backup og meta

इन कारणों से हो सकती हैं आपमें नाखून टूटने की समस्या, जानें यहां

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड डॉ. प्रणाली पाटील · फार्मेसी · Hello Swasthya


Niharika Jaiswal द्वारा लिखित · अपडेटेड 31/05/2021

इन कारणों से हो सकती हैं आपमें नाखून टूटने की समस्या, जानें यहां

क्या आप भी नाखून के टूटने की समस्या से परेशान हैं। अगर हां, तो यह समस्या केवल आपकी ही नहीं, बल्कि कई लोगों की है। नाखून के टूटने के कई कारण हो सकते है। स्पिलट नेल्स को अनीकोसीजिया की समस्या भी कहते हैं। इसमें नाखून की उपरी परत हटती जाती है और उनमें क्रैक्स आने लगता है। वैसे तो टूटे हुए नाखूनों के कई कारण हो सकते हैं, जैसे की एनीमिया, गलत खानपान और कई प्रकार की स्किन प्राॅब्लम आदि। अगर आप भी नाखून टूटने की समस्या से परेशान हैं, तो सबसे पहले इनके कारणों को दूर करें और अपनाएं ये टिप्स।

और पढ़ें: बच्चों के नाखून काटना नहीं है आसान, डिस्ट्रैक्ट करने से बनेगा काम

नाखून टूटने का कारण (Common causes of split nails)

नाखून टूटने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी, अनीकोसीजिया, खराब खानपान और शरीर में खराब रक्त संचार आदि। हर व्यक्ति में इसके अलग-अलग कारण हो सकते हैं। जानें उन कारणों के बारे में:

एनीमिया (Anemia)

कई बार शरीर में खून की कमी के कारण भी लोगों में नाखून टूटने की समस्या होती है। एनीमिया का कारण भी सही आहार न लेना या अन्य कोई बीमारी भी हो सकती है। एनीमिया के कारण लोगों में नाखून टूटने के अलावा चक्कर, कमजोरी  और सिर दर्द की समस्या भी हो सकती है।

ओनीकोसीजिया

नखून टूटने के सबसे बड़े कारणों में से अनीकोसीजिया की समस्या भी एक है। ओनीकोसीज़िया (Onychoschizia) होने पर नाखून कमजोर होकर टूटने लगते हैं। जिसके कारण भी यह समस्या होती है। यह समस्या होने पर नाखून किनारे की तरफ से चिटकने लगते हैं। यह एक स्किन प्रॉब्लम है, जिसका समय रहते इलाज बहुत जरूरी है, नहीं तो बाद में यह गंभीर समस्या बन सकती है।

और पढ़ें: आखिर क्यों कुछ लोगों को होती है बार-बार नाखून चबाने की आदत?

सोरायसिस (Psoriasis)

टूटे हुए नाखूनो का एक कारण सोरायसिस भी है। इसके होने पर नाखून कमजोर हो जाते हैं और नाखून के नीचे की त्चचा में संक्रमण फैल जाता है। इसमें नाखून की लेया बहुत ज्यादा पतली हो जाती है और वो टूटने लगते हैं।

खराब ब्लड सरक्यूलेशन (Blood Circulation)

शरीर में खारब ब्लड सर्कुलेशन के चलते भी नाखून कमजोर हो जाते हैं और उनकी ऊपरी परत निकलने लगती है। इसके अलावा सूरज की यूवी रेज यानी अल्ट्रावॉयलेट किरणों के ज्यादा संपर्क में आने से भी नाखून कमजोर हो जाते हैं।

बढ़ती उम्र (Ani Aging)

बढ़ती उम्र भी नाखून की इस कंडिशन का जिम्मेदार होता है। दरअसल, जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, नाखूनों की ग्रोथ रेट और आकार बदल जाता है, जिसके कारण उनकी ऊपरी परत निकलनी शुरू हो जाती है।

थाॅयराइड (Thyroid)

कई बार हाइपोथायरायडिज्म के कारण भी लोगों में नाखून टूटने की अधिक समस्या देखी जाती है। यह एक प्रकार की हेल्थ कंडिशन हैऔर थॉयाइड एक हॉर्मोन। ज ब यह ग्लैंड कम एक्टिव होता है, तो इसका प्रभाव शरीर के अन्य हिस्सों के साथ नाखूनों पर भी होता है।

और पढ़ें: आखिर क्यों कुछ लोगों को होती है बार-बार नाखून चबाने की आदत?

एजिंग (Aging)

कई बार बढ़ती उम्र भी नाखून टूटने के कारणों में एक है। उम्र जैसे बढ़ती जाती है, लोगों के नाखून भी कमजोर होने लगते हैं। महिलाओं में नाखून टूटने की समस्या सबसे ज्यादा देखी जाती है। 50 की उम्र के बाद लोगों में यह सबसे आम कारण देखा जाता है। एक उम्र के बाद लोगों के शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने लगती है, जिसके कारण नाखून पतले होने लगते हैं और फिर धीरे-धीरे वो टूटने लगते हैं।

और पढ़ें: Quiz: हैंड सैनिटाइजर से जुड़े मिथक के बारे में जाने पूरी सचाई, खेले क्विज

हार्ड प्रोडक्ट का इस्तेमाल (Hard Product)

कई बार नाखून टूटने और उसकी खराब क्ववालिटी का कारण नाखूनो पर हार्ड प्रोडक्ट का इस्तेमाल भी होता है, जैसे कि स्ट्रॉन्ग नेल रिमूवर का इस्तेमाल या डाय का प्रयोग।  ऐक्रेलिक नाखूनों में ग्लू और डाय के भी रिएक्शन का कारण बन सकते हैं। अगर नाखून उत्पादों के कारण नाखून टूट रहे हैं तो तुरंत उनका इस्तेमाल बंद कर दें।

गीले हाथ

कई बार अधिक देर तक पानी में हाथ रहने के कारण भी नाखूनों के टूटने की समस्या होने लगती हैं। जिस कारण भी नाखून खराब होने लगते हैं। यह समस्या उन महिलाओं को ज्यादा होती है, जिन्हें दिनभर पानी वाला काम करना होता है, जैसे कि कपड़ा धोना, बर्तन धाेना या अन्य पानी वाले काम करना आदि।

डैमेज होने से पहले नाखूनों में दिखने वाले लक्षण

और पढ़ें: हाथ और पैर के नाखून भी बताते हैं स्वास्थ्य का हाल

नाखूनों के देखभाल के टिप्स (Nail care tips)

  • नेल्स की अच्छी क्वालिटी के लिए आप पाेषण युक्त खानपान खाए। तभी नाखून आपको अंदर से मजबूत होंगे।
  • बायोटिन युक्त प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें। इसके अलावा बायाेटिन के लिए आप विटामिन बी युक्त प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें। लेकिन प्रेग्नेंट विमेन इसका उपयोग न करें।
  • ऐसे प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें। जिसमें फोर्मलडिहाइड का इस्तेमाल हुआ हो।
  • नेल्स की ऑलिव ऑयल से मसाज करें
  • सुबह नहाने के बाद हाथों में क्रीम भी जरूरी लगाएं।
  • हाथों को दिनभर गीला न रखें।
  • नेल्स पर अधिक हार्ड प्रोडक्ट का इस्तेमाल न करें।
  • डायट में ऐसे फूड शामिल करें, जिसमें आपको सभी प्रकार के विटामिन और मिनरल्स मिलें। विटामिन के अलावा आपको ऑयर वाले फूड की तरफ भी लेने चाहिए।
  • अच्छे नाखूनों के लिए नारियल का तेल भी काफी फायदेमंद है। इसलिए आप रोज रात को को सोते समय नारियल के तेल से नाखूनों की मालिश करें।
  • त्वचा की तरह नाखूनों के लिए भी मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल बहुत जरूरी है। आप इसका हाथों के बाद मॉइश्चराइज का इस्तेमाल जरूर करें।

नाखूनों को ठीक करने वाले फूड्स

नट्स (Nuts)

मजबूत नाखूनों के लिए नट्स का सेवन काफी लाभदायक है। नट्स में आप अखरोट, मूंगफली काजू, बादाम, अखरोट और मूंगफली सहित अखरोट ओमेगा फैटी एसिड, विटामिन, एंटीऑक्सिडेंट और खनिजों से भरपूर होते हैं। जब नियमित रूप इनको कंज्यूम किया जाता है तो ये बालों और नाखूनों की ग्रोथ को प्रमोट कर सकते हैं।

और पढ़ें: नाखूनों में ये बदलाव हो सकते हैं नेल इंफेक्शन के लक्षण, जानिए इसके उपचार

 टमाटर (Tomato)

टमाटर में विटामिन सी की अच्छी मात्रा पायी जाती है। इसके अलावा इसमें लाइकोपीन और बीटा कैरोटीन कैरोटीनॉयड शामिल हैं। ये सभी तत्व नाखूनों की सूर्य  की किरणों से रक्षा करने के साथ, उन्हें पोषक तत्व भी प्रदान करते हैं। टमाटर का इस्तेमाल आप हैंड पैक के रूप में भी कर सकते हैं।

ओटमील (oatmeal)

ओटमील भी शरीर के लिए कई प्रकार से फायदेमंद है। इसे ब्यूटी मील भी कहा जाता है। इसमें कॉपर, विटामिन और जिंक आदि पाया जाता है। इसलिए भी जरूरी है कि आप इसे भी अपने डायट में शामिल करें। जो आपके नाखूनों को मजबूत बनाए रखने में मदद करता है।

 पालक (Spinach)

पालक में विटमिन ए और सी से भरपूर पायी जाती है, ये  दोनों ही बालों की ग्रोथ को प्रमोट करते हैं। विटामिन ए त्वचा की ग्रंथियों को सीबम बनाने में मदद करके स्कैल्प को हेल्दी रखने में

डिस्क्लेमर

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

डॉ. प्रणाली पाटील

फार्मेसी · Hello Swasthya


Niharika Jaiswal द्वारा लिखित · अपडेटेड 31/05/2021

advertisement iconadvertisement

Was this article helpful?

advertisement iconadvertisement
advertisement iconadvertisement