आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

पेट दर्द हो या सिर दर्द सोंठ बड़े काम की चीज है जनाब!

    पेट दर्द हो या सिर दर्द सोंठ बड़े काम की चीज है जनाब!

    सोंठ कहिए या सूखी अदरक एक ही बात है। सूखी अदरक के पाउडर को ही सोंठ कहा जाता है। सोंठ की तासीर अदरक की तरह ही गर्म होती है। गर्मी के समय में इसका कम और स​र्दी के मौसम में इसका ज्यादा सेवन करना उचित होता है। हां] यह जरूर है कि एक मात्रा से ज्यादा सोंठ का उपयोग ना करें चूंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है। इसलिए सोंठ के फायदे जानना चाहते हैं तो यह आर्टिकल पढ़ें।

    सोंठ के फायदे

    पेट संबंधी बीमारियों के लिए फायदेमंद

    गैस, अपच, दस्त आदि पेट की समस्याओं के लिए भी सोंठ का उपयोग किया जाता है। सोंठ में एंटी इंफ्लेमेंटरी तत्व होते हैं जो पेट की समस्याओं को ठीक करने या कम करने में मददगार होते हैं। सोंठ के नियमित सेवन से पाचन तंत्र मजबूत होता है। सोंठ के यह एंटी इंफ्लेमेटरी तत्व दिल की बीमारियों का खतरा भी कम करता है।

    इम्यून सिस्टम के लिए फायदेमंद

    इम्यून सिस्टम के लिए भी सोंठ बहुत कारगर साबित हो सकती है। सर्दियों में इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है और इसी वजह से सर्दी जुखाम आदि बीमारियां ज्यादा होती हैं। इसलिए यदि आप अपनी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना चाहते हैं तो सोंठ का उपयोग कर सकते हैं। खासकर सर्दियों में इसका सेवन आपको बीमारियों से दूर रखने में मदद करेगा।

    और पढ़ें : सिर दर्द ठीक करने के साथ ही गैस में राहत दिला सकता है केसर, जानें 11 फायदे

    नेचुरल पेनकिलर होती है सोंठ

    एक शोध के अनुसार सोंठ एक नेचुरल पेनकिलर है। सोंठ में दर्द कम करने के औषधीय तत्व होते हैं। यही कारण है कि पीरियड्स के वक्त सोंठ वाली चाय पीने के लिए कहा जाता है।

    सिर दर्द में भी पहुंचाती है राहत

    सोंठ सिर दर्द में भी राहत देता है। सोंठ में बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं। इसके कारण ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और ऑक्सिजन की मात्रा भी शरीर में बढ़ती है। ऑक्सिजन की मात्रा बढ़ने और ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होने के कारण सिर दर्द में कमी आती है।

    और पढ़ें : क्या आपको भी है भूलने की है बीमारी? जानिए याद्दाश्त बढ़ाने के 10 घरेलू उपाय

    कोलेस्ट्रोल कम करता है

    शोध के मुताबिक ड्राय जिंजर से कोलेस्ट्रोल कम होता है। सोंठ के सेवन से शरीर का कोलेस्ट्रॉल लेवल और ब्लड शुगर सामान्य रहता है। इस कारण दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम होने की संभावना होती है।

    गर्भावस्था में मददगार

    एक शोध के मुताबिक गर्भावस्था में भी सोंठ के फायदे होते हैं। चूंकि गर्भावस्था में पेट से जुड़ी कई समस्याएं खासकर गैस हो जाती है। ऐसे में सूखे अदरक का पाउडर गर्भवती महिलाओं को इन पेट की समस्याओं से निजाद दिलाने में मददगार होता है। सोंठ से मॉर्निग सिक्नेस भी कम होती है जोकि प्रेग्नेंसी के दौरान आम बात होती है।

    और पढ़ें : Pareira: परेरा क्या है?

    डायबिटीज की रोकथाम

    कई साइंटिस्ट्स ने पाया है कि अदरक में मौजूद एक्टिव कंपाउड्स इंसुलिन और मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाने में मददगार होते हैं। इसकी वजह से डायबिटीज का खतरा कम हो सकता है।

    इन देशों में होता है सबसे ज्यादा इस्तेमाल

    सोंठ का सबसे अधिक प्रोड्क्सन भारत, नाइजीरिया, चीन, कैरेबियन देशों के अलावा इंडोनेशिया में होता है। अदरक का उत्पादन हमेशा गर्म जलवायु में ही किया जाता है। प्राचीन काल से ही आयुर्वेदिक दवाओं में सोंठ का उपयोग किया जाता रहा है। सोंठ का इस्तेमाल खाने में मसाले की तरह किया जाता है। पूरन पोली जैसे भोजन में अरहर की दाल के साथ सोंठ को इसलिए मिलाया जाता है ताकि यह पेट खराब ना करे। सोंठ पाचन क्रिया को बढ़ावा देती है।

    health-tool-icon

    बीएमआई कैलक्युलेटर

    अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें और पता करें कि क्या आपका वजन हेल्दी है। आप इस उपकरण का उपयोग अपने बच्चे के बीएमआई की जांच के लिए भी कर सकते हैं।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Hema Dhoulakhandi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/04/2021 को
    डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: