home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

सहजन के फायदे : ब्लड शुगर से लेकर मोटापे की समस्या दूर करने में माहिर है ड्रमस्टिक

सहजन के फायदे : ब्लड शुगर से लेकर मोटापे की समस्या दूर करने में माहिर है ड्रमस्टिक

साग-सब्जियों की बात की जाए तो तमाम नाम मन में आ जाते हैं। लेकिन, सहजन का नाम दूर-दूर तक दिमाग में नहीं आता है। हालांकि आपको बता दें कि इस सहजन के फायदे आपकी सेहत के लिए उपयोगी हैं। इसे ड्रमस्टिक (Drumstick) के नाम से भी जाना जाता है। सहजन एक पौधा है जिसे हजारों वर्षों से इसके स्वास्थ्य लाभों के लिए सराहा गया है। लेकिन, बहुत से लोग सहजन के फायदे (Benefits of Drumstick) से बेखबर हैं। कैसे यह आपके स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करता है ये आज हम आपको “हैलो स्वास्थ्य” के इस आर्टिकल में बताने जा रहे हैं।

ड्रमस्टिक (Drumstick) क्या है?

सहजन दुनिया के कुछ हिस्सों में खाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण पौधा है। यह उगने के लिए बहुत आसान है और इसीलिए यह अत्यंत सस्ता भी होता है। सहजन एंटीऑक्सिडेंट (Antibiotic) से भरपूर एक बायोएक्टिव प्लांट है, जिसकी मात्र पत्तियों में ही बहुत सारे विटामिन (Vitamin) और मिनरल (Mineral) मिल जाते हैं। डॉक्टरों द्वारा इसे कुपोषण से लड़ने के लिए भी सिफारिश की जाती है। वैज्ञानिकों ने रिसर्च द्वारा ड्रमस्टिक में कई स्वास्थ्यवर्धक तत्व पाएं हैं। ड्रमस्टिक को पालक की तरह पकाया जाता है और उसका पाउडर की तरह भी उपयोग किया जाता है।

और पढ़ें : पिकी ईटर्स के लिए रेसिपी, जो उनको देगीं भरपूर पोषण

स्वास्थ्य के लिए सहजन के फायदे (Benefits of Drumstick)

ड्रमस्टिक का सेवन अगर सीमित मात्रा में किया जाए तो सहजन के फायदे बहुत हैंजैसे-

1. पौष्टिक है सहजन, रोज करें सेवन

ड्रमस्टिक के पेड़ के लगभग सभी हिस्सों को हर्बल दवाओं में सामग्री के रूप में खाया या उपयोग किया जाता है। विशेष रूप से, सहजन की पत्तियां और फली पौष्टिक तत्वों से भरपूर होती है। भारत के अलावा अफ्रीका के कुछ हिस्सों में भी इसको खाया जाता है।

2. ड्रमस्टिक में मिलता है भरपूर एंटीऑक्सिडेंट

एंटीऑक्सिडेंट ऐसे कम्पाउंड होते हैं जो हमारे शरीर में फ्री रैडिकल्स से लड़ने का काम करते हैं। फ्री रैडिकल्स के उच्च स्तर से किसी को हृदय रोग और टाइप 2 का डायबिटीज (Type 2 Diabetes) जैसी बीमारियां तक हो सकती हैं। इतना ही नहीं ड्रमस्टिक्स में विटामिन-सी (Vitamin C) और बीटा-कैरोटीन (Beta carotin) के अलावा ये गुनकारी तत्व भी पाए जाते हैं। कुएरसेटिन (Quercetin) : यह शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट है जो ब्लड प्रेशर (Blood pressure) को घटाने में मदद कर सकता है। क्लोरोजेनिक एसिड (Chlorogenic acid) खाने के बाद शरीर में बढ़ने वाले ब्लड शुगर (Blood sugar) के स्तर को कम करने में क्लोरोजेनिक एसिड बहुत मदद करता है

[mc4wp_form id=”183492″]

3. ब्लड शुगर लेवल की न ले टेंशन

हाय ब्लड शुगर एक गंभीर स्वास्थ्य समस्या है। वास्तव में, यह मधुमेह (Diabetes) का प्रमुख लक्षण है। समय के साथ, हाय ब्लड शुगर का स्तर हृदय रोग (Heart disease) सहित कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा बढ़ाता है। इस कारण से आपको अपने ब्लड शुगर को सामान्य रेंज में रखना बहुत महत्वपूर्ण है।

और पढ़ें : शुगर का बेहतरीन ऑप्शन है स्टीविया, जानें इसके 5 फायदे

4. सहजन करे सूजन कम

शरीर पर कभी भी चोट या संक्रमण के बाद सूजन होना बहुत ही नैसर्गिक है। लेकिन अगर आपको लगातार सूजन जैसी समस्या होती है तो यह कई स्वास्थ्य समस्याओं से जुड़ी हो सकती है। ऐसे में ड्रमस्टिक्स में पाए जाने वाले एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण इंफ्लेमेशन को घटाने में बहुत सहयोग करते हैं।

5. मोटापे के लिए सहजन के फायदे

आज हर दूसरा इंसान मोटापा और बढ़ते वजन की समस्या से परेशान हैं। मोटापे को कम करने के लिए अपनी डायट में सहजन को शामिल कर आप बढ़ते वजन की परेशानी को कुछ हद तक नियंत्रित कर सकते हैं। आपको बता दें कि इसमें क्लोरोजेनिक एसिड (Chlorogenic Acid) पाया जाता है, जिसमें एंटी-ओबेसिटी गुण मौजूद होते हैं। इस वजह से वजन कम (Weight loss) करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

और पढ़ें: मोटापा घटाने के लिए जानिए सहजन की पत्तियों के फायदे

6. सहजन के फायदे पेट को भी

सहजन की पत्तियों या ड्रमस्टिक का इस्तेमाल कई तरह की पेट संबंधी समस्याओं (अल्सर और पेट दर्द) से बचाव कर सकते हैं। ड्रमस्टिक में एंटी-अल्सर गुण होते हैं। जिसकी वजह से इसका इस्तेमाल अल्सर (Ulcer) के जोखिम से बचा सकता है। साथ ही यह पाचन क्रिया में सुधार करने में भी मददगार होता है।

7. सहजन के फायदे इम्यूनिटी बढ़ाए

अगर आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता (Immune system) कम है। तो ऐसे में आप सहजन के फायदे उठाने के लिए अपनी डाइट में ड्रमस्टिक को शामिल करें जिससे रोग-प्रतिरोधक क्षमता में सुधार होगा।

8. लिवर (Liver) के लिए सहजन के फायदे अनमोल

असंतुलित खान-पान और अस्त व्यस्त जीवनशैली का प्रभाव लिवर की सेहत पर पड़ सकता है। इसके लिए अन्य आहारों के साथ सहजन को भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। सहजन में पाया जाने वाला क्वारसेटिन (Quercetin) नामक फ्लैवनॉल, हेपाटोप्रोटेक्टिव (Hepato-Protective) की तरह काम करते हैं, यानी लिवर को किसी भी प्रकार की क्षति से बचाकर सुरक्षित रखने में मदद कर सकते हैं।

सहजन का उपयोग कैसे करें? (How to use drumstick?)

सहजन के फायदे (Benefits of Drumstick) जानने के बाद जानते हैं सहजन का उपयोग किन-किन रूपों में किया जा सकता है।

  • सहजन के फायदे (Benefits of Drumstick) पाने के लिए सहजन की सब्जी को लंच में शामिल करें।
  • आप सहजन की पत्तियों की भी सब्जी बना सकते हैं।
  • सहजन का सूप भी ट्राई कर सकते हैं।
  • सहजन के पाउडर का इस्तेमाल सलाद के रूप में भी कर सकते हैं।

सहजन के नुकसान (Side effects of drumstick)

सहजन के फायदे तो बहुत हैं। लेकिन इसका इस्तेमाल गलत तरीके या ज्यादा मात्रा में किया जाए तो उसके नुकसान भी हो सकते हैं। जैसे-

  • प्रेग्नेंसी के दौरान सहजन का प्रयोग करने से बचना चाहिए या इसके सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह ले लेनी चाहिए। सहजन की छाल या सहजन के सेवन से गर्भपात होने की संभावना बढ़ सकती है।
  • सहजन के पत्ते हाय ब्लड प्रेशर में राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। लेकिन, ध्यान रहे कि जिनका ब्लड प्रेशर कम (Low Blood Pressure) हो, वो सहजन का उपयोग सेवन न करें।
  • इसमें इसोथियोसीयानेट (Isothiocyanate) और ग्लाइकोसाइड सायनाइड (Glycoside Cyanides) नामक विषैले तत्व होते हैं। इस वजह से सहजन का ज्यादा उपयोग तनाव (Tension) को बढ़ा सकता हैं। इसलिए, इसका सेवन संतुलित मात्रा में करें।

नोट – सहजन के नुकसान से डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि इसकी सही मात्रा में उपयोग स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है।

और पढ़ें : हाई ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है जैतून का तेल, जानिए इसके 7 फायदे

अगर अभी तक आप सहजन से दूर भागते थे तो ऊपर बताये गए सहजन के फायदे (Benefits of Drumstick) जानने के बाद आप इसे अपने आहार में जरूर शामिल करेंगे। ड्रमस्टिक्स कई प्राकृतिक गुणों से भरपूर है जिसका इस्तेमाल हम अपनी स्वास्थ्य समस्याओं के लिए कर सकते हैं। अगर आपको कोई भी भ्रम या सवाल की स्थिति हो तो आप इसका सेवन अपने डॉक्टर का परामर्श लेकर ही शुरू करें।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Bioactive Components in Moringa Oleifera Leaves Protect against Chronic Disease: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5745501/ Accessed on 30 June 2019

Powder microscopy of bark–poison used for abortion: moringa pterygosperma gaertn.: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/12262404 Accessed on 04 Jan 2020

Health Benefits of Moringa oleifera.: https://www.researchgate.net/publication/267932962_Health_Benefits_of_Moringa_oleifera Accessed on 04 Jan 2020

Moringa oleifera: A food plant with multiple medicinal uses.: https://www.researchgate.net/publication/6708493_Moringa_oleifera_A_food_plant_with_multiple_medicinal_uses  Accessed on 04 Jan 2020

Moringa Genus: A Review of Phytochemistry and Pharmacology.: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5820334/ Accessed on 04 Jan 2020

Bioactive Components in Moringa Oleifera Leaves Protect against Chronic Disease.: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5745501/ Accessed on 04 Jan 2020

लेखक की तस्वीर badge
Pawan Upadhyaya द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/08/2021 को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड