home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

अपच ने कर दिया बुरा हाल, तो अपनाएं अपच के घरेलू उपाय

अपच ने कर दिया बुरा हाल, तो अपनाएं अपच के घरेलू उपाय

जब खाना ठीक से नहीं पचता, तो पेट के ऊपरी हिस्से में बेचैनी और भारीपन महसूस होने लगता है। इसे ही अपच कहा जाता है। इस स्थिति का सामना सबको कभी न कभी करना पड़ता है। ऐसा ज्यादातर अधिक फैट वाली चीजें खाने से होता है। जो लोग जल्दीबाजी में खाना खाते हैं, उनके साथ भी यह समस्या रहती है।

अपच के और भी कई कारण हैं, जैसे शराब (Alcohol) पीना, तनाव (Tension) में होना, सिगरेट (Cigrate) पीना, पेट में इंफेक्शन (Infection) और कई बार कुछ दवाइयों का सेवन करना। अपच होने पर आप असहज और बेचैन महसूस करते हैं। आइए जानते हैं अपच के घरेलू उपाय (Home Remedies of Indigestion), जिनसे अपच (इनडाइजेशन) की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

और पढ़ें : Indigestion: बदहजमी या अपच क्या है? जानें लक्षण, कारण और उपाय

इनडायजेशन के घरेलू उपयो को पहले समझने की कोशिश करते हैं कि इसके लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Indigestion)

  • पेट में दर्द (Stomach pain) होना
  • पेट के ऊपरी हिस्से में जलन महसूस होने के साथ-साथ परेशानी महसूस होना
  • खाना खाने के बाद अच्छा महसूस न होना
  • पेट में सूजन होना
  • बार-बार डकार आना

इन लक्षणों के अलावा अन्य लक्षण भी हो सकते हैं। जैसे-

और पढ़ें : प्रोटीन का पाचन और अवशोषण शरीर में कैसे होता है? जानें प्रोटीन की कमी को दूर करना क्यों है जरूरी

अपच (Indigestion) और कब्ज (Constipation) के बीच संबंध

अपच को एसिड रिफ्लक्स के नाम से भी जाना जाता है। यह बेहद सामान्य समस्या है जो लगभग हर व्यक्ति को कभी न कभी प्रभावित जरूर करती है। एसिड रिफ्लक्स बच्चों और किशोरों को भी हो सकता है।

यह स्थिति निचले एसोफाजाल स्पिंकटर (Esophageal Sphincter) में उत्पन्न होती है जो कि अन्नप्रणाली और पेट के बीच की मांसपेशी होती है और एक वाल्व की तरह काम करती है।

इस स्थिति में पेट में मौजूद अम्लीय पाचक रस (acidic digestive juices) वापिस अन्नप्रणाली में चले जाते हैं। जब एसिड रिफ्लक्स बार-बार होने लगता है या पुरानी बीमारी का रूप ले लेता है तो इसे गैस्ट्रोएसोफाजाल रिफ्लक्स डिजीज (GERD) कहा जाता है।

एसिड रिफ्लक्स या गैस्ट्रोएसोफाजाल रिफ्लक्स डिजीज के इलाज के लिए डॉक्टर आपको कुछ घरेलू उपाय आजमाने की सलाह दे सकते हैं जिनमें जीवनशैली में बदलाव या कुछ दवाओं भी मौजूद हो सकती हैं।

अंग्रेजी दवा का सेवन करने से अन्य पाचन संबंधी समस्या भी उत्पन्न हो सकती हैं जैसे कि कब्ज। कब्ज एक ऐसी स्थिति होती है जिसमें मल सख्त, सूखा या कई बार हफ्तों में 3 बार से कम आता है।

ऐसे में अपच के लिए सबसे पहले घरेलू उपायों का ही इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि इनके दुष्प्रभाव न के बराबर होते हैं। इनका उपयोग करने से आपको कब्ज, दस्त या मतली जैसे साइड इफेक्ट्स की परेशानी नहीं होगी।

और पढ़ें : अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस: क्यों भारतीय बच्चों और युवाओं को स्वास्थ्य साक्षरता की शिक्षा देना है जरूरी?

अपच के घरेलू उपाय (Home Remedies of Indigestion)

1. अपच के घरेलू उपाय: पानी (Water)

इनडाइजेशन के घरेलू उपाय में से एक है भरपूर पानी पीना। बॉडी में पानी की भरपूर मात्रा शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बहुत जरूरी है। अपच होने पर ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं। इससे आराम मिलता है। ये अपच का सबसे सरल और सटीक इलाज है।

और पढ़ें: पेट दर्द के सामान्य कारण क्या हो सकते हैं ?

2. अपच के घरेलू उपाय: छाछ (Buttermilk)

छाछ (बटर मिल्क) खाने को पचाने के लिए बहुत फायदेमंद है। आप इसे खाने के साथ भी ले सकते हैं और चाहें तो जब मन करें तब पी लें। इसमें थोड़ा सा काला नमक और भुना हुआ जीरा मिलाने से इसका स्वाद अच्छा हो जाता है। अपच के घरेलू उपाय (Home Remedies of Indigestion) में अक्सर लोग इसे अपनाते हैं।

3. इनडाइजेशन के घरेलू उपाय: नींबू (Lemon)

खाने को जल्दी पचाने और अपच की समस्या को दूर करने में नींबू भी बहुत कारगर है। इसके इस्तेमाल के लिए आप एक कप गर्म पानी में एक टेबल स्पून नींबू का रस मिलाकर पिएं। इससे खाना आसानी से पच जाता है। अपच के घरेलू उपाय (Home Remedies of Indigestion) में से यह बेहद कारगर है, इसे हर उम्र वर्ग का व्यक्ति अपना सकता है।

और पढ़ें: नींबू पानी से दिन की शुरुआत करती हैं मलाइका अरोड़ा, जानिए उनके फिटनेस सीक्रेट

4. अपच के घरेलू उपाय: अजवाइन (Celery)

अजवाइन पेट को ठंडक देती है और अपच की समस्या को भी दूर करती है। इसके लिए आप 1 /4 टेबलस्पून अजवाइन को चुटकीभर हींग और काले नमक के साथ चूरन की तरह खाकर पानी पी लें। इससे अपच में होने वाले पेट दर्द (Stomach pain) और ऐंठन में तुरंत आराम मिलता है। आप चाहें तो रात भर अजवाइन को भिगोकर सुबह इसका पानी पिएं यह पेट के लिए अच्छा होता है। अपच के घरेलू उपाय में अजवाइन की खास जगह है।

और पढ़ें: पेट की परेशानियों को दूर करता है पवनमुक्तासन, जानिए इसे करने का तरीका और फायदे

5. इनडाइजेशन के घरेलू उपाय: आंवला (Gooseberry)

आंवला पेट से जुड़ी परेशानियों जैसे गैस, अपच, कब्ज (Constipation) सभी में फायदेमंद होता है। कुछ लोग तो आंवले का मुरब्बा बनाकर खाते हैं। ये काफी स्वादिष्ट और फायदेमंद होता है। अपच से ज्यादा परेशान हैं, तो सुबह खाली पेट एक कच्चा आंवला खाएं। यह पेट और आंखें दोनों के लिए फायदेमंद है।

6. अपच के घरेलू उपाय: दालचीनी (Cinnamon)

दालचीनी अपच के कारण पेट फूलने और पेट की मरोड़ में आराम दिलाती है। 1/2 चम्मच दालचीनी 1 कप गर्म पानी में मिलाकर पीने से अपच की समस्या कम होती है।

और पढ़ें : दालचीनी के लाभ: हार्ट अटैक के खतरे को करती है कम, बचाती है बैक्टीरियल इंफेक्शन से

7. इनडाइजेशन के घरेलू उपाय: सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

एप्पल साइडर विनेगर का इस्तेमाल स्किन से लेकर वजन कम करने के लिए किया जाता है। अपच के इलाज में भी इसे उपयोगी माना जाता है।

8. अपच के घरेलू उपाय: अदरक (Ginger)

अपच की परेशानी को दूर करने के लिए अदरक भी फायदेमंद माना जाता है, क्योंकि ये पेट में बने एसिड को कम करता है। अपच की परेशानी से राहत पाने के लिए आप अदरक की चाय बनाकर पी सकते हैं।

9. अपच के घरेलू उपाय: पेपरमिंट टी (Peppermint tea)

अपच की परेशानी को दूर करने के लिए पुदीने की चाय बेहद कारगर इलाज साबित हो सकता है। इसमें एंटीस्पासमोडिक प्रॉपर्टीज होती हैं जो अपच के लक्षण जैसे जी मिचलाना और उल्टी से राहत प्रदान करता है।

10. इनडाइजेशन के घरेलू उपाय: कैमोमाइल टी (Chamomile tea)

कैमोमाइल टी चिंता को दूर कर नींद में मदद करती है। यह गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट में एसिड को कम करके अपच से छुटकारा दिला सकती है। इसके साथ ही यह दर्द से राहत दिलाने के साथ पेट की परेशानी को कम करती है।

और पढ़ें: हैंगओवर के कारण होती हैं उल्टियां और सिर दर्द? जानिए इसके घरेलू उपाय

अपच आपको इस कदर बेचैन कर देती है कि न तो फिर कहीं किसी काम में मन लगता है और न ही ठीक से भूख लगती है। अपच के घरेलू उपाय से आप अपच में राहत पा सकते हैं। लेकिन, अगर इन उपायों से आराम नहीं मिलता है, तो डॉक्टर की सलाह जरूरी है।

इनडाइजेशन के अन्य घरेलू नुस्खे व जीवनशैली के बदलाव

1. खाने को सही तरीके से चबाएं

अगर आपको डायजेशन सिस्टम को सही रखना है, तो आप खाना को अच्छी तरह से चबाकर खाएं। जब आप भोजन को चबा-चबाकर खाते हैं, तो डायजेशन सिस्टम को डायजेस्ट करने में आसानी होती है। खाते समय आराम-आराम से खाएं। खाते वक्त हड़बड़ी बिल्कुल न करें। इससे बदहजमी हो सकती है।

2. फाइबर युक्त खाना

फाइबर डायजेशन सिस्टम को मजबूत करता है। दोनों ही तरह से घुलनशील और अघुलनशील फाइबर को उपयोग में लाना बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि ये दोनों ही तरह से डायजेशन सिस्टम को मदद करता है। फाइबर के स्त्रोतों में फल, सब्जियां, गेहूं का चोकर, साबुत अनाज, जई का चोकर, बीज और फलियां शामिल हैं। इनडायजेशन के घरेलू उपाय में फाइबर (Fiber) काफी महत्वपूर्ण है।

3. हाइड्रेटेड रहें

डायजेशन सिस्टम को सही रखने के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं। पूरे दिन खुद को हाइड्रेटेड (Hydrate) रखें। फ्रेश फ्रूट जूस पिएं, नींबू पानी और नारियल पानी पिएं। इनडायजेशन के घरेलू उपाय ढूंढ रहे हैं, तो खुद को हाइड्रेट रखना जरूरी है।

4. एक्सरसाइज और जॉगिंग करें

स्वस्थ शरीर के लिए एक्सरसाइज और जॉगिंग (Joging) बहुत जरूरी है। आप सुबह या शाम के वक्त समय मिलने पर जॉगिंग के लिए अवश्य जाएं। डायजेशन सिस्टम को सही रखने के लिए आप स्विमिंग (Swimming), योगा, साइकलिंग (Cycling) करें।

यह भी पढ़ें: Lady Fern: लेडी फर्न क्या है?

5. हेल्दी फैट

जब शरीर में फैट की मात्रा बढ़ती है, तब डायजेशन सिस्टम आसानी से खाने को डाइजेस्ट कर पाता है। आप डायजेशन सिस्टम को सही रखने के लिए अपनी डाइट में पनीर, जैतून के तेल, अंडे, नट्स, एवोकाडो और फैटी फिश (Fatty fish) को शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा ओमेगा-3 फैटी एसिड भी सूजन को कम करता है।

6. स्ट्रेस से बचें

मेंटली स्ट्रेस भी कई बीमारियों की जड़ रहा है। बहुत ज्यादा स्ट्रेस (Stress) लेने पर आप खाना-पीना ठीक से नहीं कर पाते हैं। मेंटली स्ट्रेस से पेट में अल्सर (Stomach ulcer), दस्त, कब्ज और आईबीएस होता है। आप मेंटली स्ट्रेस को कम करने के लिए ब्रीदिंग एक्सरसाइज (Breathing exercise), मेडिटेशन (Mediation) और योग (Yoga) कर सकते हैं। स्ट्रेस से बचना भी इनडायजेशन के घरेलू उपाय करने में मददगार होता है।

7. नींद पूरी लें

नींद पूरी नहीं होने की वजह से भी डायजेशन सिस्टम (Digestion system) बिगड़ता है। जब आप ठीक से नहीं सो पाते हैं, तब आपका शरीर असंतुलित रहता है। आप ठीक से खाना-पीना नहीं कर पाते हैं। आपका ध्यान नींद और तनाव (Tension) पर रहता है, जिसका प्रभाव डायजेशन सिस्टम पर भी पड़ता है।

8. एक ही जगह काफी देर बैठे न रहें

खाना खाने के बाद कुछ देर टहलना चाहिए। खाना खाते ही तुरंत बैठना या सोना नहीं चाहिए। आपके पास जितना भी समय है, उसमें से कुछ समय निकालकर आप खाना खाने के बाद कुछ मिनट टहलें। इससे आपका खाना अच्छे से डाइजेस्ट हो जाता है। एक ही जगह पर काफी देर बैठे रहने से गैस और बदहजमी की शिकायत हो सकती है। अगर आप इनडायजेशन के घरेलू उपाय ढूंढ रहे हैं, तो इस बात पर भी ध्यान दें।

9. सब्जियों का सेवन

हरी पत्तेदार सब्जियां, पालक, मेथी, टमाटर व नींबू बेहतर पाचन तंत्र के लिए सर्वोत्तम हैं। ये कब्ज (Constipation) जैसी समस्या को जड़ से खत्म करने का काम करते हैं और शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की भरपाई भी करते हैं। अंकुरित चना, मूंग, गेहूं और जौ के आटे से बनी रोटियां खाने से फायदा होगा। सब्जियां भी इनडायजेशन के घरेलू उपाय में बेहतरीन उपाय है।

अपच (Indigestion) को ऐसे समझें

ऊपर दिए गए इनडाइजेशन के घरेलू उपाय तो आप जान गए होंगे। पर अपच को ठीक तरह से समझना जरूरी है। अपच को अंग्रेजी में इनडाइजेशन (Indigestion) कहते हैं। इस शब्द का इस्तेमाल पेट की सामूहिक स्थिति जैसे दर्द, जलन, खाना खाते जल्दी पेट भरा हुआ लगना, भारीपन, अजीब डकार आदि के लिए इस्तेमाल किया जाता है। कई बार अन्य लक्षण जैसे की सीने में जलन, एसिडिटी (Acidity) आदि से भी अपच होने का पता चलता है। कई बार इसके लक्षण अन्य स्थितियों और समस्याओं से मिलते-जुलते हैं, जो कई बार अपच की वजह से नहीं होते।

अपच और खाने के बारे में ये बातें जरूर जान लें

डॉक्टर्स का मानना है कि अपच की समस्या खाने में लापरवाही की वजह से होती। कई तरह के खाद्य पदार्थ विशेषकर अपच के कारक माने जाते हैं। अत्यधिक फैट, तेज मिर्च वाले गरिष्ठ भोजन से अपच होने की संभावना बढ़ जाती है। इसके साथ ही शराब (Alcohol), कोल्ड्रिंक्स (Cold Drink), कॉफी (Coffee) जैसी चीजें भी इसके लिए जिम्मेदार मानी जाती हैं। कुल मिलाकर ऐसे खाने की वजह से पेट और स्मॉइल इंटेस्टाइन यानी की हमारी छोटी आंत का काम बुरी तरह प्रभावित होता है। ऐसे में अपच के घरेलू उपाय (Home Remedies of Indigestion) अपनाने से बेहतर है कि अपनी खाने की आदतों को सुधारें।

और पढ़ें : Stomach flu: पेट का फ्लू क्या है?

क्या डकार आना अपच होने का संकेत है?

रिसर्च कहती हैं कि यह जरूरी नहीं कि डकार आना अपच का संकेत हो। कई मामलों में ऐसा हो भी सकता है, लेकिन ज्यादातर मामलों में डकार पेट में अतिरिक्त गैस के जाने से आती है। जब हम खाने के साथ, बात करते हुए या धूम्रपान (Smoking) की वजह से ज्यादा सांस अंदर ले लेते हैं, तो ये पेट में रूक जाती है। यह हवा पेट दर्द और अन्य समस्याएं शुरू कर देती हैं, जिसकी वजह से हमारा शरीर इसे बाहर निकालने की कोशिश करता है और हमें डकार आने लगती है। अपच में ऐसा बार-बार हो जरूरी नहीं है। उम्मीद है इनडाइजेशन के घरेलू उपाय आपको राहत दिलाने में मददगार होंगे।

घरेलू उपाय के साथ-साथ फॉलो करें ये टिप्स

  • इसके अलावा, खाने को सही से पचाने के लिए खाने में सलाद का प्रयोग करें। सलाद में टमाटर (Tamatto), काला नमक (Salt) और नीबू (Lemon) का सेवन करना फायदेमंद रहेगा।
  • अपच होने पर अजवाइन, जीरा (Cumine) और काला नमक बराबर मात्रा में मिला कर एक चम्मच पानी के साथ लेने से फायदा होता है।
  • अजवाइन को पानी में उबाल कर उसका पानी पीने से भी पाचन तंत्र (Digestive system) सही रहता है।
  • अदरक के टुकड़े को नींबू में भिगोकर चूसने से पाचन दुरुस्त रहता है।
  • सौंफ और काली मिर्च का खाने में सेवन करना भी फायदेमंद रहता है।
  • वजन संतुलित रखें। इसलिए पौष्टिक आहार (Healthy diet) का सेवन करें।
  • ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन न करें जिससे परेशानी महसूस हो। ध्यान रखें तला-भुना, जंक फूड या अत्यधिक मिर्च-मसाला वाला खाना न खायें।
  • एक दिन में दो कप से ज्यादा चाय (Tea), कॉफी (Coffee) या हर्बल टी (Herbal tea) का सेवन न करें।
  • स्मोकिंग (Smoking) की वजह से भी डायजेशन (Digestion) पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसलिए स्मोकिंग न करें।
  • रोजाना सात से आठ घंटे की नींद लें। ध्यान रखें ठीक तरह से नहीं सोने के कारण भी डायजेशन बिगड़ सकता है।

ऑर्गेनिक फूड की स्पेशल कुकिंग स्टाइल, जिससे खाना भी हेल्दी और आपभी रहेंगे हेल्दी। जानिए नीचे दिए इस वीडियो लिंक में।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Indigestion (Dyspepsia): https://www.niddk.nih.gov/health-information/digestive-diseases/indigestion-dyspepsia  Accessed/24 Dec/2019

Is it Acid Reflux or Indigestion?: https://www.hemopet.org/acid-reflux-indigestion/  Accessed/24 Dec/2019

8 Home Remedies for Indigestion You’ll Wish You Knew Sooner: https://www.readersdigest.ca/health/conditions/indigestion-try-these-tummy-tamers/  Accessed/08 Jul/2020

Symptoms & Causes of Indigestion: https://www.niddk.nih.gov/health-information/digestive-diseases/indigestion-dyspepsia/symptoms-causes Accessed/08 Jul/2020

The Effect of Ginger (Zingiber officinalis) and Artichoke (Cynara cardunculus) Extract Supplementation on Functional Dyspepsia: https://www.hindawi.com/journals/ecam/2015/915087/ Accessed/08 Jul/2020

Treatment of Indigestion: https://www.niddk.nih.gov/health-information/digestive-diseases/indigestion-dyspepsia/treatment Accessed/08 Jul/2020

Functional dyspepsia: new insights into pathogenesis and therapy: http://kjim.org/journal/view.php?doi=10.3904/kjim.2016.091 Accessed/08 Jul/2020

लेखक की तस्वीर badge
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/08/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x