home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

दो मुंहे बाल और डैंड्रफ को कम कर सकता है ऑलिव ऑयल

दो मुंहे बाल और डैंड्रफ को कम कर सकता है ऑलिव ऑयल

बालों के लिए ऑलिव ऑयल

ऑलिव ऑयल यानि की जैतून के तेल का इस्तेमाल बालों की समस्या के लिए आयुर्वेद और चिकित्सा में बहुत पुराना है। दरअसल ऑलिव ऑयल में मोनोसैचुरेटेड फैटी एसिड काफी मात्रा में पाया जाता है जो बालों के लिए अच्छा होता है। साथ ही इसमें विटामिन ई ,ओलिक एसिड ,स्क्वेलीन और टेरापेन जैसे फैटी एसिड पाए जाते हैं। ये सभी बालों के पोषण के लिए जरूरी हैं। बालों से जुड़ी लगभग सभी समस्याओं जैसे बालों का झड़ना, कमजोर होना, डैंड्रफ, रूखे, दो मुंहे बाल के लिए ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल बहुत कारगर साबित होता है। आइए जानते हैं कि कैसे ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल बालों की किन समस्याओं को दूर कर सकता है।

डैंड्रफ से दिलाए छुटकारा

मौसम बदलने पर या बाल गंदे होने पर अक्सर बालों में डैंड्रफ की शिकायत हो जाती है। ऐसे में ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल बालों के डैंड्रफ को कम करता है। बाल धोने से 1 घंटे पहले ऑलिव ऑयल से मसाज करने से डैंड्रफ कम हो सकता है।

दो मुंहे बाल

दो मुंहे बालों की समस्या से ज्यादातर महिलाएं परेशान रहती हैं। दो मुंहे बालों से बालों की ग्रोथ रुक जाती है और बाल नीचे से खराब से होने लगता हैं। इसके लिए हल्के हाथों से बालों में ऑलिव ऑयल की मसाज करें इससे दो मुंहे बाल कम होते हैं। हफ्ते में 2 से 3 बार ऐसा करने से फायदा मिलता है।

और पढ़ें : Hematocrit test: जानें क्या है हेमाटोक्रिट टेस्ट?

बालों के लिए ऑलिव ऑयल दे अच्छी ग्रोथ

शैम्पू और कंडीशनर के इस्तेमाल से बालों पर केमिकल का इफेक्ट देखा जा सकता है। ऑलिव ऑयल बालों में अतिरिक्त सीबम को बनने से रोकता है जो कि हेयर ग्रोथ पर असर डालती है। ऑलिव ऑयल से बालों की ग्रोथ अच्छी होती है और बाल घने, लंबे होते हैं।

बालों के लिए ऑलिव ऑयल है नैचुरल कंडिशन

ऑलिव ऑयल एक नेचुरल कंडीशनर है। बालों को धोने से पहले ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करने से बाल सिल्की और सॉफ्ट होते हैं।

बालों की चमक के लिए ऑलिव ऑयल

प्रदूषण और लापरवाही के कारण बाल अक्सर रूखे और डल नजर आते हैं। ऑलिव ऑइल में मोनोसैचुरेटेड एसिड होता है जो बालों को पोषक तत्व प्रदान करने के साथ -साथ खोई हुई चमक भी लौटाता है।

और पढ़ें : Hepatitis A Virus Test: हेपेटाइटिस-ए वायरस टेस्ट क्या है?

मजबूत बालों के लिए ऑलिव ऑयल

बालों का कमजोर होना एक बहुत ही आम समस्या क्योंकि तरह-तरह के शैम्पू, कंडीशनर और हेयर मेकअप बालों को खराब कर देते हैं। ऑलिव ऑयल में विटामिन ई होता है जो बालों में कैरेटिन को लॉक करता है। साथ ही इसमें कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जो बालों को मजबूत बनाते हैं।

बालों से जुड़ी समस्याओं से तो हर कोई परेशान है फिर चाहे वो लड़की हो या लड़का। हेयर फॉल और बालों की ड्राईनेस आम समस्या बन चुकी है। ऑलिव ऑयल इन दोनों समस्याओं के लिए कारगर है। यह बालों को घना, मजबूत ,चमकदार और सिल्की बनाता है। अगर बालों में कोई इंफेक्शन है और अत्यधिक हेयर फॉल हो रहा है तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

ये तो थे जैतून के तेल के फायदे बालों के लिए। लेकिन ये सिर्फ बालों के लिए ही नहीं, बल्कि पूरे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। जानिए ऑलिव ऑयल के कुछ और बेहतरीन फायदे :

कोलेस्ट्रॉल को कम करे ऑलिव ऑयल

ऑलिव ऑयल का उपयोग करने से खराब कोलेस्ट्रॉल में काफी कमी आ सकती है। बुरे कोलेस्ट्रॉल से धमनियों में संकुचन पैदा हो सकता है और जैतून का तेल शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाता है जो कि बॉडी को सुरक्षा प्रदान करता है। जैतून के तेल से दिल मजबूत होता है और दौरा पड़ने की संभावना भी कम हो सकती है।

सूजन से राहत दिलाए ऑलिव ऑयल

जैतून तेल में सूजन को कम करने के गुण भी मौजूद होते हैं। विशेष रुप से लंबे समय से चली आ रही सूजन को कम करने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसके अलावा यह अल्जाइमर, डायबिटीज और गठिया जैसी बीमारियों को भी दूर कर सकता है।

लिवर के लिए हेल्दी है ऑलिव ऑयल

एक अध्ययन के मुताबिक एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑइल लीवर को ऑक्सीडेटिव तनाव से बचता है जो कि फ्री रेडिकल्स (मुक्त कणों ) और अन्य अणुओं के बीच रासायनिक प्रक्रिया के कारण होता है। इसलिए ऑलिव ऑइल से बना खाना खाने से लीवर भी हैल्दी रहता है।

मस्तिष्क के लिए जैतून का तेल

जैतून का तेल मस्तिष्क के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता है। तनाव, चिंता और अन्य कई कारणों से लोगों की मानसिक स्थिति पर बुरा असर पड़ता है। ऐसे में कई लोग उम्र के साथ-साथ अल्जाइमर (Alzheimer’s) जैसी बीमारी का शिकार होने लगते हैं। इसमें व्यक्ति उम्र बढ़ने के साथ-साथ अपनी याद्दाश्त खोने लगता है। ऐसे में ऑलिव ऑयल या वर्जिन ऑलिव ऑयल के सेवन से अल्जाइमर जैसी याददाश्त संबंधी परेशानी से बचा जा सकता है।

ब्रेस्ट कैंसर के लिए

जैतून का तेल अन्य तेलों के मुकाबले इसलिए भी बेहतर है क्योंकि यह ब्रेस्ट कैंसर को रोकने की क्षमता रखता है। ऑलिव ऑयल में कुछ ऐसे यौगिक होते हैं, जो कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने में मददगार साबित हो सकते हैं।

इन बातों का रखें खास ध्यान

जैतून का तेल ब्लड के शुगर लेवल को कम कर सकता है। डायबिटीज से जूझ रहे लोगों को जैतून के तेल के इस्तेमाल से पहले अपने ब्लड शुगर की जांच करानी चाहिए।

वहीं जैतून का तेल ब्लड शुगर लेवल पर असर डाल सकता है। सर्जरी के दौरान और उसके बाद ऑलिव ऑयल के इस्तेमाल से ब्लड शुगर के कंट्रोल पर असर पड़ सकता है। सर्जरी से दो हफ्ते पहले ही जैतून का तेल लेना बंद कर दें।

यहां बताए गए प्रयोगों से आप समझ ही गए होंगे कि जैतून का तेल कितना लाभदायक है। यूनिवर्सिटी ऑफ नवरा और लास पालमास डी ग्रैन कैनरिया के स्पेनिश रिसर्चर के अनुसार, जैतून के तेल से भरपूर आहार मानसिक बीमारी से भी बचा सकता है। इन सब फायदों को देखते हुए आप अपने डेली रूटीन में जैतून के तेल को शामिल कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित
अपडेटेड 04/07/2019
x