कहीं अनहेल्दी नाखूनों का कारण 'हैंगनेल' तो नहीं?

    कहीं अनहेल्दी नाखूनों का कारण 'हैंगनेल' तो नहीं?

    शरीर के अंदुरुनी तकलीफ को समझ पाना थोड़ा कठिन होता है, लेकिन अगर कोई शारीरिक परेशानी नजर आ जाए, तो इसे समझना थोड़ा आसान हो जाता है। दरअसल शारीरिक परेशानियों या मानसिक परेशानियों को समझकर ही किसी भी बीमारी से लड़ना आसान हो सकता है। कई बार तो हमसभी परेशानियों को देखकर भी इग्नोर कर देते हैं और छोटी सी परेशानी बन जाती है बड़ी मुसीबत! आज आर्टिकल में हैंगनेल (Hangnails) से जुड़ी सभी जानकारी आपसे शेयर करेंगे, क्योंकि कई लोग अपने नाखूनों की देखभाल तो करते हैं, लेकिन छोटी-छोटी बातों को ध्यान ना रखकर खुद ही परेशानियों को दावत दे बैठते हैं और इन्हीं परेशानियों में शामिल है हैंगनेल।

    • हैंगनेल क्या है?
    • हैंगनेल के लक्षण क्या हैं?
    • हैंगनेल के कारण क्या हैं?
    • हैंगनेल का इलाज कैसे किया जाता है?
    • हैंगनेल होने पर क्या करें घरेलू उपाय?
    • डॉक्टर से कंसल्ट कब करना चाहिए?
    • हैंगनेल की समस्या से राहत पाने के लिए नैचुरल उपाय क्या हैं?

    चलिए अब इन सवालों के जवाब एक-एक कर जानते हैं।

    और पढ़ें : 10 किचन ब्यूटी सीक्रेट जिसमें छुपा है खूबसूरती का राज

    हैंगनेल (Hangnails) क्या है?

    हैंगनेल (Hangnails)

    हमसभी नाखूनों के आसपास की स्किन निकलना (छिली हुई त्वचा) की परेशानी से परिचित हैं, लेकिन कई बार नाखून के आसपास की त्वचा के छिलने की वजह से तेज दर्द होना या जलन होना इंफेक्शन की ओर इशारा करते हैं। ऐसी स्थिति में अगर उंगलियों में कुछ टच हो जाये, तो झनझनाहट होने के साथ-साथ दर्द और ज्यादा बढ़ जाती है। इस परेशानी को हैंगनेल (Hangnails) कहते हैं। हैंगनेल की समस्या ना हो या इससे बचने के लिए इसके लक्षणों को समझना जरूरी है।

    और पढ़ें : डिश वॉश लिक्विड से क्या त्वचा को नुकसान पहुंचता है?

    हैंगनेल के लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Hangnails)

    हैंगनेल (Hangnails)

    हैंगनेल के लक्षणों के बारे में आपसे शेयर करूं, उससे पहले एक बात जरूर याद दिलाना चाहुंगी। कहते हैं देखन में छोटे लगत घाव करैं गंभीर। दरअसल हैंगनेल की समस्या यही है, क्योंकि आप इस छोटी सी परेशानी पर ध्यान नहीं देते हैं। इसलिए इसके लक्षणों को समझिये। जैसे:

    • नाखून और आसपास की त्वचा लाल (Redness) पड़ना।
    • नाखून के आसपास सूजन (Swelling) होना।
    • नाखून और आसपास की स्किन में दर्द (Pain) होना।
    • नेल और स्किन का गर्म होना।
    • नाखून के आसपास से ब्लीडिंग (Bleeding) होना।
    • नाखून से पस (Abscess) आना।

    ये लक्षण हैंगनेल (Hangnails) की समस्या को दर्शाते हैं, जिन्हें इग्नोर करना किसी दूसरे परेशानी को दावत देने से कम नहीं है। हैंगनेल की समस्या के कारणों को भी समझना जरूरी है, तभी इसका इलाज ठीक तरह से करवाया जा सकता है और आपके नाखून फिर से आकर्षित हो सकते हैं।

    और पढ़ें : एसेंशियल ऑयल के फायदे बेशुमार, तो होते हैं कुछ नुकसान भी

    हैंगनेल के कारण क्या हैं? (Cause of Hangnails)

    हैंगनेल की समस्या निम्नलिखित कारणों से हो सकती है। जैसे:

    • स्किन ड्राय (Dry skin) होना।
    • नाखून चबाना (Nail-biting)।
    • नाखून का बहुत ज्यादा काटना।
    • नाखून के आसपास की त्वचा अत्यधिक सॉफ्ट होना।
    • आर्टिफिशियल नेल (Artificial nails) का इस्तेमाल करना।
    • बहुत ज्यादा हाथों से पानी का प्रयोग करना।
    • डायबिटीज (Diabetes) की समस्या होना।
    • नाखून चबाना या उंगली चूसना।

    इन ऊपर बताये कारणों की वजह से हैंगनेल की समस्या हो सकती है, लेकिन ऐसा नहीं कि इस परेशानी को दूर नहीं किया जा सकता है।

    और पढ़ें : सैलीसिलिक एसिड और ग्लाइकोलिक एसिड: ब्यूटी प्रोडक्टस में प्रयोग होने वाले यह एसिड किस तरह से हैं फायदेमंद, जानिए

    हैंगनेल का इलाज कैसे किया जाता है? (Treatment of Hangnail)

    हैंगनेल (Hangnail)

    हैंगनेल का इलाज डॉक्टर इस प्रकार करते हैं। जैसे:

    • एंटीबायोटिक (Antibiotic) या एंटीफंगल (Antifungal) क्रीम के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है। स्किन हेल्थ को ध्यान में रखकर डॉक्टर एंटीबायोटिक या एंटीफंगल क्रीम प्रिस्क्राइब करते हैं।
    • अगर नाखून से पस आने की समस्या है, तो ऐसे में हेल्थ एक्सपर्ट अपनी निगरानी में पस क्लीन करते हैं, जिससे इंफेक्शन की समस्या को रोका जाता है।
    • अगर परेशानी ज्यादा है, तो डॉक्टर हैंगनेल (Hangnail) के एरिया को सर्जिकल प्रोसेस की तरह नाखून की सफाई करते हैं और आवश्यकता अनुसार ओरल एंटीबायोटिक (Oral antibiotic) प्रिस्क्राइब करते हैं।

    इलाज के दौरान डॉक्टर द्वारा बताये गए निर्देशों का पालन करें और नाखूनों की साफ-सफाई का ध्यान रखें।

    और पढ़ें : इन कारणों से हो सकती हैं आपमें नाखून टूटने की समस्या, जानें यहां

    हैंगनेल होने पर क्या करें घरेलू उपाय? (Home remedies for Hangnails)

    हैंगनेल की तकलीफ को दूर करने के लिए निम्नलिखित घरेलू उपाय अपना सकते हैं। जैसे:

    • हल्के गर्म पानी में उंगलियों को 10 से 15 मिनट तक डुबो (Soak) कर रखें। ऐसा करने से ब्लड सर्क्युलेशन (Blood circulation) बेहतर होगा और नाखून को साफ रखने में सहायता मिलेगी।
    • अब नाखून (Nail) और आसपास के निकले हुए स्किन को सावधानीपूर्वक ट्रिम करें।
    • हाथों और पैरों को साफ और कॉटन के कपड़ों से क्लीन और ड्राय करें।
    • अब अच्छी तरह से मॉश्चराइज (Moisturize) करें।

    अगर इन उपायों से हैंगनेल की परेशानी को दूर किया जा सकता है, लेकिन अगर परेशानी ज्यादा है, तो डॉक्टर से कंसल्ट करना बेहद जरूरी है।

    और पढ़ें : एक्जिमा के लिए ओटीसी क्रीम लेने से पहले 4 बातों को ध्यान रखना क्यों है जरूरी?

    डॉक्टर से कंसल्ट कब करना चाहिए?

    हैंगनेल की समस्या मौसम के बदलाव या सर्दियों में ज्यादा देखी जाती है, लेकिन अगर यह परेशानी किसी भी मौसम हो और 6 या 7 दिनों में ठीक ना हो, तो ऐसे डॉक्टर से सलाह लेना आवश्यक होता है। इस दौरान कंसल्टेशन इस लिए जरूरी है कि इंफेक्शन (Infection) का इलाज अगर वक्त पर ना किया जाए, तो परेशानी कम होने की बजाये बढ़ सकती है।

    हैंगनेल (Hangnail) की समस्या से राहत पाने के लिए नैचुरल उपाय क्या हैं?

    हैंगनेल की समस्या हो या नाखूनों और पैर-हाथ का रखना हो ख्याल, तो निम्नलिखित प्राकृतिक चीजों का इस्तेमाल किया जा सकता है। जैसे-

    जैतून का तेल (Olive oil)

    हैंगनेल (Hangnail)

    जैतून के तेल में एंटीऑक्सिडेंट (Antioxidant) की मौजूदगी त्वचा और नाखूनों को हेल्दी बनाये रखने में आपका साथ निभा सकती है। इस ऑयल को नियमित रूप से रात को सोने से पहले अपने हाथ और पैर की उंगलियों को मसाज करें।

    और पढ़ें : बच्चों के लिए किस तरह से फायदेमंद है जैतून के तेल की मसाज, जानिए सभी जरूरी बातें

    एवोकैडो (Avocado)

    हैंगनेल (Hangnail)

    एवोकैडो का सेवन डायट में किया जाता है, लेकिन इस सिर्फ सेवन ही नहीं, बल्कि मसाज के तौर से भी इस्तेमाल किया जा सकता है। दरअसल इसमें मौजूद विटामिन ए (Vitamin A), विटामिन डी (Vitamin D) और विटामिन ई (Vitamin E) की मौजूदगी स्किन के लिए अच्छा माना जाता है। वहीं सूर्य की हानिकारक किरणों से डैमेज हुई त्वचा को भी हेल्दी बनाने में मदद मिलती है। हाथ या पैर में मालिश करने के लिए एवोकैडो पल्प में नारियल तेल (Coconut oil) मिलाएं और फिर मसाज करें।

    और पढ़ें : एवोकैडो ऑयल स्किन के लिए है फायदेमंद, जानिए कैसे पहुंचाता है फायदा

    एलोवेरा (Aloe Vera)

    हैंगनेल (Hangnail)

    एलोवेरा स्किन, हेयर और शरीर को स्वस्थ रखने के लाभकारी माना जाता है। वहीं अगर आपको हैंगनेल की समस्या है, तो आप एलोवेरा जेल (Aloe Vera Gel) से हल्के हाथों से मसाज करें। नियमित मसाज करने से जल्द लाभ मिल सकता है।

    और पढ़ें : एलोवेरा के फायदे: सिर्फ टैनिंग ही नहीं स्किन प्रॉब्लम्स के लिए है रामबाण

    शहद (Honey)

    हैंगनेल (Hangnail)

    हैंगनेल (Hangnail) की समस्या को दूर करने के लिए शहद भी लाभकारी माना जाता है। हैंगनेल वाले एरिया पर अप्लाई करें और कुछ देर के लिए छोड़ दें। 8 से 10 मिनट के बाद ताजे पानी उस एरिया को क्लीन करें। ऐसा करने से क्यूटिकल्स की समस्या दूर हो जाएगी।

    और पढ़ें : नाखूनों में ये बदलाव हो सकते हैं नेल इंफेक्शन के लक्षण, जानिए इसके उपचार

    आप चाहें, तो डर्मेटोलॉजिस्ट से सलाह लेकर भी मॉश्चराइजर या किसी क्रीम का इस्तेमाल कर सकते हैं। वैसे इन ऊपर बताये तरीकों के अलावा कुछ अन्य बातों का ख्याल अवश्य रखें। जैसे:

    • सर्दियों के मौसम में अच्छे फेब्रिक के दास्ताने पहनें।
    • नाखूनों को जरूरत से ज्यादा ना काटें।
    • नाखून या उंगलियों को ना चबाएं।
    • आर्टिफिशियल नेल का इस्तेमाल ना करें।
    • हाथों पर केमिकल का इस्तेमाल ना करें।
    • नेलपेंट के क्वॉलिटी का ध्यान रखकर ही इसका इस्तेमाल करें।
    • नेलपॉलिश रिमूवर भी वैसा इस्तेमाल करें, जिनकी क्वॉलिटी अच्छी हों।

    नोट: नेलपेंट रिमूवर में एसीटोन होता है और अगर एसीटोन का इस्तेमाल जरूरत से ज्यादा किया जाए, तो इससे स्किन ड्राय हो सकती हैं। वहीं यह हमेशा ध्यान रखें कि नेल इंफेक्शन (Nail infection) होने पर यह इंफेक्शन हमारे शरीर के अन्य अंगों में आसानी से फैल सकती है, क्योंकि हाथों से हमसभी अपने चेहरे को छूते हैं या खाना खाते हैं।

    💅 नाखूनों को मजबूत बनाने के लिए आप कई उपाय करती हैं, लेकिन नीचे दिए इस क्विज को खेलिए और जानिए आपकी जानकारी कितनी है सही।

    और पढ़ें : स्कैल्प एक्सफॉलिएशन से पाएं हेल्दी स्कैल्प, नहीं तो बढ़ सकती है हेयर प्रॉब्लम

    हैंगनेल या नाखूनों के आसपास होने वाली समस्याओं को अगर इग्नोर कर रहीं हैं, तो उम्मीद करते हैं कि आप इस परेशानी को नजरअंदाज ना कर इनका भी ख्याल रखेंगी। वहीं अगर आप बहुत ज्यादा आर्टिफिशियल नेल की शौकीन हैं, तो इनका इस्तेमाल कभी-कभी ही करें, क्योंकि इससे भी आपको हैंगनेल की समस्या हो सकती है। पार्लर में मेनिक्योर और पेडिक्योर के दौरान ध्यान रखें कि इस्तेमाल किये जाने वाले नेल कटर या अन्य सामान ठीक तरह क्लीन हों। अगर आप हैंगनेल से जुड़ी कोई जानकारी शेयर करना चाहती हैं या चाहते हैं या आप अपने नाखूनों का ख्याल कैसे रखते हैं ये कमेंट बॉक्स में शेयर करें।

    आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज से जुड़ी जानकारियों के लिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक करें।

     

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Hangnail: A simple solution to a common problem/https://www.jaad.org/article/S0190-9622(19)30964-8/fulltext/Accessed on 06/05/2021

    Treating a Hangnail/https://www.mottchildren.org/health-library/not257297/Accessed on 06/05/2021

    Fingernails: Do’s and don’ts for healthy nails/https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/adult-health/in-depth/nails/art-20044954/Accessed on 06/05/2021

    HANGNAILS, AND OTHER DISEASES/https://www.thewhitereview.org/fiction/hangnails-and-other-diseases/Accessed on 06/05/2021

    Nail Problems and Injuries/https://www.uofmhealth.org/health-library/nails/Accessed on 06/05/2021

     

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 06/05/2021 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड