जानिए ड्राय स्किन के लिए कंसीलर कौन-सा है सबसे अच्छा

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट October 8, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

कोई भी लड़की सुंदर दिखने में हो या साधारण, सबकी दिली ख्वाइश होती है कि सामने वाला जब उसे देखें, तो एक बार उसके रूप की तारीफ जरूर करें। इसी ख्वाइश को पूरा करने के लिए लड़कियां मेकअप करना बहुत पसंद करती हैं। बहुत कम लड़कियों को मेकअप करना पसंद नहीं होता है, इसके पीछे दो कारण हो सकते हैं, या तो उसे सही तरह से मेकअप करना नहीं आता है या मेकअप करने पर उसको एलर्जी आदि की समस्या होती है। कुछ लड़कियों को मेकअप करना सही तरह से आता है, तो कुछ को मेकअप करने का सही ऑर्डर नहीं पता होता है, यानि कौन से कॉस्मेटिक प्रोडक्ट का इस्तेमाल कब करना चाहिए इसकी जानकारी नहीं होती है। मेकअप सही नहीं होने पर लाजमी है चेहरा खूबसूरत दिखने के जगह पर भद्दा दिखेगा। अब दूसरी वजह है एलर्जी जैसे स्किन संबंधी समस्याओं से बचने के लिए सबसे पहले आपको अपने स्किन को पहचानना होगा। आपका स्किन रूखी, ऑयली, सेंसीटिव या मिक्स यह आपको सबसे पहले समझना होगा। उसी के हिसाब से आपको अपने मेकअप के प्रोडक्ट्स की खरीदारी करनी होगी। क्योंकि स्किन टाइप के विपरित मेकअप प्रोडक्ट्स होने से उससे त्वचा को नुकसान पहुंचता है या स्किन डिजीज का खतरा बढ़ सकता है। उदाहरण के तौर पर ड्राय स्किन के लिए कंसीलर कोई भी इस्तेमाल किया जा सकता है, यह मानना बिल्कुल गलत है। आज हैलो स्वास्थ्य आपके लिए लेकर आया मेकअप से जुड़ी अहम जानकारी। उसके बाद बात करते हैं कि रूखी त्वचा के लिए कंसीलर कौन-सा इस्तेमाल करना चाहिए और चेहरे के कौन-से हिस्से में कौन-सा कंसीलर लगाना चाहिए। 

अच्छा, आप बताइए मेकअप के बेस में कौन-कौन-सी चीजें आती हैं? क्या कहा आपने, फाउंडेशन और फेस पाउडर! आपने सही कहा लेकिन इनके सिवा और भी कई अल-अलग तरह मेकअप प्रोडक्ट्स आते हैं, जिनमें शामिल है सीरम, प्राइमर और कंसीलर। उसके बाद आता है फाउंडेशन और कॉम्पैक्ट पाउडर। सबसे पहले सीरम आता है, चेहरे पर जिन-जिन जगहों पर ज्यादा ऑयल निकलता है या चिपचिपा जैसा महसूस होता है वहां सीरम लगाना चाहिए। इससे देर तक मेकअप त्वचा पर टिका रहता है। सीरम के 2-3 बूंद हथेली में लेकर चेहरे की ऑयली जगह पर डैब करके लगाएं और अच्छी तरह से उंगली की सहायता से मिला दें। उसके बाद बारी आती है प्राइमर की। यह मेकअप का बेस होता है, जिसको सबसे पहले लगाया जाता है, अगर आपके स्किन में पोर्स बहुत हैं, तो इसके मदद से उनको ढ़क सकते हैं। पोर्स वाले जगहों पर हल्की उंगली के दबाव से प्राइमर को समान तरह से फैला दें। प्राइमर चेहरे पर इस तरह से लगाएं ताकि वह स्किन में अच्छी तरह से समा जाए। प्राइमर के बाद कंसीलर अप्लाय करें। अगर आप इस बात को लेकर कंफ्यूज रहती हैं कि कंसीलर पहले लगाना चाहिए या फाउंडेशन, तो जवाब यह है कि कंसीलर पहले लगाना चाहिए। अगर आपके फेस पर बहुत ज्यादा एक्ने या पिंपल्स के दाग हैं, तो कंसीलर इनको छिपाने में सहायता करता है। आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स और डॉर्क स्पॉट वाले जगह पर कंसीलर को लगाएं। ध्यान रखें कि परत मोटा नहीं होना चाहिए, इससे स्किन में इवेन टोन (चेहरे का रंग एक जैसा नहीं दिखेगा) नहीं आता है। इसके बाद फाउंडेशन लगाएं, लेकिन इसको अपने स्किन कलर के हिसाब से ही खरीदें। गलत फाउंडेशन का कलर आपके लुक को बिगाड़ सकता है। अब कॉम्पैक्ट पाउडर लगाना चाहिए। ब्रश की मदद से पाउडर को हल्के हाथ से ऑयल जहां ज्यादा निकलता है वहां पर डैब करके लगाएं। 

अब तक हम मेकअप करने का सही तरीका समझ रहे थें। चलिए, अब जानते हैं कि कंसीलर का इस्तेमाल क्यों किया जाता है? परफेक्ट मेकअप में कंसीलर का खास रोल रहता है। यह स्किन के स्पॉट्स, आंखों के डार्क सर्कल और पिंपल के मार्क्स जैसे दाग-धब्बों को छिपाने का काम करता है। लेकिन हर किसी की त्वचा अलग-अलग प्रकार की होती है, जैसे किसी की ऑयली स्किन, तो किसी की ड्राय स्किन होती है। इसलिए, हर किसी को अपनी त्वचा के अनुसार ही कंसीलर का इस्तेमाल करना चाहिए। आज हम ड्राय स्किन के लिए कंसीलर की बात करेंगे। हम जानेंगे कि कौन-सा कंसीलर ड्राय स्किन के लिए सबसे बेस्ट विकल्प हो सकता है।

और पढ़ेंः “वो मेरा इमोश्नली इस्तेमाल करती थी, इसलिए मैंने दोस्ती तोड़ दी”

ड्राय स्किन के लिए किस तरह का कंसीलर इस्तेमाल करना चाहिए?

ड्राई स्किन के लिए कंसीलर- concealer for dry skin
कंसीलर इस्तेमाल करने का सही तरीका

कंसीलर का इस्तेमाल करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। अगर आप पहली बार कंसीलर खरीद रहे हैं, तो ध्यान रहे कि हमेशा अपने स्किन टोन के कलर से मैच हो, ऐसे ही कलर का कंसीलर लें। इसलिए खरीदने से पहले रोशनी में कंसीलर का कलर अच्छी तरह से देख लेना चाहिए। डार्क सर्कल्स या डार्क स्पॉट वाले जगह पर हल्के हाथ से कंसीलर लगाकर उसको मसाज करके लगाएं। फिर उसको, उंगलियों की मदद से हल्के से स्किन में मिला दें। हां, कंसीलर लगाने के बाद किसी अन्य तरह की क्रीम लगाने की गलती न करें। अगर आपकी आंखें अगर उभरी हुई कम है और अंदर की ओर ज्यादा है, तो वहां पर फाउंडेशन के शेड से एक शेड लाइट कंसीलर का कलर लगाना चाहिए। कंसीलर लगाने के पहले एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि दाग को छिपाने के चक्कर में ज्यादा मात्रा में कंसीलर का परत न लगाएं। डार्क स्पॉट वाले जगह पर कंसीलर का हल्का परत लगाएं और उसको उंगली की मदद से इवन टोन दें। डार्क सर्कल्स और डार्क स्पॉट को छिपाने के ड्राय स्किन के लिए कंसीलर स्किन टोन से एक शेड कम होना चाहिए।  ड्राय स्किन के लिए कंसीलर क्रीम वाला या स्टिक वाला लें और ऑयली स्किन के लिए लिक्विड कंसीलर का इस्तेमाल करें। पिंपल्स या एक्ने को छुपाने के लिए पेंसिल टिप प्वाइंटेड कंसीलर का प्रयोग करें, इससे पिंपल्स को छिपाना आसान होता है। ब्यूटी एक्सपर्ट्स के अनुसार अगर कंसीलर लिक्विड है, तो उसको सबसे पहले हाथों में लेकर अच्छी तरह से मल लें, इससे वह हाथों की गर्मी पाने से पतला हो जाएगा। ऐसा करके ड्राय स्किन के लिए कंसीलर लगाने से स्किन को इवेन कवरेज मिला पाता है। कंसीलर लगाते समय हमेशा मात्रा का ध्यान रखना चाहिए। 

ड्राय स्किन वालों को आंखों के नीचे कभी भी ड्राय या थिक कंसीलर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। दरअसल, ऐसे कंसीलर के प्रकार आपको केकी लुक दे सकते हैं। अगर ड्राय या थिक कंसीलर लगा भी रहें हैं, तो इससे पहले आंखों के नीचे कलरलेस पाउडर से हल्की डस्टिंग करें। इसके बाद हल्के ऑरेंज रंग का हाई पिग्मेंटेड कंसीलर हल्के लेयर में लगाएं। यह स्किन में अच्छी तरह ब्लेंड हो जाता है और आंखों के नीच दिख रहे डार्क सर्कल्स को भी बड़ी ही आसानी से छिपा सकता है।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

ड्राय स्किन के लिए कंसीलर खरीदते समय किन बातों का रखें ख्याल?

  • चाहे आपकी त्वचा रूखी हो या ऑयली, बेस्ट कंसीलर चुनते या खरीदेते समय यह ध्यान रखें कि आपको कंसीलर का इस्तेमाल किसलिए करना है। जब आपको यह पता होगा कि आप कंसीलर अंडर आई के लिए खरीद रहीं हैं या पिंपल्स मार्क्स छिपाने के लिए, तो बेस्ट कंसीलर चुनना आपके लिए काफी आसान हो जाता है।
  • बेस्ट कंसीलर खरीदने से पहले उसमें शामिल समाग्रियों की जांच करें। अगर उसमें कुछ ऐसा मिला हो, जो आपकी स्किन के लिए एलर्जी का कारण बना सकता है, तो उसे न खरीदें।
  • मौसम और स्थान के अनुसार आपकी त्वचा की जरूरतें भी बदल सकती हैं। इसलिए, आपकी त्वचा हर मौसम में ड्राय नहीं रह सकती है। इसलिए अलग-अलग मौसम और त्वचा की बदलती स्थिति के अनुसार ही कंसीलर का इस्तेमाल करें। आपको चाहिए कि गर्मी के मौसम के लिए दूसरा और सर्दियों के मौसम के लिए एक अलग टाइप का कंसीलर खरीदें, नहीं तो कंसीलर लगाने से स्किन में इवन टोन नहीं आ पाता है। 
  • कंसीलर का इस्तेमाल करने से पहले चेहरे को स्क्रब करना न भूलें। स्क्रब करने से डेड स्किन सेल्स साफ हो जाते हैं और त्वचा फ्रेश फील करती है। इससे कंसीलर भी स्किन पर अच्छी तरह से बैठता है।
  • इसके अलावा, अगर पहली बार कंसीलर का इस्तेमाल कर रहें है, तो किसी ब्यूटी एक्सपर्ट की सलाह ले सकते हैं, इससे आपको सही तरीका पता चल पाएगा।

और पढ़ें : इंडियन ब्राइडल मेकअप के लिए टिप्स जो ब्राइड को दे परफेक्ट लुक

रूखी त्वचा के लिए कंसीलर की जरूरत

ड्राय स्किन वालों को हमेशा हाइड्रेट रहने की जरूरत होती है। ऐसे में इस तरह की त्वचा के लिए लिक्विड कंसीलर सबसे बेस्ट कंसीलर हो सकता है। ये न सिर्फ त्वचा को नमी देता है बल्कि मेकअप के बाद ड्रायनेस की वजह से चेहरे पर आ रही झुरियों और क्रैक लाइंस से भी राहत दिलाता है। इसके अलावा ड्राय स्किन के लिए कंसीलर अलग-अलग ब्रांड में उपलब्ध हैं। आप अपनी मनपसंद ब्रांड में से लिक्विड कंसीलर स्किन टोन के हिसाब से चुन सकते है। इसके साथ इस बात का भी ध्यान रखें कि वह किसी स्किन एलर्जी का कारण न बनें। 

जानिए हैलो स्वास्थ्य के फॉलोवर्स के लिए ब्यूटी एक्सपर्ट की राय

सुप्रसिद्ध कॉस्मेटोलॉजिस्ट, ऐस्थिटीशियन और एल्पस कॉस्मेटिक क्लीनिक की एक्जीक्यूटिव डॉयरेक्टर भारती तनेजा का कहना है कि “ड्राय स्किन के लिए सबसे अच्छा कंसीलर, क्रीम कंसीलर होता है। क्योंकि ये आपकी त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है और स्किन को ड्राय नहीं बनाता है। इसके साथ ही ये चेहरे पर दिखने वाली क्रैक लाइन्स को भी दिखने से बचाता है।”

और पढ़ें : ऐसे करें न्यूड मेकअप

ड्राय स्किन के लिए कंसीलर से जुड़ी सावधानियां

  • कंसीलर हमेशा लाइट शेड में लगाएं।
  • डस्की या पेल स्किन है, तो यलो कलर का कंसीलर इस्तेमाल करें।
  • फेयर स्किन है, तो हल्के पिंक कलर का कंसीलर इस्तेमाल करें।
  • पिंपल्स को छिपाना है, तो ग्रीन कलर का कंसीलर इस्तेमाल करें।
  • किसी भी कंसीलर का इस्तेमाल उसकी मैन्यूफैक्चरिंग डेट से छह महीने तक ही करें। इसलिए कंसीलर को खरीदते समय या इस्तेमाल करने के पहले मैन्यूफैक्चरिंग डेट जरूर चेक करें।

आप ड्राय स्किन के लिए कंसीलर का चुनाव ऊपर बताए गए तरीकों को ध्यान में रखकर कर सकते हैं। एक सही कंसीलर न सिर्फ आपकी त्वचा के लिए पर्फेक्ट होगा बल्कि आपको बेस्ट लुक भी देगा।

और पढ़ें : किस करने के दौरान आती है मुंह से बदबू? जानिए क्या है कारण

ड्राय स्किन के लिए कंसीलर का चुनाव करना क्यों खास होता है?

ड्राय स्किन के लिए कंसीलर का चुनाव करना कई मायने में खास हो सकता है। सबसे पहले तो प्राकृतिक तौर पर ही शुष्क त्वचा बहुत अस्वस्थ दिखती है और दूसरा ड्राय स्किन में प्राकृतिक तौर पर कोई चमक नहीं होती है। ड्राय स्किन वालों की त्वचा को हमेशा नमी की कमी महसूस होती रहती है और यही वजह है उनके चेहरे पर किया गया मेकअप भी बहुत जल्द खराब हो जाता है। रूखी त्वचा को स्वस्थ दिखने के लिए हाइड्रेशन और नमी की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है। शुष्क त्वचा के लिए सही मेकअप का चुनाव करना भी काफी कठिन हो सकता है। इसके अलावा ड्राय स्किन वालों के लिए आंखों के नीचे काले घेरे, झाई या धब्बे को छिपाने की समस्या भी काफी बड़ी समस्या हो सकती है। जिनको छिपाने के लिए कंसीलर का इस्तेमाल किया जाना बहुत जरूरी होता है। हालांकि, गलत तरह के ड्राय स्किन के लिए कंसीलर का चुनाव करना इस समस्या को और भी ज्यादा गंभीर बना सकती है।

आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानने के लिए एक्सपर्ट का यह वीडियो जरूर देखें-

ड्राय स्किन के लिए कंसीलर चुनने के साथ ही किन-किन बातों का रखें ध्यान? 

रूखी त्वचा के लिए कंसीलर का चयन करने से पहले निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें। जैसे:

  • सबसे पहले अपनी स्किन टोन को पहचाने।
  • उसके बाद उसी टोन में अपने लिए ऑयल बेस्ट कंसीलर का चुनाव करें।
  • एक बार जब आप अपने स्किन टोन और अपने कंसीलर के शेड चुन लेती हैं, तो अगली महत्वपूर्ण बात प्रोडक्ट में इस्तेमाल हुए चीजों की गुणवत्ता का आंकलन करना होता है। पैक पर दिए गए दिशा-निर्देशों को अच्छी तरह से ध्यान देकर पढ़ें। अगर किसी भी उत्पाद से आपको एलर्जी है या आपकी स्किन को वो उत्पाद और भी ज्यादा ड्राय कर सकता है, तो उसे न खरीदें।
  • इसके अलावा ड्राय स्किन वालों के आंखों के आसपास की त्वचा भी सूखी और बहुत नाजुक होती है। इसलिए उन्हें हमेशा हाइड्रेटिंग और क्रीमबेस्ड कंसीलर का
    चुनाव करना चाहिए।
  • मौसम के बदलने पर आपकी स्किन का प्रकार भी बदल सकता है। इसलिए हर मौसम के अनुसार ही अपनी ड्राय स्किन के लिए कंसीलर का चुनाव करें।
  • हमेशा ड्राय स्किन के लिए कंसीलर का चुनाव करते समय सबसे छोटे साइज का पैक ही खरीदें।
  • अगर स्किन में किसी तरह की एलर्जी की समस्या या पिंपल्स की समस्या है, तो कंसीलर या अन्य मेकअप प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल न करें।

आशा करते हैं कि अब तक के मेकअप करने के तरीके से लेकर ड्राय स्किन के लिए कंसीलर का इस्तेमाल करने तक की पूरी जानकारी दे सके हैं। अगर आपको अपने स्किन टाइप या स्किन टाइप के हिसाब से कौन-से मेकअप प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना चाहिए, इसको लेकर कंफ्यूशन है, तो त्वचा विशेषज्ञ से जरूर सलाह लें। अगर कंसीलर या कोई भी ब्यूटी प्रोडक्ट इस्तेमाल करने के बाद स्किन में परेशानी महसूस हो रही है तो तुरन्त धो देना चाहिए और फिर डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। ऊपर दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है। इसलिए किसी भी घरेलू उपचार, दवा या सप्लिमेंट, मेकअप प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

स्किन पॉलिशिंग के बारे में क्या नहीं जानते आप? इससे ऐसे त्वचा निखारें

स्किन पॉलिशिंग क्या है और हमारी त्वचा के लिए क्यों जरूरी है। इसकी की जानकारी हिंदी में जानने के लिए पढ़ें ये आर्टिकल। रोजाना की भागदौड़ के बाद केवल शरीर ही नहीं थकता है बल्कि आपकी त्वचा पर भी प्रभाव पड़ता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi

बच्चों की रूखी त्वचा से निजात दिला सकता है ‘ओटमील बाथ’

बच्चों की रूखी त्वचा होना सामान्य है। बच्चों की रूखी त्वचा के लिए उपाय, रुखी त्वचा के लिए टिप्स, dry baby skin tips in hindi....

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr Sharayu Maknikar
के द्वारा लिखा गया Lucky Singh
बेबी, बेबी की देखभाल, पेरेंटिंग November 29, 2019 . 4 मिनट में पढ़ें

पार्लर के महंगे ट्रीटमेंट्स को कहें बाय, अपनाएं ये स्किन लाइटनिंग के घरेलू उपाय

स्किन लाइटनिंग के घरेलू उपाय को करें ट्राई और पाएं निखरी मुलायम त्वचा। गोरी निखरी त्वचा का सपना नहीं दूर अपनाएं ये घरेलू नुस्खें। Skin lightening homeremedies tips in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel

स्किन टाइप के हिसाब से चुनें अपने लिए बॉडी लोशन

बॉडी लोशन के फायदे, बॉडी लोशन फॉर ड्राई स्किन, बॉडी लोशन के फायदे, बॉडी लोशन फॉर ड्राई स्किन, सबसे अच्छा बॉडी लोशन, बॉडी लोशन का उपयोग जानें।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Ankita mishra

Recommended for you

स्किन लाइनिंग क्रीम

Emolene Cream : एमोलीन क्रीम क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ August 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
रूखी त्वचा के लिए/ diet for dry skin

ड्राई स्किन से हैं परेशान? तुरंत फॉलो करें रूखी त्वचा के लिए ये डायट

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया shalu
प्रकाशित हुआ July 22, 2020 . 9 मिनट में पढ़ें
स्किन प्रॉब्लम्स-skin problems

रखें इन जरूरी बातों का ध्यान तो कम हो जाएंगी स्किन प्रॉब्लम्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ May 19, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें
न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर

कोरोना वायरस के अलावा ये न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर भी हैं जानलेवा, जानना है आपके लिए भी जरूरी

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ February 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें