गई है। रोजहिप ऑयल (Rosehip oil) में विटामिन सी अधिक मात्रा में पाया जाता है। यह विटामिन सन एक्सपोजर के कारण होने वाले डैमेज से स्किन सेल्स को प्रोटेक्ट करता है। एनसीबीआई की एक स्टडी के अनुसार विटामिन सी उम्र के कारण होने वाले दाग-धब्बों को कम करने में मददगार है। यह सन डैमेज को रिपेयर करने में भी मदद करता है।

    मुंहासे वाली स्किन (Skin prone skin) की देखभाल करता है

    स्किन रोजहिप ऑयल को जल्दी एब्जॉर्ब कर लेती है जिसकी वजह से रोमछिद्र बंद नहीं होते। इसलिए यह ऑयली और एक्ने प्रोन स्किन के लिए एक आदर्श क्लींजिंग ऑयल है। रोजहिप ऑयल में रेटनॉइड्स होते हैं जो एक्ने की अपीरिएंस में सुधार लाते हैं।

    2012 के एक क्लिनिकल परीक्षण में रोजहिप ऑयल और चार अन्य रेटिनोइड युक्त पौधों के तेल युक्त एक हर्बल क्रीम की एंटी एक्ने पोटेंशियल की जांच की। मुंहासे वल्गरिस वाले लगभग 60 प्रतिभागियों ने भाग लिया। प्रतिभागियों के एक समूह ने कम से कम 2 सप्ताह के लिए क्रीम लगाई, जबकि एक नियंत्रण समूह ने प्लेसीबो क्रीम लगाई। हर्बल क्रीम लगाने वाले प्रतिभागियों ने प्लेसीबो समूह की तुलना में मुंहासे के घावों की संख्या में उल्लेखनीय कमी देखी।

    हर्बल क्रीम का उपयोग करने वालों की त्वचा की सूजन में भी कमी आई है। हालांकि, जैसा कि हर्बल क्रीम में पांच अलग-अलग पौधों के तेल शामिल थे, यह स्पष्ट नहीं है कि रोजहिप ऑयल में मुंहासे कम करने वाले प्रभाव कितने थे।

    क्या रोजहिप ऑयल के नुकसान भी हो सकते हैं? (Side effects of rosehip)

    अधिकांश शोध रिपोर्ट करते हैं कि रोजहिप ऑयल (Rosehip oil) सुरक्षित है और इससे साइड इफेक्ट का जोखिम कम है। हालांकि, किसी भी अन्य प्राकृतिक या कृत्रिम उत्पाद की तरह, रोजहिप ऑयल एलर्जी की प्रतिक्रिया पैदा कर सकता है।

    एलर्जी प्रतिक्रियाएं हल्के दाने या जलन से लेकर जीवन के लिए खतरा एनाफिलेक्सिस तक हो सकती हैं। साइड इफेक्ट के जोखिम को कम करने के लिए लोगों को धीरे-धीरे अपने स्किनकेयर रूटीन में रोजहिप ऑयल को शामिल करना चाहिए। चेहरे पर इसे लगाने से पहले हाथ या पैर की स्किन पर लगाकर टेस्ट किया जा सकता है। अगर कोई व्यक्ति रोजहिप ऑयल लगाते समय त्वचा में जलन का अनुभव करता है, उसे तेल का उपयोग बंद कर देना चाहिए और वैकल्पिक उपचार की तलाश करनी चाहिए।

    रोजहिप ऑयल की एक कमी इसकी सेल्फ लाइफ भी है। हवा के संपर्क में आने पर यह जल्दी खराब हो जाता है। खराब हो चुके तेल में एक अप्रिय गंध हो सकती है और यह प्रभावी रूप से काम नहीं कर पाता। तेल को बार-बार बदलने से बचने के लिए इसकी छोटी बोतलें खरीद सकते हैं और उन्हें फ्रिज में रख सकते हैं।

    और पढ़ें: Best Toner For Oily Skin: महिलाओं और पुरुषों के ऑयली स्किन के लिए बेस्ट टोनर!

    अन्य फेस ऑयल्स (Other face oils)

    रोजहिप ऑयल एक अकेला एंटीऑक्सिडेंट युक्त फेस ऑयल नहीं है जिसे लोग फेस पर यूज कर सकते हैं। अन्य कई ऑयल भी मेकअप को निकाल सकते हैं, नमी की कमी को दूर कर सकते हैं और स्किन हेल्थ में सुधार कर सकते हैं। इनमें निम्न शामिल हैं।

    टी ट्री ऑयल जैसे कुछ एसेंशियल ऑयल भी त्वचा की समस्याओं को कम करने में मदद कर सकते हैं। हालांकि, कुछ एसेंशियल ऑयल्स में बोटेनिकल एलर्जेंन्स होते हैं जो त्वचा की जलन और एलर्जी को ट्रिगर कर सकते हैं। जो लोग अपने स्किनकेयर रूटीन में प्राकृतिक तेलों को शामिल करने में रुचि रखते हैं, उन्हें एक सौम्य तेल से शुरुआत करनी चाहिए। रोजहिप का तेल और तिल का तेल अच्छे विकल्प हो सकते हैं।

    रोजहिप ऑयल एक सौम्य तेल है जिसे ज्यादातर लोग अच्छी तरह टॉलरेट कर सकते हैं। यह इसे एक्जिमा या संवेदनशील त्वचा वाले लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प बनाता है। उम्मीद करते हैं कि आपको रोजहिप तेल (Rosehip oil) से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Vitamin C in dermatology/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3673383/ Accessed on 11/05/2022

    https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/atopic-dermatitis-eczema/symptoms-causes/syc-20353273#:~:text=Atopic%20dermatitis%20(eczema)%20is%20a,been%20found%20for%20atopic%20dermatitis.

    Skin Diseases/https://my.clevelandclinic.org/health/diseases/21573-skin-diseases#:~:text=Some%20of%20the%20most%20common,to%20swelling%2C%20cracking%20or%20scaliness./Accessed on 11/05/2022

    https://www.webmd.com/diet/health-benefits-rosehip-oil#1

    https://www.cdc.gov/healthywater/hygiene/face/index.html

    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 13/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड